वजन कम करना मुसीबत ना बन जाए! | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

स्वास्थ्य

वजन कम करना मुसीबत ना बन जाए!

Published

on

obesity-wefornews
वजन

वजन कम करने की प्रक्रिया में इस्तेमाल होने वाले लोकप्रिय पूरक आहार में मौजूद क्रोमियम कैंसर की संभावना का कारण बन सकता है. आस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने सोमवार को यह जानकारी दी.

इंसुलिन प्रतिरोध और टाइप-2 मधुमेह चयापचयी विकार वाले रोगी जिस तरह पोषक तत्वों की खुराक लेते हैं, उनमें ट्रेस मेटल क्रोमियम का इस्तेमाल किया जाता है. यह कैंसरकारी (कार्सनोजेनिक) का प्रकार हेक्सावालेंट क्रोमियम है, जो कई बड़ी बीमारियों से जुड़ा हुआ है इसमें कैंसर जैसी बीमारी भी शामिल है.

सिडनी के न्यू साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने एक प्रयोगशाला में क्रोमियम से पशु वसा कोशिकाओं का इलाज किया और यह क्रोमियम आंशिक रूप से कैंसरकारी है. इसके लिए शोधकर्ताओं ने शिकागो के आर्गोने राष्ट्रीय प्रयोगशाला के एडवांस्ड फोटोन सोर्स के उच्च ऊर्जा वाली एक्स-रे किरण का इस्तेमाल कर कोशिकाओं में प्रत्येक रासायनिक तत्व का नक्शा तैयार किया.

यूएनएसडब्ल्यू शोधकर्ता डॉ. लिंडसे वु ने कहा, “हम यह दिखा पाने में सक्षम हो पाए हैं कि कोशिका के अंदर क्रोमियम का उपचयन होता है, क्योंकि यह अणुओं को छोड़ते हैं एक कैंसरकारी प्रारूप में परिवर्तित हो जाते हैं.”

वु ने कहा, “क्रोमियम का उपचयन पहली बार किसी जैविक नमूने में देखा गया है ऐसा ही परिणाम मानव कोशिकाओं में भी पाए जाने की उम्मीद है.”

कोशिकाओं में क्रोमियम और क्रोमियम के कैंसरकारी प्रकृति को स्पष्ट रूप से जानने के लिए अतिरिक्त प्रयोग भी किए गए.

इस शोध के परिणामों को रसायन विज्ञान जरनल एंगेवांडथे के मेई में प्रकाशित किया गया, जिसने मोटापा कम करने के लिए लंबी प्रक्रिया इस्तेमाल करने से बचने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले क्रोमियम पूरक आहार के प्रति चिंताएं बढ़ा दीं.

सिडनी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर पीटर ले ने कहा, “आहार पूरक के रूप में क्रोमियम की प्रभावशीलता पर संदिग्ध सबूत के साथ, अब लोग इस तरह के आहार को लेने के बारे में दो बार सोचेंगे.

wefornews bureau

राष्ट्रीय

Corona Vaccine: कुछ ही हफ्तों में कोरोना वैक्सीन तैयार होगी – PM Modi

वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलते ही देश में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष के नेताओं की कोरोना वैक्सीन को लेकर सभी जिज्ञासाओं का समाधान किया।

Published

on

narendra modi Black

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक में मेड इन इंडिया कोरोना वैक्सीन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अगले कुछ हफ्तों में कोरोना वैक्सीन तैयार होगी। वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलते ही देश में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष के नेताओं की कोरोना वैक्सीन को लेकर सभी जिज्ञासाओं का समाधान किया। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, गुलाम नबी आजाद, बसपा से सतीश मिश्रा, समाजवादी पार्टी से रामगोपाल यादव सहित कई पार्टियों के विपक्ष के नेता इस वर्चुअल सर्वदलीय बैठक में शामिल हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, कुछ दिन पहले मेड इन इंडिया वैक्सीन बनाने का प्रयास कर रहीं वैज्ञानिक टीमों से मेरी बातचीत हुई थी। भारत के वैज्ञानिक अपनी सफलता को लेकर बहुत ही आश्वस्त हैं। अभी अन्य देशों की कई वैक्सीनों के नाम बाजार में सुन रहे हैं। फिर भी दुनिया की नजर कम कीमत वाली सबसे सुरक्षित वैक्सीन पर है। स्वाभाविक है कि पूरी दुनिया की नजर भारत पर भी है। अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद जाकर मैने यह भी देखा है कि वैक्सीन मैन्युफैक्च रिंग को लेकर देश की तैयारियां कैसी है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि करीब आठ संभावित वैक्सीन भारत में अलग-अलग चरण में हैं। जिनकी मैन्युफैक्च रिंग भारत में होनी है। भारत की अपनी तीन अलग-अलग वैक्सीन का ट्रायल अलग-अलग चरणों में है। एक्सपर्ट मानकर चल रहे हैं कि ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अगले कुछ हफ्तों में कोरोना की वैक्सीन तैयार हो जाएगी। जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, भारत मे टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि पहले चरण में किसे वैक्सीन लगेगी, इसे लेकर राज्य सरकारों से मिले सुझावों के आधार पर केंद्र सरकार काम कर रही है। कोरोना के मरीजों के इलाज में जुटे हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर और पहले से बीमारी से जूझ रहे बुजुर्ग लोगों को सर्वप्रथम वैक्सीन दी जाएगी। वैक्सीन की वितरण व्यवस्था के लिए केंद्र और राज्य की टीमें मिलकर काम कर रहीं हैं।

Continue Reading

लाइफस्टाइल

Corona Vaccine: इंग्लैंड जाकर कोरोना वैक्सीन लगवाने की तैयारी में हैं कोलकाता के लोग

जानकारी के मुताबिक कोलकाता में रहने वाले बहुत से लोग इंग्लैंड घूमने के बहाने वैक्सीन लगवाने के बारे में विचार कर रहे हैं। कोलकाता में ट्रैवल एजेंटों से इन दिनों सवाल भी पूछे जा रहे हैं।

Published

on

Anti Corona Vaccine

अगले सप्ताह से इंगलैंड में आम लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन इसकी आधिकारिक तौर पर घोषणा भी कर चुके हैं। दवा कंपनी फाइजर ने इस वैक्सीन को तैयार किया है।

जानकारी के मुताबिक कोलकाता में रहने वाले बहुत से लोग इंग्लैंड घूमने के बहाने वैक्सीन लगवाने के बारे में विचार कर रहे हैं। कोलकाता में ट्रैवल एजेंटों से इन दिनों सवाल भी पूछे जा रहे हैं। जैसै कि, इंग्लैंड घूमने जाने पर क्या वहां कोरोना की वैक्सीन लगवाई जा सकेगी?

बता दें कि मुंबई की एक ट्रैवल एजेंसी ने कुछ दिन पहले इंग्लैंड के तीन दिवसीय वैक्सीन टूर पैकेज की बात कही थी। इस कंपनी ने यह दावा किया था कि, इग्लैंड घुमाने के साथ-साथ वहां कोरोना की वैक्सीन लगाने की भी व्यवस्था की जाएगी।

लेकिन ब्रिटिश सरकार की ओर से अभी तक ऐसा कुछ नहीं कहा गया है कि, उनके यहां अन्य देशों से आने वालों के लिए वैक्सीन की व्यवस्था की जाएगी या नहीं। कोरोना की वैक्सीन इंग्लैंड में भी सबसे पहले उन्हीं लोगों को लगाई जाएगी, जिन्हें कोरोना से सबसे ज्यादा खतरा है।

कोलकाता की एक ट्रैवल एजेंसी के अधिकारी ने नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर कहा कि,-‘हमें बहुत से लोग फोन व ईमेल करके पूछ रहे हैं कि इंग्लैंड घूमने जाने पर क्या वहां कोरोना की वैक्सीन लगवाना संभव हो पाएगा। हमारे पास फिलहाल इसका कोई जवाब नहीं है क्योंकि वहां की सरकार की तरफ से इस तरह का कोई दिशानिर्देश नहीं मिला है। अभी सबसे ज्यादा पूछताछ इंग्लैंड ट्रिप को लेकर ही हो रही है।’

Continue Reading

राष्ट्रीय

‘कोरोना वैक्सीन की कीमत को लेकर हो रही राज्यों से बात’, जानें सर्वदलीय बैठक की बड़ी बातें

Published

on

Corona Vaccine

कोरोना महामारी के खिलाफ वैक्सीन को लेकर तेजी से सरकार आगे बढ़ रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक को संबोधित करते हुए यह कहा। इस बैठक में उन्होंने वैक्सीन परीक्षण के ताजा हालात से लेकर उसकी संभावित कीमत तक को लेकर अन्य दलों के नेताओं के साथ बात की। सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, भारत में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की अहम बातें:

  • माना जा रहा है कि अगले कुछ हफ़्तों में कोरोना की वैक्सीन तैयार हो जाएगी। जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी भारत में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • पीएम मोदी ने कहा कि क़रीब 8 ऐसी संभावित वैक्सीन हैं जो ट्रायल के अलग-अलग चरण में हैं और जिनका उत्पादन भारत में ही होना है। भारत की अपनी 3 वैक्सीन का ट्रायल अलग-अलग चरणों में है। विशेषज्ञ ये मान रहे हैं कि वैक्सीन के लिए बहुत ज़्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।
  • वैक्सीन वितरण के लिए केंद्र और राज्य सरकार की टीमें मिलकर काम कर रही हैं। भारत में अन्य देशों की तुलना में वैक्सीन वितरण में विशेषज्ञता और क्षमता बेहतर है। टीकाकरण के क्षेत्र में हमारे पास एक बहुत बड़ा और अनुभवी नेटवर्क है। हम इसका पूरा फायदा उठाएंगे: पीएम मोदी
  • वैक्सीन की कीमत को लेकर केंद्र की राज्य सरकारों के साथ बातचीत चल रही है और इसके बारे में निर्णय सार्वजनिक स्वास्थ्य को सर्वोच्च प्राथमिकता के रूप में लिया जाएगा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • लगभग 8 टीके भारत में परीक्षण के विभिन्न चरणों में हैं। भारत के 3 टीके भी विभिन्न चरणों में हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि टीका बहुत दूर नहीं है।
  • हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि टीकाकरण के दौरान अफवाहें न फैलाई जाएं, ऐसी अफवाहें जो देश विरोधी और मानव विरोधी हैं। इस प्रकार, सभी राजनीतिक दलों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम सभी भारतीयों को इस तरह की अफवाहों से बचाएं: प्रधानमंत्री
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस पर सर्वदलीय बैठक को संबोधित किया। उन्होंने कहा कहा कह अभी अन्य देशों की कई वैक्सीन के नाम हम बाज़ार में सुन रहे हैं लेकिन दुनिया की नज़र कम कीमत वाली, सबसे सुर​क्षित वैक्सीन पर है और इसलिए पूरी दुनिया की नज़र भारत पर भी है।
  • फरवरी-मार्च की आशंकाओं भरे, डर भरे माहौल से लेकर आज दिसंबर के विश्वास और उम्मीदों भरे वातावरण के बीच भारत ने बहुत लंबी यात्रा तय की है। अब जब हम वैक्सीन के मुहाने पर खड़े हैं तो वही जनभागीदारी, वही साइंटिफिक अप्रोच, वही सहयोग आगे भी बहुत जरूरी है: पीएम मोदी
  • कोरोना वैक्सीन को लेकर जो विश्वास इस चर्चा में नजर आया है वो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को और मजबूत करेगा। इस बारे में बीते दिनों में मेरी मुख्यमंत्रियों से चर्चा हुई थी। टीकाकरण को लेकर राज्य सरकारों के अनेक सुझाव भी मिले थे: पीएम मोदी
Continue Reading

Most Popular