सु्प्रीम कोर्ट ने वामपंथी विचारकों की गिरफ्तारी पर फैसला सुरक्षित रखा। कोर्ट में सुनवाई के दौरान सरकार की तरफ से हरीश साल्वे और कार्यकर्ताओं की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी ने पैरवी की।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को भी भीमा कोरेगांव मामले में सुनवाई हुई थी। अदालत ने पांचों सामाजिक कार्यकर्ताओं की नजरबंदी एक दिन के लिए बढ़ा दी थी।

बुधवार को सुनवाई के दौरान जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा, हम पुलिस की तरफ से पेश किए गए सारे सबूतों को बारिकी से देखेंगे। पांच कार्यकर्ताओं के खिलाफ विरोध जताने के लिए कोर्ट के पास पुख्ता सबूत होने चाहिए। पुलिस ने कार्यकतर्ताओं के खिलाफ मिले सारे सबूत कोर्ट के सामने पेश किए। कोर्ट इन सबूतों की बारिकी से जांच कर रही है।

WeForNews 

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212