शिल्पा शेट्टी ने किराना बचत को नहीं क्यों कहा?

चाहे वह शानदार रसोई व्यंजन हो, जरूरी पीछे बगीचे का ज्ञान, या पावर योग पंच, शिल्पा शेट्टी ने साबित कर दिया है कि स्वाद और स्वास्थ्य से भरपूर पोषण के मामले में वह कभी गलत नहीं हो सकती हैं। लेकिन, जब उनके देवर 100 रुपये की बचत के साथ किराने का सामान मंगवाते हैं तो वह क्या करती हैं? इन दिनों बीएल एग्रो इंडस्ट्रीज लिमिटेड द्वारा नरिश चक्की फ्रेश आटा विद एक्स्ट्रा चोकर के लिए...

Proning: शरीर में ऑक्सीजन का स्तर घटने लगे तो करें यह उपाय, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार Proning की जरूरत उस समय पड़ती है जब रोगी को सांस लेने में दिक्कत हो रही हो और शरीर में ऑक्सीजन का स्तर 94 के नीचे चला जाए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि समय रहते Proning क्रिया के जरिए कई जीवन बचाए जा सकते हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का स्वास्थ्य सुधर रहा है : राष्ट्रपति भवन

नयी दिल्ली, तीन अप्रैल : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है और उन्हें एम्स में आईसीयू से विशेष कक्ष में स्थानांतरित किया गया है। यह जानकारी शनिवार को राष्ट्रपति भवन ने दी। कोविंद (75) की यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में मंगलवार को बाईपास सर्जरी (हृदय) की गयी थी। राष्ट्रपति भवन ने ट्वीट किया, ‘‘राष्ट्रपति कोविंद को आज एम्स में आईसीयू से विशेष कक्ष में स्थानांतरित किया गया। उनका स्वास्थ्य...

अगर है ये बीमारियां तो कराए स्वाइन फ्लू की जांच

अगर किसी व्यक्ति को खांसी, गले में दर्द, बुखार, सिरदर्द, मतली और उल्टी के लक्षण हैं, तो स्वाइन फ्लू की जांच करानी चाहिए। इस स्थिति में दवाई केवल चिकित्सक की निगरानी में ही ली जानी चाहिए। हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने एक बयान में कहा है, “स्वाइन फ्लू में खांसी या गले में खरास के साथ 1000 फारेनहाइट से अधिक तक बुखार हो सकता है। निदान की पुष्टि आरआरटी या...

दूषित पानी से होती है हेपेटाइटिस A और E की बीमारियां

हेपेटाइटिस ए और ई बीमारियां गंदे और दूषित पानी के कारण ही होती हैं। हेपेटाइटिस ए और ई से बचने के लिए हाथों की सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए और जहां तक संभव हो उबला हुआ पानी ही पीने के लिए प्रयोग करना चाहिए। मथुरा स्थित नयति मेडिसिटी के गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. कपिल शर्मा ने कहा, “गर्भवती महिलाओं को साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि उनके द्वारा गर्भ में...

…तो महामारी बन जाएगा मोटापा

हाल के एक शोध के अनुसार, वैश्विक आबादी का लगभग एक चौथाई हिस्सा अगले 27 साल में मोटापे से ग्रस्त हो जाएगा। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि दुनिया में 22 प्रतिशत लोग 2045 तक मोटापे से ग्रस्त होंगे। यह आंकड़ा वर्ष 2017 के मुकाबले 14 प्रतिशत अधिक है। मधुमेह का प्रसार भी 2045 तक 9.1 प्रतिशत से बढ़कर 11.7 प्रतिशत होने की उम्मीद है। दुनियाभर के हर आठ लोगों में से एक व्यक्ति...

सुबह जल्दी जगने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर का जोखिम कम

अपने दिन की शुरुआत देर से करने वाली महिलाओं की तुलना में सुबह जल्दी उठने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर का जोखिम कम होता है। एक नए शोध में पाया गया है कि सुबह जल्दी उठने वाली महिलाओं में देरी से उठने वाली महिलाओं की तुलना में स्तन कैंसर का खतरा 40 फीसदी कम होता है। शोध में यह भी पाया गया है कि जो महिलाएं सात-आठ घंटे से अधिक सोती हैं, उन्हें अतिरिक्त प्रति...

ठंडा पानी पीने से आपके शरीर को होते हैं ये नुकसान…

गर्मी के इस मौसम में पारा 45 के पार हो रहा है। बढ़ती गर्मी कई शहरों में लोगों के लिए जानलेवा बन रही है। ऐसे में पीने के लिए ठंडा पानी अमृत से कम नहीं। इससे न सिर्फ कुछ वक्त के लिए गर्मी छूमंतर हो जाती है बल्कि गर्मी और लू से भी राहत मिल जाती है। लेकिन क्या आपको पता है कि ठंडा पानी आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है? जी हां,...

नींबू पानी पीने से मिलेगा इन 5 समस्याओं से छुटकारा

गर्मी के मौसम में हम अक्सर नींबू पानी पीते हैं लेकिन इसके पीने के क्या-क्या फायदे हैं ये हम को मालूम नहीं। क्या आपको पता है नींबू कई तरह की शारीरिक समस्याओं का इलाज के काम में आता है। इसका फायदा आपको तभी मिलेगा जब आपको नींबू पानी पीने के सही तरीके के बारे में पता होगा। आइए हम आपको बताते है नींबू पीने के कई फायदे नींबू में सिट्रिक एसिड पाया जाता है जो...

सर्दी-जुकाम से बचाव के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय…

सर्दियों के मौसम में ठंड के बढ़ते ही सर्दी, खांसी, बुखार जैसी बीमारियों में बढ़ोतरी हो जाती है। चिकित्सकों का मानना है कि इस मौसम में ठंड से बचने के लिए हम गरम कपड़े तो पहन लेते हैं, मगर ठंड के असर से बचने के लिए शरीर का बाहर के साथ-साथ अंदर से भी गरम रहना जरूरी है। इसलिए आज हम आपके लिए इन बीमारियों से बचने के कई घरेलू नुस्खे लेकर आए है। जिन्हें...

किशोरावस्था में वजन घटाने की सर्जरी हृदय रोग में मददगार

बेरियाट्रिक सर्जरी (पेट की सर्जरी) करानेवाले किशोर/किशोरियों में हृदय रोग का खतरा कम हो जाता है। एक नए शोध में यह दावा किया गया है। शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि बेरियाट्रिक या वजन घटाने की सर्जनी अगर किशोरावस्था में ही करा ली जाती है, तो यह जीवन में बाद में भी अनियमित ग्लूकोज चयापचय, एथोरोसलेरॉसिस की हृदय की विफलता और स्ट्रोक के विकास और प्रगति को कम करके अद्वितीय लाभ प्रदान कर...

विटामिन A की कमी को ऐसे करें दूर…

शरीर के लिए विटामिन बेहद जरूरी होता है। शरीर को समय-समय पर विटामिन्स की पूर्ति करते रहना चाहिए। इन्हीं विटामिन्स में विटामिन ए भी शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। विटामिन ए त्वचा, हड्डियों और शरीर की अन्य कोशिकाओं को मजबूत रखता है। विटामिन ए में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है जो कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है। इसके अलावा विटामिन ए मुक्त कणों को टूटने से रोकता है और हमारे शरीर से सूजन...

वजन घटाएं, दिल की धड़कन रहेगी सही

मोटापे की समस्या वाले लोग अगर अपने वजन में कमी लाएं तो दिल की धड़कन के अनियमित होने और उससे उत्पन्न विकार में खुद कमी ला सकते हैं। यह बात एक शोध से पता चली है। शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि 10 फीसदी वजन घटाने के साथ जोखिम कारकों से जुड़े प्रबंधन से एट्रियल फाइब्रिलेशन (एएफ) के प्रभाव में कमी आ सकती है। यह स्ट्रोक के प्रमुख कारक में से है, जिससे...

नियमित साइकिल चलाना तनाव घटाने में मददगार

स्वस्थ रहने के लिए साइकिल चलाना बेहतरीन जरिया है। यह आपके वजन को नियंत्रण रखने के अलावा अवसाद, तनाव व चिंता को भी कम करता है। अक्टिवहेल्थ क्लीनिक में फिजियोथेरेपिस्ट दीपाली बडोनी व डॉ. मोहन डायबिटिज स्पेशियलिटी सेंटर के प्रबंध निदेशक आर.एम. अंजना ने साइकिल चलाने के फायदों के बारे में बात की। – साइकिलिंग एक एरोबिक व्यायाम है, जिसके कई फायदे हैं। इससे दिल के रोगों का खतरा कम होता है। इस गतिविधि से...

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

हरी मिर्च का हम लोग केवल खाना बनाने में इस्तेमाल करते हैं लेकिन इसके फायदे से आनजान हैं। आइए हरी मिर्च के खाने के फायदों के बारे में जानते हैं। हरी मिर्च में कई तरह के पोषक तत्वों जैसे- विटामिन ए, बी6, सी, आयरन, कॉपर, पोटेशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है। यही नहीं इसमें बीटा कैरोटीन, क्रीप्टोक्सान्थिन, लुटेन -जॅक्सन्थि‍न आदि स्वास्थ्यवर्धक चीजें मौजूद हैं। वैसे तो आमतौर पर इसका इस्तेमाल खाने का स्वाद...

नाश्ता न करने से मोटापा का खतरा

अगर आपको नाश्ता न करने की आदत है तो सावधान हो जाइए। नाश्ता छोड़ने से आपका वजन बढ़ने और मोटापे की संभावना बढ़ जाती है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एक शोध के निष्कर्ष से पता चलता है कि अक्सर नाश्ता करने वाले 10.9 फीसदी लोगों की तुलना में नाश्ता न करने वाले 26.7 फीसदी लोग मोटापे का शिकार थे। अमेरिका के मेयो क्लीनिक के शोधकर्ता केविन स्मिथ ने कहा, “कभी-कभी नाश्ता करना शरीर के...

मोटापा पीड़ित महिलाओं में कम होती है गर्भधारण की संभावना…

अधिक वजनी महिलाओं को गर्भधारण में संतुलित वजन वाली महिलाओं के मुकाबले एक साल से अधिक का समय लग सकता है। मोटापे से पीड़ित महिलाओं में गर्भपात की आशंका भी दोगुनी से अधिक रहती है। फर्टिलिटी साल्यूशंस, मेडिकवर फर्टिलिटी की क्लीनिकल डायरेक्टर और सीनियर कंसल्टेंट डॉ. श्वेता गुप्ता के मुताबिक, अधिक वजन या मोटापे से पीड़ित महिलाओं में गर्भधारण की संभावनाएं अपेक्षाकृत कम रहती हैं। शोध बताते हैं कि मोटापा मुख्य कारण तो नहीं है,...

सर्दियों में दिल के मरीजों के लिए जोखिम दोगुना…

चिकित्सकों का कहना है कि सर्दी के महीनों में दिल के दौरे पड़ने के मामले बढ़ जाते हैं, खास तौर पर सुबह के समय क्योंकि उस वक्त रक्त वाहिकाएं सिम्पेथेटिक ओवर एक्टिविटी के कारण संकुचित होती हैं और अगर वातावरण में धुआं हो तो जोखिम दोगुना हो सकता है। चिकित्सकों के मुताबिक, सर्दियों में हवा की धीमी गति और आद्र्रता के स्तर में वृद्धि हो जाती है। इस कारण से धुएं की स्थिति बिगड़ने लगती...

गुर्दे के इलाज़ में कारगर है जीन थेरेपी

जीन थेरेपी की सहायता से गुर्दे की कोशिकाओं के नुकसान को ठीक किया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने संभावना जाहिर की है कि इससे गुर्दे के पुराने रोग का इलाज हो सकता है। पुराने गुर्दे के रोग की पहचान इसके धीरे-धीरे गुर्दे के काम करने की क्षमता घटने से की जाती है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि एडिनो-से जुड़ा वायरस (एएवी) गुर्दे में क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को आनुवांशिक सामग्री पहुंचा सकता है। एएवी वायरस से जुड़ा...

लो ब्लड प्रेशर पर ये घरेलू उपाय आपको तुरंत देंगे राहत

शरीर को हेल्थी रखने के साथ-साथ दिल का हेल्थी होना बेहद जरूरी है। पर आज की लाइफस्टाइल में टेंशन अनियमित खानपान, अस्वस्थ दिनचर्या हार्ट की बिमारियों को बुलता है। जो कि लॉ ब्लड प्रेशर और हाई बल्ड प्रेशर की वजह होती है। सामान्यतया ब्लड प्रेशर 120/80 होता है। बता दें कि यदि शरीर में ब्लड प्रेशर का स्तर 90 से कम हो जाए तो इसे लॉ ब्लड प्रेशर कहा जाता है और इससे अधिक होने...

‘स्तन कैंसर के इलाज के लिए बेहतर विकल्प है ‘टागेर्टेड रेडिएशन थेरेपी’

स्तन कैंसर दुनियाभर में तेजी से पैर पसार रहा है। समय पर जांच और पर्याप्त इलाज ही इसका निदान है। विशेषज्ञों का कहना है कि इस कैंसर के इलाज की दिशा में टागेर्टेड रेडिएशन थेरेपी को एक बेहतर विकल्प के रूप में देखा जा सकता है। राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (आरजीसीआईआरसी) की सीनियर कंसल्टेंट और गायनाक्लॉजी रेडिऐशन विभाग की प्रमुख डॉ. स्वरूपा मित्रा ने यह बात कही।डॉ. स्वरूपा इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए),...

खाली पेट चाय पीने से होंगे ये नुकसान

चाय हमारे लाइफस्टाइल का सबसे अहम हिस्सा बन चुकी है। चाय में कई तरह के ऐसिड होते हैं। खाली पेट चाय पीने से हमारे पेट को नुकसान पहुंचता  हैं। इससे अल्‍सर या गैस जैसी परेशानियां बढ़ने की संभावना रहती है। आइए एक नजर बेड टी लेने पर उसका बैड इफेक्ट… चाय, एक ऐसा ड्रिंक है जिसकी खुश्बू के साथ ही ज्यादातर घरों की सुबह होती है। शायद ही कोई घर ऐसा होगा जहां चाय नहीं...

अनहेल्दी फूड और अनबैलेंस्ड लाइफस्टाइल से जल्दी आता है बुढ़ापा

अनहेल्दी फूड, एक्सरसाइज की कमी और एक खराब लाइफस्टाइल से व्यक्ति की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया प्रभावित हो सकती है। अमेरिका के रिसर्चर्स ने इस बात का खुलासा किया है। व्यक्ति की उम्र बढ़ाने वाली कोशिकाओं में से एक ‘सीनेसेंट’ उम्र से जुड़ी बीमारियों और स्थितियों में अहम भूमिका निभाती है। रिसर्चर्स ने पाया है कि एक्सरसाइज करके वक्त से पहले बूढ़ा होनेवाली प्रक्रिया से बचा जा सकता है और साथ ही अनहेल्दी फूड के...

मानसिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है अच्छी यादें

अच्छी यादें व्यक्ति के मस्तिष्क में पॉजिटिव एनर्जी लाती हैं। जो कि हर तरह की चिंता या डिप्रेशन जैसे विकारों से आपको बचाती हैं। एक नए रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है। ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ लिवरपुल के रिसर्चर्स ने कंटेस्टेंट्स की इमोश्नल फीलिंग्स को मापने के लिए सोशल ब्रॉड माइंडेड इफेक्टिव कोपिंग (बीएमएसी) टैक्निक का यूज किया। बीएमएसी एक तकनीकी हस्तक्षेप है, जो पॉजिटीव यादों की मानसिक कल्पना के माध्यम से सकारात्मक...

समय से पहले जन्मे बच्चों की ‘लव लाइफ’ हो सकती है प्रभावित

नई दिल्ली: शोधकर्ताओं ने पाया है कि जो बच्चे समय से पहले जन्म ले लेते हैं, उनमें रोमांटिक होने, यौन संबंध बनाने और पितृत्व सुख प्राप्ति की संभावना उचित समय पर जन्म लेने वाले बच्चों की तुलना में कम होती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार, भारत समय से पहले जन्म लेने वाले बच्चों के मामले में अग्रणी देश है, जहां शिशु 37 सप्ताह के गर्भ से पहले पैदा होते...

डाइट में शामिल करें ये 5 सुपर फूड

मौसम बदलते ही अक्सर लोग गर्मियों में फ्लू और एलर्जी की शिकायत करने लगते हैं। उनकी इस परेशानी की सबसे बड़ी वजह होती है कमजोर इम्यूनिटी। रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने पर बीमारियों का असर जल्दी होता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता व्यक्ति को कई तरह के बैक्टीरियल संक्रमण, फंगस संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करती है। इम्यून पावर के कमजोर होने पर व्यक्ति की बीमार होने की आशंका बढ़ जाती है। कच्ची लहसुन- रोग प्रतिरोधक...

टीका नहीं लगने से बच्चों में खसरे की संभावना: यूनिसेफ

संयुक्त राष्ट्र बालकोष (यूनिसेफ) का कहना है कि बच्चों को खसरे का टीका (वैक्सीन) नहीं दिए जाने के कारण दुनिया के कई देशों में खसरे के प्रकोप की संभावना कई गुना बढ़ गई है। संगठन के आकलन के मुताबिक, 2010 से 2017 के बीच 16.9 करोड़ बच्चों को खसरे का पहला टीका नहीं दिया गया। यूनिसेफ के अनुसार, हर साल तकरीबन 2.11 करोड़ बच्चों को खसरे की वैक्सीन नहीं मिली। यूनिसेफ की एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर हेनरिएटा...

क्या आपको पता है काले चने खाने से होते हैं ये फायदे…

काले चने तो आप सभी खाते होंगे, क्या आपको इससे होने वाले फायदे के बारे में पता है। काले चने हमारी सेहत के लिए बेहद ही फायदेमंद हैं। काले चने भुने हुए हों, अंकुरित हों या इसकी सब्जी बनाई हो, यह हर तरीके से सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन्स, फाइबर, कैल्शियम, आयरन और विटामिन्स पाए जाते हैं। ● शरीर को सबसे ज्यादा फायदा अंकुरित काले चने...

बड़े काम का ‘जीरा’

अक्सर लोगों को जुकाम की परेशानी हो जाती है। जुकाम होने पर सिर में दर्द होना, आवाज भारी होना, नाक से पानी आना, हल्का बुखार हो जाना और बदन टूटना इसके आम लक्षण हैं। आगर आप जुकाम से बहुत ज्यादा पारेशान है तो जीरा खाना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। जीरे में ना सिर्फ जुकाम भगाने की क्षमता है बल्कि यह सिर दर्द और शरीर में मौजूद फंगस और बैक्टीरिया को भी खत्म करता...

मधुमेह विशेष बीमा योजना खरीदने से पहले रखें ध्यान

भारत में मधुमेह बीमारी तेजी से बढ़ी है और इस बीमारी में मरीज का शरीर इंसुलिन का उत्पादन करने में सक्षम नहीं होता है या फिर उपलब्ध इंसुलिन का इस्तेमाल नहीं कर पाता। ऐसे में मधुमेह विशेष बीमा योजना खरीदने से पहले रखें कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए। भारत में 7 करोड़ लोग मधुमेह से पीड़ित है भारत दुनिया की मधुमेह राजधानी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की हाल की एक रिपोर्ट के मुताबिक,...

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ‘डीटॉक्सीफिकेशन’ कारगार

स्वस्थ जीवनशैली प्राप्त करने के लिए डीटॉक्सीफिकेशन एक अच्छा विकल्प है। यह शरीर का वजन घटाने में, उपवास के दौरान अंगों को आराम पहुंचाने, रक्त संचार सुधारने में और पसीना व मूत्र के माध्यम से शरीर से दूषित पदार्थो को बाहर करने में मदद करता है तथा शरीर को स्वस्थ पोषण प्रदान करता है। डीटॉक्सीफिकेशन के दौरान कुछ बातों को ध्यान में रखना अत्यधिक जरूरी है। केवल विशेषज्ञ की मदद से डीटॉक्सीफिकेशन करें। अपने आहार...

कैल्शियम के कण दे सकते हैं दिल के रोग का संकेत

दिल की धमनी की दीवारों में चिपके कैल्शियम के कण, दिल से जुड़ी बीमारियों का संकेत दे सकते हैं, खासतौर से भारत सहित दक्षिण एशियाई देशों के पुरुषों में। इससे इलाज के तरीके विकसित करने में मदद मिल सकती है। कैलिफोर्निया-सैन फ्रांसिस्को विश्वविद्यालय (यूसीएसएफ) के शोधकर्ताओं के दल के अनुसार, दक्षिण एशिया के लोगों में दिल संबंधी बीमारियां (कार्डियोवेस्कुलर डिजीज) होने की आशंका ज्यादा रहती है।  दुनियाभर में दिल से जुड़ी बीमारियों के 60 फीसदी...

बातचीत के दौरान सिर का झुकाव बढ़ा सकता है आपकी सामाजिकता

किसी व्यक्ति से बातचीत करने के दौरान सिर का थोड़ा झुकाव दूसरे व्यक्ति को आपको जानने में बेहतर साबित हो सकता है। यह आपके गहन सामाजिक संबंधों का मार्ग भी प्रशस्त कर सकता है। जर्नल ‘पर्सेप्शन’ में प्रकाशित एक शोध में कहा गया है कि सामाजिक मेलजोल के दौरान आई कांटेक्ट को महत्वपूर्ण माना जाता है, जबकि बहुत से लोगों का मानना है कि डायरेक्ट आई कांटेक्ट से भय बना रहता है। लेकिन सिर का...

इन जूस से कम होगा आपका वजन…

वजन कम करना किसी के लिए आसान काम नहीं है। इसके लिए लोग योग, वर्कआउट, हेल्दी डाइट जैसे कई तरीकों का इस्तेमाल करते हैं। कई बार लोग क्रैश डाइट का भी सहारा लेते हैं, लेकिन लंबे समय में इनसे फायदा नहीं होता। आपको अपना वजन हमेशा कंट्रोल में रखने के लिए अपनी डाइट में घर पर बने कम कैलोरी वाले जूस को शामिल करना होगा। टमाटर का जूस टमाटर में बहुत कम कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट...

सर्दियों में फिट रहने के लिये करें ये एक्सरसाइज

इस ठंड भरे मौसम में अपने स्वस्थ का ध्यान रखना भूल जाते हैं। ऐसे में सर्दियों से होने वाली बीमारी भी बढ़ जाती हैं। हम आपको ऐसे में बता रहे हैं कुछ हेल्थ जिन्हें आप सर्दियों में फिट रहने के लिये इस्तेमाल कर सकती हैं। हॉलैंड में हुई एक रिसर्च के मुताबिक, जो महिलाएं हफ्ते में 5 दिन तकरीबन 45 मिनट एक्सर्साइज करती हैं, वे सर्दी जुकाम और दूसरी कई प्रॉब्लम्स से बची रहती हैं।...

भारत में स्तन कैंसर महिलाओं की मौत का प्रमुख कारण बना हुआ है, लेकिन अब इसके कारण महिलाओं में गर्भाशय कैंसर के मामले भी बढ़ रहे हैं। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के कैंसर रोग विशेषज्ञ, सर्जिकल ऑन्कोलोजिस्ट डॉ. एम. डी. रे का कहना है कि स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं में गर्भाशय कैंसर का भी खतरा बना रहता है, क्योंकि एक ही प्रकार के जीन के मौजूद रहने से दोनों तरह के कैंसर होते...

साल के अंतिम दिनों में खाएं ऐसी दावत, जो दिल के लिए हो सेहतमंद!

साल के आखिरी दिनों के साथ-साथ परिवार और दोस्तों के साथ त्योहारों का जश्न व पार्टियां का वक्त भी नजदीक आ रहा है, लेकिन इस दौरान स्वादिष्ट भोजन का बुरा असर आपकी सेहत पर भी पड़ सकता है क्योंकि इन व्यंजनों में फैट, चीनी और काबोर्हाइड्रेट भरपूर मात्रा में होते हैं। ऐसे में खुद को सुरक्षित रखने के लिए चिकित्सक ने कुछ सुझाव दिए हैं। अपोलो हॉस्पिटल्स की चीफ क्लिनिकल न्यूट्रिशनिस्ट डॉ. प्रियंका रोहतगी का...

वायु प्रदूषण से फेफड़ों में कैंसर का खतरा

एक ओर जहां बिहार की राजधानी पटना और मुजफ्फरपुर में वायु प्रदूषण बढ़ रहा है, वहीं चिकित्सकों का कहना है कि वायु प्रदूषण के कारण फेफड़े में कैंसर का खतरा बना रहता है। चिकित्सकों का कहना है कि धूम्रपान फेफड़े के कैंसर की मुख्य वजह मानी जाती थी, लेकिन हाल के दिनों में यह बात भी सामने आई है कि फेफड़े के कैंसर के बढ़ते मामलों में प्रदूषित हवा की भूमिका भी बढ़ रही है।...

बीड़ी पीने से देश को सालाना 80 लाख करोड़ का नुकसान

बीड़ी पीने से स्वास्थ्य को होने वाले नुकसान और समय से पहले मौत होने से भारत को सालाना 80,000 करोड़ रुपये की कीमत चुकानी पड़ती है, जोकि देश में स्वास्थ्य पर होने वाले कुल खर्च का दो फीसदी है। यह बात एक शोध रिपोर्ट में सामने आई है। सीधे तौर पर बीमारी की जांच, दवाई, डॉक्टरों की फीस, अस्पताल में भर्ती और परिवहन पर होने वाला खर्च इसमें शामिल है। इसके अलावा परोक्ष खर्च में...

भारत के पुरुषों के लिए सबसे बड़ा खतरा है ‘ओरल कैंसर’

तंबाकू दुनिया भर में ओरल कैंसर की बड़ी वजह है और भारत में पुरुषों के लिए इस प्रकार का कैंसर सबसे बड़ा खतरा बनता जा रहा है। 18 साल के मुकेश को जब ओरल कैंसर होने का पता चला तब तक काफी देर हो चुकी थी और वह इस रोग की चौथी अवस्था में पहुंच चुके थे। उन्हें रेडिएशन थेरेपी दी गई तथा ऊपरी जबड़ा भी निकालना पड़ा क्योंकि उनका कैंसर काफी फैल चुका था।...

दिमाग के लिए खतरनाक है डायबिटीज!

आजकल के लाइफस्टाइल ने कई लोगों को डायबिटीज का शिकार बना दिया है। डायबिटीज एक बहुत ही घातक बीमारी है, जो व्यक्ति को धीरे-धीरे मौत के मुंह में ले जाती है लेकिन क्या आप जानते हैं कि डायबिटीज की बीमारी आपके दिमाग को भी गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाती है। जी हां, मध्य वर्ग की उम्र में डायबिटीज से पीड़ित लोगों का दिमाग सिकुड़ने लगता है। साथ ही उनकी याददाश्त भी कमजोर होने लगती है।...

जॉनसन एंड जॉनसन पाउडर से बच्चों को कैंसर का खतरा : रिपोर्ट

जॉनसन एंड जॉनसन के प्रोडक्ट्स को सभी जगह पंसद किया जाता हैं। भारत की बात करें तो यहां जॉनसन एंड जॉनसन के प्रोडक्ट्स को ही बच्चों के लिए बेस्ट माना जाता है। लेकिन एक नई रिपोर्ट में इस कंपनी को लेकर जो खुलासा हुआ है उससे आपके होश उड़ जाएंगे। मशहूर कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन पर लंबे समय से आरोप लग रहे थे कि इसके बेबी पाउडर (Baby Powder) से कैंसर होता है। इस बात...

सिनेमा, संग्रहालय जाने से बुजुर्गों में अवसाद का जोखिम हो सकता है कम

सिनेमा, थिएटर या संग्रहालय जैसी सांस्कृतिक गतिविधियों के नियमित रूप से संपर्क में रहने से बुजुर्ग अवसाद से दूर रह सकते हैं। एक नए अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। अवसाद एक बड़ा मुद्दा है, जिससे लाखों लोग प्रभावित होते हैं, विशेषकर बुजुर्ग। अध्ययन में सामने आया कि वे लोग जो प्रत्येक दो-तीन महीने में फिल्में, नाटक या प्रदर्शनी देखते हैं, उनमें अवसाद विकसित होने का जोखिम 32 फीसदी कम होता है, वहीं...

ऑनलाइन दवा खरीद पर रोक

दिल्‍ली हाईकोर्ट ने दवाओं की ऑनलाइन बिक्री पर रोक लगा दी है। ये रोक पूरे देश के लिए है। इससे पहले मद्रास हाईकोर्ट भी इस पर रोक लगाने का आदेश दे चुका है। दिल्‍ली उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश जस्टिस राजेंद्र मेनन और जस्टिस वीके रॉय की खंडपीड ने एक पीआईएल की सुनवाई पर फैसला सुनाया। गौरतलब है कि सितंबर में स्वास्थ्य मंत्रालय ने दवाओं की ऑनलाइन बिक्री का एक ड्राफ्ट तैयार बनाया था। इस...

घर बैठे स्वास्थ्य के खतरों के बारे में जानकारी देगी ‘डीएनए वाईज’

लोगों को उनके स्वास्थ्य के खतरों के बारे में जानकारी देने और आहार व कसरत में बदलावों के चयन का निर्णय लेने में मदद करने के लिए इंडस हेल्थ प्लस ने हाल ही में ‘डीएनए वाईज’ नाम से एक स्वास्थ्य सेवा लॉन्च की है। इंडस हेल्थ प्लस के संयुक्त प्रबंध निदेशक अमोल नायकवडी ने कहा, “डीएनए वाईज व्यक्ति के डीएनए के अनुसार उसके स्वास्थ्य को होने वाले खतरे व खाने और कसरत की आदतों, गुण...

जानें, व्हाइट या ब्राउन, कौन-सा अंडा है सेहत के लिए फायदेमंद

अंडा एक ऐसा सुपरफूड है, जिसमें प्रोटीन, कैल्शियम, ओमेगा-3 फैटी एसिड विटामिन-ए और विटामिन-बी भरपूर मात्रा में होता है। रोजाना इसका सेवन शरीर को कई गंभीर बीमारियों से दूर रखता है। साथ ही अंडे का सेवन हड्डियों को भी मजबूत बनाता है। मगर अकसर लोग सोच में पड़ जाते हैं कि ब्राउन या व्हाइट में से कौन-सा अंडा सेहत के लिए फायदेमंद है। आप परेशान ना होंं क्योंकि आज हम आपको यही बताएंगे कि कौन-सा...

समय पर हेपेटाइटिस बी का टीका लिवर रोग में मददगार

लिवर की अधिकांश बीमारियां साइलेंट होती हैं। जब तक लक्षण प्रकट होते हैं, तब तक लगभग 50 प्रतिशत या अधिक नुकसान हो चुका होता है। समय पर पता न लग पाने और उपचार न मिलने से लिवर का सिरोसिस (स्कार्फि ग) विशेष रूप से वायरल हेपेटाइटिस बी और सी में प्रकट होता है। एचबीवी संक्रमण को रोकने में प्रभावी टीकाकरण कार्यक्रम महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह पुराने लिवर रोग और हेपेटोसेल्युलर कार्सिनोमा (एचसीसी) या लिवर...

पटना के सवेरा कैंसर एंड मल्टीस्पेशियल अस्पताल के चर्चित कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. वी.पी. सिंह ने स्तन कैंसर को महिलाओं के लिए बेहद खतरनाक बताते हुए कहा कि इससे बचाव के लिए लोगों में जागरूकता लाने की जरूरत है, जिससे समय रहते इसका निदान हो सके। उन्होंने चिंता जताते हुए कहा, “हमारे देश में आज भी महिलाएं इसके प्रति जागरूक नहीं है।” डॉ. सिंह ने बताया कि अभी हाल में किए गए एक अध्ययन के...

स्तन कैंसर से जूझ रही महिलाओं के लिए गर्भावस्था सुरक्षित

भारतीय महिलाओं में सबसे प्रचलित कैंसर स्तन कैंसर मातृत्व में बाधा नहीं बन सकता, अगर सही समय में हस्तक्षेप किया जाए तो। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इस बात की जानकारी दी। इनके मुताबिक, स्तर कैंसर से जंग लड़ रही महिलाओं के लिए गर्भावस्था संभव है..यह पुनरावृत्ति के जोखिम को नहीं बढ़ाता और न ही शिशु को किसी तरह का नुकसान पहुंचाता है। मुंबई के एचसीजी कैंसर सेंटर की कंसलटेंट (रेडिएशन, ओंकोलोजी) उपासना सक्सेना ने आईएएनएस को...

ज्यादा एंटीबायोटिक लेने से हो सकती हैं पेट की गंभीर बीमारियां

रोजाना की दौड़ती-भागती जिंदगी में अक्सर हम लोग सरदर्द, पेटदर्द या बुखार होने पर बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई भी एंटीबायोटिक दवा ले लेते हैं और तबीयत ठीक होने पर अक्सर ऐसा करते रहते हैं लेकिन चिकित्सकों ने जरूरत से अधिक एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने पर डायरिया जैसी पेट की गंभीर बीमारियां होने की चेतावनी दी है। नारायणा सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल के इंटरनल मेडीसिन सीनियर कंसल्टेंट डॉ. सतीश कौल ने आईएएनएस से कहा, “जरूरत...

सिर्फ 6 हफ्तों में कम होगा वजन…

आजकल हर कोई स्लिम और फिट दिखना चाहता है, लेकिन आधुनिक जीवनशैली के चलते कई लोग ना चाहते हुए भी मोटापे से जूझ रहे हैं। अपने बढ़ते हुए वजन को कम करने के लिए कुछ लोग तो घंटों जिम में एक्सरसाइज करते हैं, लेकिन कुछ लोगों को समय की कमी के कारण एक्सरसाइज करने का मौका ही नहीं मिलता है। परिणामस्वरूप ध्यान ना देने की वजह से लोगों का वजन कम होने के बजाए बढ़ता...

वायु प्रदूषण से श्वसन तंत्र ही नहीं, आंखें भी होती हैं प्रभावित

अगर आप सोचते हैं कि वायु प्रदूषण से केवल फेफड़े या श्वसन तंत्र प्रभावित होते हैं, तो दुबारा विचार करें। क्योंकि मेडिकल विशेषज्ञों का कहना है कि खराब वायु गुणवत्ता से आंखों में कई समस्याएं भी हो सकती है, जिसमें कोर्निया को होनेवाली क्षति भी शामिल है। ऑल इंडिया इंस्टीट्यूय ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) के ऑप्थामोलोजिस्ट डॉ. राजेश सिन्हा ने आईएएनएस को बताया, “नाक और मुंह की तरह आंखों को ढकना काफी मुश्किल है। इससे...

अनेक तरह के कैंसर का कारण बन सकता है अत्यधिक वायु प्रदूषण

वायु प्रदूषण और फेफड़ों के कैंसर के परस्पर संबंध के बारे में दशकों से जानकारी है। विज्ञान ने यह साबित किया है कि वायु प्रदूषण कैंसर के जोखिम को कई गुना बढ़ाता है और अत्यधिक वायु प्रदूषण फेफड़े के अलावा दूसरे अन्य तरह के कैंसर का कारण बन सकता है। 2013 में ‘इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर (आईएआरसी)’ ने बाहरी वायु प्रदूषण को कैंसर का प्रमुख कारण माना था। प्रदूषण इसलिए, कैंसरकारी माना जाता...

किचन में मौजूद ये सुपरफूड्स करते हैं पेनकिलर का काम

लोगों का लाइफस्टाइल इतना बदला है कि सिर, कमर और गर्दन का दर्द तो आम हो गया है। हर दूसरे व्यक्ति के मुंह से सुनने को मिलता है कि उसे यहां दर्द है, मुझे यहां दर्द हैं। इन रोजमर्रा की हेल्थ प्रॉब्लम्स से झटपट राहत पाने के लिए लोग पेनकिलर के इस कदर आदी हो गए हैं कि दर्द शुरू होते ही मिनटों में इसका सेवन कर लेते हैं। वैसे तो इस बात से सभी...

ठंड में जरूर पीएं बादाम वाला दूध, जानें फायदे

स्वास्थ्य के लिए दूध पीना बहुत फायदेमंद होता है। दूध में भरपूर मात्रा में कैल्शियम और जरूरी न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं। वहीं बादाम दिमाग तेज करने के साथ सेहत को भी दुरुस्त रखता है। बादाम की तासीर गर्म होती है। इसलिए सर्दियों में बादाम वाला दूध पीने से शरीर को ताकत मिलती है और शरीर कई तरह के इंफेक्शन और बीमारियों से सुरक्षित रहता है। आइए जानते हैं बादाम वाला दूध पीने के फायदे… दिल...

..ऐसे पाएं अच्छी नींद

अच्छी नींद के लिए न सिर्फ आपका स्लीपवेयर अहम भूमिका निभाता है, बल्कि इसके लिए तनाव मुक्त होना भी जरूरी है। अच्छी नींद के साथ आपकी त्वचा रिजूविनेट होती है। ‘पॉल मिचेल इंडिया’ के ट्रेनर जगदीश पी. और ‘प्रिटी सीक्रेट्स’ के सीईओ व संस्थापक ने अच्छी नींद पाने के संबंध में ये सुझाव दिए हैं : * स्कैल्प को ऐसी चीज की सहायता से हाइड्रेटेड रखना बेहद जरूरी है, जो इसे पोषण प्रदान करता हो।...

वायु प्रदूषण से स्तन कैंसर का खतरा : अध्ययन

व्यस्त सड़कों के समीप काम करने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा अधिक होता है। एक शोध में यह बात प्रकाश में आई है। शोधकर्ताओं ने इस बात से सचेत किया है कि यातायात के कारण होने वाले वायु-प्रदूषण से महिलाओं को स्तन कैंसर का खतरा पैदा हो सकता है। स्कॉटलैंड स्थित स्टर्लिग विश्वविद्यालय के शोधार्थियों की टीम कैंसर की मरीज एक महिला के संबंध में किए गए अध्ययन-विश्लेषण के बाद इस नतीजे पर...

ब्रेन ट्यूमर के ये लक्षण भूलकर भी न करें नजरअंदाज…

कैंसर एक बेहद खतरनाक बीमारी है। अगर समय पर इस बीमारी का पता ना चले और इलाज न हो पाये तो इंसान मौत के मुंह में जा सकता हैं। आज के दौर में कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बच्चों से लेकर बड़ों तक इस बीमारी की चपेट में आ रहे है। शुरुआत में कैंसर के लक्षणों को पहचान पाना बहुत ही मुश्किल होता है। ब्रेन ट्यूमर में दिमाग की कोशिकाएं जरूरत से...

हेल्थ के लिए ज्यादा कारगर है जैसमीन टी, जानें फायदे

आमतौर पर लोग ज्यादा चाय पीने से बचते हैं, क्योंकि लोगों का मानना होता हो कि ज्यादा चाय पीने से गैस की प्रॉब्लम होती है। मगर कुछ चाय ऐसी होती हैं जो आपकी हेल्थ के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होती है। अपनी हेल्थ को लेकर बहुत ज्यादा सजग रहने वाले लोग चाय पीने में ज्यादातर ग्रीन टी पीने को प्रायोरिटी देते है, लेकिन ग्रीन टी के मुकाबले जैसमीन टी ज्यादा फायदेमंद होती है। जानें- जैसमीन...

संतरे का जूस, पत्तेदार हरी सब्जियां खाने से बुढ़ापे में बनी रहेगी याददाश्त

जो पुरुष हरी पत्तेदार सब्जियां, गहरे नारंगी और लाल रंग वाली सब्जियां, बेरीज (स्ट्रॉबेरी, ब्लैकबेरी, ब्लूबेरी) खाते हैं तथा संतरे का जूस पीते हैं, उनके बुढ़ापे में याददाश्त खोने का खतरा कम हो जाता है। एक शोध से यह जानकारी मिली है। शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि जो पुरुष बुढ़ापे से 20 साल पहले ज्यादा मात्रा में फल और सब्जियां खाते हैं, उनमें सोच और याददाश्त से जुड़ी परेशानियां कम होती हैं,...

मेमोरी लॉस के हैं शिकार तो ये है रामबाण इलाज

उम्र बढ़ने के साथ याद्दाश्त कमजोर होना और चीजों को जल्दी भूल जाना आम समस्या है लेकिन अगर आप चाहते हैं कि बुढ़ापे में भी आपकी याद्दाश्त कमजोर न हो तो कुछ चीजों का सेवन युवावस्था से ही करते रहें ताकि आपकी याद्दाश्त दुरुस्त रहे। अब यह चमत्कार कैसे हो, इसके बारे में वैज्ञानिक काफी समय से शोध कर रहे हैं ऐसे ही एक शोध में दावा किया गया है कि संतरे का जूस और...

जलवायु परिवर्तन में शामिल ग्रीनहाउस गैस उत्‍सर्जन पहुंचा रिकॉर्ड स्तर पर : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र। जलवायु परिवर्तन में वृद्धि करने वाली मुख्य ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में गुरुवार को इस बात का खुलासा हुआ। द गार्डियन की रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गनाइजेशन (डब्लूएमओ) की रिपोर्ट में कहा गया कि कार्बन डाई ऑक्साइड (सीओ 2), मीथेन और नाइट्रस ऑक्साइड अब पूर्व औद्योगिक स्तर से काफी ऊपर पहुंच चुकी हैं, और अब इस चलन में कमी का...

धूम्रपान नहीं करने वालों में भी सीओपीडी रोग आम

दुनिया भर में क्रॉनिक ऑब्स्ट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीज (सीओपीडी) पांचवां सबसे घातक रोग बन चुका है। विश्व में तीन करोड़ से अधिक जिंदगियों को प्रभावित करने वाले सीओपीडी को हमेशा धूम्रपान करने वालों का रोग माना जाता रहा है लेकिन अब नॉन स्मोकिंग सीओपीडी विकासशील देशों में एक बड़ा मामला बन चुका है। सीओपीडी 50  से साल अधिक के भारतीयों में मौत का दूसरा अग्रणी कारण है। हाल के अध्ययनों में पता चला है कि ऐसे...

पैकेट में बंद दूध पीने से नवजातों में ‘डेवलपमेंट डिसऑर्डर’ का खतरा

अभिनेता इमरान हाशमी की आगामी फिल्म ‘टाइगरस’ देश और दुनिया में नवजातों या कम उम्र के बच्चों को पिलाए जाने वाले पैकेटों में बंद दूध से होने वाली मौतों पर से पर्दा उठाती है, जिसने हमारे बाजारों में नवजातों या कम उम्र के बच्चों के लिए पौष्टिकता का दावा करने वाली कंपनियों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। चिकित्सकों का कहना है कि इस पैकेट में बंद दूध से नवजातों या बच्चों में बड़ी आसानी...

युवा पीढ़ी में बढ़ रहा हृदय रोग का खतरा

तनाव, नुकसानदायक जीवनशैली और खराब समय सारिणी जैसे कारक मौजूदा समय में युवा पीढ़ी के बीच कई स्वास्थ्य समस्याओं को बढ़ावा देने में योगदान दे रहे हैं और हृदय रोग वर्तमान युवा पीढ़ी के लिए सामान्य बीमारी बन गई है। नई दिल्ली के द्वारका स्थित मनीपाल हॉस्पिटल्स के कार्डिएक साइंसेज एवं प्रमुख कार्डियो वैस्क्यूलर सर्जन प्रमुख डॉ. युगल के. मिश्रा ने बताया, “जीवनशैली में बदलाव और तेजी से होते शहरीकरण ने भारत में कार्डिएक बीमारियों...

छोटी आंत के कैंसर से बचाव में एस्पिरिन, ओमेगा-3 लाभकारी

छोटी आंत के कैंसर के अत्यधिक जोखिम वाले मरीजों में एस्पिरिन व ओमेगा-3 का सेवन सुरक्षित व कैंसर के खतरे की संभावना को कम करने में कारगर है। लैंसेट पत्रिका में प्रकाशित इस अध्ययन में कम कीमत वाली इन औषधियों से छोटी आंत के कैंसर के अत्यधिक जोखिम वाले मरीजों में प्री-कैंसर पॉलिप की संख्या में कमी दिखाई दी है। शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि जिन मरीजों ने एस्पिरिन लिया, उनमें प्रायोगिक...

महिलाओं में बढ़ रहा ‘ऑस्टियोपोरोसिस’ का खतरा

धूप से बचने की प्रवृत्ति, कैल्शियम युक्त आहार के कम सेवन और बढ़ते प्रदूषण के कारण भारत की महिलाओं में हड्डियों को खोखला बना देने वाली खामोश बीमारी ‘ऑस्टियोपोरोसिस’ का खतरा बढ़ रहा है। कम उम्र की लड़कियों, किशोरियों, गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली महिलाओं और रजोनिवृत्त महिलाओं में आदतन कैल्शियम का सेवन कम होता है, जो ओस्टियोपोरोसिस का मुख्य कारण है। आर्थराइटिस केयर फाउंडेशन (एएफसी) के अध्यक्ष और इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ आर्थोपेडिक...

बीते छह सालों में कैंसर के मामलों में 15.7 प्रतिशत की वृद्धि

भारत में बीते छह वर्षो में कैंसर के मामलों में 15.7 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है। एक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर प्रीवेंशन एंड रिसर्च के अनुसार, 2012 में 10 लाख के मुकाबले, अकेले इस साल देश भर में लगभग 11.5 लाख कैंसर के मामले दर्ज हुए। होंठ और माउथ कैविटी के कैंसर की विशेष रूप से छह साल की अवधि में...

रूखी आंखों से घट जाती है पढ़ने की रफ्तार

आंखें अगर रूखी हों, तो पढ़ने की रफ्तार घट जाती है। आंखों का रूखापन एक बीमारी है, जिसमें आंखों से पर्याप्त मात्रा में आंसू नहीं निकलते हैं। इसे ड्राई आई सिंड्रोम कहते हैं। इससे आंखों के कार्य काफी प्रभावित होते हैं। इस सिंड्रोम पर शोध करने वाले शोधार्थी बताते हैं कि क्रोनिक ड्राई आई (आंखों के रूखेपन की बीमारी) से पीड़ित लोगों में पढ़ने की गति कम होती है। शोध में पाया गया कि इस...

दिल्ली-एनसीआर में मौजूदा प्रदूषण से अस्थमा के दौरे पड़ सकते हैं…

मेट्रो रेस्पिरेटरी सेंटर के डायरेक्टर एवं चेयरमैनदेश एवं पल्मोनोलॉजिस्ट, डॉ. दीपक तलवार, ने दिल्ली एनसीआर में खतरनाक प्रदूषण स्तर के मद्देनजर सभी अस्थमा रोगियों को अस्थमा के दौरों के बारे में आगाह किया है। उन्होंने रोगियों से घर के अंदर रहने और धूल कणों व प्रदूषक तत्वों से बचने की सलाह दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, भारत 1.5 से 2 करोड़ लोग अस्थमा से पीड़ित हैं, जबकि कुछ अध्ययनों ने यह संख्या 3...

बच्चों में बढ़ रहा है डायबिटीज खतरा…

बच्चों में बढ़ता मोटापा आज चिंता का विषय बन चुका गया है। जो कई बीमारियों का कारण बनता जा रहा है। कई कारणों से बच्चे आज मोटापे का शिकार बन रहे हैं जैसे लगातार टीवी देखना, इंटरनेट, गेमिंग डिवाइसेज पर समय बिताना, खेलकूद की कमी, जंक फूड का सेवन और निष्क्रिय जीवनशैली।  मोटापे का एक घातक परिणाम डायबिटीज के रूप में सामने आता है और डायबिटीज का बुरा असर शरीर के हर अंग पर पड़ता...

रोजाना 3-4 कप कॉफी मधुमेह में मददगार

रोजाना तीन-चार कप काफी पीने से मधुमेह टाइप-2 का खतरा 25 फीसदी कम हो सकता है। यह सुझाव एक शोध के नतीजों के आधार पर दिया गया है। मधुमेह टाइप-2 के मामलों में काफी पीने का असर पुरुष और महिला दोनों में पाया गया है। शोध में कैफीन रहित काफी पीने से भी उसी प्रकार का प्रतिरक्षी प्रभाव पाया गया।स्वीडन के कारोलिंस्का इंस्टीट्यूट के एसोसिएट प्रोफेसर मैट्टियस काल्स्ट्रोम ने कहा कि महज कैफीन नहीं, बल्कि...

‘मां बनने में बाधक हो सकती है डायबिटीज’

चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि अगर महिला डायबिटीज से पीड़ित है और अगर उसकी डायबिटीज कंट्रोल में नहीं है तो मां और गर्भस्थ शिशु दोनों के लिए कई समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इसके कारण गर्भपात हो सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसी स्थिति में अगर जन्म लेने वाले बच्चे का आकार सामान्य से बड़ा है तो सी-सेक्शन आवश्यक हो जाता है। इसके अलावा बच्चे के लिए जन्मजात विकृतियों की आशंका बढ़...

कोलेस्ट्राल नियंत्रण से अल्जाइमर का खतरा कम!

कोलेस्ट्राल की मात्रा शरीर में नियंत्रित रहने से अल्जाइमर रोग होने का खतरा कम रहता है। शोधकर्ताओं ने स्मरण शक्ति में ह्रास और हृदय रोग के बीच आनुवंशिक संबंधों का पता लगाया है। शोध में 15 लाख लोगों के डीएनए की जांच के बाद पता लगाया गया है कि हृदय रोग होने यानी ट्राइग्लिसराइड एवं कोलेस्ट्राल स्तर (एचडीएल, एलडीएल और कुल कोलेस्ट्राल) बढ़ने से अल्जाइमर का खतरा रहता है। हालांकि ऐसे जीन जो बॉडी मास...

पटाखे बच्चों के फेफड़े के लिए खतरनाक

दिवाली पर पटाखे फोड़ते वक्त भले ही बच्चों के चेहरे पर हंसी हो, लेकिन वही पटाखे उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक होते हैं। पटाखों से निकलने वाला जहरीला धुआं सभी के लिए घातक है, लेकिन पांच साल से कम उम्र के बच्चों और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों के इससे बीमार पड़ने की संभावना अधिक होती है। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को भी बहुत सावधानी बरतने की जरूरत होती है। विशेषज्ञों का मानना...

प्रदूषण के कारण बढ़ रहे स्ट्रोक के मामले

शहरीकरण बढ़ने के कारण महानगरों में प्रदूषण स्तर बढ़ा है और इसकी वजह से स्ट्रोक के मामले भी बढ़ रहे हैं। इस समस्या के समाधान में वैस्कुलर न्यूरोलोजी की भूमिका महत्वपूर्ण है। यह कहना है जाने-माने न्यूरोलोजिस्ट डॉ. पी.एन. रंजन का। वल्र्ड स्ट्रोक डे सिम्पोसियम के मौके पर स्ट्रोक पर 11वें सीएमई (कन्टीन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन) सेमिनार में सिम्पोसियम के ऑगेर्नाइजिंग चेयरमैन डॉ. पी. एन. रंजन ने कहा, “शहरीकरण बढ़ने के साथ दिल्ली जैसे शहरों में...

जानिये, उस युवती की किस चाहत ने बदली उसकी ख्वाहिश…

दुनिया में सबसे मोटी महिला बनने की चाहत रखने वाली मोनिका रिले अब पतला होना चाहती है। अब आप सोच रहे होंगे, चाहत मोटी महिला बनने की थी तो फिर अचानक पतला क्यों होना? तो आपको बता दें इसकी वजह है मोनिका का प्रेग्नेंट होना। इस पर मोनिका का कहना है कि हां, “एक समय था जब मैं दुनिया की सबसे मोटी महिला बनना चाहती थी। मेरा वजन 317 किलोग्राम था। पर, अब मेरी ख्वाहिश...

कुछ इस तरह ऑफिस के माहौल को बनाएं मजेदार

आपका ऑफिस आपका दूसरा घर होता है, इसलिए आप इसे मजेदार और जिंदादिल बनाने के लिए सही चीजों को करना सुनिश्चित करें। विशेषज्ञों ने ऑफिस के माहौल को खुशनुमा बनाने के लिए कुछ उपाय सुझाए हैं। अवांता बिजनेस सेंटर के प्रबंध निदेशक नकुल माथुर और हंट ऑफिस के सहसंस्थापक और सलाहकार विनय सिंह ने कार्यस्थल पर ऊर्जावान रहने और तनाव से मुक्त जिंदगी बनाने के तरीके सुझाए हैं। * अव्यवस्था को हटाना : अपने कार्यक्षेत्र...

गिरती वायु गुणवत्ता से आपको बचाएगा ‘माइऑक्सी’

दिल्ली-एनसीआर में वायु की गुणवत्ता लगातार गिर रही है और दिवाली से पहले और उसके बाद इसके बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच जाने की उम्मीद है। ऐसे मे हर किसी के लिए खुले में सांस लेना मुश्किल हो जाएगा लेकिन एफडीए से मंजूरी प्राप्त कैन्ड ऑक्सीजन-माइऑक्सी इस मुश्किल से निजात दिला सकता है। इंडस्ट्रियल, मेडिकल और रेफ्रिजरेशन गैसों के क्षेत्रों में अग्रणी-गुप्ता ऑक्सीजन प्राइवेट लिमिटेड ने खासतौर से भारतीय बाजारों के लिए पहली बार माइऑक्सी...

वायु प्रदूषण बढ़ा रहा युवाओं में स्ट्रोक का खतरा

सूक्ष्म वायु प्रदूषण कण युवाओं और स्वस्थ लोगों की नसों और नब्ज की अंदरूनी परत को नुकसान पहुंचाकर उनमें स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। चिकित्सा विशेषज्ञों ने यह जानकारी दी। गुरुग्राम के फोर्टिस मेमोरियल अनुसंधान संस्थान के न्यूरोलॉजी निदेशक प्रवीण गुप्ता ने कहा कि पिछले कई वर्षो में युवा मरीजों की संख्या बढ़ी है। गुप्ता ने कहा, “हर महीने कम से कम से तीन युवा मरीज हमारे पास आ रहे हैं। पिछले कुछ...

दुनिया में 12.50 करोड़ लोग सोराइसिस रोग से पीड़ित

दुनियाभर में सोराइसिस रोग से तीन फीसदी आबादी यानी करीब 12.50 करोड़ लोग प्रभावित हैं। रोग प्रतिरोधक प्रणाली की गड़बड़ी से सोराइसिस रोग होता है। इसका कास्मेटिक या त्वचा के प्रकार से कोई संबंध नहीं है हालांकि इस बीमारी के होने के बाद इससे जुड़ी कई दूसरी बीमारियां और परेशानियां हो सकती है। विश्व में 29 अक्टूबर को विश्व सोराइसिस दिवस के रूप में मानाया जाता है। इस साल की ग्लोबल थीम में सोराइसिस के...

पौष्टिक भोजन से बच्चों का स्वाभिमान बढ़ता है : सत्यार्थी

नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि संतुलित व पौष्टिक भोजन शारीरिक और मानसिक विकास के लिए जरूरी है, क्योंकि उससे किशोरावस्था में स्वाभिमान बढ़ता है। बाल अधिकार के पैरोकार सत्यार्थी ने कहा, “बेहतर पोषण और आरोग्य पर व्यक्ति की खुशहाली और स्वतंत्रता निर्भर करती है।”त्वरित सेवा रेस्तरा श्रंखला सबवे द्वारा आयोजित सैंडविच डे के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में सत्यार्थी ने शाकाहारी प्रोटीन और ताजा सब्जियां, शहद मिश्रित ओट-ब्रेड मिलाकर कैलाश सैंडविच बनाई,...

एडीएचडी से पीड़ित बच्चों की कुछ इस तरह करें मदद…

पढ़ाई के प्रति किसी बच्चे में ध्यान का अभाव पाया जाता है, या अतिशय चंचलता के कारण उसका पढ़ने में मन नहीं लगता है तो स्कूल इन बच्चों के लिए मददगार साबित हो सकते हैं। यह बात हालिया एक शोध में सामने आई है। यह शोध उन बच्चों पर केंद्रित है, जो ध्यानाभाव अति सक्रियता विकार (एडीएचडी) से पीड़ित हैं। एडीएचडी से पीड़ित बच्चों में एकाग्रता का अभाव होता है और उनमें चंचलता काफी ज्यादा...

जयपुर में जीका का कहर, 100 पहुंची मरीजों की संख्या

राजस्थान के जयपुर में जीका वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ये संख्या अब 100 तक पहुंच गई है। सरकार की तरफ से बीमारी को नियंत्रित करने के लिए सभी तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। केंद्र ने बुधवार को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की एक टीम वहां भेजी ताकि रोग पर नियंत्रण के उपायों में तेजी लाई जा सके। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि बीमारी से पीड़ित 100 लोगों...

जाने, मधुमेह रोगी त्योहारों का आनंद कैसे लें

मधुमेह या डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए अनियमित उपवास और त्योहार के बाद बार-बार खाते रहना हानिकारक साबित हो सकता है। भारत में लगभग 7.2 करोड़ मधुमेह रोगी हैं, जिनके 2025 तक 13.4 करोड़ तक होने की उम्मीद है। मधुमेह के रोगियों को त्योहारों का आनंद लेने के विशेष सावधानी और देखभाल की जरूरत होती है। बीटओ की डायबिटीज एजूकेटर चेतना शर्मा ने कहा, “मधुमेह वाले लोगों के लिए रक्तचाप के आवश्यक लेवल को...

विश्व खाद्य दिवस और भुखमरी के चौंकाते आंकड़े

आज ‘विश्व खाद्य दिवस’ है। विकासशील देशों में कृषि के विकास के लिए जरूरी ‘खाद्य एवं कृषि संगठन’ (एफएओ) की स्थापना 16 अक्टूबर, 1945 को कनाडा में की गई थी जो बदलती तकनीक जैसे कृषि, पर्यावरण, पोषक तत्व और खाद्य सुरक्षा के बारे में जानकारी देता है। अब इसे विडंबना कहें या दुर्भाग्य कि सुर्खियां बटोर रहा है दो दिन पहले जारी हुआ ‘ग्लोबल हंगर इंडेक्स’ यानी जीएचआई। इसमें दुनिया के विभिन्न देशों में खानपान...

जयपुर में जीका वायरस के 50 मामले आये सामने

राजस्थान के जयपुर में अब तक जीका वायरस की जांच में 50 लोगों को पॉजिटिव पाया गया है। खबर के मुताबिक जयपुर के शास्त्री नगर इलाके में कम से कम 10 लोग जीका वायरस की चपेट में बताए गए हैं। राजस्‍थान में जीका वायरस का पहला मामला 22 सितंबर को सामने आया था। राजस्‍थान स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के एक अधिकारी ने कहा था कि कुल 30 मामलों में इलाज के बाद मरीजों की तबीयत ठीक है।...

रेटिना आंख की रील है…

जैसे कैमरा में लेंस तस्वीर लेता है, लेकिन अंतिम दृश्य कैमरा की रील में बनता है। इसी तरह, रेटिना आंख की रील है, जहां कॉर्निया (आंख के आगे का भाग) तस्वीर लेता है, लेकिन अंतिम ²श्य रेटिना (आंख के पीछे का भाग) में बनता है। यह कहना है बॉम्बे हॉस्पिटल में ऑफ्थैल्मोलॉजिस्ट डॉ. अजय आई. दुदानी का। ‘वर्ल्ड रेटिना डे’ पर  उन्होंने कहा कि कॉर्निया से संबंधित रोगों, जैसे कैटेरेक्ट का पता आसानी से चल...

विश्व आर्थराइटिस दिवस: हर छठा व्यक्ति गठिया की चपेट में

घुटने की आर्थराइटिस शारीरिक विकलांगता के प्रमुख कारण के रूप में उभर रही है और इसका आलथी-पालथी मारकर बैठने की भारतीय शैली है, जिस कारण घुटने ज्यादा घिसते हैं और घुटने बदलवाने की नौबत आ जाती है। नोएडा स्थित फोर्टिस हॉस्पीटल के आर्थोपेडिक एवं ज्वाइंट रिप्लेसमेंट विभाग के निदेशक डॉ. अतुल मिश्रा बताते हैं कि भारत में 15 करोड़ से अधिक लोग घुटने की समस्याओं से पीड़ित हैं, जिनमें से 4 करोड़ लोगों को घुटना...

तैजी से फैल रहा है जीका वायरस, जानें लक्षण और उपाय

जीका वायरस एक खास तरह के मच्छर के काटने से होता है। इस तरह के मच्छर दिन में ही काटते हैंं। इन्‍हें एडीज मच्छर कहा जाता है। मच्छरों से पैदा हुए जीका वायरस रोग के लक्षण अन्य वायरल संक्रमण जैसे डेंगू की तरह ही होते हैं। इसके लक्षणों में बुखार, त्वचा पर चकत्ते, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द सिरदर्द आदि शामिल हैं। देश में पहली बार यह बीमारी जनवरी-फरवरी 2017 में अहमदाबाद में फैली। दूसरी...

जयपुर में 29 लोगों में जीका वायरस का संक्रमण, बिहार-दिल्ली में खतरा

जयपुर में जीका वायरस से 29 लोग संक्रमित हुए हैं। इसको लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने इस वायरस के प्रसार पर स्वास्थ्य मंत्रालय से रिपोर्ट मांगी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजस्थान में जीका वायरस से संक्रमित पाए गए व्यक्तियों में एक बिहार से है। बताया जा रहा है कि वह कुछ दिनों पहले ही बिहार के सीवान से लौटा है। ऐसे में बिहार सरकार को यह डर है कि कहीं जीका वायरस राज्य में...

बाहर के बजाए घरों में वायु प्रदूषण 10 से 30 फीसदी अधिक

दिन के दौरान घरों के अंदर वायु प्रदूषण बाहर से भी बदतर हो सकता है। यह वैक्यूमिंग, खाना पकाने, धूल झाड़ने या कपड़ों का ड्रायर चलाने जैसे कामों के कारण हो सकता है। एक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। अध्ययन के मुताबिक घरों में प्रदूषण का स्तर बाहरी प्रदूषण की तुलना में 10 से 30 गुना अधिक हो सकता है। घरों के अंदर वायु प्रदूषण के नतीजे स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन...

‘टीवी की तुलना में ऑनलाइन वीडियो देखने में ज्यादा समय बिताते हैं भारतीय’

भारतीय दर्शक प्रत्येक सप्ताह ऑनलाइन वीडियो सामग्री देखने में औसतन 8 घंटे 28 मिनट का समय खर्च करते हैं। यह समय इनके द्वारा प्रत्येक सप्ताह टीवी देखने में बिताए गए समय 8 घंटे 8 मिनट से कुछ ज्यादा है। एक नए सर्वेक्षण से यह जानकारी मिली। वैश्विक स्तर पर डिजिटल सामग्री उपलब्ध कराने वाले मंच ‘लाइमलाइट नेटवर्क्‍स’ की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार, “जितना समय भारतीय दर्शक ऑनलाइन वीडियो देखने में बिताते हैं, वह...

दुनिया में हर पांच में से एक व्यक्ति की उम्र होगी 65 साल

भारत में जीवन प्रत्याशा दर में वृद्धि ने नीतिकारों के माथे पर लकीर खींच दी है। 1947 में जो जीवन प्रत्याशा दर लगभग 32 वर्ष हुआ करती थी, वह आज बढ़कर 68 वर्ष हो गई है। ऐसा अनुमान है कि 2050 तक दुनिया में हर पांच में से एक व्यक्ति की उम्र 65 साल से अधिक होगी और करीब 50 करोड़ आबादी 80 साल से अधिक उम्र वालों की होगी। हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के...

खराब भोजन की आदत से हो सकता है कैंसर

एक पोषण विशेषज्ञ का कहना है कि कैंसर को खुद से दूर रखने के लिए ग्रीन टी, कुरकुमीन, अनार और फूलगोभी जैसे पॉलीफेनॉल से भरपूर सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करें। अस्वस्थकारी खाना खाने की आदत से कैंसर हो सकता है। मेकिस्को के जनरल हॉस्पिटल की क्लीनिकल न्यूट्रिशन विभाग की प्रमुख वेनेसा फुक्स ने शुक्रवार को समाचार एजेंसी एफे को बताया, “मुख्य चीजों में हम जो खा सकते हैं उनमें इसके एंटीऑक्सीडेंट गुणों में...

इस देश में ज्यादा बच्चे पैदा करने पर मिलती है ज्यादा सैलरी

पैरेंट्स के लिए दुनिया में कोई सबसे अच्छी जगह है तो वह स्वीडन है। यहां बच्चे के पैदा होने से पहले और बाद तक पैरेंट्स को कई तरह की सुविधाएं मिलती हैं। बच्चे के पैदा होने से पहले मां को प्रीनैटल केयर फ्री में उपलब्ध कराई जाती है और उन्हें डिलीवरी के लिए तैयार किया जाता है। अधिकतर स्वीडिश हॉस्पिटलों में होटल भी होते हैं जहां नई मांएं और उनके पार्टनर्स दो से तीन दिन...

World Heart Day 2018 : दिल की बीमारियों को दूर करने में ये 11 चीजें फायदेमंद…

दुनियाभर में 29 सितंबर के दिन ‘वर्ल्ड हार्ट डे’ के रूप में मनाया जाता है। आजकल की व्यस्त जिंदगी में जब घर का बना खाना कम ही नसीब हो पाता है, दिल की सेहत का ख्याल रखना और मुश्किल हो जाता है। आप क्या खाते हैं क्या नहीं इसका सीधा असर आपके दिल की सेहत पर पड़ता है। आधुनिक जीवनशैली और खराब फूड हैबिट्स की वजह से लोग तेजी से हार्ट से जुड़ीं बीमारियों का...

जी-4 के विदेश मंत्रियों ने की सुरक्षा परिषद सुधार की समीक्षा

भारत, ब्राजील, जर्मनी और जापान के विदेश मंत्रियों ने चिंता जताई है कि सुरक्षा परिषद में सुधार का एजेंडा करीब 40 वर्षो से लंबित है और यह अभी भी ठंडे बस्ते में पड़ा हुआ है। जी-4 देशों के मंत्री मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र में भारतीय दूतावास में सुधार प्रगति की समीक्षा के लिए भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की अध्यक्षता में जमा हुए। बैठक के बाद जारी एक संयुक्त बयान के अनुसार, उन्होंने परिषद में...

आलसी लोगों के लिए आई अच्छी खबर…

अगर आप दिन भर सोफा पर पड़े रहना पसंद करते हैं, आराम करने के लिए आप थकने का इंतजार नहीं करते हैं, ज्यादातर अपनी एनर्जी बचाकर रखते हैं, सोने के लिए जगह और वक्त नहीं देखते तो आप आलसी की कैटिगरी में आते हैं। दरअसल, यूनिवर्सिटी ऑफ कैनजस की एक स्टडी में रिसर्चरों ने पाया है कि क्रमिक विकास ‘सर्वाइवल ऑफ द लेजिएस्ट’ यानी आलसियों के अस्तित्व के पक्ष में हो सकता है। शोधकर्ताओं ने...

रोजाना 5 ग्राम से ज्यादा न खाएं नमक

पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पीएचएफआई) द्वारा कराए गए अध्ययन में पाया गया है कि वयस्क भारतीयों में ज्यादा नमक खाने की आदत है, जो डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित मात्रा से ज्यादा है। अध्ययन में पाया गया कि दिल्ली और हरियाणा में नमक का सेवन प्रतिदिन 9.5 ग्राम और आंध्र प्रदेश में प्रतिदिन 10.4 ग्राम था। चिकित्सकों का कहना है कि आहार में नमक ज्यादा लेने से रक्तचाप पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है और समय के...

तपेदिक के उन्मूलन में कोताही क्यों?

डब्ल्यूएचओ ने वैश्विक तपेदिक (टीबी) पर अपनी नवीनतम रिपोर्ट में संकेत दिया है कि कई देश 2030 तक टीबी के उन्मूलन के लिए अभी भी पर्याप्त प्रयास नहीं कर रहे हैं। पिछले वर्ष टीबी से होने वाली मौतों की संख्या में कमी आने के बावजूद, इसका उन्मूलन एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। वैश्विक निकाय ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अभूतपूर्व आंदोलन की वकालत करते हुए लगभग 50 राष्ट्राध्यक्षों से निर्णायक कार्रवाई का आग्रह...

2016 में शराब पीने से गई 30 लाख से ज्यादा लोगों की जान : WHO

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि बहुत अधिक शराब पीने की वजह से साल 2016 में 30 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई है। इसमें  ज्यादातर पुरुष शामिल है। संयुक्त राष्ट्र की इस स्वास्थ्य एजेंसी ने चेतावनी भी दी है। कहा है कि मौजूदा नीतियों पर अमल और उनके नतीजे इस प्रवृति में बड़े बदलाव के लिए नाकाफी हैं। साथ ही, एजेंसी ने अगले 10 साल में शराब की खपत में बढ़ोतरी का...

वजन कम करने के लिए सुबह उठकर करें ये 5 काम

आधुनिक जीवनशैली के चलते कई लोग मोटापे से पीड़ित हैं। वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है। चाहें 5 किलो वजन कम करना हो। कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है। हम आपको 5 ऐसी चीजें बताने जा रहे हैं, जिन्हें सुबह उठकर करने से आप आसानी से वजन कम कर सकेंगे। सोने के बाद रातभर पानी न...

शरीर में अनचाहा दर्द कही कैंसर की वजह तो नहीं…

कैंसर एक ऐसी बिमारी है जिसमें शरीर के किसी एक हिस्से में कोशिकाएं अनियंत्रित तरीके से बढ़ने लगती है। कैंसरग्रस्त कोशिकाएं पूरे शरीर के ऊतकों व अंगों को नुकसान पहुंचाने लगती हैं। कैंसर आजकल बहुत ही कॉमन बीमारी होती जा रही है और इसके लक्षण भी अलग-2 होते हैं। ऐसे में यह जानना बहुत जरूरी है कि हमें किन बातों को ध्यान में रखना जरूरी है। नैशनल हेल्थ सर्विस (इंग्लैंड) के मुताबिक, हर तीन में...

क्या खाना खाते समय पानी पीना सही?

अधिकतर आपने कई लोगों को कहते सुना होगा कि खाने के दौरान पानी पीना सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। कई लोगों का ये भी कहना है कि खाने के साथ पानी पीने से शरीर में टॉक्सिंस जमा हो जाते हैं, जो कई बीमारियों को न्योता दे सकते हैं। अगर आपके मन में भी इस बात को लेकर कोई कंफ्यूजन है, तो आइए जानते है। हेल्थ एक्सपर्ट ने बताया, खाने के दौरान पानी पीने से...

बच्चों को एनर्जी ड्रिंक्स बेचने पर प्रतिबंध लगे : विशेषज्ञ

बच्चों और युवाओं को कैफीनयुक्त एनर्जी ड्रिंक्स बेचने पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत है, ताकि लोगों को मोटापे और मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से बचाया जा सके। विशेषज्ञों का यह कहना है। कैफीन संभवत: दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रयोग किए जाने वाला साइकोएक्टिव ड्रग है, क्योंकि यह ध्यान और जागरूकता में इजाफा कर शारीरिक सक्रियता को बढ़ा देता है। ब्रिटेन के रॉयल कॉलेज ऑफ पेडियाट्रिक्स एंड चाइल्ड हेल्थ (आरसीपीसीएच) के प्रोफेसर रसेल वाइनर का कहना...

टीबी विश्व का खतरनाक संक्रामक रोग बना हुआ है : डब्ल्यूएचओ

जेनेवा। ट्यूबरक्लोसिस(टीबी) आज भी विश्व का खतरनाक संक्रामक रोग बना हुआ है, लेकिन वर्ष 2000 के बाद वैश्विक प्रयासों की वजह से टीबी से हो सकने वाली लगभग 5.4 करोड़ मौतों को टाला जा सका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के मुताबिक, डब्ल्यूएचओ ने अपनी नवीनतम 2018 की वैश्विक टीबी रिपोर्ट में कहा कि विभिन्न देश 2030 तक इसे समाप्त करने के लिए अब भी...

भारतीय युवाओं में तेजी से बढ़ रही है हार्ट अटैक की समस्या

भारतीय युवाओं में हार्ट अटैक की समस्या बढ़ती जा रही है और यदि इस समस्या पर रोक के उपाय नहीं किए गए तो यह महामारी का रूप अख्तियार कर सकती है। यह कहना है हृदय रोग विशेषज्ञ और मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल चिकित्सक डॉ. नित्यानंद त्रिपाठी का। डॉ. त्रिपाठी ने आईएएनएस को जारी एक बयान में कहा है, “भारत में हृदय रोग की महामारी को रोकने का एकमात्र तरीका लोगों को शिक्षित करना है, वरना...

सेरिडॉन समेत तीन दवाओं से हटा बैन

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सेरिडॉन, प्रिट्रान और डार्ट ड्रग्स दवाओं पर लगे बैन को हटा दिया। यह आदेश कोर्ट ने दवा निर्माताओं की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है। इसके साथ ही कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब देने को कहा है। गौरतलब है, ये सभी दवाएं 328 दवाओं की उस लिस्ट में मौजूद हैंं, जिन्हें पिछले दिनों केन्द्र सरकार ने बैन कर दिया था। केन्द्र सरकार...

महिलाओं और बच्चों के खिलाफ ऑनलाइन दुरुपयोग समाज के लिए ‘खतरा’

सोशल मीडिया के व्यापक उपयोग और इस पर निगरानी ढांचे की कमी से आज महिलाओं और बच्चों के खिलाफ ऑनलाइन दुरुपयोग की बढ़ती प्रवृत्ति हमारे समाज के लिए असली खतरा बनती जा रही है। सेंटर फॉर सीएसआर एंड सस्टेनेबिलिटी एक्सेलेंस (सीसीएसई) के चेयरमैन डा. सौमित्रो चक्रवर्ती ने यह बात कही। बच्चों को साइबर धमकी का शिकार होने के संदर्भ में सौमित्रो चक्रवर्ती ने कहा, “बच्चों को ऑनलाइन धमकाया जाता है। कुछ बच्चे अनजाने में खुद...

हृदय रोग 50 और डायबिटीज में 150 फीसदी बढ़ोतरी

देश में साल 1990 से 2016 के बीच हृदय रोग में 50 फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि मधुमेह में 150 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। मधुमेह से पीड़ित भारतीयों की संख्या 1990 में 2.6 करोड़ थी, जो 2016 में 6.5 करोड़ हो गई। फेफड़ों के मरीजों की संख्या इस दौरान 2.8 करोड़ से बढ़कर 5.5 करोड़ हो गई। एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर),...

सरकार ने 328 एफसीडी दवाओं को प्रतिबंधित किया

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने तत्काल प्रभाव से मानव उपयोग के उद्देश्य से 328 एफडीसी (फिक्स्ड डोज कांबिनेशन या निश्चित खुराक संयोजन) के उत्पादन, बिक्री अथवा वितरण पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा मंत्रालय ने कुछ शर्तो के साथ छह एफडीसी के उत्पादन, बिक्री अथवा वितरण को भी प्रतिबंधित कर दिया है। इससे पहले केंद्र सरकार ने 2016 के मार्च में औषधि और प्रसाधन सामग्री अधिनियम, 1940 की धारा 26ए के तहत मानव...

कहीं इन वजहों से तो नहीं होता आपके सिर में दर्द….

अपने भाग-दौड़ भरे जीवन में लोग इतने ज्यादा उलझ गए हैं कि खुद भी ध्यान देने का वक्त नहीं है। इसी करण अक्सर कई लोगों को सिरदर्द की शिकायत होने लगती है। सिर दर्द कई प्रकार के होते हैं। हर किसी के सिर में दर्द भी अलग-अलग तरह से होता है। आइए हम जानते है कि सिर दर्द क्यों होता है… माइग्रेन- सिर में बार-2 हल्का और तेज दर्द होना माइग्रेन के लक्षण हो सकते...

देश में 34 फीसद लोग नहीं करते पर्याप्त व्यायाम

देश में लगभग 34 प्रतिशत लोग (24.7 प्रतिशत पुरुष और 43.9 प्रतिशत महिलाएं) स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त व्यायाम नहीं करते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की हाल में आई एक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, वैश्विक स्तर पर 1.4 अरब से अधिक वयस्कों को पर्याप्त शारीरिक गतिविधि न करने से बीमारियों का खतरा है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2001 से शारीरिक गतिविधि के वैश्विक स्तर में...

टीबी से महिलाओं और पुरुषों में बांझपन का खतरा

तपेदिक, क्षय रोग के नाम से जाने जानी वाली बीमारी ट्यूबरकुल बेसिलाइ (टीबी) को दुनिया भर में बीमारी से होने वाली मौतों के 10 प्रमुख कारणों में से एक माना जाता है। यह घातक बीमारी लोगों के शरीरों के दूसरे भागों में फैलकर उन्हें संक्रमित कर सकती है, जिससे महिलाओं और पुरुषों दोनों में बांझपन का खतरा हो सकता है। इंदिरा आईवीएफ हॉस्पिटल कि आईवीएफ एक्सपर्ट डॉ. निताशा गुप्ता ने इस घातक बीमारी के बारे...

गर्भावस्था के दौरान सही आहार जरूरी

गर्भावस्था ऐसा समय है जब मां को अच्छे पोषण की जरूरत होती है। इस दौरान सही पोषण बच्चे के विकास और मां के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए जरूरी है। माताओं को ध्यान रखना चाहिए कि उनके पोषण में विटामिन और मिनरल्स की कमी न हो। गर्भावस्था के दौरान सही डायट चार्ट बनाना और उसका पालन करना जरूरी है। गर्भवती माताओं के लिए अपने पोषण की जरूरतों का खास ध्यान रखने में मदद करने...

ज्यादा उम्र में हार्ट ट्रांसप्लांट संभव नहीं तो ‘हार्टमैट-3’ विकल्प

नई दिल्ली, गंभीर हृदय रोगों के मरीज, जिन्हें हार्ट ट्रांसप्लांट की जरूरत होती है, लेकिन अधिक उम्र होने के कारण इस प्रक्रिया में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। उनके लिए ‘हार्टमैट-3’ थेरेपी एक वरदान साबित हुआ है। हार्टमैट-3 का प्रयोग दुनियाभर के 26 हजार से ज्यादा रोगियों पर किया गया, जिसमें से 14 हजार रोगी अपना जीवन सकुशल जी रहे हैं। मैक्स अस्पताल के हार्ट ट्रांसप्लांट और एलवीएडी प्रोग्राम विभाग के निदेशक डॉ. केवल...

पीसीओएस के लक्षणों से अनजान हैं 50 प्रतिशत महिलाएं

नई दिल्ली में स्थित एम्स के मुताबिक, चार में से एक महिला ‘पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम’ (पीसीओएस) नामक अंत:स्रावी तंत्र विकार से पीड़ित हैं। बेहद आम बीमारी होने के बावजूद इसके बारे में जागरूकता की कमी होने के कारण यह खतरनाक हो जाती है। 50 प्रतिशत से अधिक महिलाएं इस बात से अनजान हैं कि वे इस विकार से पीड़ित हैं। सितंबर के ‘विश्व पीसीओएस जागरूकता माह’ होने पर डॉ. बत्रा मल्टी-स्पेशिएलिटी होम्योपैथी का उद्देश्य इसके...

भारतीयों के खान-पान में अनिवार्य विटामिनों की बड़ी अनदेखी

भारतीयों के खान-पान में अनिवार्य विटामिनों की बड़ी अनदेखी देखी गई है। विटामिन ए, सी, बी 12 और फोलिक एसीड में प्रतिशत कमी के हिसाब से सबसे खराब स्थिति उत्तर भारत की है जबकि विटामिन बी 1 की सबसे अधिक कमी दक्षिण भारत में देखी गई। विटामिन बी 2 की सबसे अधिक कमी पश्चिम क्षेत्र के मरीजों में दर्ज की गई। डॉयग्नॉस्टिक चेन एसआरएल डॉयग्नास्टिक्स के साढ़े तीन सालों में 9.5 लाख से अधिक सैम्पल...

देश में 3 लाख से अधिक किडनी रोगी…

गुर्दा (किडनी) रोग विशेषज्ञ और गुर्दा प्रत्यारोपण फिजीशियन राका कौशल ने यहां कहा कि देशभर में तीन लाख से ज्यादा लोग किडनी से संबंधित बीमारियों सें पीड़ित हैं और इसके बावजूद मात्र 10,000 प्रत्यारोपण हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि किडनी प्रत्यारोपण में सबसे बड़ी समस्या मरीज के परिवार में स्वस्थ और उपयुक्त किडनी दाता की उपलब्धता को लेकर है। किडनी विफलता के लगभग 30-40 फीसदी मरीजों का किडनी प्रत्यारोपण सिर्फ इसलिए नहीं हो पाता...

शुरुआती जीवन में उच्च BMI से दमा का खतरा ज्यादा

शुरुआती तीन सालों में बच्चे के विकास से उसके फेफड़ों के विकास पर असर करता है और 10 साल की आयु में दमा का खतरा बढ़ जाता है। एक शोध में पता चला है। हालिया शोध के मुताबिक, जीवन के शुरुआती वर्षो में अत्यधिक वजन बढ़ने से शिशुओं को लोवर लंग फंक्शन और बचपन के अस्थमा के खतरे को बढ़ सकता है। नीदरलैंड के एरास्मस विश्वविद्यालय में हुए नए अध्ययन में खुलासा हुआ है कि...

जहरीले धातु 30 फीसदी बढ़ा देते हैं हृदयरोग का खतरा

पर्यावरण में मौजूद आर्सेनिक, सीसा, तांबा और कैडमियम जैसी जहरीली धातुओं के संपर्क में आने से कार्डियोवैस्कुलर बीमारी और कोरोनरी हृदय रोग होने का जोखिम बढ़ सकता है। आर्सेनिक के संपर्क में आने से कोरोनरी हृदय रोग होने का 23 प्रतिशत जोखिम बढ़ता है तो वहीं कार्डियोवैस्कुलर बीमारी के खतरे में 30 फीसदी का इजाफा होता है। एक नए शोध में यह खुलासा हुआ है। शोध के मुताबिक, अनुमान है कि जल्द ही दुनिया में...

स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूकता जरूरी

भारत में बीते एक दशक में स्तन कैंसर के मामले कई गुना बढ़ गए हैं। स्तन कैंसर पश्चिमी देशों की तुलना में भारतीय महिलाओं को कम उम्र में भी शिकार बना रहा है। भारतीय औरतों में स्तन कैंसर होने की औसत उम्र लगभग 47 साल है, जो कि पश्चिमी देशों के मुकाबले 10 साल कम है। सही जानकारी, जागरुकता, थोड़ी सी सावधानी और समय पर इसके लक्षणों की पहचान और इलाज से इस समस्या को...

कमजोर मांसपेशी, समय से पहले मौत को बुलावा

कमजोर मांसपेशियों वाले व्यक्ति आमतौर पर अपने मजबूत समकक्षों के मुकाबले ज्यादा दिन तक जीवित नहीं रहते और उनके 50 फीसदी पहले मरने का अंदेशा रहता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, मांसपेशी की मजबूती, उसके द्रव्यमान (मास) की तुलना में समग्र स्वास्थ्य की भविष्याणी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसके अलावा हाथ की पकड़ की मजबूती का संबंध गतिशीलता की सीमा के विपरीत है। हालांकि, साधारण व किफायती परीक्षण होने के बावजूद हाथ की पकड़ की...

अनियमित दिल की धड़कन को पहचानेगा स्मार्टफोन एप

वैज्ञानिकों ने एक स्मार्टफोन एप्लीकेशन विकसित किया है, जो एट्रियल फाइब्रिलेशन की जांच करने में मदद कर सकता है। एट्रियल फाइब्रिलेशन दिल की धड़कन का सबसे आम विकार है। इस विकार की वजह से दिल की धड़कन अनियमित हो जाती है और अक्सर बढ़ जाती है, जिससे आम तौर पर रक्त प्रवाह कम हो जाता है। सभी तरह के स्ट्रोक के होने के पीछे 20-30 फीसदी यही वजह होती है। यह समय पूर्व मौत का...

रीढ़ की सर्जरी में अब नहीं होगा उम्र की सीमा का बंधन…

सर्जरी की तकनीक में विकास के कारण रीढ़ की सर्जरी अब किसी भी उम्र में हो सकती है। दिल्ली के आर्थोपेडिक सर्जनों ने 89 साल की महिला की रीढ़ की सफल सर्जरी को अंजाम दिया है। राष्ट्रीय राजधानी स्थित इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल मे पिछले दिनों नेपाल के इटाहरी की 89 साल की महिला की रीढ़ की सफल सर्जरी की गई। उस महिला ने इसी अस्पताल में दस साल पहले दोनों घुटनों को बदलवाने का ऑपरेशन...

रोज के सिरदर्द को न करें नजरअंदाज, हो सकता है माइग्रेन

माइग्रेन सामान्य तौर पर होने वाला एक विशिष्ट प्रकार का सिरदर्द है। माइग्रेन ग्रस्त लोगों को नियमित तौर पर सिरदर्द के दौरे पड़ते हैं। अक्सर यह दर्द कान व आंख के पीछे अथवा कनपटी में होता है। वैसे यह दर्द सिर के किसी भी भाग में हो सकता है। इससे कुछ लोगों के देखने की क्षमता भी कम हो जाती है। सर गंगाराम अस्पताल के न्यूरो एंड स्पाइन विभाग के निदेशक, डॉ. सतनाम सिंह छाबड़ा...

सबसे बेहतर कैंसर बीमा प्लान कैसे चुनें

लोकप्रिय अमेरिकी लेखिका सूजन सोंटेग ने एक बार कहा था, “कैंसर ऐसा रोग है, जो आने से पहले कोई संकेत नहीं देता।” और इसमें कोई शक नहीं है कि वास्तव में कैंसर इसी तरह आता है। दुर्भाग्य से कैंसर एक ऐसी बीमारी है कि जो न सिर्फ किसी व्यक्ति के जीवन को प्रभावित करती है, बल्कि उसके पूरे परिवार को वित्तीय रूप से प्रभावित करती है। डब्ल्यूएचओ (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के मुताबिकभारत में कैंसर की...

बुजुर्गों में आम है आंख की ये बीमारी…

बुजुर्ग लोगों में शारीरिक क्षमता कम होने के साथ उम्र से जुड़े कई रोग भी घेर लेते हैं। इसमें सबसे गंभीर आंखों की बीमारियां है क्योंकि रेटिना की बीमारियों, जैसे उम्र से जुड़ी मैक्यूलर डिजनरेशन (एएमडी) का समय पर इलाज न कराने से बुजुर्गों को अंधापन भी हो सकता है। अंतर्राष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक दिवस के अवसर पर लोगों को यह बताना महत्वपूर्ण है कि एएमडी ग्रस्त रोगियों में डिप्रेशन का स्तर सामान्य बुजुर्गों और अन्य...

चश्मा पहनते ही जान सकेंगे अपना ब्लड प्रेशर!

माइक्रोसॉफ्ट अपने स्मार्ट ग्लासेज (चश्मा) की अगली पीढ़ी विकसित करने में जुटी है, जो रक्तचाप नापने के डिवाइस के रूप में काम करेगी। इसे ग्लाबेला नाम दिया गया है। इसे रक्तचाप को नापने वाले किसी अन्य डिवाइस की तुलना में पहनना और इस्तेमाल करना काफी आसान होगा। इस डिवाइस में ऐसे ऑप्टिकल सेंसर्स लगे हैं, जो यूजर्स से किसी प्रकार के इंटरैक्सन के बिना काम करता है। दऱअसल रक्तचाप की गणना के लिए बाजू में...

लंबी आयु चाहते हैं तो कम खाएं कार्बोहाइड्रेट

अगर आप लंबी आयु चाहते हैं तो अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सीमित कर दीजिए, क्योंकि भोजन में जरूरत से कम या ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा लेने वालों को मौत का खतरा बना रहता है। यह बात हालिया एक शोध में सामने आई है। शोध में पाया गया है कि कार्बोहाइड्रेट में 40 फीसदी से कम या 70 फीसदी से ज्यादा ऊर्जा के सेवन से मौत का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन कार्बोहाइड्रेट के...

मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है प्राकृतिक ‘न्यूरोक्लब’

एस्ट्रॉग्लिया फार्मा ने न्यूरोक्लब लॉन्च करने की घोषणा की। कम कीमत पर उपलब्ध प्राकृतिक तत्वों से तैयार ये गोलियां ध्यान केंद्रित नहीं कर पाने, स्मरण क्षमता कमजोर होने जैसी समस्याएं दूर कर मानसिक स्वास्थ्य में सुधार करेगी। एस्ट्रॉग्लिया फार्मा प्राइवेट लिमिटेड के न्यूरोक्लब के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी फिलिप मट्र्ज ने कहा कि न्यूरोक्लब किस प्रकार विद्यार्थियों और कॉपोर्रेट के कार्य प्रदर्शन में सुधार लाएगा। लोग मानिसक कार्य अधिक सक्षमता से करेंगे और ज्यादा...

गुर्दा रोग के उपचार में उचित आहार और हर्बल फार्मूले कारगर

गुर्दे से जुड़ी बीमारियों में जहां संतुलित आहार जरूरी है, वहीं आयुर्वेद के कई फार्मूले भी कारगर पाए गए हैं। इसलिए ‘नेशनल किडनी फाउंडेशन एंड द एकेडमी ऑफ न्यूट्रीशियन डाइटिक्स’ ने गुर्दे के मरीजों के लिए ‘मेडिकल न्यूट्रीशियन थैरेपी’ की सिफारिश की है। फाउंडेशन का कहना है कि यदि गुर्दा रोगियों को हर्बल पदार्थो से परिपूर्ण और बेहतर आहार मिले तो बीमारी को नियंत्रित किया जा सकता है। सर गंगाराम अस्पताल के नेफ्रोलॉजिस्ट मनीष मलिक...

धूम्रपान करने वालों के बच्चों में इन जानलेवा बीमारियों का खतरा…

क्या आप लगातार धूम्रपान करते हैं? अगर हां, तो आप अपनी जिंदगी को खतरे में डालने के साथ-साथ अपने बच्चों के लिए भी खतरा पैदा कर रहे हैं। शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि इससे वयस्कों में क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज के कारण मृत्यु का जोखिम बढ़ सकता है। अध्ययन में पाया गया कि जो लोग अपने बचपन से एक नियमित धूम्रपान करने वाले शख्स के साथ रह रहे, उनमें 31 फीसदी को क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव...

गोभी और ब्रोकली खाने से नहीं होगा आंतों का कैंसर…

गोभी या ब्रोकली जैसी हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से आंत स्वस्थ रहते हैं और आंतों के कैंसर से बचाव होता है। एक नए अध्ययन में यह जानकारी दी गई है। चूहों पर किए गए अध्ययन से पता चला कि जिन्हें इन्डोल 3 कार्बिनोल (आई3सी) युक्त आहार दिया गया, उनमें आंत में सूजन या आंतों के कैंसर से बचाव हुआ। गोभी और ब्रोकली में भी आई3सी पाया जाता है, जो एक एक्रियल हाइडोकार्बन रिसेप्टर (एएचआर) नाम...

डिजिटल डिवाइसों की नीली रोशनी से अंधेपन का खतरा

वाशिंगटन| डिजिटल डिवाइसों से निकलनेवाली नीली रोशनी अंधेपन का कारण बन सकती है। शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष दिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की सोमवार की रिपोर्ट में बताया गया कि अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ टोलेडो में किए गए एक शोध के मुताबिक, लगातार नीला प्रकाश देखने से आंखों की प्रकाश के लिए संवेदनशील कोशिकाएं में जहरीले अणु उत्पन्न हो सकते हैं, जो धब्बेदार अपघटन का कारण बन सकता है। यह अमेरिका में अंधापन के प्रमुख कारणों...

कैंसर के बारे में जागरूकता फैलाएगी अनूठी पहल ‘तरंग’

देश में कैंसर पीड़ित माताओं और बच्चों की संख्या बढ़ने के मद्देनजर पूर्वी दिल्ली के पटपड़गंज स्थित मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ने ‘तरंग’ नाम की एक अनूठी पहल की शुरुआत की। तरंग’ में छोटे बच्चों के साथ उनके माता-पिता, शिक्षकों और साथ ही शहर के प्रमुख डॉक्टरों ने भी भाग लिया। कार्यक्रम में ड्राइंग, फैशन शो, ग्रुप डांस जैसी प्रतियोगिताओं में विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल आईपी एक्सटेंशन, सेंट एंड्रयूज स्कॉट सीनियर सेकेंडरी स्कूल, हिलवुड अकादमी और...

प्रजनन क्षमता उपचार से बच्चों में ऑटिज्म का खतरा

अगर आप प्रजनन क्षमता के उपचार की योजना बना रहे हैं तो सर्तक हो जाइए, क्योंकि इससे आपके बच्चे में ऑटिज्म का जोखिम बढ़ सकता है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि प्रोजेस्टेरॉन हार्मोन उपचार के मामले में प्रजनन क्षमता का उपचार वाले लोगों में ऑटिज्म वाले बच्चे की संभावना इस उपचार को नहीं लेने वालों की तुलना में डेढ़ गुना ज्यादा है। रिपोर्ट के मुताबिक, प्रोजेस्टेरोन एक भ्रूण स्टेरॉयड हॉर्मोन है, जिसकी दिमाग के विकास...

घुटने के दर्द को नहीं समझें मामूली

घुटनों के दर्द को मामूली दर्द समझकर युवा नजरअंदाज कर देते हैं तो वहीं बुजुर्ग इसे उम्र का तकाजा मानकर शांत बैठ जाते हैं। घुटनों का यह दर्द ओस्टियोआर्थराइटिस यानी गठिया भी हो सकता है और आंकड़ों के अनुसार अगर घुटने के दर्द के मामलों की यही स्थिति रही तो साल 2025 तक भारत में छह करोड़ से भी ज्यादा लोगों के इस बीमारी से प्रभावित होने का पूवार्नुमान है। आर्थराइटिस की समस्या तब शुरू...

kiki के बाद वायरल हुआ ये खतरनाक चैलेंज

किकी चैलेंज के बाद अब एक ओर खतरनाक चैलेंज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस चैलेंज का नाम ‘ड्रैगन ब्रीथ’ है। ड्रैगन ब्रीथ चैलेंज में लिक्विड नाइट्रोजन में डूबी हुई कैंडी मुंह के अंदर रखी जाती है। इसे मुंह के अंदर रखते ही मुंह और नाक से ड्रैगन की तरह धुंआ निकलने लगता है। कई लोग सोशल मीडिया पर एक दूसरे को यह चैलेंज दे रहे हैं और लिक्विड नाइट्रोजन में डिप कैंडी...

डबल चिन से पाना है छुटकारा तो अपनाएं ये पांच टिप्स…

डबल चिन की समस्या माहिलाओं में ज्यादातर देखने को मिलाती है। डबल चिन सबमेंटल फैट के नाम से जाना जाता है। इसमें ठोड़ी के नीचे फैट की एक परत जमा हो जाती है। ये समस्या मोटपे से ग्रस्त लोगों में आम तौर पर देखी जाती है। इसके अलावा आनुवंशिक करणों से भी डबल चिन की समस्या होती है।अनियमित दिनचर्या गलत शारिरिक मुद्राएं तथा गले की कमजोर मांसपेशी भी डबल चिन होना एक बड़ी वजह है।...

क्या अभिनय बढ़ाता है स्मरण शक्ति?

जब आप कोई महत्वपूर्ण काम भूल जाते हैं या घर की चाभी कहीं छोड़ आते हैं तो आपको खुद पर गुस्सा आता होगा। अगर ऐसा है तो जिस काम को आप याद करना चाहते हैं, उसका अभिनय करें या ऐसा करें जैसे आप वास्तव में वह काम कर रहे हैं। इससे आपको वह काम याद रखने में मदद मिलेगी। यह नुस्खा हाल ही में हुए एक शोध के बाद ईजाद हुआ है। शोध के निष्कर्ष...

अपनी गलतियों को कम महसूस कर पाते हैं बुजुर्ग

लोग जैसे-जैसे उम्रदराज होते जाते हैं, उनमें अपनी गलतियों को महसूस करने और इन्हें स्वीकार करने की क्षमता कम होती जाती है। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है जो वृद्धों द्वारा लिए जाने वाले फैसलों और उनके कार्यो को समझने में मदद करता है। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ इओवा के सहायक अध्यापक जैन वेसल ने कहा, “अपनी गलतियों को कम समझने के परिणाम गंभीर हो सकते हैं क्योंकि आप ऐसी गलती को...

वायु प्रदूषण से हो सकता है दिल को खतरा…

एक नए शोध में पाया गया है कम स्तर के वायु प्रदूषण में रहने वालों के दिल की बनावट में बदलाव हो सकता है, जो हार्ट फेल्योर की शुरुआती अवस्था जैसा दिखाई देता है। शोध में पाया गया है कि प्रति घन मीटर पीएम 2.5 पर प्रत्येक अतिरिक्त माइक्रोग्राम के लिए और नाइट्रोजन डाईऑक्साइड (एनओटू) के प्रति घनमीटर पर 10 अतिरिक्त माइक्रोग्राम पर दिल करीब एक फीसदी बढ़ता है। इस शोध को ब्रिटिश पत्रिका सर्कुलेशन...

मां का दूध बढ़ाता है शिशु में प्रतिरक्षा क्षमता

पहली बार मां बनने वाली महिलाओं को अपने शिशु को स्तनपान कराने में अपूर्व सुखद अनुभूति होती है और यह शिशु के लिए भी एक अनमोल उपहार है। मां का दूध शिशु में प्रतिरक्षा क्षमता, यानी रोगों से लड़ने की ताकत बढ़ाता है। महिलाओं को शिशु को स्तनपान कराने के सही तरीके और यह अच्छी तरह पता होना चाहिए कि बच्चे को कैसे, कब और कितना स्तनपान कराना है। मिथकों के अलावा आधुनिक जीवनशैली की...

भारत में स्तन कैंसर के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच एक नए अध्ययन ने स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं के बीच नई उम्मीद जगाई है। स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं को देश में अब तक कीमोथेरेपी देने की सिफारिश की जाती थी लेकिन हाल ही में इजाद की गई हार्मोनल थेरेपी में दी जाने वाली एक गोली ‘कैमॉक्सगन’ स्तन कैंसर को जड़ से खत्म कर सकती है। दिल्ली स्थित इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल के सर्जीकल...

कैंसर रहित ट्यूमर का इलाज नहीं कराने से हो सकते हैं गंभीर परिणाम

नॉन-कैंसर ट्यूमर या नॉन-मेलिग्नेंट ट्यूमर कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि हैं जो न तो आस-पास के ऊतकों में बढ़ती हैं और न ही फैलती हैं। इलाज से आमतौर पर इसके रोगी के ठीक होने की पूरी संभावना होती है लेकिन ऐसे ट्यूमर का इलाज न कराने पर यह गंभीर नतीजे का कारण बन सकता है। आर्टेमिस अस्पताल के एग्रिम इंस्टीट्यूट फॉर न्यूरो साइंसेज के न्यूरोसर्जरी एंड साइबरनाइफ सेंटर के निदेशक डॉ. आदित्य गुप्ता ने कहा, कैंसर...

सावधान! पेट पर अधिक फैट हो सकता है खतरनाक…

आज के समय में ज्यादातर लोगों को बढ़े हुए पेट को लेकर शिकायत रहती है। अनावश्यक चर्बी जब हमारी कमर के चारों ओर जम जाती है तो बेली फैट की स्थिति हो जाती है। इस अनावश्यक फैट की वजह से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होने लगती है।कई स्टडी में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि अनावश्यक फैट के कारण कई गंभीर बीमारियां व्यक्ति को अपनी ग्रस्त में ले लेती हैं। आइए जानते...

मां बनते ही 50% महिलाएं छोड़ देती हैं नौकरी

देश में 50 फीसदी कामकाजी महिलाओं को महज 30 साल की उम्र में अपने बच्चों की देखभाल करने के लिए नौकरी छोड़नी पड़ती है। अशोका यूनिवर्सटी के जेनपैक्ट सेंटर फॉर वूमेंस लीडरशिप (जीसीडब्ल्यूएल) द्वारा ‘प्रिडिकामेंट ऑफ रिटर्निग मदर्स’ नाम से जारी एक रिपोर्ट में बताया गया है कि मां बनने के बाद महज 27 फीसदी महिलाएं ही अपने कॅरियर को आगे बढ़ा पाती हैं। यह रिपोर्ट कामकाजी महिलाओं की चुनौतियों पर करवाए गए एक अध्ययन...

धूम्रपान का पड़ सकता है स्तनपान पर असर

शिशु को स्तनपान कराने वाली मांएं जो अपने घर में धूम्रपान के संपर्क में आती हैं, वे धूम्रपान के संपर्क में नहीं आने वाली मांओं की तुलना में उनके स्तनपान की अवधि पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। यह बात एक शोध में सामने आई। शोध के निष्कर्ष का प्रकाशन पत्रिका ‘ब्रेस्टफीडिंग मेडिसीन’ में किया गया है। इसमें स्तनपान कराने वाली माताओं पर घरेलू धूम्रपानकर्ताओं के संपर्क में आने पर नकारात्मक असर पड़ने की बात...

मलेरिया बुखार से बचाता है प्लेटलेट

रक्त में पाए जाने वाला प्लेटलेट मानव शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने में सहायक होता है और मलेरिया बुखार से बचाता है। एक अध्ययन के अनुसार, प्लेटलेट से रक्त में संचरित 60 फीसदी मलेरिया परजीवी नष्ट हो जाते हैं। अध्ययन में पाया गया कि मलेरिया से पीड़ित मरीजों के रक्त में स्थित प्लेटलेट में मलेरिजा के परजीवी को नष्ट करने की क्षमता होती है। मलेरिया के प्रमुख परजीवी प्लाज्मोडियम फालसिपैरम, पी. मलेरिये और पी. क्नोलेसी...

भूखे होने पर क्यों आता है गुस्सा…

वाशिंगटन के वैज्ञानिकों ने इस बात का पता लगा लिया है कि हमें भूख लगने के साथ गुस्सा क्यों आने लगता है। वैज्ञानिकों ने पाया है कि ऐसा जीव विज्ञान की परस्पर क्रिया, व्यक्तित्व और आसपास के माहौल की वजह से होता है। अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ केरोलाइना की एक डॉक्टरल छात्रा जेनीफर मैकोर्माक ने बताया, “हम सभी जानते हैं कि भूखा महसूस करने से कभी-कभी हमारी भावनाएं और दुनिया को लेकर हमारे विचार...

त्वचा कैंसर सूरज की धूप में रहे बिना भी संभव

हाल के एक शोध के मुताबिक, सनलैस टैनिंग या फेक टैनिंग उत्पाद जैसे स्प्रे, मल्हम, क्रीम, फोम या लोशन जो स्किन कैंसर के खतरे के बिना टैन स्किन का वादा करते हैं, वास्तव में कैंसर को रोकने में मदद नहीं करते हैं। जिन वयस्कों ने सनलैस टैनिंग उत्पादों का उपयोग किया था, उनकी इनडोर टैनिंग बैड्स उपयोग करने की अधिक संभावना रहती है और ऐसे लोगों ने बाहर निकलते समय न तो सुरक्षात्मक कपड़े पहने...

पादप आधारित आहार दिल के लिए लाभकारी

एक नए अध्ययन से पता चला है कि बादाम, सोया, दाल, फलियां सहित पादप आधारित भोजन और पादप स्टेरोल्स की थोड़ी मात्रा लेने से रक्तचाप, ट्राइग्लिसराइड्स और सूजन(इनफलेमेशन) समेत हृदयरोग संबंधी बीमारी के कई जोखिम कम हो सकते हैं। अध्ययनकर्ताओं के अनुसार, पादप आधारित आहार पैटर्न को पोर्टफोलियो डाइट के रूप में जाना जाता है और यह 2,000 कैलोरी आहार पर आधारित होता है। पादप आधारित भोजन को कम संतृप्त वसा वाले आहार के साथ...

देश में कैंसर मामलों में 10% ऑरोफेरेंजियल कैंसर

भारत में ऑरोफेरिंजियल कैंसर सिर और गर्दन के सभी कैंसर मामलों का लगभग 10 प्रतिशत है। हाल ही में जारी आंकड़ों से इस बात का खुलासा है। आंकड़ों के मुताबिक, तंबाकू आज भी देश में ऑरोफेरिंजियल कैंसर का प्रमुख कारण बना हुआ है। हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, “दुनिया भर में सिर और गर्दन के कैंसर के 5,50,000 से अधिक मामले हर साल सामने आते हैं। सिगरेट अधिक पीने...

बच्चों के लिए लाभदायक हैं ईको फ्रेंडली वाइप्स

वाइप्स से होने वाली दिक्कत सिर्फ बच्चों को ही नहीं बल्कि पर्यावरण के लिए भी एक खतरा है। प्लास्टिक के बने ये वाइप्स बायो-डिग्रेडेबल नहीं होते और उन्हें पूरी तरह नष्ट होने में लगभग 500 साल लग जाते हैं। वही ईको-फ्रेंडली वाइप्स पौधों के फाइबर से बने होते हैं और ये बहुत ही मुलायम होते हैं तथा पर्यावरण को हानि नहीं पहुंचाते। अगर यूरोपीय देशों की बात करें तो वहां प्लास्टिक वाइप्स को बैन करने...

हेपेटाइटिस से पुरुषों में बांझपन का खतरा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों में खुलासा हुआ है कि दुनिया भर में लगभग 36 करोड़ लोग हेपेटाइटिस बी या सी से पीड़ित हैं। हेपेटाइटिस लीवर में सूजन का कारण बनता है, और यह सिरोसिस जैसे गंभीर विकार की वजह भी बन सकता है। इसके अलावा हेपेटाइटिस से पुरुषों में बांझपन का भी खतरा पैदा हो सकता है। डब्लूएचओ की रिपोर्ट से पता चला है कि हेपेटाइटिस बी वायरस वाले...

मां बनने की योजना बना रही हैं तो ये खबर आपके लिए है

महिलाओं के गर्भधारण को प्रभावित करने वाले कई कारणों में वजन भी एक महत्वपूर्ण कारण है। स्वास्थ्य, उम्र, बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और वजन के सही तालमेल से ही गर्भधारण सफल होता है। इंदिरा आईवीएफ हास्पिटल की आईवीएफ विशेषज्ञ डॉ. आरिफा आदिल ने कहा, “गर्भधारण के समय वजन का काफी महत्व होता है। वजन की बात करते ही लोगों के दिमाग में सिर्फ मोटापे का ख्याल आता है। मोटापा तो कई समस्याओं कारण है लेकिन...

कचरा बीननेवालों को प्रशिक्षण

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली की मदद से एक संस्थान ने रैग-पिकर (कचरा बीनने वाला) को प्रशिक्षण देने की एक विशेष पहल शुरू की है, जिसके तहत उन्हें कचरा बीनने में मिलने वाली वस्तुओं की बेहतर कीमत मिलेगी। आईआईटी-दिल्ली के मौलिक विचार की उपज इंडियन पलूशन कंट्रोल एसोसिएशन (आईपीसीए) ने बयान में कहा कि उत्तर भारत में मुख्य रूप से दिल्ली, नोएडा और गुड़गांव के 2,000 रैग-पिकर को अब कचरा प्रबंधन परियोजना में शामिल किया गया...

सीलन भरे घर से सांस के रोगों का ख़तरा

घर में मौजूद दीवारो की सीलन को आमतौर पर हम गम्भीरता से नहीं लेते लेकिन यह जानने के बाद घर में किसी भी रूप में मौजूद सीलन श्वास सम्बंधी गम्भीर रोगों को जन्म दे सकती है, कोई भी अपने घर में पानी के रिसाव और उससे होने वाली सीलन को कभी पनपने नहीं देना चाहेगा। घर चाहें नया हो या पुराना, उसे सीलन से बचाना जरूरी है और इसके लिए वाटरप्रूफिंग कराना अनिवार्य होता है।...

‘बॉॅडी बिल्डिंग के लिए पैशन और पेशेंस दोनों चाहिए’

युवाओं की फिटनेस के प्रति बढ़ती दीवानगी के बीच दिल्ली के प्रगति मैदान में तीन दिवसीय हेल्थ और फिटनेस मेले का समापन हो गया। मेले के आखिरी दिन बॉडी-बिल्डिंग से जुड़े लोगों और इसके चाहने वालों का जमावड़ा लगा। इसके साथ ही दिल्ली-एनसीआर से भारी तादाद में युवाओं की भीड़ उमड़ी। मेले में ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार, मिस वर्ल्‍ड फिटनेस श्वेता राठौर, जर्मनी के चर्चित बाॅडी-बिल्डर डेविड हॉफमैन समेत फिटनेस जगत की कई दिग्गज...

मानसून के दौरान लेप्टोस्पायरोसिस फैलने का खतरा

मुंबई में चूहों के जरिये फैलने वाले रोग लेप्टोस्पायरोसिस से चार लोगों की मौत हो जाने के बाद कीट नियंत्रण विभाग ने चूहों के 17 बिलों में कीटनाशक दवा का छिड़काव किया है ताकि रोग को फैलने से बचाया जा सके। लेप्टोस्पायरोसिस एक जीवाणु रोग है, जो मनुष्यों और जानवरों को प्रभावित करता है। यह लेप्टोस्पिरा जीनस के बैक्टीरिया के कारण होता है। यह संक्रमित जानवरों के मूत्र के जरिये फैलता है, जो पानी या...

बेहद चिन्ताजनक है एंटीबायोटिक्स का बेअसर होते जाना

भारत सहित कई देशों में एंटीबायोटिक दवाओं की आपूर्ति बढ़ने से वैश्विक स्तर पर एंटीबायोटिक का असर बुरी तरह बेअसर होता जा रहा है। ऐसा एक शोध में सामने आया है, जिसमें कानून को बेहतर तरीके से तत्काल लागू करने की जरूरत बताई गई है। शोध में पाया गया है कि 2000 व 2010 के बीच एंटीबायोटिक्स का उपभोग वैश्विक रूप से बढ़ा है और यह 50 अरब से 70 अरब मानक इकाई हो गया...

महिलाओं में गुर्दा संबंधी रोगों का खतरा पुरुषों से 5 फीसदी ज्यादा

किडनी (गुर्दा) से संबंधित रोग, पूरे विश्व में स्वास्थ्य चिंता का विषय हैं, जिसका गंभीर परिणाम किडनी फेलियर और समयपूर्व मृत्यु के रूप में सामने आता है। वर्तमान में किडनी रोग महिलाओं में मृत्यु का आठवां सबसे प्रमुख कारण है। महिलाओं में क्रॉनिक किडनी डिसीज (सीकेडी) विकसित होने की आशंका पुरुषों से 5 फीसदी ज्यादा होती है। गुरुग्राम स्थित नारायणा सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के नेफ्रोजिस्ट डॉ. सुदीप सिंह सचदेव कहते हैं कि सीकेडी को बांझपन...

सनस्क्रीन त्वचा कैंसर का खतरा 40 फीसदी घटाने में सक्षम

सूरज की हानिकारक किरणों से त्वचा को बचाने या फिर अपनी रंगत बरकरार रखने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाला सनस्क्रीन त्वचा कैंसर के खतरे को 40 फीसदी तक घटा सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, वैश्विक स्तर पर प्रत्येक वर्ष में नॉन-मेलेनोमा त्वचा कैंसर के 20 से 30 मामले और मेलेनोमा त्वचा कैंसर के 1,32,000 मामले सामने आते हैं। मेलेनोमा के मामले बढ़ते जा रहे हैं। हालांकि मेलानोमा का विकास का मुख्य...

देर रात तक जागने वालों के सिर पर मौत का खतरा मंडरा रहा है…

जब से स्मार्टफोन और 4जी इंटरनेट आया है तब से बच्चें से लेकर बड़े तक इसके इस्तेमाल के आदी हो गए है। देर रात तक सोना और सुबह देर तक उठने की वजह से लोग अपने जीवन को खतरे में डाल रहे हैं। इतना ही नही वो कई शारीरिक समस्याओं से घिरते जा रहे हैं। ताजातरीन अध्यनय की माने तो देर रात तक जगने वाले ऐसे लोग अपनी मौत को न्यौता भेज रहे हैं। नतीजे...

‘विश्व में 2017 में दो करोड़ बच्चे पूर्ण टीकाकरण के लाभ से वंचित रहे’

संयुक्त राष्ट्र के ताजा आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2017 में लगभग दो करोड़ बच्चे पूर्ण टीकाकरण के लाभ से वंचित थे। इनमें से 80 लाख (40 प्रतिशत) नाजुक हालत में रहते हैं, जिनमें संघर्ष से प्रभावित देश शामिल हैं। हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल ने कहा, “मिशन इंद्रधनुष के तहत सात बीमारियों के खिलाफ बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्य है। यह बीमारियां हैं डिप्थीरिया, पर्टुसिस, टिटनेस, बचपन की टीबी,...