चारधाम यात्रा में केदारनाथ मंदिर आने वाले तीर्थ यात्रियों के ठहरने के लिए टेंट कॉलोनी बनाई जाएगी।

जिससे धाम में लगभग 1500 यात्रियों के ठहरने की अतिरिक्त व्यवस्था होगी। पर्यटन विभाग ने टेंट कॉलोनी बनाने के लिए 2.88 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति दे दी है।

प्रदेश में तीन मई से चारधाम यात्रा शुरू हो रही है। यात्रा के लिए पंजीकरण और केदारनाथ हेली सेवा की आनलाइन बुकिंग को देखते हुए इस बार रिकॉर्ड तीर्थ यात्रियों के आने की उम्मीद है।

यात्रियों की भीड़ को देखते हुए सरकार और पर्यटन विभाग व्यवस्थाओं में जुटा है। केदारनाथ धाम में यात्रियों के ठहरने के लिए सीमित आवासीय सुविधा है। धाम में गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) के रेस्ट हाउस पहले ही फुल हो चुके हैं।

पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर का कहना है कि इस बार चारधाम यात्रा में काफी संख्या में यात्रियों के आने की संभावना है। इसे देखते हुए चारधामों में तैयारी की जा रही है।

गढ़वाल मंडल विकास निगम की ओर से लगभग 1500 यात्रियों के ठहरने के लिए टेंट की व्यवस्था की जाएगी।

जीएमवीएन के माध्यम से टेंट कालोनी बनाई जाएगी। इसके लिए पर्यटन विभाग ने 2.88 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति दी गई है।

सुविधाओं का इंतजाम, भीड़ नियंत्रण की रहेगी चुनौतीबीते दो साल से कोरोना महामारी के कारण प्रभावित रही चारधाम यात्रा में तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ उमड़ने की संभावना है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की सीमित केयरिंग क्षमता है। ऐसे में धामों में भीड़ को नियंत्रित करने और तीर्थ यात्रियों के लिए सुविधाओं का इंतजाम करने की बड़ी चुनौती है।

भारी संख्या में यात्रियों के धाम में पहुंचने पर व्यवस्था न होने की स्थिति में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को यात्रा शुरू होने से पहले सभी इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।

Share.

Leave A Reply