देश में बेरोजगारी दर एक बार फिर ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) के आंकड़ों के मुताबिक अगस्त महीने में बेरोजगारी दर 8.3 फीसदी पर है जोकि बीते 12 महीनों का उच्चतम स्तर है।

पिछले साल यानी अगस्त 2021 में भी बेरोजगारी दर 8.35 फीसदी थी।

आंकड़ों के मुताबिक शहरों और ग्रामीण इलाकों में बेरोजगारी दर में अंतर है। शहरों में जहां बेरोजगारी दर 9.6 फीसदी है वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में यह 7.7 फीसदी है।

बीते एक साल के दौरान ग्रामीण और शहरी इलाकों में बेरोजगारी के आंकड़े चिंताजनक रहे हैं और आमतौर पर शहरों में बेरोजगारी अधिक रही है।

सिर्फ फरवरी और जून माह में ग्रामीण इलाकों में बेरोजगारी का आंकड़ा शहरों से अधिक रहा है।

राज्यवार बेरोजगारी के आंकड़ों पर नजर डालें तो छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य है जहां बेरोजगारी सबसे कम है। वहां बेरोजगारी की दर 0.4 फीसदी यानी आधे फीसदी से भी कम है।

वहीं हरियाणा, जम्मू-कश्मीर और राजस्थान में यह आंकड़े 30 फीसदी से ऊपर है। वहीं मेघालय, महाराष्ट्र, ओडिशा और मध्य प्रदेश में बेरोजगारी की दर 3 फीसदी से नीचे है।

बता दें कि आखिर बेरोजगारी दर होती क्या है? बेरोजगारी दर दरअसल वह आंकड़ा है जिसमें 15 वर्ष और ऊपर से उम्र के ऐसे लोगों की संख्या को आंका जाता है जो काम की तलाश कर रहे हैं लेकिन उन्हें काम या नौकरी नहीं मिल रही है। किसी भी व्यक्ति को बेरोजगार तय करने के लिए देखना होता है कि क्या वह काम की तलाश कर रहा है और वह श्रम बल यानी लेबर फोर्स का हिस्सा है, लेकिन उसे काम नहीं मिल रहा है।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275