श्री गुरु गोबिंद सिंह जी का प्रकाश पर्व मनाया | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अन्य

श्री गुरु गोबिंद सिंह जी का प्रकाश पर्व मनाया

Published

on

श्री गुरु गोबिंद सिंह

श्री गुरू गोबिन्द सिंह जी महाराज जी के प्रकाशोत्सव के सम्बंध में धन-धन साहिब श्री गुरू ग्रंन्थ साहिब जी महाराज की छत्रछाया में पंज प्यारों की अगुवाई में एक विशाल नगर कीर्तन निकाला गया यह नगर ऐतिहासिक गुरूद्वारा साहिब श्री गुरू गोबिन्द सिंह जी महाराज गोबिन्द नगर पडड्ल मण्डी से प्रारम्भ हो कर राम नगर, स्कूल बाजार, चौहट्टा बाजार, समखेतर से वापसी सेरी बाजार, नया पुल होते हुए वापिस गुरूद्वारा साहिब पहुंच कर समाप्ति की अरदास की गई। इस नगर कीर्तन में गुरू गोबिन्द सिंह पब्लिक हाई स्कूल मण्डी, संत बाबा सेवा सिंह जी खालसा माडॅल स्कूल भलडी स्कूल के ब चों का बैड, राम बैड पटियाला, नगर कीर्तन की षोभा बढ़ा रहे थे। श्री गुरू ग्रंन्थ साहिब की पालकी के पीछे-संगत शब्द कीर्तन व बोले सो निहाल के जैकारों की गूंज से भक्तिमय हो रहा था।

इस नगर में ड्रोन द्वारा श्री गुरू ग्रंन्थ साहिब जी की पालकी साहिब के ऊपर फूलों की वर्षा की जा रही थी। षहर की सभी धार्मिक संस्थाओं द्वारा जगह-2 नगर कीर्तन का भव्य स्वागत किया गया व जगह-2 संगतों द्वारा लंगर लगाए थे।

इस मौके पर कार सेवा के मुख्य प्रबन्धक संत बाबा लाभ सिंह जी विशेष तौर पर पहुँच कर पालकी साहिब में श्री गुरू ग्रन्थ साहिब की चवर की सेवा निभा रहे थे। उनके साथ बाबा हरभजन सिंह जी पहलवान, बाबा जरनैल सिंह जी, स्वामी दयानन्द जी, गदौरी साहिब वालों ने भी हाजरी भरी इस मौके पर सुन्दरनगर, भून्तर, पंजाब व ईलाका निवासी साध संगत व सभी संस्थाओं ने हाजरी भरी।

wefornews bureau

अन्य

अफगानिस्तान में विस्फोट, 16 की मौत, 90 घायल

Published

on

IED blast

अफगानिस्तान के घोर प्रांत की राजधानी फिरोज कोआह शहर में रविवार को हुए शक्तिशाली बम विस्फोट में करीब 16 लोग मारे गए और 90 अन्य घायल हो गए। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, प्रांतीय सरकार ने कहा, हताहतों की संख्या के बारे में मीडिया को बाद में बताया जाएगा। मरने वालों की संख्या में बदलाव हो सकता है, क्योंकि मलबे के नीचे से लोगों को अभी निकाला जा रहा है।

अधिकारी ने कहा कि घायलों में से कई की हालत गंभीर बनी हुई है। एक सुरक्षा अधिकारी ने समाचार एजेंसी सिन्हुआ से कहा, विस्फोट दिन में 11.15 बजे के आसपास हुआ, विस्फोटक से भरे एक मिनीबस को उस क्षेत्र में लाकर खड़ा किया गया था, जहां प्रांतीय पुलिस विभाग और कई अन्य सरकारी कार्यालय स्थित हैं।

उन्होंने आगे कहा, विस्फोट को देखते हुए इसके संदिग्ध आत्मघाती बमबारी होने की संभावना है। विस्फोट के बाद आसमान में धुएं का घना गुबार उठा जिससे लोगों में दहशत फैल गई।

सुरक्षाबलों ने एहतियात के लिए इलाके की घेराबंदी कर दी है। अभी तक किसी भी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

आईएएनएस

Continue Reading

अन्य

कोविड-19 के वैश्विक मामले 2.23 करोड़ के पार

Published

on

Coronavirus

नई दिल्ली, जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार दुनिया में कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 2.23 करोड़ और मरने वाले लोगों की संख्या 7.86 लाख से अधिक हो गई है।

यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) के ताजा अपडेट के मुताबिक, गुरुवार सुबह तक कुल मामलों की संख्या 22,322,208 थी। वहीं इस घातक वायरस के कारण दुनिया में अब तक 7,86,185 लोगों की मौत हो चुकी थी।

सीएसएसई के अनुसार दुनिया में सबसे अधिक 55,27,306 मामलों और 1,73,114 मौतों के साथ अमेरिका लगातार सबसे अधिक प्रभावित देश बना हुआ है। इसके बाद ब्राजील 34,56,652 मामलों और 1,11,100 मौतों के साथ दूसरे स्थान पर है।

वहीं संक्रमण के मामलों की संख्या में भारत 27,67,273 संक्रमित लोगों के साथ दुनिया में तीसरे नंबर पर है। इसके बाद ऐसे देश जिनमें मामलों की संख्या 1 लाख से अधिक हो गई है, उनमें रूस (9,35,066), दक्षिण अफ्रीका (5,96,060), पेरू (5,49,321), मैक्सिको (5,37,031), कोलंबिया (4,89,122), चिली (3,90,037), स्पेन (3,70,867),

ईरान (3,50,279), ब्रिटेन (3,22,996), अर्जेंटीना (3,12,659), सऊदी अरब (3,02,686), पाकिस्तान (2,90,445), बांग्लादेश (2,85,091), फ्रांस (2,56,534),

इटली (2,55,278), तुर्की (2,53,108), जर्मनी (2,29,706), इराक (1,88,802), फिलीपींस (1,73,774), इंडोनेशिया (1,44,945), कनाडा (1,25,408), कतर (1,15,956), इक्वाडोर (1,04,475), कजाकिस्तान (1,03,571) और बोलीविया (1,03,019) हैं।

वहीं कोविड-19 के कारण हुईं 10 हजार से अधिक मौतों वाले देश में मैक्सिको (58,481), भारत (52,889), ब्रिटेन (41,483), इटली (35,412), फ्रांस (30,434), स्पेन (28,797), पेरू (26,658), ईरान (20,125), रूस (15,951), कोलंबिया (15,619), दक्षिण अफ्रीका (12,423) और चिली (10,578) हैं।

आईएएनएस

Continue Reading

अन्य

इंदौर में सोशल डिस्टेंसिंग से बेरुखी महंगी पड़ी

Published

on

By

Coronavirus india lockdown

इंदौर, 2 अप्रैल | स्वच्छता का परचम लहराने वाला मध्य प्रदेश का इंदौर इन दिनों देश और दुनिया में फैली कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहा है। स्वच्छता के बावजूद आखिर क्या वजह रही कि इंदौर में कोरोना के मरीज बढ़ते गए। इनमें एक जो प्रमुख वजह रही वह है सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न किया जाना। इसके साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जुड़े और आधुनिक सुविधाओं वाले शहर में शुरुआती केस आने के बाद भी समय पर प्रबंध नहीं किए गए, जिनकी जरूरत थी। शहर में जांच की सुविधा नहीं होना भी अहम वजह रही।

इंदौर की स्थिति पर गौर करें तो एक बात साफ है कि राज्य का सबसे विकसित और आधुनिक सुविधाओं वाला शहर है। यहां अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है और कई देशों की उड़ानें भी आती रही है, इतना ही नहीं रेल और बस सुविधा के मामले में अव्वल है। कई राज्यों से सीधा संपर्क है। औद्योगिक दृष्टि से भी यहां कई बड़े उद्योग हैं, जिससे देशी-विदेशी लोगों की आवाजाही कुछ ज्यादा ही रहती है। इसके अलावा यहां दूसरे स्थानों के हजारों छात्र अध्ययन करने और शिक्षित व्यक्ति रोजगार की तलाश में आते है। वहीं इंदौर के हजारों बच्चे दूसरे शहर और विदेशों में पढ़ते हैं, जो हाल ही में लौटे भी है।

लंबे अरसे से इंदौर और मालवा निमाड़ के क्षेत्र में सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर काम करने वाले जन स्वास्थ्य अभियान के राष्ट्रीय सह संयोजक अमूल्य निधि का कहना है, “इंदौर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जुड़ा हुआ महानगर है यहां कई देशों से फ्लाइट आती हैं और पड़ोसी राज्य गुजरात और महाराष्ट्र से भी बड़ी संख्या में लोग आते हैं। कोरोना महामारी की जब बात सामने आई तब इंदौर में वह प्रबंध नहीं किए गए, जिनकी जरूरत थी। एक तो जांच की सुविधा नहीं थी, दूसरा सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में नहीं रखा गया। यही कारण रहा कि इक्का-दुक्का मरीज कभी आए होंगे, जिनमें यह संक्रमण रहा होगा और वह लगातार समाज के संपर्क में रहे जिससे यह तेजी से फैल गया।”

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए अमूल्य निधि कहते हैं, “मरीजों की संख्या बढ़ने का दूसरा कारण भी है। पहले कम सैंपल लिए जा रहे थे और जांच रिपोर्ट उन सैंपलों की ही आ रही थी। अब ज्यादा नमूने लिए जा रहे है और रिपोर्ट भी ज्यादा आ रही है। इसे नकारात्मक रूप में नहीं लेना चाहिए बल्कि ज्यादा मरीज पाए जा रहे हैं तो यह सुरक्षा ज्यादा बढ़ाने की ओर हमें तैयार रहने का संदेश भी दे रहा है।”

इंदौर फार्मासिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय बाकलीवाल भी मानते हैं, “इंदौर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया और बीमारी फैलने की सबसे बड़ी वजह यही रही। जब लॉकडाउन हुआ है तो अब प्रयास हो रहे हैं और उम्मीद की जानी चाहिए कि जल्दी ही मरीजों की पहचान हो जाएगी और यह शहर सुरक्षित रहेगा।

इंदौर में मरीजों की संख्या बढ़ने के सवाल पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. प्रवीण जरिया ने आईएएनएस से कहा, “यह बात सही है कि इंदौर में संक्रमित मरीजों की संख्या और स्थानों की तुलना में कहीं ज्यादा है। मगर राहत की बात यह है कि गिनती के परिवारों के लोग ज्यादा संक्रमित हैं और उन्हीं के संपर्क में आए लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं। प्रशासन ने इसीलिए लोगों को क्वारंटाइन में रखा है और आइसोलेट किया जा रहा है ताकि यह बीमारी आगे न फैल सके।”

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी इस बात को मान चुके है कि इंदौर के कुछ खास इलाकों में ही इस वायरस का संक्रमण फैला है। साथ ही उन्होंने लोगों से लॉकडाउन का पालन करने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने पर जोर दिया। ऐसा इसलिए क्योंकि घरों में रहकर ही इस बीमारी की चेन को तोड़ा जा सकता है।

यह बात भी सामने आ रही है कि इंदौर के रानीपुरा, नयापुरा, दौलतगंज, हाथीपाला आदि स्थानों पर ही सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज पाए जा रहे है। यहां बड़ी संख्या में लोगों को क्वारंटाइन और आइसोलेशन की प्रक्रिया में रखा गया है। होटल और निजी चिकित्सा महाविद्यालयों में इन मरीजों के लिए खास इंतजाम किए जा रहे हैं।

राज्य में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा असर इंदौर में नजर आ रहा है। यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 75 हो गई है, वहीं राज्य में पीड़ितों की संख्या 98 है। अब तक छह लोगों की मौत हो चुकी है। इंदौर के अलावा भोपाल में चार, जबलपुर में आठ, ग्वालियर व शिवपुरी में दो-दो, खरगोन एक और उज्जैन में छह मरीज हैं। इस तरह राज्य में अब कोरोना के पाजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 98 हो गई है।

Continue Reading

Most Popular