राष्ट्रीयदिल्ली में कब खुलेंगे स्कूल? अभिभावकों के सवाल का केजरीवाल सरकार ने दिया जवाब

WeForNews DeskJune 27, 20212671 min

दिल्ली और देश में कोरोना की दूसरी लहर अब कमजोर पड़ने लगी है। विशेषज्ञ कोरोना की तीसरी लहर की भविष्यवाणी कर रहे हैं।

हालांकि इस बीच कई छात्र, अभिभावक एवं अभिभावक संगठन चाहते हैं कि अब ऐसे स्थानों पर स्कूल खोले जाएं, जहां कोरोना का प्रकोप कम हो चुका है।

ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने कहा,एक अनुमान के मुताबिक सरकारी स्कूलों के लगभग 30 प्रतिशत छात्र ‘स्कूल ड्राप आउट’ हो चुके हैं। हमें इस बात को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए कि बच्चों के लिए सबसे अच्छी और सुरक्षित जगह स्कूल है। लंबे समय तक स्कूलों के बंद रहने से बाल श्रम, यौन उत्पीड़न, बीमारी आदि जैसी बुराइयों को जन्म मिल रहा है।

कोरोना अनलॉक में जब अन्य सभी गतिविधियां शुरू हैं, तो स्कूल शुरू क्यों नहीं हो सकते। दिल्ली सरकार कोरोना नियमों का पालन करते हुए 50 फीसदी क्षमता के साथ स्कूलों को फिर से खोलने दे। आवश्यकता पड़ने पर स्कूल कभी भी बंद किए जा सकते हैं।

अभिभावको के राष्ट्रव्यापी संगठन, ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन ने कहा, ”दिल्ली के सरकारी स्कूलों से तुंरत सभी राशन स्टोर, टीकाकरण केंद्र, राशन एवं खाद्य वितरण केंद्रों को स्थानांतरित करना चाहिए। छात्रों के लिए स्कूलों को तुरंत फिर से खोले जाएं। अकेले दिल्ली के ही 25 लाख छात्र पिछले साल मार्च 2020 से नियमित शिक्षा प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं।”

 

एक सर्वे के मुताबिक देश में अभी भी 70 फीसदी से अधिक अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते। इन अभिभावकों का कहना है कि उनके क्षेत्रों में कोरोना की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रित होने तक स्कूल नहीं खोले जाने चाहिए। दूसरी ओर, 30 फीसदी अभिभावक स्कूल खोले जाने की स्थिति में अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार हैं।

 

 

Related Posts