गंगा किनारे गांवों को खुले में शौच से मुक्ति

पवित्र गंगा नदी के किनारे सटे गांवों को खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए सरकार ने तीन केंद्रीय मंत्रालयों के मदद से ‘स्वच्छ युग’ अभियान की शुरुआत की है। गंगा नदी के किनारे पांच राज्यों उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के 52 जिलों की 1,651 पंचायतों में कुल 5,169 गांव बसे हैं। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि पीने के पानी और स्वच्छता मंत्रालय, युवा मामलों के मंत्रालय...

गाय के साथ कुकर्म करने वाला युवक पुलिस की गिरफ्त में

हरियाणा के फतेहाबाद जिले में एक शर्मनाक वारदात सामने आई है। जी हां, फतेहाबाद में गाय के साथ कुकर्म करते हुए युवक को पकड़ा गया है। पुलिस ने बचाया वर्ना गांव के लोग युवक को उसी वक्त मार देते। रतिया के मढ गांव का रहने वाला युवक भिरडाना के सरकारी स्कूल के नजदीक एक खडंहर मकान मे गाय के साथ कुकर्म करते पकड़ा गया है। ग्रामीणों को जैसे ही इस बाक की सुचना मिली तो...

गांव के ही नाबालिग ने किया 9 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म

पंजाब के बरनाला गांव में 9 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। दरअसल, गांव के ही एक नाबालिग लड़के पर बच्ची के साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। फिलहाल, पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर इस केस की तफ्तीश करना शुरू कर दिया है। पीड़ित बच्ची की दादी की मानें तो वारदात से पहले बच्ची घर के पास ही खेल रही थी। इसी दौरान आरोपी नाबालिग लड़के...

इस गांव में गुलाल उड़ाकर मुसलमान लगाते हैं देवी के जयकारे!

देश में इन दिनों ‘भारत माता की जय’ पर जिरह छिड़ी हुई है इतना ही नहीं जय के आधार पर ही देशभक्त और देशद्रोही तय किए जा रहे हैं, मगर बुंदेलखंड के झांसी जिले में ‘वीरा’ एक ऐसा गांव है, जहां होली के मौके पर हिंदू ही नहीं, मुसलमान भी देवी के जयकारे लगाकर गुलाल उड़ाते हैं। झांसी के मउरानीपुर कस्बे से लगभग 12 किलोमीटर दूर है वीरा गांव। यहां हरसिद्घि देवी का मंदिर है।...

एक गांव, जहां सिर्फ महिलाएं मनाती हैं रंगों का पर्व

यूपी के हिस्से वाले बुंदेलखंड क्षेत्र के हमीरपुर जनपद के कुंडरा गांव में सिर्फ महिलाएं ही होली खेलती हैं। यहां पुरुषों का होली खेलना वर्जित है। दिलचस्प बात है कि जब देश-विदेश में पुरुष समुदाय होली के दिन रंग में रंगा होता है और इसका आनंद ले रहा होता है, वहीं बुंदेलखंड के इस छोटे से गांव में होली के दिन गांव के सभी पुरुष खेतों में या किसी दूसरे काम से कहीं बाहर चले जाते...

सेब के बगीचे में आज भी भटकती है एक अंग्रेज की आत्मा!

उत्तराखंड के उत्तरकाशी का गांव हरसिल अगर सेब की खेती के लिए मशहूर है तो आज भी इस गांव में एक फिरंगी की आवाजें यहां के लोगों को सुनाई देती हैं. खास बात ये है कि यहां के सेब की खेती और उस अंग्रेज के बीच बहुत ही गहरा रिश्ता है.इस अंग्रेज को यहां पहाड़ी विल्सन या राजा विल्सन के नाम से जाना जाता है. विल्सन ही इस इलाके में सेब की खेती लेकर आया...