वॉशिंगटन: अमेरिका ने रूसी साइबर-सुरक्षा फर्म कास्परस्की लैब्स (Kaspersky Lab) को उन संस्थाओं की सूची में रखा है जो अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जोखिम पैदा करती हैं।

यह पहली बार है जब किसी रूसी कंपनी को सूची में जोड़ा गया है, जिसमें हुआवेई और जेडटीई जैसे चीनी तकनीकी दिग्गज शामिल हैं।

यूएस फेडरल कम्युनिकेशंस कमिशन ने कास्परस्की को अपनी किवर्ड लिस्ट में शामिल किया है, जो उन संस्थाओं की पहचान करती है जो देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जोखिम पैदा करती हैं।

विशेष रूप से, आयोग ने सूची में तीन नई संस्थाओं को जोड़ा है- चाइना मोबाइल इंटरनेशनल यूएसए, चाइना टेलीकॉम (अमेरिका) और कास्परस्की लैब्स

एफसीसी कार्यालय आयुक्त ब्रेंडन कैर ने एक बयान में कहा कि कास्परस्की लैब्स, हमारे नेटवर्क को चीनी और रूसी राज्य समर्थित संस्थाओं द्वारा जासूसी में शामिल होने और अमेरिका के हितों को नुकसान पहुंचाने वाले खतरों से सुरक्षित रखने में मदद करेंगे।

रूसी फर्म ने शनिवार देर रात एक बयान में कहा कि यह निर्णय कास्परस्की उत्पादों के किसी भी तकनीकी मूल्यांकन पर आधारित नहीं है, बल्कि राजनीतिक आधार पर आधारित है।

एफसीसी सूची में शामिल संस्थाओं को एजेंसी के यूनिवर्सल सर्विस फंड के माध्यम से समर्थन प्राप्त करने से प्रतिबंधित किया गया है।

इसमें कहा गया है कि इन तीन संस्थाओं को जोड़ने के एफसीसी के फैसले को अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा की जिम्मेदारी वाली कार्यकारी शाखा एजेंसियों की सिफारिशों का समर्थन है।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212