श्रीलंकाई एयरलाइंस दुनिया में सबसे ज्यादा समय की पाबंद | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

श्रीलंकाई एयरलाइंस दुनिया में सबसे ज्यादा समय की पाबंद

Published

on

कोलंबो:  श्रीलंकाई एयरलाइंस को लगातार दूसरी बार ‘वर्ल्ड मोस्ट पंक्चुअल एयरलाइन’ नामित किया गया है। इसकी 90 फीसदी से ज्यादा उड़ानें समय पर रहती हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीलंकाई एयरलाइंस ने एक बयान में कहा कि उसने सितंबर 2018 से 12 महीने से भी कम समय में दूसरी बार यह मुकाम हासिल किया है। इसने सितंबर 2018 में 91.37 फीसदी की (समय की पाबंद) पंक्चुअल्टी रेटिंग हासिल की थी।

इसने मई में 90.75 फीसदी की पंक्चुअलटी रेटिंग हासिल की है।

श्रीलंकाई एयरलाइंस ने कहा कि मई में यह दर्जा हासिल करना प्रभावशाली था। ऐसा इस वजह से कि 21 अप्रैल को ईस्टर संडे को हुए आतंकी हमलों के बाद राजधानी कोलंबो के भंडारनायके इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बढ़ी सुरक्षा के कारण चुनौतियां बढ़ गई थीं। ईस्टर संडे के आतंकवादी हमले में 250 से ज्यादा लोग मारे गए।

ग्लोबल फ्लाइट ट्रैकर ने दुनिया के सबसे बड़े व सबसे प्रतिष्ठित एयरलाइंस सहित यूरोप, उत्तरी अमेरिका, एशिया, मध्य-पूर्व व दक्षिण अमेरिका के 41 वाहकों के डाटा का विश्लेषण किया और इस निष्कर्ष पर पहुंचे।

( साभार आईएएनएस)|

अंतरराष्ट्रीय

जापान के प्रधानमंत्री ने यूएन को कोविड-19 के खिलाफ सहयोग

Published

on

टोक्यो, 25 सितंबर (आईएएनएस) जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के महासचिव एंटोनियो गुटेरस को बताया कि जापान कोविड-19 महामारी से लड़ाई में संयुक्त राष्ट्र और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ सहयोग करना जारी रखेगा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की गुरुवार की रिपोर्ट के अनुसार, विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि करीब 20 मिनट के टेलीकॉन्फ्रेंस में गुटेरस ने कहा कि वह वैश्विक महामारी से लड़ने में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के प्रयासों के तहत जापान की प्रतिबद्धता और संकल्प की सराहना करते हैं।

इस सप्ताह की शुरुआत में गुटेरस ने कोविड-19 महामारी को दूर करने के लिए वैश्विक एकजुटता की अपील की थी।

बातचीत के दौरान गुरुवार को दोनों ने जलवायु परिवर्तन और शांति बनाए रखने वाली गतिविधियों के साथ ही कई क्षेत्रों में सहयोग जारी रखने की प्रतिबद्धता जताई।

शिंजो आबे के बाद जापान के प्रधानमंत्री के तौर पर पदभार संभालने के बाद सुगा और गुटेरस के बीच यह पहली बातचीत थी।

विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि गुटेरस ने जापान के प्रधानमंत्री बनने पर सुगा को बधाई दी।

एमएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

संयुक्त राष्ट्र महासभा में ट्रंप ने चीन पर बोला हमला, लेकिन क्यों?

Published

on

Houston Howdy Modi Donald Trump

बीजिंग, 24 सितम्बर (आईएएनएस)। 75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम बहस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तमाम देशों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के नेताओं के सामने तथ्यों की अनदेखी कर कोविड-19 महामारी, इंटरनेट सुरक्षा और पारिस्थितिकी पर्यावरण आदि मुद्दों पर अकारण चीन पर आरोप लगाया और मनमाने ढ़ंग से राजनीतिक वायरस फैलाया।

संयुक्त राष्ट्र महासभा एक गंभीर मंच है, पर ट्रंप ने इस मंच के जरिए चीन के खिलाफ राजनीतिक हमला किया। सभी मौके पर चीन पर कालिख पोतने की कार्रवाई से न सिर्फ संयुक्त राष्ट्र संघ पर लांछन लगाया गया, बल्कि विश्व शांति भी भंग हुई।

तो ट्रंप ने क्यों इस मंच पर तथ्यों की अनदेखी कर झूठ बोला? सबसे बड़ा उद्देश्य आम चुनाव जीतने के लिए चीन पर जिम्मेदारी थोपना है। ट्रंप ने इसलिए कोरोना वायरस को फिर एक बार चीनी वायरस कहकर बुलाया, क्योंकि वे मतदाताओं में अपना समर्थन बढ़ाना चाहते हैं। ट्रंप के विचार में जितने बड़े मंच पर चीन पर लांछन लगाया जाएगा, अमेरिकी मतदाता उतना ही विश्वास करेंगे। वास्तव में ट्रंप संयुक्त राष्ट्र महासभा के जरिए नागरिकों को उत्तेजित करना चाहते हैं।

दरअसल, लंबे समय से अमेरिका दुनिया भर में चीन को नुकसान पहुंचाने वाली छवि बनाना चाहता है। इसलिए अमेरिका ने आरोप लगाया कि चीन को कोविड-19 महामारी की जिम्मेदारी उठानी पड़ती है, चीन इंटरनेट हमला करता है, यहां तक कि चीन पारिस्थितिकी पर्यावरण को नुकसान पहुंचाता है। अमेरिका दुनिया को बताना चाहता है कि चीन अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था के लिए खतरा है, चीन को रोकने पर ही सभी समस्याएं ठीक हो सकेंगी। वास्तव में अमेरिका के कथन का दुनिया विश्वास नहीं करती, लेकिन ट्रंप के विचार में जब तक बात करते करेंगे, देर-सबेर लक्ष्य को हासिल कर लिया जाएगा।

इसके अलावा, अमेरिका विश्व मंच पर चीन पर दबाव डालने के लिए बहाना और वैधता ढूंढ़ना चाहता है। आने वाले समय में अमेरिका अवश्य ही लगातार पूरी तरह से चीन पर दबाव डालेगा, लेकिन इससे दुनिया में अमेरिका की प्रतिष्ठा कमजोर हो जाएगी। इसलिए चीन पर कालिख पोतने के जरिए अमेरिका अपने राजनीतिक हमले के लिए बहाना ढूंढ़ना चाहता है।

लेकिन इन बेहूदा दलीलों की अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने पहले से ही अपील की है। द लान्सेट, नेचर आदि प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय शैक्षणिक पत्रिकाओं ने बारांबार महामारी को राजनीतिक बनाने की कार्रवाई का ²ढ़ विरोध किया, लेकिन कुछ राजनीतिज्ञ अपने गिरेबान में नहीं झांकते। जब ट्रंप संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाषण दे रहे थे, तब अमेरिका में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 2 लाख से अधिक हो गई है। इस घड़ी में अमेरिकी सरकार नागरिकों की जान बचाने के बजाय लोगों का ध्यान चीन की ओर आकर्षित करना चाहती है। वास्तव में यह दुनिया के लोगों के साथ धोखा है।

तथ्य सबसे अच्छा सबूत है। महामारी को राजनीतिक बनाना लोगों की इच्छा के विरुद्ध है, राजनीतिक वायरस फैलाना अमेरिका में महामारी की स्थिति बेहतर नहीं बना सकती। महामारी पर जानकारी बढ़ने के चलते अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने सहमति बनाई है कि वायरस मानव जाति का समान दुश्मन है। एकजुट होकर सहयोग करने पर ही महामारी को पराजित कर सकेंगे। कुछ राजनीतिज्ञों की महामारी के जरिए राजनीतिक लाभ उठाने की कुचेष्टा विफल नहीं होगी।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

— आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

अमेरिका ने क्यूबा पर लगाए नए प्रतिबंध

Published

on

वाशिंगटन, 24 सितंबर (आईएएनएस)। अमेरिका ने हवाना में सरकार के राजस्व के स्रोतों को भविष्य के लिए कम करने के प्रयास में क्यूबा के खिलाफ नए प्रतिबंध लगाए हैं।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने बुधवार को एक बयान में कहा कि नए उपाय, अमेरिकी नागरिकों को क्यूबा में कुछ संपत्तियों में ठहरने, क्यूबा में उत्पादित शराब और तंबाकू उत्पादों को आयात करने, पेशेवर बैठकों या सम्मेलनों में भाग लेना या आयोजित करने और क्यूबा में कुछ सार्वजनिक प्रदर्शनों, क्लीनिकों, कार्यशालाओं, प्रतियोगिताओं और प्रदर्शनियों में भाग लेना और उनका आयोजन करने से प्रतिबंधित करेंगे।

नए प्रतिबंधों की घोषणा पहली बार राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस के कार्यक्रम में बे ऑफ पिग्स के दिग्गजों को सम्मानित करने के लिए अपनी टिप्पणी के दौरान की थी।

राष्ट्रपति ने कहा था, आज कम्युनिस्ट उत्पीड़न के खिलाफ हमारी निरंतर लड़ाई के हिस्से के रूप में, मैं घोषणा कर रहा हूं कि ट्रेजरी विभाग अमेरिकी यात्रियों को क्यूबा सरकार के स्वामित्व वाली संपत्तियों पर रहने से प्रतिबंधित करेगा।

उन्होंने आगे कहा, हम क्यूबा के शराब और क्यूबा के तंबाकू के आयात को भी प्रतिबंधित कर रहे हैं .. इन कार्रवाइयों से यह सुनिश्चित होगा कि अमेरिकी डॉलर क्यूबा शासन के निधि में नहीं जा रही हैं और वह सीधे क्यूबा के लोगों के पास जा रही हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के दौरान मंगलवार को अपने वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान क्यूबा के राष्ट्रपति मिगेल डियाज कानेल ने द्वीप देश के खिलाफ वाशिंगटन की सख्त आर्थिक प्रतिबंध की निंदा की।

उन्होंने ट्रंप प्रशासन को नैतिक रूप से भ्रष्ट शासन कहा।

Continue Reading
Advertisement
मनोरंजन6 mins ago

ड्रग्स मामला: एनसीबी के सामने पेश होंगी रकुलप्रीत

अंतरराष्ट्रीय18 mins ago

जापान के प्रधानमंत्री ने यूएन को कोविड-19 के खिलाफ सहयोग

राष्ट्रीय21 mins ago

जम्मू कश्मीर के शोपियां में CRPF जवान पर आतंकियों ने की फायरिंग

राष्ट्रीय27 mins ago

कृषि विधेयक: किसानों का आज देशभर में आंदोलन

राजनीति33 mins ago

कृषि बिलों के खिलाफ ‘भारत बंद’ आज, देश में सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करेंगे किसान

ELECTION COMMISSION-min
चुनाव33 mins ago

बिहार चुनाव की तारीखों का आज होगा ऐलान, EC ने दोपहर 12.30 बजे बुलाई PC

राजनीति14 hours ago

श्रीनगर में एडवोकेट बाबर कादरी की गोली मारकर हत्या

RAHUL
राजनीति14 hours ago

किसानों की समस्याओं का समाधान निकलने के बजाय PR में लगी है मोदी सरकार: राहुल

Houston Howdy Modi Donald Trump
अंतरराष्ट्रीय14 hours ago

संयुक्त राष्ट्र महासभा में ट्रंप ने चीन पर बोला हमला, लेकिन क्यों?

Abhishek Manu Singhvi
राजनीति14 hours ago

कृषि कानून किसानों से विश्वासघात, MSP का वजूद नहीं छोड़ा : सिंघवी

Mayawati
राजनीति2 weeks ago

मायावती शासन की अनियमितताओं पर शुरू होगी कार्रवाई

राजनीति4 days ago

किसान बिल पर हंगामे के चलते राज्यसभा के 8 सांसद निलंबित

Rhea-
मनोरंजन2 weeks ago

सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती को भेजा गया मुंबई जेल

former president pranab-mukjerjee
राष्ट्रीय4 weeks ago

भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति का 84 साल की उम्र में निधन

राष्ट्रीय4 weeks ago

सुशांत केस : रिया के भाई से सीबीआई की पूछताछ जारी

Blood Pressure machine
लाइफस्टाइल4 weeks ago

हाई-ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन में वायु प्रदूषण का योगदान : शोध

Sonia Gandhi and Rahul
ब्लॉग3 weeks ago

कांग्रेस की बीमारियां उन्हें क्यों सता रहीं जिन्होंने इसे वोट दिया ही नहीं?

Rhea Chakraborty
मनोरंजन4 weeks ago

सुशांत मामला : रिया से आज फिर पूछताछ करेगी सीबीआई

खेल4 weeks ago

राष्ट्रीय खेल दिवस: खेल रत्न, अर्जुन अवॉर्ड, द्रोणाचार्य-ध्यानचंद पुरस्कार की पूरी लिस्ट

Supreme Court
राष्ट्रीय2 weeks ago

लोन मोरेटोरियम केस: SC ने कहा- आखिरी सुनवाई से पहले जवाब दाखिल करे सरकार

8 suspended Rajya Sabha MPs
राजनीति3 days ago

रात में भी संसद परिसर में डटे सस्पेंड किए गए विपक्षी सांसद, गाते रहे गाना

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय6 days ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन1 month ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Modi Independence Speech
राष्ट्रीय1 month ago

Protected: 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का भाषण, कहा अगले साल मनाएंगे महापर्व

राष्ट्रीय2 months ago

उत्तराखंड में ITBP कैम्‍प के पास भूस्‍खलन, देखें वीडियो

Kapil Sibal
राजनीति3 months ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय5 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर5 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य5 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति5 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

Most Popular