अमेरीका : तूफान से 34 लोगों की मौत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Published

on

अमेरीका के दक्षिणी तथा मध्य राज्यों में बाढ तथा तूफान से कम से कम 34 लोगों की मौत हुई है तथा कई इमारतें क्षतिग्रस्त भी हुई हैं। आधिकरिक सूत्रों ने कहा कि टेक्सास प्रांत के डल्लास में इस सप्ताहांत आए तूफान में कम से कम 11 लोगों की मौत हुई है । गारलैंड शहर आठ लोगों की मौत हुई है तथा राजमार्ग पर आवागमन को बंद कर दिया गया है । इसके अलावा तीन लोगों की मौत डल्लास के शहरी इलाकों में हुई है ।गारलैंड के पुलिस प्रवक्ता लेफ्टीनेंट पेड्रो बरीनेउ ने कहा कि यह तूफान पूरी तरह विनाशकारी है ।

क्रिसमस के एक दिन बाद इस तरह के भयानक तूफान के कारण लोगों के लिए कठिन समय है । उन्होंने कहा कि उत्तरी टेक्सास में 600 से अधिक इमारतों को नुकसान पहुंचा है । जानकारी के अनुसार इलिनोइस में बाढ की चपेट में एक कार के आने से तीन युवक तथा दो बच्चों की मौत हो गई है । टेक्सास के गवर्नर ग्रेग अबोट ने कहा कि डल्लास तथा उसके आसपास के तीन काउंटियों में आपात की घोषणा कर दी गई है। उन्होंने लोगों को बिना
जरूरत सड़कों से दूर रहने की सलाह दी है ।

राष्ट्रीय मौसम सेवा की ओर से न्यू मैक्सिको, टेक्सास, ओकलाहोमा तथा कनसास समेत उत्तरी अमरीका के बड़े हिस्से में एक बर्फीली तूफान के लिए गंभीर परामर्श जारी किए गए हैं । न्यू मैक्सिको के गवर्नर सुसाना मार्टिनेज ने पूरे राज्य में आपात की घोषणा की। फ्लाइटअवेयर डॉट कॉम के अनुसार अमरीका में कल देर रात तक 1150 विमानों की उड़ानें रद्द की गई थी।

wefornews bureau 

अंतरराष्ट्रीय

दुनिया में वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के मामले 3.1 करोड़ के करीब

Published

on

coronavirus

जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार दुनिया में अब कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 3.1 करोड़ के करीब पहुंच गई है। वहीं मौतों की संख्या लगभग 9.6 लाख हो गई है।

विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) द्वारा जारी किए गए नए अपडेट के मुताबिक, सोमवार की सुबह तक कुल मामलों की संख्या 3,09,18,269 और मृत्यु की संख्या 9,59,332 हो चुकी थी।

सीएएसई के अनुसार, दुनिया में कोरोना से सबसे बुरी तरह प्रभावित देश अमेरिका में 67,99,044 मामले और 1,99,474 मौतें दर्ज हो चुकी हैं।

मामलों की संख्या में 54,00,619 मामलों के साथ भारत दूसरे स्थान पर है। इसके बाद तीसरे नंबर पर सबसे अधिक प्रभावित देश ब्राजील में 45,44,629 मामले सामने आ चुके हैं।

मृत्यु संख्या को लेकर बात करें तो 1,36,895 के साथ ब्राजील दूसरे और 86,752 मौतों के साथ भारत तीसरे नंबर पर है।

सीएसएसई के अनुसार, इन तीन देशों के बाद सबसे अधिक संक्रमण वाले शीर्ष 15 देशों में रूस (10,98,958), पेरू (7,62,865), कोलम्बिया (758,398), मैक्सिको (6,97,663), दक्षिण अफ्रीका (661,211), स्पेन (640,040), अर्जेंटीना (631,365), फ्रांस (467,614), चिली (446,274), ईरान (422,140), ब्रिटेन (396,744), बांग्लादेश (3,48,918), सऊदी अरब (3,29,754) और इराक (3,19,035) हैं।

वहीं ऐसे देश जहां 10 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं, उनमें मेक्सिको (73,493), ब्रिटेन (41,866), इटली (35,668), पेरू (31,369), फ्रांस (31,257), स्पेन (30,495), ईरान (24,301), कोलम्बिया (23,665), रूस (19,349), दक्षिण अफ्रीका (15,953), अर्जेंटीना (13,053), चिली (12,286) और इक्वाडोर (11,090) हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

लद्दाख गतिरोध: भारत और चीन के बीच कोर कमांडरों की वार्ता आज

इन उपायों में सैनिकों को शीघ्रता से हटाना, तनाव बढ़ाने वाली कार्रवाई से बचना, सीमा प्रबंधन पर सभी समझौतों एवं प्रोटोकॉल का पालन करना और एलएसी पर शांति बहाल करने के लिये कदम उठाना शामिल हैं।

Published

on

China India

भारत और चीन की सेनाओं के बीच कोर कमांडरों की छठे दौर की बातचीत आज मोल्डो में होने जा रही है। इसमें मुख्य रूप से पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के सौनिकों को पीछे हटाना और तनाव घटाने पर बनी पांच सूत्री सहमति के क्रियान्वयन पर मुख्य रूप से ध्यान केंद्रित किया जाएगा। सरकारी सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) से चीन की ओर मोल्डो में सुबह 9 बजे यह वार्ता शुरू होने वाली है। सूत्रों ने बताया कि भारतीय प्रतिनिधिमंडल में पहली बार विदेश मंत्रालय से एक संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी के इसमें हिस्सा होने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि भारत इस वार्ता में कुछ ठोस नतीजे निकलने की उम्मीद कर रहा है।

शंघाई सहयोग संगठन (LAC) से अलग 10 सितंबर को मास्को में विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी के बीच हुई एक बैठक में दोनों पक्ष सीमा विवाद हल करने पर एक सहमति पर पहुंचे थे। इन उपायों में सैनिकों को शीघ्रता से हटाना, तनाव बढ़ाने वाली कार्रवाई से बचना, सीमा प्रबंधन पर सभी समझौतों एवं प्रोटोकॉल का पालन करना और एलएसी पर शांति बहाल करने के लिये कदम उठाना शामिल हैं।

वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह करने वाले हैं जो लेह स्थित भारतीय थल सेना की 14 वीं कोर के कमांडर हैं। जबकि चीनी पक्ष का नेतृत्व मेजर जनरल लियू लिन के करने की संभावना है, जो दक्षिण शिंजियांग सैन्य क्षेत्र के कमांडर हैं।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

भारतीय राजनयिक जयंत खोबरागड़े को वीजा देने से पाकिस्तान का इनकार

इस मुद्दे पर न तो भारत की तरफ से और न ही पाकिस्तान की तरफ से कोई आधिकारिक बयान आया है।

Published

on

Imran Khan Pakistan

भारत के वरिष्ठ राजनयिक जयंत खोबरागड़े को पाकिस्तान ने वीजा देने से इंकार कर दिया है। जयंत को इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग का कार्यकारी प्रमुख नियुक्त किया जाना था। घटनाक्रम से जुड़े लोगों ने रविवार को यह जानकारी दी। समझा जाता है कि पाकिस्तान ने जयंत के वीजा को इस आधार पर मंजूरी नहीं दी कि वह इस पद के लिए अत्यधिक वरिष्ठ हैं।

घटनाक्रम से जुड़े लोगों ने बताया कि भारत ने जून में ही जयंत को भारत का उप उच्चायुक्त बना कर वहां भेजने के अपने कदम से पाकिस्तान को अवगत करा दिया था। इस मुद्दे पर न तो भारत की तरफ से और न ही पाकिस्तान की तरफ से कोई आधिकारिक बयान आया है।

पिछले साल पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा वापस लिये जाने और इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के केंद्र सरकार के कदम के बाद पाकिस्तान ने इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायुक्त को निलंबित कर राजनयिक संबंधों को कमतर कर दिया है। जम्मू कश्मीर पर भारत के निर्णय के बाद पाकिस्तान ने यहां अपने उच्चायोग में किसी उच्चायुक्त को नहीं भेजा है।

तब से दोनों देशों के उच्चायोगों का नेतृत्व दोनों देशों के उप उच्चायुक्त कर रहे हैं। इस साल जून में भारत ने पाकिस्तान से कहा था कि वह यहां अपने उच्चायोग में कर्मचारियों की संख्या में कटौती करते हुए उसे आधा कर दे। भारत ने यह भी कहा था कि वह इस्लामाबाद स्थित अपने उच्चायोग में भी कर्मचारियों की संख्या में कटौती करेगा।

Continue Reading

Most Popular