विटामिन डी से हो सकता है ये गंभीर बीमारी का इलाज | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

स्वास्थ्य

विटामिन डी से हो सकता है ये गंभीर बीमारी का इलाज

Published

on

विटामिन डी की उच्च खुराक का सेवन बहुभागी (मल्टीपल) स्केलोरोसिस के इलाज के लिए कारगार साबित हो सकता है. एक नए शोध से यह बात सामने आई है. मल्टीपल स्केलोरोसिस एक स्व प्रतिरक्षित (ऑटो इम्यून) बीमारी है, जो मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को प्रभावित करता है. इस रोग के इलाज में विटामिन डी अहम योगदान दे सकता है.

हॉपकिन्स युनिवर्सिटी के अध्ययनकर्ता पीटर कैलाब्रेसी के अनुसार, “यह निष्कर्ष रोमांचक है कि विटामिन डी स्क्लेरॉसिस के इलाज के लिए सुरक्षित, सस्ता और सुविधाजनक है.”

श्रीर में विटामिन डी के कम स्तर से मल्टीपल स्क्लेरॉसिस की संभावना बढ़ जाती है. इसके अलावा, विटामिन डी की कमी से अपंगता और कई रोगों के होने का खतरा होता है.

इस अध्ययन में 40 प्रतिभागियों को शामिल किया गया था, जो मल्टीपल स्क्लेरॉसिस से पीड़ित थे. इन्हें 10,400 इंटरनेशनल यूनिट्स (आईयू) और 800 इंटरनेशनल यूनिट्स विटामिन डी की खुराक छह महीनों तक प्रतिदिन दी गई.

बीमारी

बीमारी

इस अध्ययन में विटामिन डी की कमी वाले लोगों को शामिल नहीं किया गया था.

रक्त में विटामिन डी और ‘टी’ कोशिकाओं की मात्रा को मापने के लिए अध्ययन की शुरुआत में रक्त की जांच की गई. इसकी दोबारा यह जांच अध्ययन के तीसरे महीने और फिर छठे महीने में की गई.

मल्टीपल स्क्लेरॉसिस से ग्रस्त लोगों के रक्त में विटामिन डी का सर्वश्रेष्ठ स्तर जानने के लिए 40 से 60 नैनोग्राम प्रति मिली को एक लक्ष्य के रूप में प्रस्तावित किया गया.

निष्कर्ष में देखा गया कि मल्टीपल स्क्लेरॉसिस से ग्रस्त जिन प्रतिभागियों को विटामिन डी की उच्च मात्रा दी गई उन्होंने अपना लक्ष्य पूरा करने में कामयाबी हासिल की. वहीं विटामिन डी की कम खुराक लेने वाले प्रतिभागी अपने लक्ष्य को पूरा करने में असफल रहे.

इसके अलावा विटामिन डी की उच्च खुराक लेने वाले प्रतिभागियों में मल्टीपल स्क्लेरॉसिस से संबंधित ‘टी’ कोशिकाओं के प्रतिशत में कटौती देखी गई.

अध्ययन के अनुसार, विटामिन डी की उच्च और निम्न खुराक लेने वाले दोनों ही प्रतिभागियों में विटामिन डी के दुष्प्रभाव निम्न रहे.

यह अध्ययन पत्रिका ‘जर्नल ऑफ न्यूरोलॉजी’ में प्रकाशित किया गया है.

राष्ट्रीय

Corona Vaccine: कुछ ही हफ्तों में कोरोना वैक्सीन तैयार होगी – PM Modi

वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलते ही देश में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष के नेताओं की कोरोना वैक्सीन को लेकर सभी जिज्ञासाओं का समाधान किया।

Published

on

narendra modi Black

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक में मेड इन इंडिया कोरोना वैक्सीन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अगले कुछ हफ्तों में कोरोना वैक्सीन तैयार होगी। वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलते ही देश में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष के नेताओं की कोरोना वैक्सीन को लेकर सभी जिज्ञासाओं का समाधान किया। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, गुलाम नबी आजाद, बसपा से सतीश मिश्रा, समाजवादी पार्टी से रामगोपाल यादव सहित कई पार्टियों के विपक्ष के नेता इस वर्चुअल सर्वदलीय बैठक में शामिल हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, कुछ दिन पहले मेड इन इंडिया वैक्सीन बनाने का प्रयास कर रहीं वैज्ञानिक टीमों से मेरी बातचीत हुई थी। भारत के वैज्ञानिक अपनी सफलता को लेकर बहुत ही आश्वस्त हैं। अभी अन्य देशों की कई वैक्सीनों के नाम बाजार में सुन रहे हैं। फिर भी दुनिया की नजर कम कीमत वाली सबसे सुरक्षित वैक्सीन पर है। स्वाभाविक है कि पूरी दुनिया की नजर भारत पर भी है। अहमदाबाद, पुणे और हैदराबाद जाकर मैने यह भी देखा है कि वैक्सीन मैन्युफैक्च रिंग को लेकर देश की तैयारियां कैसी है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि करीब आठ संभावित वैक्सीन भारत में अलग-अलग चरण में हैं। जिनकी मैन्युफैक्च रिंग भारत में होनी है। भारत की अपनी तीन अलग-अलग वैक्सीन का ट्रायल अलग-अलग चरणों में है। एक्सपर्ट मानकर चल रहे हैं कि ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अगले कुछ हफ्तों में कोरोना की वैक्सीन तैयार हो जाएगी। जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, भारत मे टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि पहले चरण में किसे वैक्सीन लगेगी, इसे लेकर राज्य सरकारों से मिले सुझावों के आधार पर केंद्र सरकार काम कर रही है। कोरोना के मरीजों के इलाज में जुटे हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर और पहले से बीमारी से जूझ रहे बुजुर्ग लोगों को सर्वप्रथम वैक्सीन दी जाएगी। वैक्सीन की वितरण व्यवस्था के लिए केंद्र और राज्य की टीमें मिलकर काम कर रहीं हैं।

Continue Reading

लाइफस्टाइल

Corona Vaccine: इंग्लैंड जाकर कोरोना वैक्सीन लगवाने की तैयारी में हैं कोलकाता के लोग

जानकारी के मुताबिक कोलकाता में रहने वाले बहुत से लोग इंग्लैंड घूमने के बहाने वैक्सीन लगवाने के बारे में विचार कर रहे हैं। कोलकाता में ट्रैवल एजेंटों से इन दिनों सवाल भी पूछे जा रहे हैं।

Published

on

Anti Corona Vaccine

अगले सप्ताह से इंगलैंड में आम लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन इसकी आधिकारिक तौर पर घोषणा भी कर चुके हैं। दवा कंपनी फाइजर ने इस वैक्सीन को तैयार किया है।

जानकारी के मुताबिक कोलकाता में रहने वाले बहुत से लोग इंग्लैंड घूमने के बहाने वैक्सीन लगवाने के बारे में विचार कर रहे हैं। कोलकाता में ट्रैवल एजेंटों से इन दिनों सवाल भी पूछे जा रहे हैं। जैसै कि, इंग्लैंड घूमने जाने पर क्या वहां कोरोना की वैक्सीन लगवाई जा सकेगी?

बता दें कि मुंबई की एक ट्रैवल एजेंसी ने कुछ दिन पहले इंग्लैंड के तीन दिवसीय वैक्सीन टूर पैकेज की बात कही थी। इस कंपनी ने यह दावा किया था कि, इग्लैंड घुमाने के साथ-साथ वहां कोरोना की वैक्सीन लगाने की भी व्यवस्था की जाएगी।

लेकिन ब्रिटिश सरकार की ओर से अभी तक ऐसा कुछ नहीं कहा गया है कि, उनके यहां अन्य देशों से आने वालों के लिए वैक्सीन की व्यवस्था की जाएगी या नहीं। कोरोना की वैक्सीन इंग्लैंड में भी सबसे पहले उन्हीं लोगों को लगाई जाएगी, जिन्हें कोरोना से सबसे ज्यादा खतरा है।

कोलकाता की एक ट्रैवल एजेंसी के अधिकारी ने नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर कहा कि,-‘हमें बहुत से लोग फोन व ईमेल करके पूछ रहे हैं कि इंग्लैंड घूमने जाने पर क्या वहां कोरोना की वैक्सीन लगवाना संभव हो पाएगा। हमारे पास फिलहाल इसका कोई जवाब नहीं है क्योंकि वहां की सरकार की तरफ से इस तरह का कोई दिशानिर्देश नहीं मिला है। अभी सबसे ज्यादा पूछताछ इंग्लैंड ट्रिप को लेकर ही हो रही है।’

Continue Reading

राष्ट्रीय

‘कोरोना वैक्सीन की कीमत को लेकर हो रही राज्यों से बात’, जानें सर्वदलीय बैठक की बड़ी बातें

Published

on

Corona Vaccine

कोरोना महामारी के खिलाफ वैक्सीन को लेकर तेजी से सरकार आगे बढ़ रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक को संबोधित करते हुए यह कहा। इस बैठक में उन्होंने वैक्सीन परीक्षण के ताजा हालात से लेकर उसकी संभावित कीमत तक को लेकर अन्य दलों के नेताओं के साथ बात की। सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, भारत में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की अहम बातें:

  • माना जा रहा है कि अगले कुछ हफ़्तों में कोरोना की वैक्सीन तैयार हो जाएगी। जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी भारत में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • पीएम मोदी ने कहा कि क़रीब 8 ऐसी संभावित वैक्सीन हैं जो ट्रायल के अलग-अलग चरण में हैं और जिनका उत्पादन भारत में ही होना है। भारत की अपनी 3 वैक्सीन का ट्रायल अलग-अलग चरणों में है। विशेषज्ञ ये मान रहे हैं कि वैक्सीन के लिए बहुत ज़्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।
  • वैक्सीन वितरण के लिए केंद्र और राज्य सरकार की टीमें मिलकर काम कर रही हैं। भारत में अन्य देशों की तुलना में वैक्सीन वितरण में विशेषज्ञता और क्षमता बेहतर है। टीकाकरण के क्षेत्र में हमारे पास एक बहुत बड़ा और अनुभवी नेटवर्क है। हम इसका पूरा फायदा उठाएंगे: पीएम मोदी
  • वैक्सीन की कीमत को लेकर केंद्र की राज्य सरकारों के साथ बातचीत चल रही है और इसके बारे में निर्णय सार्वजनिक स्वास्थ्य को सर्वोच्च प्राथमिकता के रूप में लिया जाएगा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • लगभग 8 टीके भारत में परीक्षण के विभिन्न चरणों में हैं। भारत के 3 टीके भी विभिन्न चरणों में हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि टीका बहुत दूर नहीं है।
  • हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि टीकाकरण के दौरान अफवाहें न फैलाई जाएं, ऐसी अफवाहें जो देश विरोधी और मानव विरोधी हैं। इस प्रकार, सभी राजनीतिक दलों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम सभी भारतीयों को इस तरह की अफवाहों से बचाएं: प्रधानमंत्री
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस पर सर्वदलीय बैठक को संबोधित किया। उन्होंने कहा कहा कह अभी अन्य देशों की कई वैक्सीन के नाम हम बाज़ार में सुन रहे हैं लेकिन दुनिया की नज़र कम कीमत वाली, सबसे सुर​क्षित वैक्सीन पर है और इसलिए पूरी दुनिया की नज़र भारत पर भी है।
  • फरवरी-मार्च की आशंकाओं भरे, डर भरे माहौल से लेकर आज दिसंबर के विश्वास और उम्मीदों भरे वातावरण के बीच भारत ने बहुत लंबी यात्रा तय की है। अब जब हम वैक्सीन के मुहाने पर खड़े हैं तो वही जनभागीदारी, वही साइंटिफिक अप्रोच, वही सहयोग आगे भी बहुत जरूरी है: पीएम मोदी
  • कोरोना वैक्सीन को लेकर जो विश्वास इस चर्चा में नजर आया है वो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को और मजबूत करेगा। इस बारे में बीते दिनों में मेरी मुख्यमंत्रियों से चर्चा हुई थी। टीकाकरण को लेकर राज्य सरकारों के अनेक सुझाव भी मिले थे: पीएम मोदी
Continue Reading

Most Popular