सेंसेक्स 312 अंक ऊपर | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

व्यापार

सेंसेक्स 312 अंक ऊपर

Published

on

sensex-min
File Photo

देश के शेयर बाजारों में तेजी रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 311.98 अंकों की तेजी के साथ 39,434.94 पर और निफ्टी 96.80 अंकों की तेजी के साथ 11,796.45 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 8.98 अंकों की मामूली तेजी के साथ 39,131.94 पर खुला और 311.98 अंकों या 0.80 फीसदी तेजी के साथ 39,434.94 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 39,490.64 के ऊपरी स्तर और 38,946.04 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांक में तेजी रही। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 96.09 अंकों की तेजी के साथ 14,674.39 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 45.04 अंकों की तेजी के साथ 14,108.49 पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 18.65 अंकों की गिरावट के साथ 11,681.00 पर खुला और 96.80 अंकों या 0.83 फीसदी तेजी के साथ 11,796.45 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 11,814.40 के ऊपरी और 11,651.00 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के 19 में से 18 सेक्टरों में तेजी रही। ऊर्जा (2.15 फीसदी), धातु (1.82 फीसदी), तेल एवं गैस (1.62 फीसदी), यूटीलिटीज (1.50 फीसदी) और बिजली (1.35 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। बीएसई के सिर्फ एक सेक्टर-पूंजीगत वस्तुएं (0.16 फीसदी) में गिरावट रही।

–आईएएनएस

व्यापार

सरकार ने गेंहू का न्यूनतम समर्थन मूल्य 50 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया

Published

on

wheat harvesting

केंद्र सरकार ने संसद में किसानों को बड़ा सौगात देते हुए गेहूं पर न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ा दिया है। सरकार ने गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 50 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर 1,975 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) की बैठक में इसका निर्णय लिया गया और लोकसभा में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने इसकी घोषणा की। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि एमएसपी, एपीएमसी बनी रहेगी, सरकारी खरीद होती रहेगी और इसके साथ किसान जहां चाहें अपने उत्पाद बेच सकेंगे।

हालांकि, सरकार ने रविवार को ही स्पष्ट कर दिया था कि कृषि मंडी और एमएसपी को खत्म नहीं किया जाएगा। वहीं, कृषि से जुड़े दो बिल के पास होने के बाद विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है। विपक्ष का कहना है कि इस दोनों बिल के पास हो जाने से किसानों के लिए निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को केंद्र सरकार खत्म कर देगी।

किसानों से जुड़े दो बिल को लेकर उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में किसानों का प्रदर्शन जारी है। वहीं, विपक्ष लगातार इन विधेयकों को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साध रही है। वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन विधेयकों को किसानों के खिलाफ ‘मौत का फरमान’ बताया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘जो किसान धरती से सोना उगाता है, मोदी सरकार का घमंड उसे खून के आंसू रुलाता है। राज्यसभा में आज जिस तरह कृषि विधेयक के रूप में सरकार ने किसानों के खिलाफ मौत का फरमान निकाला, उससे लोकतंत्र शर्मिंदा है।’

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों को भरोसा देते हुए कहा, ‘मैं देश के प्रत्येक किसान को इस बात का भरोसा देता हूं कि न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था जैसे पहले चली आ रही थी, वैसे ही चलती रहेगी। इसी तरह हर सीजन में सरकारी खरीद के लिए जिस तरह अभियान चलाया जाता है, वो भी पहले की तरह चलते रहेंगे।’

Continue Reading

व्यापार

सेंसेक्स, निफ्टी में हरे निशान के साथ कारोबार

Published

on

sensex

विदेशी बाजारों से उत्साहवर्धक संकेत नहीं मिलने से घरेलू शेयर बाजार में सोमवार को तकरीबन सपाट कारोबार चल रहा था। हालांकि बाजार की शुरूआत थोड़ी कमजोरी के साथ हुई लेकिन बाद में प्रमुख संवेदी सूचकांक हरे निशान के साथ बने हुए थे।

Continue Reading

व्यापार

12 सरकारी बैंकों में 20 हजार करोड़ की धोखाधड़ी, SBI में सबसे ज्यादा मामले

Published

on

सरकारी बैंकों में तीन महीने के दौरान करीब 20 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है। सूचना के अधिकार (आरटीआई) में इसका खुलासा हुआ है।

इसके मुताबिक, 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में 12 सरकारी बैंकों में 19,964 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 2,867 मामले सामने आए। संख्या के लिहाज से देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई में सर्वाधिक 2,050 मामले पाए गए, जिसमें उसे 2,325.88 करोड़ रुपये की चपत लगी।
मूल्य के हिसाब से बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) को सबसे ज्यादा 5,124.87 करोड़ रुपये का झटका लगा। इसमें धोखाधड़ी के 47 मामले सामने आए।

आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने सूचना के अधिकार के तहत आरबीआई से इस संबंध में जानकारी मांगी थी। इस पर केंद्रीय बैंक ने कहा, बैंकों की ओर से दिए गए ये शुरुआती आंकड़े हैं। इनमें बदलाव या सुधार की गुंजाइश है।

Continue Reading

Most Popular