देश पर महंगाई की मार जारी, प्रियंका गांधी बोलीं- जनता काट रही अपना पेट, मोदी सरकार काट रही है जेब

देश की जनता पर महंगाई की मार जारी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने महंगाई को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जनता अपना पेट काट रही है मोदी सरकार जेब काट रही है। प्रियंका गांधी ने कहा कि कोरोना संकट के बीच जनता की आशा थी सरकार उन्हें राहत देगी, लेकिन सरकार उनके लिए ‘आहत योजना’ लेकर आई है। 2021 में 52 बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ चुके हैं। सरसों...

महंगाई के मोर्चे पर सरकार को एक और झटका, मई में CPI 4.23% से बढ़कर 6.30% पर आई

कोरोना काल में जहां लोगों का बजट गड़बड़ हुआ है वहीं सरकार ने महंगाई के मोर्चे पर एक और झटका दे दिया है। थोक महंगाई के बाद अब खुदरा महंगाई भी बढ़ोत्तरी नजर आ रही है। जानकारी के मुताबिक मई में CPI 4.23 फीसदी से बढ़कर 6.30 फीसदी पर आ गई है। जानकारी के मुताबिक मई में खाने-पीने की चीजों की रिटेल महंगाई अप्रैल के 1.96 फीसदी से बढ़कर 5.01 फीसदी पर आ गई है।...

पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों जारी बढ़ोतरी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि उनके शासन में टैक्स बढ़ोतरी की लहरें लगातार आ रही है जिससे महंगाई आसमान छू रही है और आम लोगों का जीना दूभर हो गया है। गांधी ने ट्वीट किया,‘‘ टैक्स वसूली महामारी की लहरें लगातार आती जा रही हैं।” उन्होंने लिखा कि, ‘कई राज्यों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो रही है।...

Priyanka Gandhi: “अर्थव्यवस्था में आपदा और आपदा में अवसर” यही मोदी सरकार का मास्टरस्ट्रोक है

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने विकास दर, बरोजगारी दर और महंगाई से संबंधित आंकड़ो को सोशल मीडिया पर शेयर कर कहा कि “अर्थव्यवस्था में आपदा और आपदा में अवसर” यही मोदी सरकार का मास्टरस्ट्रोक है। विकास दर: -7.3बेरोजगारी दर: 12%दूसरी लहर: 1 करोड़ नौकरियां खत्म 2020: 97% लोगों की आय घटी पेट्रोल- 100रु सरसों का तेल- 200रु रसोई गैस- 809रु “अर्थव्यवस्था में आपदा और आपदा में अवसर” यही मोदी सरकार का मास्टरस्ट्रोक है। — Priyanka...

1 जून से महंगा होगा हवाई सफर, जानिए आपकी जेब पर कितना पड़ेगा बोझ

देश के लोगों पर महंगाई की मार पड़ी है। घरेलू हवाई यात्रा महंगी होने जा रही है। सरकार ने हवाई किराये की निचली सीमा में 13 से 16 फीसदी बढ़ोतरी की है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय के जारी आधिकारिक आदेश में कहा गया है कि यह बढ़ोतरी 1 जून से प्रभाव में आ जाएगी। सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के शुक्रवार को जारी आधिकारिक आदेश में कहा गया कि 40 मिनट तक की अवधि की हवाई उड़ान के...

महंगाई से राहत नहीं, अप्रैल में थोक महंगाई दर 10.49% उच्चतम स्तर पर, मार्च में थी 7.39%

कोरोना के कहर के बीच देश की जनता को महंगाई से भी राहत नहीं मिल रही है। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, थोक मुद्रास्फीति अप्रैल 2021 में सालाना आधार पर 10.49 फीसदी पर पहुंच गई। महीने-दर-महीने के आधार पर थोक महंगाई दर में मार्च में 7.39 फीसदी की तुलना में 3.1 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई। फरवरी में थोक महंगाई दर 4.17 फीसदी थी। Annual rate of inflation in April 2021 is high primarily...

आम आदमी को लगा महंगाई का झटका, फरवरी में खुदरा महंगाई बढ़कर 5.03 फीसदी हुई

फरवरी 2020 में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 5.03 प्रतिशत पर पहुंच गई है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति एक महीने पहले यानी जनवरी में 4.06 प्रतिशत पर थी। जो फरवरी में करीब एक फीसदी बढ़कर 5.03 फीसदी हो गई है। शुक्रवार को केंद्र सरकार ने खुदरा महंगाई के ये आंकड़े जारी किए हैं। Retail inflation rises to 5.03 pc in Feb as against 4.06 pc in Jan: Govt data — Press Trust...

मल्लिकार्जुन खड़गे का केंद्र पर हमला, बोले-महंगाई पर चर्चा से भाग रही है सरकार

राज्य सभा में विपक्ष के नेता मल्लिकाजुर्न खड़गे ने कहा है कि आसमान छू रही महंगाई से आदमी परेशान है और कांग्रेस ने इस मुद्दे पर सदन में चर्चा कराने के लिए कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया है लेकिन सरकार ने उसे खारिज कर दिया है। खड़गे ने सोमवार को यहां संसद भवन परिरसर के बाहर संवाददाताओं से कहा कि महंगाई चरम पर पहुंच गयी है और कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर सदन में चर्चा कराने का...

महंगाई को लेकर प्रियंका गांधी का सरकार पर शायराना तंज- ‘इस बार बहानों की बौछार’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने महंगाई के मुद्दे पर शायराना अंदाज में सरकार पर तंज कसा है। प्रियंका ने महंगाई के मुद्दों पर केंद्रीय मंत्रियों के बयानों पर निशाना साधते हुए कहा कि आमजन की परेशानी को किया दरकिनार, इस बार बहानों की बौछार। प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा, ”महंगाई बढ़ने पर भाजपा सरकार के बहाने… सर्दी के कारण दाम बढ़े, पिछली सरकारों का दोष, लोग कम यात्रा करें इसलिए टिकट के दाम...

पेट्रोल-डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों से त्राहिमाम मचा है: अलका लांबा

बढ़ती महंगाई के खिलाफ बोलते हुए कांग्रेस नेता अलका लांबा ने कहा, “पूरे देश पर बेरोजगारी के साथ-साथ महंगाई की लगातार मार पड़ रही है। पेट्रोल-डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों से त्राहिमाम मचा हुआ है।” पूरे देश पर बेरोजगारी के साथ-साथ महंगाई की लगातार मार पड़ रही है। पेट्रोल-डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों से त्राहिमाम मचा हुआ है: @LambaAlka#SpeakUpAgainstPriceRise pic.twitter.com/KEjOyOQV9K — Congress (@INCIndia) March 5, 2021

रसोई गैस के बाद अब बढ़े CNG-PNG के दाम

महंगाई से जूझ रहे दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोगों को एक और झटका लगा है। पेट्रोल- डीजल और रसोई गैस के दामों में उछाल के बीच अब सीएनजी और पीएनजी गैस के दाम ने भी छलांग लगाई है। इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड (आइजीएल) ने सीएनजी के दामों में  70 पैसे प्रति किलो वृद्धि की है। आइजीएल ने इस वृद्धि के लिए कोरोना महामारी के दौरान आए अतरिक्त खर्च का हवाला दिया है। नई दिल्ली में यह 43.40...

बढ़ती महंगाई पर राहुल ने फिर केंद्र पर साधा निशाना, बोले- ‘सरकार आपको लूट रही है’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी महंगाई के मुद्दे पर लगातार केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। राहुल ने आज एक बार फिर ट्वीट करते हुए लोगों से पूछा है, “क्या कोई ऐसी जगह है जहां रोजमर्रा का सामान मिलता हो और वहां जाकर आपको ऐसा ना लगे कि सरकार आपको लूट रही है?। इस से पहले राहुल ने शुक्रवार को भी एक ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा था, “रोजगार...

महंगाई की मार, बेरोजगारी की सब हदें पार, फेल हुई सरकार : राहुल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि महंगाई की मार, बेरोज़गारी की सब हदें पार, फेल हुई सरकार।

प्रियंका ने किया मोदी सरकार पर हमला, कहा- खरबपति मित्रों के लिए कर रही बैटिंग

जनता पर महंगाई की मार जारी है। देश में आज फिर से रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़ाए गए हैं। इसको लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन महीने में घरेलू गैस सिलेंडर पर 200 रुपए बढ़े। पेट्रोल डीजल शतक मारने की तरफ बढ़ ही चुके हैं। अर्थव्यवस्था के दोनों छोरों पर खरबपति मित्रों के लिए बैटिंग करने वाली मोदी सरकार की पिच आमजनों के लिए...

राहुल पर हमला कर भाजपा असल मुद्दों से ध्यान भटका रही : कांग्रेस

केरल में मंगलवार को राहुल गांधी के बयान के बाद विवाद खड़ा हो गया, जिसके बाद कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि भाजपा तेल की बढ़ती कीमतों, महंगाई, चीनी घुसपैठ और किसानों के विरोध के वास्तविक मुद्दों से लोगों का ध्यान भटका रही है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बुधवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने भारत की जनता से एक स्पष्ट आह्वान किया है कि वह राज्य...

मायावती का सरकार पर हमला, कहा महंगाई से त्रस्त जनता को अनावश्यक सताना अनुचित

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने एक बार फिर मंहगाई को लेकर केन्द्र और राज्य सरकार पर निशाना साधा और कहा है कि अनावश्यक महंगाई से जनता को सताना अनुचित है। बसपा मुखिया मायावती ने मंगलवार को ट्विटर के माध्यम से लिखा, “देश में पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस जैसी जरूरी वस्तुओं की कीमतों में अनावश्यक ही अनवरत वृद्घि करके कोरोना प्रकोप, बेरोजगारी व महंगाई आदि से त्रस्त जनता को सताना सर्वथा...

दिसंबर में घटकर 1.22 फीसदी पर पहुंची थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति

भारत सरकार ने थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के आंकड़े जारी कर दिए हैं। दिसंबर 2020 में देश की थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति घटकर 1.22 फीसदी पर आ गई है। खाद्य वस्तुओं के दाम घटने से थोक मुद्रास्फीति घटी है। नवंबर 2020 में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मद्रास्फीति 1.55 फीसदी पर थी। दिसंबर 2019 में यह आंकड़ा 2.76 फीसदी था। उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार डब्ल्यूपीआई खाद्य सूचकांक...

खाद्य तेल की महंगाई बेकाबू, वैश्विक बाजार में तेजी का असर

खाद्य तेल की महंगाई बेकाबू होती जा रही है। खाने के तमाम तेल के दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर है और बहरहाल कीमतों में नरमी के आसार नहीं दिख रहे हैं। खाद्य तेल के दाम में तेजी वैश्विक बाजार में तेल और तिलहनों की मांग के मुकाबले आपूर्ति कम होने की वजह से आई है। भारत खाद्य तेल की अपनी जरूरतों का तकरीबन दो तिहाई हिस्सा आयात करता है और आयात महंगा होने से तेल के...

लगातार तीसरे महीने बढ़ी थोक महंगाई दर, अक्तूबर में 1.48 फीसदी पर पहुंची

सरकार ने अक्तूबर माह के थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति (WPI) के आंकड़े जारी कर दिए हैं। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति अक्तूबर में लगातार तीसरे महीने बढ़कर 1.48 फीसदी रही, जो सितंबर में 1.32 फीसदी थी। इसके साथ ही थोक महंगाई दर पिछले आठ महीनों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। फरवरी के बाद यह थोक मुद्रास्फीति का सबसे ऊंचा आंकड़ा है। अगस्त में यह आंकड़ा 0.16 फीसदी था, जुलाई में नकारात्मक...

चारों तरफ से महंगाई की मार, किसान से लेकर जनता बेहाल सिर्फ़ मोदी सरकार जिम्मेदार : राहुल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि एक तरफ किसान पर दोहरी मार- महंगे बीज और कम दाम पर उपज की खरीद। दूसरी तरफ़ उपभोक्ता पर- चारों तरफ से महंगाई की मार। जिम्मेदार सिर्फ़ मोदी सरकार! एक तरफ़ किसान पर दोहरी मार- महंगे बीज और कम दाम पर उपज की ख़रीद। दूसरी तरफ़ उपभोक्ता पर- चारों तरफ़ से महंगाई की मार। ज़िम्मेदार सिर्फ़ मोदी सरकार! pic.twitter.com/ef1cEG5hFR...

झूठे प्रचार पर करोड़ों खर्च लेकिन महंगाई पर मोदी सरकार चुप: प्रियंका

महंगाई को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि पूरे उत्तर प्रदेश (UP) में त्यौहारों के मौसम में महंगाई आम लोगों पर कहर बनकर टूट पड़ी है। सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। काम धंधे पहले से ठप्प पड़े हैं, लेकिन करोड़ों रुपये झूठे प्रचार में खर्च करने वाली बीजेपी सरकार जनता की परेशानियों पर चुप है।...

तेजस्वी ने प्याज की माला लेकर, बढ़ते दाम पर सरकार को घेरा

बिहार चुनाव के बीच सोमवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और महागठबंधनके मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने महंगाई को मुद्दा बनाने की कोशिश की। इस दौरान तेजस्वी ने प्याज की माला लेकर लोगों के सामने पहुंचे और प्याज और आलू की बढ़ती कीमत को लेकर केंद्र और राज्य सरकार पर हमला बोला। इस दौरान तेजस्वी ने प्याज की माला लेकर लोगों के सामने पहुंचे और प्याज और आलू की बढ़ती कीमत...

त्योहारी सीजन में महंगाई की मार, थम नहीं रहे सब्जियों के दाम

त्योहारी सीजन में सब्जियों की महंगाई ने आम उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ा दी है। आलू, टमाटर और प्याज समेत सभी हरी शाक-सब्जियों के दाम आसमान पर हैं और फिलहाल राहत मिलने की गुंजाइश नहीं दिख रही है। सब्जी कारोबारी बताते हैं कि मानसून के आखिरी दौर में जगह-जगह हुई भारी बारिश में फसल खराब होने की वहज से आवक कमजोर है। देश की राजधानी दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में आलू का थोक भाव बीते एक...

ताजा फल, सब्जियों के दाम में नरमी, लेकिन प्याज निकाल रहा आंसू

ताजा फल और सब्जियों की आवक में सुधार से कीमतों में नरमी आई है, लेकिन प्याज की महंगाई से उपभोक्ताओं के आंसू निकल रहे हैं। प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगा दी है, फिर भी मंडियों में आवक में सुधार नहीं आया है। दिल्ली-एनसीआर में प्याज का खुदरा भाव 50 से 60 रुपये प्रति किलो चल रहा है। बीते तीन महीने में प्याज का दाम...

खुदरा महंगाई दर अगस्त में घटकर 6.69 फीसदी रही

खुदरा महंगाई दर बीते महीने अगस्त में घटकर 6.69 फीसदी रही जबकि उससे पहले जुलाई महीने में खुदरा महंगाई दर 6.73 फीसदी दर्ज की गई थी। खुदरा महंगाई दर के ये आधिकारिक आंकड़े सोमवार को जारी हुए। सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के तहत आने वाले राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की ओर से जारी उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर अगस्त महीने में 6.69 फीसदी दर्ज की गई। खाद्य पदार्थों की महंगाई में बीते महीने...

सब्जियों की महंगाई से राहत नहीं, 2 माह में आलू के दाम दोगुने

नई दिल्ली, 14 अगस्त (आईएएनएस)। कोरोना महामारी के चलते आर्थिक बदहाली से जूझ रहे आम उपभोक्ताओं पर अब महंगाई की भी मार पड़ रही है। खासतौर से सब्जियों की महंगाई से राहत मिलने के आसार नहीं दिख रहे हैं। सब्जियों में सबसे ज्यादा खपत होने वाला आलू के दाम बीते दो महीने में दोगुने हो गए हैं।  कोरोना काल में होटल, रेस्तरां, कैंटीन और ढाबों में सब्जियों की खपत कम होने के बावजूद इनकी कीमतों में लगातार...

खपत घटने के बावजूद खाद्य तेल की महंगाई जारी

कोरोना काल में होटल, रेस्तरा, कैंटीन का कारोबार ठप पड़ने की वजह से खाने के तेल की खपत घटने के बावजूद तमाम खाद्य तेल की कीमतों में लगातार तेजी बनी हुई है। सरसों का तेल बीते दो महीने में 20 रुपये प्रति किलो तक महंगा हो गया है। इसी प्रकार, सोया तेल, पाम तेल व अन्य खाद्य तेल के दाम में इजाफा हुआ है। कारोबारी और बाजार के जानकार बताते हैं कि पाम तेल में...

देश में महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है: कांग्रेस

देश में महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। कांग्रेस ने मोदी सरकार पर बढ़ती महंगाई पर हमला बोला है। कोरोना संकट के कारण उत्पन्न हुए आर्थिक हालातों से लोग उबरे नहीं थे कि अब महंगाई की मार से जनता त्रस्त हो रही है। बहुत हुई महंगाई की मार, अबकी बार अपने वादे भूल गई भाजपा सरकार। देश में महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। कोरोना संकट के कारण उत्पन्न हुए आर्थिक हालातों से लोग उबरे...

जून में थोक महंगाई दर वार्षिक आधार पर -1.81% रही

देश में जून महीने में वस्तुओं के सामान के थोक भाव में कमी देखी गई। इसी वजह से पिछले महीने थोक महंगाई दर -1.81 प्रतिशत पर रही। थोक महंगाई दर में लगातार तीसरे महीने कमी देखने को मिली है। The annual rate of inflation, based on monthly Wholesale Price Index (WPI), stood at -1.81% (provisional) for the month of June, 2020 (over June, 2019) as compared to 2.02% during the corresponding month of the previous...

महंगाई से जूझ रही जनता की अब टमाटर ने निकाली जान, 80 रुपये प्रति किलो हुआ दाम

पूरा देश महंगाई की मार से जूझ रहा है। मोदी सरकार महंगाई की इस महामारी को रोकने में नाकाम साबित हुई है। देश के लगभग तमाम बड़े शहरों में टमाटर की खुदरा कीमतें बढ़कर 60-70 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गयी हैं। केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा इस मौसम में टमाटर के खराब होने की संभावना अधिक रहती है।  मंत्रालय के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, चेन्नई के अलावा मेट्रो शहरों में...

पाकिस्तान में महंगा हुआ सोना, जाने कीमत

महंगाई से पाकिस्तान में कोहराम मचा है। सब्जियों के बाद दालों की कीमतों में भी आग लगी है, जिससे आम जनता परेशान है। पड़ोसी देश में अब सोने की कीमतें भी अब तक के सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं।  पाकिस्तान की अखबार डॉन के अनुसार, महंगाई से बेहाल पाकिस्तान में सोने का दाम इस सप्ताह एक लाख रुपये प्रति तोले से भी ज्यादा हो गया। पाकिस्तान में महंगाई बेलगाम हो गई है और...

पाक ने 2020 के दौरान दुनिया में सबसे ज्यादा महंगाई देखी : एसबीपी

नई दिल्ली, पाकिस्तान के लोगों के लिए वित्तीय वर्ष 2020 सबसे खराब साल रहा है, क्योंकि उन्होंने दुनिया में सबसे ज्यादा महंगाई देखी और नीति निर्माताओं को भी मजबूरन ब्याज दर बढ़ाना पड़ा। स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) ने यह जानकारी दी है। एसबीपी द्वारा शनिवार को अप्रैल के लिए जारी इन्फ्लेशन मॉनिटर में कहा गया, “पाकिस्तान ने न केवल विकसित अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में, बल्कि उभरती अर्थव्यवस्थाओं के मुकाबले भी सबसे ज्यादा महंगाई देखी।”...

मार्च में खुदरा महंगाई दर घटकर पहुंची 5.9 फीसदी

लॉकडाउन के बीच मार्च महीने में खुदरा महंगाई दर में गिरावट देखने को मिली है। सरकार की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2020 में खुदरा महंगाई दर घटकर 5.91 प्रतिशत हो गई है। वहीं, इससे पहले फरवरी में खुदरा महंगाई दर 6.58 फीसदी थी। एक महीने के अंदर खुदरा महंगाई दर में यह गिरावट दर्ज की गई है। WeForNews

वैश्विक तेल की कीमतों में आई गिरावट का लाभ आम जनता को मिले : राहुल

"क्या आप कृपया पेट्रोल के दाम 60 रुपये प्रति लीटर से कम करके भारतीयों को इसका लाभ पहुंचाने का कष्ट कर सकते हैं? इससे रूकी हुई अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।"

आम जनता को एक और झटका, बढ़ी थोक महंगाई दर

थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के आधिकारिक आंकड़े जारी किए गए। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, थोक मूल्य पर आधारित मुद्रास्फीति जनवरी 2020 में 3.1 फीसदी पर आ गई है। साल 2019 की समान अवधि में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 2.76 फीसदी थी। इससे पिछले महीने दिसंबर में यह 2.59 फीसदी थी। WeForNews

72 प्रतिशत भारतीयों को लगता है मोदी राज में बढ़ी महंगाई

नई दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में रोजमर्रा की वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के कारण आम जनता में बेचैनी बढ़ रही है। केंद्रीय बजट से पहले किए गए एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है। आईएएनएस-सीवीओटर सर्वेक्षण में लगभग तीन-चौथाई उत्तरदाताओं ने कहा कि मुद्रास्फीति (महंगाई) बढ़ गई है और लगभग 40 प्रतिशत ने कहा कि बढ़ती महंगाई का उनके जीवन की गुणवत्ता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। मोदी की अगुवाई...

66 फीसदी भारतीयों के लिए दैनिक खर्चो का प्रबंधन कठिन

नई दिल्ली: आम आदमी अब महंगाई की मार और समग्र आर्थिक मंदी महसूस कर रहा है। आईएएनएस-सीवोटर सर्वेक्षण के अनुसार, कुल 65.8 फीसदी उत्तरदाता मानते हैं कि वे हाल के दिनों में अपने दैनिक खर्चो के प्रबंधन में कठिनाई का सामना कर रहे हैं। आईएएनएस-सीवोटर सर्वेक्षण के अनुसार, बजट पूर्व किए गए इस सर्वेक्षण में आर्थिक पहलुओं पर मौजूदा समय की वास्तविकता और संकेत उभरकर सामने आए हैं। क्योंकि वेतन में वृद्धि नहीं हो रही,...

देश में गुमराह और भ्रमित करने की राजनीति : कमलनाथ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बढ़ती महंगाई और घटते रोजगार को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार वास्तविक मुद्दों पर ध्यान नहीं दे रही है और देशवासियों को गुमराह और भ्रमित करने का काम हो रहा है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार को ट्वीट किया, “रोजगार गायब, बेरोजगारी चरम पर, नौकरियां गायब, महंगाई दर चरम पर, खाद्य पदार्थ महंगे, सब्जी-दाल-खाने का तेल-प्याज सब महंगे, गिरती जीडीपी, व्यापार-व्यवसाय तबाही...

महंगाई पर मोदी सरकार को एक और झटका, थोक मुद्रास्फीति दर में जबरदस्त इजाफा

 थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित भारत की वार्षिक मुद्रास्फीति की दर दिसंबर में बढ़कर 2.59 प्रतिशत हो गई, जो इसके पहले नवंबर में 0.58 प्रतिशत थी। यह जानकारी आधिकारिक आंकड़े में मंगलवार को सामने आई है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार दिसंबर में खाद्य वस्तुओं के दाम 13.12 प्रतिशत बढ़े। एक महीने पहले यानी नवंबर में इनमें 11 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी। WeForNews

बढ़ती महंगाई पर बोलीं प्रियंका- मोदी सरकार ने जेब काटकर पेट पर मारी लात

महंगाई की दरों को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका गांधी ने लिखा, ‘भाजपा सरकार ने तो जेब काट कर पेट पर लात मार दी है’। प्रियंका ने कहा, ‘सब्जियां, खाने पीने की चीजों के दाम आम लोगों की पहुंच से बाहर हो रहे हैं, जब सब्जी, तेल, दाल और आटा महंगा हो जाएगा तो गरीब खाएगा क्या? ऊपर से मंदी की वजह से गरीब को काम भी...

आर्थिक मोर्चे पर सुधार के संकेत नहीं, पिछले 15 दिन में लगे कई झटके

मोदी सरकार के लाख दावों के बाद भी भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत नहीं मिल रहे हैं। बीते 15 दिन में कई ऐसे आंकड़े आए हैं, जिससे साफ है कि फिलहाल अर्थव्‍यवस्‍था बुरे दौर से गुजर रही है। एक पखवारे के अंदर भारत को कई आर्थिक झटके लगे, जो निम्न हैं। दूसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़ों में गिरावट बीते 29 नवंबर को चालू वित्त वर्ष (2019-20) की दूसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े जारी किए...

बेंगलुरू में 200 रुपये किलो पहुंचा प्याज

बेंगलुरू, 7 दिसम्बर | बेंगलुरू में शनिवार को प्याज की कीमत 200 रुपये प्रति कि. ग्रा. तक पहुंच गई। एक अधिकारी ने शनिवार को कहा कि बाजार में कम आपूर्ति के कारण प्याज के दामों में बढ़ोतरी होती जा रही है। राज्य कृषि विपणन अधिकारी सिद्दांगैया ने आईएएनएस को बताया, “प्याज की कीमत बेंगलुरू की कुछ खुदरा दुकानों में 200 रुपये प्रति कि. ग्रा. के स्तर को छू गई है। इसकी थोक दर 5,500 रुपये...

बिहार में लुटेरों ने वैन से 1920 किलो लहसुन लूटे

भभुआ (बिहार), 7 दिसंबर | प्याज और लहसुन के दाम में बेतहाशा उछाल के साथ अब ये लुटेरों के निशाने पर आने लगे हैं। कैमूर जिले के कुदरा थाना क्षेत्र में लुटेरे एक वाहन से 64 बोरी यानी करीब 1920 किलोग्राम लहसुन लूटकर फरार हो गए। इस मामले की प्राथमिकी कुदरा थाना में दर्ज कराई गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। कुदरा के थाना प्रभारी रणवीर वर्मा ने शनिवार को आईएएनएस को...

आरबीआई ने कहा- ‘निकट भविष्य में बढ़ सकती है महंगाई दर’

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समिति ने कहा कि खाद्य पदार्थों की कीमतों में उछाल से खुदरा मुद्रास्फीति की दर में वृद्धि जारी रहने की संभावना है। समिति ने हालांकि उल्लेख किया कि 2020-21 की दूसरी तिमाही से मुद्रास्फीति के लक्ष्य के अंदर रहने की संभावना है। आरबीआई द्वारा मुद्रास्फीति के लिए लगाई जा रही उम्मीदें महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि शीर्ष बैंक ने खुदरा कीमतों को नियंत्रण में रखने के लिए प्रमुख उधार...

महंगाई के लिए भारत के साथ व्यापार प्रतिबंध जिम्मेदार : पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की आर्थिक सलाहकार टीम ने कहा कि भारत के साथ व्यापार संबंधों पर रोक देश में कीमतों में जारी बढ़ोतरी के जिम्मेदार कारणों में एक है। डॉन न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, कीमतों में बढ़ोतरी के लिए भारत के साथ व्यापार पर रोक, बिचौलियों पर प्रशासनिक नियंत्रण रखने में राज्यों की विफलता व मौसम संबंधी कारकों को जिम्मेदार ठहराते हुए सरकार की आर्थिक टीम ने अगले दो महीने में महंगाई...

पाकिस्तान में एक किलो टमाटर की कीमत 400 रुपये तक पहुंची

पाकिस्तान में महंगाई लगातार अपना ही रिकार्ड तोड़ रही है। रोजमर्रा की चीजों की आसमान छूती कीमतों के बीच अब इस आशय की रिपोर्ट आई हैं कि देश में ऐसी भी जगहें हैं जहां एक किलो टमाटर की कीमत चार सौ (पाकिस्तानी) रुपये तक पहुंच गई है। पाकिस्तान में सब्जियों के दाम, विशेषकर टमाटर के दाम बीते कई दिनों से आम लोगों को रुला रहे हैं। स्थिति को संभालने के लिए पाकिस्तान सरकार ने ईरान...

खुदरा महंगाई दर अक्टूबर में बढ़कर हुई 4.62 फीसदी

नई दिल्ली। खाद्य पदार्थो के दाम में भारी इजाफा होने के कारण देश में अक्टूबर के दौरान खुदरा महंगाई दर पिछले महीने से बढ़कर 4.62 फीसदी हो गई। देश की खुदरा महंगाई दर इस साल सितंबर में 3.99 फीसदी दर्ज की गई थी। ये आधिकारिक आंकड़े को जारी किए गए। –आईएएनएस

प्याज ने तोड़ा महंगाई का रिकार्ड, 100 रुपये किलो हुआ भाव

नई दिल्ली: दिल्ली की आजादपुर मंडी में दो दिन पहले प्याज का थोक भाव 80 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया था, लेकिन आवक बढ़ने और आयात से कीमतों पर नियंत्रण रखने के सरकार के फैसले के बाद प्याज के थोक दाम में करीब 50 फीसदी की गिरावट आई, लेकिन खुदरा में लोग 100 रुपये प्रति किलो प्याज खरीद रहे थे। गौरतलब है कि एक दिन पहले केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने बताया कि...

किसान एमएसपी से कम भाव पर कपास बेचने को मजबूर

नई दिल्ली, 28 अक्टूबर | किसानों के लिए सफेद सोना कहलाने वाली फसल कपास इस बार उनके लिए सफेद सोना साबित नहीं होने जा रही है, क्योंकि किसान सरकार द्वारा तय न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से कम भाव पर कपास बेचने को मजबूर हैं। किसानों को कपास का भाव इस समय 3,300-5,200 रुपये प्रति क्विंटल मिल रहा है, जबकि केंद्र सरकार ने चालू कपास सीजन 2019-20 (अक्टूबर-सितंबर) के लिए लंबे रेशे वाले कपास का एमएसपी...

खुदरा महंगाई दर सितंबर में बढ़कर हुई 3.99 फीसदी

नई दिल्ली: खाद्य पदार्थो के दाम बढ़ने से बीते महीने खुदरा महंगाई दर पिछले महीने के मुकाबले बढ़कर 3.99 फीसदी हो गई। सोमवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, सितंबर में खुदरा महंगाई दर 3.99 फीसदी दर्ज की गई, जबकि पिछले महीने अगस्त में 3.28 फीसदी थी। –आईएएनएस

सितंबर 2019 में थोक मुद्रास्फीति घटकर 0.33 प्रतिशत पर

थोक महंगाई दर के आंकड़ों में सितंबर में गिरावट आई है। सितंबर में थोक महंगाई दर घटकर 0.3% रही। अगस्त में यह आंकड़ा 1.08% तथा सितंबर 2018 में 5.22% पर रहा था।

लहसुन की महंगाई ने बिगाड़ा खाने का स्वाद, 300 रुपये किलो हुआ भाव

नई दिल्ली: लहसुन की महंगाई ने भोजन का जायका बिगाड़ दिया है। प्याज और टमाटर की महंगाई से लोग पहले से ही परेशान हैं, अब लहसुन का दाम भी आसमान छू रहा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में दुकानों पर लहसुन 300 रुपये किलो तक बिक रहा है। हालांकि लहसुन के थोक भाव में बीते दो सप्ताह में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है, लेकिन रिटेल में लहुसन 250-300 रुपये प्रति किलो मिलने लगा है। जो...

आर्थिक मंदी के साथ महंगाई की मार, प्याज 60 रुपये तो टमाटर 80 के पार

एक ओर जहां देश में आर्थिक मंदी गहराती जा रही है, वहीं मंहगाई का विकराव रूप भी सामने आ रहा है। राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में प्याज पहले से ही रुला रहा था, वहीं अब टमाटर भी लाल हो रहा है। जो टमाटर कुछ दिनों पहले 30 से 40 रुपए किलो बिक रहा था, उसके दाम अब 80 रुपए किलो तक पहुंच गए हैं। वहीं, प्याज की कीमत कई महीनों से 60 रुपए...

प्याज की महंगाई से अभी उबरे भी नहीं कि बेकाबू हुआ टमाटर

कारोबारियों ने बताया कि इन दिनों नवरात्र का त्योहार चल रहा है जिसके कारण प्याज की मांग कम होने से भाव में नरमी आयी है, इसके ठीक विपरीत बाज़ार में टमाटर के दाम में ज़बरदस्त उछाल आ गया है।

त्योहारी सीजन में उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार

प्याज, टमाटर, लहसुन की महंगाई की मार झेल रहे उपभोक्ताओं को अब इस त्योहारी सीजन में चीनी, चना उड़द समेत कई जरूरी वस्तुओं के लिए अपनी जेब ढीली करनी पड़ रही है। नवरात्र का त्योहार शुरू होते ही खासतौर से पूजा में काम आने वाली वस्तुओं में फूल और नारियल के दाम में जोरदार इजाफा हुआ है। दिल्ली में फूल का भाव जो चार दिन पहले 50-70 रुपये प्रति किलो था वह अब 200-300 रुपये...

अगस्त में 1.08 फीसदी रही थोक महंगाई

अगस्त 2019 की थोक महंगाई दर में जुलाई की तुलना में कोई बदलाव नहीं हुआ। अगस्त में थोक महंगाई दर 1.08 फीसदी रही। पिछले साल इसी महीने अगस्त 2018 में थोक महंगाई दर 4.62 फीसदी थी। थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति जुलाई में घटकर 1.08 फीसदी पर आ गई थी। WeForNews

खुदरा महंगाई जुलाई में मामूली घटकर 3.15 फीसदी

नई दिल्ली। देश के खुदरा महंगाई में जुलाई में बेहद मामूली गिरावट दर्ज की गई है, जोकि 3.15 फीसदी रही, जबकि जून में यह 3.18 फीसदी थी। वहीं, पिछले साल के जुलाई में यह 4.17 फीसदी पर थी। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, समीक्षाधीन माह में उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक (सीएफपीआई) गिरकर 2.36 फीसदी रही, जबकि जून में यह 2.25 फीसदी पर थी और जुलाई 2018 में 1.30 फीसदी पर थी।...

इमरान सरकार के एक साल पूरे, लोगों में महंगाई को लेकर बेहद गुस्सा

आज से एक साल पहले इमरान खान ने पाकिस्तान की सत्ता एक ‘नए पाकिस्तान’ के वादे के साथ संभाली थी। लेकिन, आज एक साल बाद उनकी सरकार के खिलाफ अवाम में बेहद गुस्सा पाया जा रहा है और इसकी एक बड़ी वजह महंगाई को बताया जा रहा है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, इमरान ने लोगों से ‘घबराना नहीं है’ का आश्वासन देकर एक कल्याणकारी राज्य का वादा किया था। लेकिन, पटरी से...

थोक महंगाई दर मई में घटकर 2.45 फीसदी

नई दिल्ली: थोक कीमतों पर आधारित देश की वार्षिक महंगाई दर मई में घटकर 2.45 फीसदी रही। यह अप्रैल में 3.07 प्रतिशत थी।आधिकारिक आंकड़ों में शुक्रवार को यह जानकारी दी गई। इसी तरह सलाना आधार पर मई का थोक मूल्य सूचंकाक महंगाई दर पिछले वर्ष की इसी अवधि के लिए 4.78 प्रतिशत से कम थी। –आईएएनएस

लगातार चौथे दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार चौथे दिन वृद्धि का सिलसिला जारी रहा। तेल विपणन कंपनियों ने फिर दिल्ली, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम 14 पैसे जबकि कोलकाता में 13 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिए। डीजल के दाम में दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में सात पैसे जबकि चेन्नई में आठ पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, रविवार को दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल...

थोक महंगाई दर अप्रैल में घटकर 3.07 फीसदी

थोक कीमतों पर आधारित देश की वार्षिक महंगाई दर अप्रैल में घटकर 3.07 प्रतिशत रही। यह मार्च में 3.18 प्रतिशत थी। आधिकारिक आंकड़ों में मंगलवार को यह जानकारी दी गई। –आईएएनएस

खाद्य पदार्थो की कीमतें बढ़ने से महंगाई दर बढ़ी

नई दिल्ली। देश में खाद्य पदार्थो की कीमतें बढ़ने के कारण अप्रैल में खुदरा महंगाई दर बढ़ी है। सरकार द्वारा सोमवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल में खुदरा महंगाई दर 2.92 फीसदी दर्ज की गई, जबकि इससे पिछले महीने मार्च में खुदरा महंगाई दर 2.86 फीसदी दर्ज की गई थी। हालांकि सालाना आधार पर उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) अप्रैल 2019 में पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले नीचे रहा। पिछले साल अप्रैल...

अप्रैल 2015-सितंबर 2018 का महंगाई दर अनुमान त्रुटिपूर्ण : रिपोर्ट

मुंबई, 3 मई (आईएएनएस)| भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की रिसर्च रिपोर्ट में कहा गया है कि केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) द्वारा जारी महंगाई अनुमान में त्रुटियां हैं। ये त्रुटियां खासतौर से अप्रैल 2015 और सितंबर 2018 के दौरान पाई गई हैं। रिपोर्ट के अनुसार, अध्ययन में उच्च अनुमान में त्रुटियां पाई गई हैं, जब उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में खाद्य पदार्थो का हिस्सा ज्यादा होता है। यह बात अप्रैल 2015 से लेकर सितंबर...

जनवरी में थोक महंगाई घटकर 2.76 फीसदी

देश की थोक कीमतों पर आधारित सालाना महंगाई दर जनवरी 2019 में घटकर 2.76 फीसदी हो गई। यह साल 2018 के इसी महीने में 3.02 फीसदी थी। आधिकारिक आंकड़ों में गुरुवार को यह जानकारी दी गई। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, क्रमिक आधार पर जनवरी के लिए दिए गए थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आंकड़ों से पता चलता है कि थोक कीमतों में धीमी दर बढ़ोतरी हुई, जो दिसंबर 2018 में...

थोक महंगाई दर दिसंबर में घटकर 3.80 फीसदी

थोक कीमतों पर आधारित देश की सालाना महंगाई दर दिसंबर में घटकर 3.80 फीसदी रही है। यह नवंबर में 4.64 फीसदी थी। आधिकारिक आंकड़ों में सोमवार को यह जानकारी दी गई। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर 2017 में यह दर 3.58 फीसदी रही थी। आंकड़ों के मुताबिक, डब्ल्यूपीआई पर आधारित वार्षिक महंगाई दर दिसंबर 2018 में 3.80 फीसदी रही जबकि नवंबर में यह 4.64 फीसदी रही। वहीं, दिसंबर 2017...

देश की थोक महंगाई दर में उछाल, पहुंची 5.13 फीसदी

देश में थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित मंहगाई दर सितंबर में बढ़कर 5.13 फीसदी हो गई है। सोमवार को जारी हुए आधिकारिक आकड़ों के अनुसार, अगस्त में थोक मंहगाई दर 4.53 फीसदी थी। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, सालाना आधार पर थोक महंगाई दर सितंबर 2017 में 3.14 फीसदी थी। मंत्रालय ने कहा है कि मासिक डब्ल्यूपीआई पर आधारित सितंबर माह की मंहगाई दर 5.13 फीसदी (तत्कालिक) रही जो अगस्त में...

योगी के मंत्री के बेतुके बोल- देश के स्वाभिमान के लिए झेलें महंगाई

तेल के बढ़ते दाम और गिरते रुपये पर सरकार लगाम नहीं लगा पा रही है। वहीं ऐसे में योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी का कहना है कि जनता को देश के स्वाभिमान के लिए महंगाई की मार को झेलते रहना चाहिए। कौशाम्बी जिले में एक कार्यक्रम में भाषण देते हुए उन्होंने कहा कि महंगाई की मार को झेलकर हम अपना आर्थिक स्तर बढ़ा सकते हैं और दुनिया को यह दिखा सकते हैं...

पेट्रोल मुंबई में 90 रुपये के करीब, दिल्ली में 82 रुपये के पार

नई दिल्ली, 17 सितम्बर | पेट्रोल-डीजल के दाम देश में सोमवार को एक बार फिर नई ऊंचाइयों पर पहुंच गए और मुंबई में 90 रुपये प्रति लीटर के मनोवैज्ञानिक स्तर के करीब पहुंच कर 89.44 रुपये प्रति लीटर की दर पर बेचा गया। सरकारी कंपनी, इंडियन ऑयल कॉर्प द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, रुपये की गिरती कीमत और कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से सोमवार को ईंधन कीमतें रिकार्ड ऊंचाई पर पहुंच गईं। चार...

पेट्रोल-डीजल की कीमत में वृद्धि जारी

नई दिल्ली, 13 सितम्बर | पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार जारी बढ़ोतरी बुधवार को एक दिन के लिए थमने के बाद गुरुवार को फिर जारी रही और चार महानगरों में से तीन में इसने नई ऊंचाइयों को छू लिया। इंडियन ऑयल कॉर्प की वेबसाइट के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल की कीमत 81 रुपये प्रति लीटर हो गई, जबकि बुधवार को यह 80.87 रुपये लीटर थी। परिवहन ईंधन की कीमतों में पिछले एक महीने से...

पेट्रोल के दाम ने किया सबसे बड़ा आविष्कार!

पूरी मानवता के लिए कितना ख़ुशगवार है कि आज न्यूटन, आर्किमीडीज़, कॉपरनिकस, फ्लेमिंग, ओह्म या आर्यभट्ट और मिहिरभट्ट जैसे वैज्ञानिक ज़िन्दा नहीं हैं, वर्ना सारे के सारे एक साथ चिता सजाकर जौहर कर लेते! क्योंकि, आज से पहले कभी मानव समाज के ज्ञात इतिहास में किसी माई के लाल ने इतना युगान्तरकारी अनुसंधान या रहस्योद्घाटन या शोध या आविष्कार नहीं कर पाया जैसा क़ानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने चुटकियों में करके दिखा गया! सवा सौ...

मोदी राज ने पेट्रोल-डीज़ल को सरकारी अय्याशी का ज़रिया बना डाला!

सभी धर्मों की आध्यात्मिक कथाएँ हमें बताती हैं कि असुरों, राक्षसों और दानवों ने हमेशा देवताओं से शक्ति प्राप्त की और उस शक्ति से देवताओं को ही सताया। बिल्कुल यही हाल नरेन्द्र मोदी का है। उन्होंने लोकतंत्र के देवताओं यानी जनता से सरकार चलाने के लिए जो शक्तियाँ प्राप्त कीं, उसके लिए दलीलें दी कि वो प्रधान सेवक बनकर सेवा करेंगे, अच्छे दिन लाएँगे, चोरों-बेईमानों से सुरक्षा देने के लिए चौकीदारी या पहरेदारी करेंगे। लेकिन किया क्या? जमकर जुमलेबाज़ी की, भरपूर झूठ बोला, जनता पर टैक्स का बोझ लादकर उसका जीना हराम किया, नोटबन्दी और घटिया जीएसटी को ज़बरन थोपकर उन्हीं लोगों के लिए रोज़ी-रोटी का संकट पैदा कर दिया जिनसे उन्हें सारी ताक़तें मिली थीं।

मोदी नहीं चाहते कि चुनाव तक जनता किसी भी सच को जाने!

वो कहते थे कि विकास दर लुढ़क रही है। तेल की क़ीमतों में आग लगी हुई है। रुपया कमज़ोर होता जा रहा है। घोटालों की झड़ी लगी हुई है। अब अगले चुनाव में काँग्रेस पार्टी जनता के याद दिलाएगी कि मोदी राज में विकास दर क्या रहा, तेल के दाम कहाँ पहुँचे, रुपया कितना और कमज़ोर हुआ और रही बात भ्रष्टाचार और घोटालों की तो नोटबन्दी और राफेल सौदे को किस खेत की मूली माना जाएगा!

दिल्ली हाट का तीज मेला : उमंग पर महंगाई का साया

नई दिल्ली | राखियों का मेला, कान्हा अलबेला, राधा संग रास रचाता छैल-छबीला..! जी हां, पीतमपुरा दिल्ली हाट का तीज फेस्टिवल इसी रंग में सजा है। यहां अंदर प्रवेश करते ही रंग-बिरंगी साज-सज्जा सुगंधित वातावरण मोहित कर देता है। लोगों के खिलखिलाते चेहरे अलग-अलग रंगों में सजी-संवरी महिलाएं, बच्चों के खेल-खिलौने बेहद आकर्षक हैं। मेले में प्रवेश करते ही ऊंट की सवारी का लुप्त उठाया जा सकता है। यहां आए कई लोग ऊंट की सवारी...

महंगाई, किसानों की बदहाली खत्म कर ही देश बनेगा महाशक्ति : राहुल

आज देश के सामने तीन सबसे बड़ी समस्याएं बेरोजगारी, किसानों की बदहाली और महंगाई है। देश को आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिये इनसे सबसे पहले निजात पाना होगा।

पिछले साल के मुकाबले दोगुनी हुई थोक महंगाई

खुदरा महंगाई दर के बाद अब थोक महंगाई दर में भी इजाफा हो गया है। सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, मई में थोक महंगाई दर (WPI) 4.43 फीसदी पर पहुंच गई है, जो कि अप्रैल में 3.18 फीसदी थी। वहीं पिछले साल मई में 2.26 फीसदी थी। Annual rate of inflation, based on monthly WPI, stood at 4.43% (provisional) for May, 2018 (over May, 2017) as compared to 3.18% (provisional) for the...

2019 में ‘महँगाई दिवस समारोह’ का भव्य आयोजन!

‘महँगाई दिवस’ समारोह का ऐसा भव्य आयोजन होना चाहिए कि भगवान विश्वकर्मा की नज़रें भी शर्म से झुक जाएँ। अमित शाह ने यक़ीन जताया है कि 2019 में दाख़िल होते-होते 70 साल में पहली बार पेट्रोल-डीज़ल दोनों का भाव समान हो जाएँगे। इन्हें गर्व के साथ भारतवासियों को 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर के भाव पर बेचा जाएगा।

खुदरा महंगाई जनवरी में 5.07 फीसदी

देश की खुदरा मुद्रास्फीति में जनवरी में हल्की राहत मिली है, और यह 5.07 फीसदी पर रही है। जबकि दिसंबर (2017) में यह 5.21 फीसदी थी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, साल-दर-साल आधार पर सीपीआई (उपभोक्ता मूल्य सूचकांक) पर आधारित मुद्रास्फीति की दर साल 2017 के जनवरी में 3.17 फीसदी थी। –आईएएनएस

सरकार के लिए किसानों और उपभोक्ताओं के हितों में संतुलन करना मुश्किल: एसोचैम

किसानों को उनकी लागत का 1.5 गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) देने के साथ ही मुद्रास्फीति की स्थिति में सुधार करना सरकार के लिए एक कठिन काम होगा। एसोचैम के अध्यक्ष संदीप जाजोदिया ने यहां सोमवार को यह बात कही। एसोचैम ने उनके हवाले से एक बयान में कहा, “सरकार के लिए किसानों और उपभोक्ताओं के परस्पर विरोधी हितों को प्रबंधित करना ‘तनी हुई रस्सी पर चलने’ जितना कठिन है, क्योंकि पिछले छह महीनों से...

देश में थोक मूल्य दर पर आधारित वार्षिक मुद्रास्फीति दर अक्टूबर में बढ़कर 3.59 फीसदी हो गई। वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई), साल 2011-12 के संशोधित आधार वर्ष के साथ अक्टूबर में 3.59 फीसदी पर पहुंच गया। यह सितंबर महीने में 2.60 फीसदी था। –आईएएनएस

देश की थोक मंहगाई दर गिरकर 2.6 प्रतिशत

थोक मूल्यों पर आधारित देश की सालाना मंहगाई दर सितंबर में गिरकर 2.6 प्रतिशत दर्ज की गई है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, संशोधित आधार वर्ष 2011-12 वर्ष के साथ थोक मूल्य सूचकांक(डब्ल्यूपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति दर सितंबर माह में गिरकर 2.6 प्रतिशत हो गई, जबकि अगस्त में यह 3.24 प्रतिशत थी। –आईएएनएस  

रोजगार को लेकर लोगोंं में छायी निराशा: आरबीआई सर्वे

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा करवाए गये सर्वे में भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर कई तरह जानकारी सामने आई हैं। सर्वे में बताया गया है कि उपभोक्ताओं का मनोबल गिर रहा है, महंगाई भी तेजी से बढ़ रही है, निर्माण क्षेत्र के कारोबारी निराश हैं और विकास दर भी नीचे फिसल रही है। आरबीआई के सर्वे के नतीजे, चार अक्टूबर को पेश की गयी आर्थिक नीति समीक्षा रिपोर्ट से भी मेल खाते हैं। बता दें...

जनता का तेल निकालकर नसीबवाले ने बनाया देश को बदनसीब

आर्थिक आँकड़े आते रहे और अर्थव्यवस्था की मिट्टीपलीद की दास्ताँ सुनाते रहे। जब-जब ऐसा हुआ तब-तब मोदी सरकार ने खीज़ मिटाने के लिए अपनी हर नाकामी का ठीकरा काँग्रेस पर फोड़ने तथा बेहतर टैक्स वसूली के आँकड़ों से देश की आँखों में धूल झोंकने का काम किया!

खुदरा महंगाई अगस्त में बढ़कर 3.3 फीसदी

नई दिल्ली, 12 सितम्बर | देश की खुदरा मुद्रास्फीति में अगस्त में 1 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई है और यह 3.36 फीसदी रही। सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अगस्त में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति 3.36 फीसदी रही, जबकि जुलाई में यह 2.36 फीसदी थी।

‘निष्क्रियता का स्मारक’ बन गई है केंद्र सरकार: लालू

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सोमवार को देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को ‘निष्क्रियता का स्मारक’ बताया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद ने केंद्र सरकार पर महंगाई और बेरोजगारी बढ़ाने का आरोप लगाते हुए ट्वीट किया, “देश बेतहाशा महंगाई, बेरोजगारी के साथ ही कई तरह के आर्थिक एवं सामाजिक संकट से जूझ रहा है। मोदी सरकार निष्क्रियता...

आँखें फाड़कर देखिए, ‘देश बदल रहा है, आगे बढ़ रहा है!’

मोदी सरकार के राजनीतिक विरोधियों को छोड़कर कौन नहीं जानता कि देश बेइंतहाँ तेज़ी से न सिर्फ़ बदल रहा है, बल्कि आगे भी बढ़ रहा है! सरकार अपने विज्ञापनों के ज़रिये चीख़-चीख़ कर यही तो बताती रहती है! लेकिन लगता है कि ‘खाँग्रेसी दलाल’ उन महकमों पर कुंडली मारकर बैठे हैं जो सरकारी आँकड़ों का लेखा-जोखा रखते हैं, इसीलिए सत्ताधारी नेताओं की तरह सरकारी आँकड़े झूठ नहीं बोल पाते! मोदी राज के तीन साल पूरे...

महंगाई 5 महीनों के उच्‍चतम स्‍तर पर, 3.65 से बढ़कर 3.81 फीसदी

महंगाई दर में गिरावट के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। लगातार बढ़ रही महंगाई से आम जनता तंग आ चुकी है। एक बार फिर इसमें इजाफा हुआ है। मार्च में रिटेल महंगाई दर फरवरी की तुलना में 0.16 बढ़कर 3.81 फीसदी रही है। यह 5 महीनों का टॉप लेवल है। फरवरी में रिटेल महंगाई दर 3.65 फीसदी रही थी। फ्यूल की कीमतों ने महंगाई पर सबसे ज्यादा असर डाला है। दाल, जूतों, कपड़ों और...

RBI ने रिवर्स रेपो रेट में की बढ़ौतरी, रेपो रेट में कोई बदलाब नहीं

नई दिल्ली: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने गुरुवार को रेपो रेट जारी की है। इसमें रेपो रेट को 6.25 प्रतिशत ही रखकर उसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। लेकिन रिवर्स रेपो रेट को बढ़ाकर 6 प्रतिशत किया गया है। दो दिन चलने वाली समिति की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक बुधवार से शुरू हो गई थी। बता दें कि ये आज रिजर्व बैंक 2017-18 की पहली द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा है। गौरतलब है कि रिजर्व बैंक...

थोक मुद्रास्फीति फरवरी में तेजी से बढ़ कर 6.55 प्रतिशत पर पहुंची

थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित देश की महंगाई दर में वृद्धि दर्ज की गई है। यह फरवरी 2017 में 6.55 प्रतिशत दर्ज की गई, जो इससे पहले के माह में 5.25 प्रतिशत थी। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आंकड़ों के मुताबिक, फरवरी 2016 में सालाना मुद्रास्फीति दर नकारात्मक 0.85 फीसदी रही थी। wefornews bureau  

7वां वेतन आयोग: DA में होगा इजाफा फिर भी महंगाई से नहीं मिलेगी निजात

खबर है कि केंद्र सरकार महंगाई भत्ते में 2-4 फीसदी का इजाफा कर सकती है। जी हां, मिली जानकारी के मुताबिक केन्द्र सरकार के 50 लाख कर्मचारी और 59 लाख पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ते में इजाफा हो सकता है। मालूम हो कि कर्मचारियों और पेंशनभोगियों पर बढ़ रही महंगाई का बोझ कम हो सके, इसलिए सरकार इस भत्ते में बढ़ोतरी करती है। हालांकि केन्द्र सरकार की इस बढ़ोतरी से कर्मचारी खुश नज़र नहीं आ...

महंगाई का झटकाः 2.5 साल के उच्च स्तर तक पहुंची थोक महंगाई

नई दिल्लीः कल जहां रिटेल महंगाई 5 साल के निचले स्तर तक जा पहुंची थी, वहीं आज थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति ने झटका दिया है। थोक महंगाई दर-होलसेल प्राइस इंडेक्स (डब्ल्यूपीआई) जनवरी में 5.25 फीसदी रही है जो 30 महीने यानी 2.5 साल का उच्चतम स्तर है। हालांकि खाद्य कीमतों के स्थिर रहने के बावजूद वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से घरेलू ईंधन के दाम भी बढ़े जिससे थोक महंगाई...

नोटबंदी के कारण विदेशी मुद्रा की बिक्री 50 प्रतिशत से अधिक गिरी

कोलकाता, 20 नवंबर | बड़े मूल्य वाले नोटों के बंद कर दिए जाने के कारण कुल विदेशी मुद्रा की औसत बिक्री में 50 प्रतिशत से अधिक की कमी आई है। नोट बदलने वालों ने कहा है कि बाजार में विदेशी मुद्रा की बहुत अधिक कमी की वजह से ऐसा हुआ है। सभी शहरों में, दुकानों में और विदेशी मुद्रा बदलने वाले दफ्तरों में पिछले कई दिनों से ताले बंद हैं, क्योंकि उनके पास विदेशी मुद्रा...

खुदरा महंगाई घटी, लेकिन औद्योगिक उत्पादन भी हुआ कम

भारत की खुदरा महंगाई दर में गिरावट आई है और यह अगस्त में 5.05 फीसदी रही, लेकिन औद्योगिक उत्पादन में नकारात्मक बढ़त देखी गई और यह जुलाई में (-)2.4 फीसदी रही। आधिकारिक आंकड़ों से सोमवार को यह जानकारी मिली। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) से जारी आंकड़ों के मुताबिक खाद्य मुद्रास्फीति की दर अगस्त में घटकर 5.91 फीसदी हो गई, जबकि जुलाई में यह 8.35 फीसदी थी। जहां तक औद्योगिक उत्पादन का सवाल है, इसमें कमी...

थोक मुद्रास्फीति (WPI) भी बढ़ी, जुलाई में 3.55 प्रतिशत पर पहुंची

सब्जियों, दालों और चीनी के दाम बढ़ने से थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति भी जुलाई महीने में तेजी से बढ़ती हुई 3.55 प्रतिशत पर पहुंच गई। थोक मुद्रास्फीति का यह पिछले 23 महीने का बढ़ा हुआ स्तर है। थोकमूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति जून में 1.62 प्रतिशत थी जबकि एक साल पहले जुलाई में यह शून्य से चार प्रतिशत कम थी। पिछले सप्ताह जारी खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़ों में भी जुलाई के दौरान दर्ज की गई।...

थोक महंगाई दर 23 महीने के उच्चस्तर पर

नई दिल्ली: देश की थोक महंगाई दर जुलाई 2016 में बढ़कर 3.55 फीसदी दर्ज की गई, जबकि एक महीने पहले यह 1.62 फीसदी थी। खाद्य पदार्थो की कीमतों में 11.82 फीसदी बढ़ोतरी की वजह से इसमें इजाफा हुआ है। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक, आलू की कीमत में 58.78 फीसदी की वार्षिक वृद्धि दर्ज की गई। दालों में 35.76 फीसदी, फलों में 17.30 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई।...

महंगाई पर संसद में बोले राहुल गांधी, ‘अरहर मोदी’ के जरिए साधा पीएम पर निशाना

राहुल गांधी ने गुरुवार को संसद में महंगाई पर एनडीए सरकार को घेरने की कोशिश की। राहुल ने दाल की बढ़ी कीमतों से लेकर क्रूड ऑयल के घटे दामों तक पर चर्चा की। भाषण की शुरुआत में राहुल ने कहा , ‘मोदी जी ने अपने भाषण में कहा था-मां बच्‍चे रात-रात भर रोते हैं, आंसू पीकर सोते हैं।महंगाई को काबू किया जाएगा लेकिन महंगाई कम नहीं हुई। आपने स्‍टार्टअप इंडिया की बात की। आपने स्‍वच्‍छ...

पीएम बताएं कि आखिर जनता को कब मिलेगी महंगाई से राहत : लोकसभा में राहुल गांधी

मोदी जी एक तारीख बता दीजिए जब दाल के दाम कम हो जाएंगे मोदी सरकार ने अपने समारोह में महंगाई की एक बार भी बात नहीं की जबकि जनता के लिए यह बड़ा मुद्दा है महंगाई कम करने की तारीख संसद को बताएं पीएम मोदी मोदी जी कहते थे कि मुझे पीएम नहीं चौकीदार बनाओ, अब चौकीदार जी के नाक के नीचे चोरी हो रही है और पीएम मोदी जी चुप हैं अब आप प्रधानमंत्री...

महंगाई मुद्दे पर मोदी सरकार को लोकसभा में घेरेंगे राहुल गांधी

रोजमर्रा की जरूरतों की बढ़ती कीमतों के मुद्दे पर आज लोकसभा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सरकार पर हमला बोलने को तैयार हैं। सूत्रों के मुताबिक उम्मीद है कि सदन इस मुद्दे पर अल्पावधि चर्चा करेगा। हाल के महीनों में दालें और कुछ अन्य वस्तुओं की कीमतों के आसमान छूने से आम आदमी के बुरी तरह से प्रभावित होने को लेकर विपक्षी पार्टी ने मोदी सरकार पर तीखा हमला शुरू किया है। पिछले हफ्ते कांग्रेस...

शिवसेना ने पीएम से योग के जरिए महंगाई का दर्द भूलने का पूछा नुस्खा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने आज कहा कि योग को विश्व पटल पर स्थापित करना सराहनीय प्रयास है लेकिन इस प्राचीन भारतीय पद्धति को अपनाने से क्या लोगों को मुद्रास्फीति के दर्द से राहत मिलेगी। पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा है कि 130 देशों को ‘नरेन्द्रासन’ करवाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी प्रशंसा के पात्र हैं। दुनिया झुकती है, झुकानेवाला चाहिए। इस युक्ति की तर्ज पर प्रधानमंत्री मोदी...

महंगाई: कृषि कल्याण सेस से बढ़ी जनता की मुश्किलें, करनी पड़ेगी और जेब ढ़ली

आज से बढ़ा हुआ सर्विस टैक्स लागू होने की वजह से आपके लिए काफी कुछ मंहगा होने चला है। दरअसल, सरकार ने सर्विस टैक्स 14.5% से बढ़कर 15% कर दिया है। 2016-17 के आम बजट में कृषि कल्याण सेस लगाने का ऐलान किया गया था। सभी टैक्सेबल सर्विसेज़ पर 0.5 फ़ीसदी के हिसाब से लगेगा जोकि सर्विस टैक्स के हिस्से के रूप में ही होगा। सरकार को इससे 5,000 करोड़ रुपये के अतिरिक्त टैक्स कलेक्शन...

महंगाई इकलौता वो अहम मुद्दा  है, जिसे निभाने में मोदी सरकार पूरी तरह नाकाम रही। थोक महंगाई दर अपने सबसे कम स्तर पर और खुदरा महंगाई दर में भी कमी के बावजूद बाजार में खाने-पीने जैसी चीजों के दाम आसमान को छू रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ दाल की महंगाई लोगों के लिए एक अलग ही सिर दर्द बन चुकी है। हालांकि महंगाई रोकने के लिए भी सरकार कदम उठाने की बात कह रही है,...

17 महीने बाद बढ़ी महंगाई दर, महंगी हुई चीनी, दालें, सब्जियां

देश की थोक महंगाई दर 17 महीनों बाद बढ़ गई है. अप्रैल में थोक महंगाई दर निगेटिव से बढ़त के दायरे में आ गई है. अप्रैल में थोक महंगाई दर 0.34 फीसदी दर्ज की गई, जो मार्च में -0.85 फीसदी रही थी. एक साल पहले समान अवधि में निगेटिव 2.43 फीसदी थी. 17 महीने नकारात्मक दायरे में रहने के बाद थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित थोक महंगाई दर मुख्यत: ग्लोबल कमोडिटी कीमतों में बढ़त के...

इंदौर : 130 रुपए किलो के भाव से बिक रही दाल

दाल के बढ़ते दामों के चलते आम लोगों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। जिसके चलते एसोसिएशन ऑफ पल्सेस मेन्युफेक्चरर्स ने शहर में दो स्थान पर सस्ती तुअर दाल बेचने का निर्णय लिया है। इंदौर के दाल मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल ने एमपी के पालदा क्षेत्र में मंगलवार को दुकान की औपचारिक शुरुआत की। अग्रवाल के मुताबिक इस दुकान से दी जाने वाली दाल न केवल थोक मूल्य पर होगी,...

चीन की उपभोक्ता महंगाई दर 1.8 फीसदी

चीन में खाद्य महंगाई दर बढ़ने के कारण जनवरी 2016 में लगातार तीसरे महीने उपभोक्ता महंगाई दर में वृद्धि दर्ज की गई। यह जानकारी गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़े से मिली। नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स ने कहा कि महंगाई का आकलन करने वाले प्रमुख सूचकांक उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) में जनवरी में साल-दर-साल आधार पर 1.8 फीसदी वृद्धि दर्ज की गई। इसमें दिसंबर 2015 में 1.6 फीसदी वृद्धि दर्ज की गई थी। सूचकांक में एक...

जीएसटी विधेयक पारित हो जाने की उम्मीद- आरबीआई गवर्नर

संसद में लंबे समय से अटके वस्तु एवं सेवा कर विधेयक के पारित होने की उम्मीद जताते हुए आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन ने अमेरिकी निवेशकों से कहा कि राजकोषीय पुनर्गठन और मुद्रास्फीति पर ध्यान केंद्रित रखने का अर्थ होगा कि इनके लिए तय लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाएगा।न्यूयॉर्क में पिछले सप्ताह अमेरिका भारत कारोबारी परिषद (यूएसआईबीसी) द्वारा अमेरिकी संस्थागत निवेशकों के साथ आयोजित चर्चा में राजन ने कहा आरबीआई की एक अन्य प्राथमिकता है बैंकों...

BLOG: राजधर्म से क्यों इतनी दूर जा निकले मोदी, राजनाथ, वेंकैया और सुमित्रा?

Blog: Mukesh Kumar Singh बेशक, गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कभी नहीं कहा कि ‘मोदी-राज के रूप में 800 साल बाद हिन्दुओं के हाथ में सत्ता आयी है.’ असली बयान-बहादुर तो दिवंगत अशोक सिंघल थे. उन्होंने ही 21 नवम्बर 2014 को दिल्ली में हुए विश्व हिन्दू कांग्रेस के मौके पर असहिष्णुता की ताज़ा ख़ेप का बीजारोपण किया था. वही बीज अब छायादार पेड़ बन चुका है. इससे तमाम सांसद इतना व्यथित हैं कि उन्होंने संसद में...