पश्चिम बंगाल : चौथे चरण के तहत 49 सीटों पर मतदान शुरू | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

पश्चिम बंगाल : चौथे चरण के तहत 49 सीटों पर मतदान शुरू

Published

on

पश्चिम बंगाल
पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत 49 विधानसभा क्षेत्रों पर मतदान सोमवार सुबह सात बजे शुरू हो गया।

चौथे चरण के तहत दो जिलों हावड़ा और उत्तर 24 परगना के 49 विधानसभा क्षेत्रों पर मतदान हो रहे हैं। मतदान की यह प्रक्रिया शाम छह बजे तक चलेगी।

उत्तर 24 परगना में 33 निर्वाचन क्षेत्र हैं, जबकि बाकी 16 हावड़ा में हैं।

चौथे चरण के तहत 12,481 मतदान केंद्रों पर 1.08 करोड़ (1,08,16,942) से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इसमें 27 सहायक केंद्र भी हैं। आज 345 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं, जिनमें से 40 महिलाएं हैं।

निर्वाचन आयोग 14,353 ईवीएम मशीनों और 80 वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल करेंगे।

सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से केंद्रीय बलों की 672 टुकड़ियां और 23,000 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। इसके साथ ही दोनों जिले में पारदर्शी एवं निष्पक्ष चुनावों के लिए आवश्यक बंदोबस्त किए गए हैं।

वर्ष 2011 के विधानसभा चुनावों में तृणमूल कांग्रेस ने 49 में से 43 सीटों पर जीत दर्ज की थी। कांग्रेस को दो सीटें मिली थी। वामपंथी मोर्चे में मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) को तीन और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) को एक सीट मिली थी।

तृणमूल और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सभी निर्वाचन क्षेत्रों में अपने उम्मीदवारों को उतारा है। कांग्रेस के साथ वाम मोर्चा 46 सीटों पर चुनाव लड़ रहा है, जबकि जनता दल यूनाइटेड (जदूय) एक सीट पर और दो सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतरे हैं।

उत्तर 24 परगना के खारदाह सीट से एक बार फिर दो अर्थशास्त्री आमने-सामने हैं। तृणमूल सरकार में वित्त, उद्योग एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अमित मित्रा और माकपा के असीम दासगुप्ता इस सीट से चुनावी मैदान में उतरे हैं।

राज्य में पांचवें चरण के तहत चुनाव 30 अप्रैल को और छठे चरण के तहत पांच मई को चुनाव होंगे।

wefornews bureau 

राष्ट्रीय

हेल्‍थ सेक्‍टर में सुधार के लिए पारंपरिक और आधुनिक चिकित्सा प्रणाली को साथ मिलाने पर गौर कर रहा नीति आयोग

Published

on

niti aayog

नीति आयोग जन कल्‍याण के लिए पारंपरिक एवं आधुनिक चिकित्सा प्रणाली को एक साथ मिलाते हुए स्वास्थ्य क्षेत्र में आमूलचूल सुधार के उपायों पर विचार कर रहा है। नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने रविवार को बताया कि सरकार चिकित्सा की पारंपरिक प्रणाली के साथ आधुनिक उपचार पद्धति यानी एलोपैथी को मजबूती देने के लिए प्रतिबद्ध है।

उन्‍होंने कहा कि यह एक बढ़िया विचार है कि जन कल्‍याण के लिए पारंपरिक और आधुनिक चिकित्सा प्रणालियों को एक साथ लाया जाए। उन्‍होंने यह भी बताया कि मौजूदा वक्‍त में एकीकृत प्रैक्‍ट‍िस के तरीके उपलब्ध हैं। यह काफी हद तक पहले से जारी है। यही नहीं मौजूदा वक्‍त में तो हाइपरटेंशन समेत कई बीमारियों के लिए इलाज में योग को चिकित्सा प्रणाली के तौर पर आजमाया भी जा चुका है। समाज के बड़े लाभ के लिए इस दिशा में तालमेल बिठाने की गुंजाइश है।

वीके पॉल (VK Paul) ने आगे कहा कि एक शोध संस्थान के रूप में हम स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार के कई विचारों पर गौर कर रहे हैं। इसमें हम जनकल्‍याण के लिए पारंपरिक एवं आधुनिक नजरिए में अधिक तालमेल की संभावनाओं पर गौर कर रहे हैं। भारत की राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति (India’s National Health Policy, NHP) भारतीय चिकित्सा प्रणाली की आधुनिक विज्ञान और आयुर्वेद के संयोजन (जीनोमिक्स, Genomics) के लिए एकीकृत पाठ्यक्रमों की जरूरत को पहचानती है।

Continue Reading

मनोरंजन

ड्रग्स मामला: 8 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में फैसल और टीवी अभिनेत्री प्रीतिका

Published

on

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ड्रग्स एंगल की जांच कर रहा है। जांच एजेंसी की तरफ से एक और ड्रग्स रैकेट का खुलासा किया गया है। मुंबई जोनल यूनिट की एक टीम ने माछीमार, वर्सोवा में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। इनमें से एक टीवी अभिनेत्री प्रीतिका चौहान हैं।

एजेंसी ने रविवार को बयान में कहा, ‘मुंबई जोनल यूनिट की एक टीम ने माछीमार, वर्सोवा में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया और कल उनके कब्जे से 99 ग्राम गांजा जब्त करने में सफल रही। दो व्यक्तियों- एक फैसल और टीवी अभिनेत्री प्रीतिका चौहान को गिरफ्तार किया गया और फिर उन्हें अदालत में पेश किया गया।’ अदालता ने रविवार को दोनों को 8 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। 

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उनके सुसाइड की वजह का पता लगाने के लिए सीबीआई को केस सौंपा गया था। सुशांत के परिवार का मानना है कि उनका मर्डर हुआ जबकि सुशांत को उनके अपार्टमेंट में फांसी से लटका पाया गया था।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

कपिल देव को मिली अस्पताल से छुट्टी, दो दिन पहले आया था हार्ट अटैक

Published

on

Kapil-Dev

भारत के पहले विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव को रविवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। दिल का दौरा पड़ने पर दो दिन पहले उनकी एंजियोप्लास्टी हुई थी। गुरुवार को 61 वर्षीय कपिल देव को सीने में दर्द की शिकायत के बाद फोर्टिस एस्कोर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट के आपातकालीन विभाग में भर्ती कराया गया था। अब वह स्वस्थ हैं।

अस्पताल ने बयान में कहा, ‘कपिल देव को आज दोपहर बाद छुट्टी दे दी गई। वह बेहतर स्थिति में हैं और जल्द ही अपनी दैनिक गतिविधि शुरू कर सकते हैं। वह डॉ अतुल माथुर से लगातार परामर्श लेते रहेंगे।’

कपिल देव के पूर्व साथी चेतन शर्मा ने कपिल और डॉ माथुर की तस्वीर के साथ ट्वीट किया, ‘डा. अतुल माथुर ने कपिल पाजी की एंजियोप्लास्टी की। वह अब स्वस्थ हैं और उन्हें छुट्टी दे दी गई है। यह तस्वीर अस्पताल से छुट्टी मिलने के समय की है।’

एंजियोप्लास्टी ‘ब्लॉक’ हुई धमनियों को खोलने की प्रक्रिया है ताकि हृदय में सामान्य रक्त संचार हो सके। अस्पताल में भर्ती होने के बाद कपिल की स्थिति की जांच की गई और अस्पताल के हृदय रोग विभाग के निदेशक डॉ माथुर ने उनकी आपात कोरोनरी एंजियोप्लास्टी की।’

सोशल मीडिया पर काफी लोगों ने 1983 विश्व विजेता महान ऑलराउंडर के शीर्ष स्वास्थ्य लाभ की कामना की थी। इनमें भारतीय कप्तान विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर सहित अन्य खिलाड़ी शामिल थे।

भारत के महान क्रिकेटरों में से एक कपिल ने 131 टेस्ट और 225 वनडे खेले हैं। वह क्रिकेट के इतिहास में एकमात्र खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 400 से ज्यादा (434) विकेट अपने नाम कर टेस्ट मैचों में 5000 से ज्यादा रन जुटाए हैं। वह 1999 और 2000 के बीच भारत के राष्ट्रीय कोच भी रह चुके हैं। कपिल को 2010 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था।

Continue Reading

Most Popular