अच्छा दामाद बनने के लिए ये जरूर करें!

घर का मुखिया होने के नाते पुरुषों के मन में सदैव अहं का भाव रहता है। यही भाव ससुर-दामाद के सम्माननीय और प्रेम से भरे रिश्ते के आड़े आकर सबकुछ तहस-नहस कर सकता है। लेकिन जिन परिवारों में बेटे नहीं होते वहां दामाद ही ससुर के बाद मुखिया माने जाते हैं और उन्हें ही सारी पारिवारिक जिम्मेदारियां वहन करनी होती हैं। अच्छा दामाद बनने के लिए कोई हार्ड रूल्स एंड रेगुलेशन्स नहीं हैं। जब पैरेंट्स...