सैमसंग बनाएगी मुड़ने वाला स्मार्टफोन | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

टेक

सैमसंग बनाएगी मुड़ने वाला स्मार्टफोन

Published

on

सैमसंग
सैमसंग

दक्षिण कोरिया की विशाल इलेक्ट्रानिक्स कंपनी सैमसंग के मुड़ने वाले स्मार्टफोन तकनीक के पेटेंट आवेदन को यूएस पेटेंट एंड ट्रेडमार्क ऑफिस ने मंजूरी दे दी है।

इस तकनीक के प्रयोग से स्मार्टफोन में होलोग्राम और प्रोजेक्टर जैसे फीचर जोड़े जा सकते हैं। इसके साथ ही कंपनी ने मुड़ने वाले स्मार्टफोन तकनीक के पेटेंट में एक और कामयाबी हासिल कर ली है। कंपनी के पास इस नई तकनीक संबंधी कई पेटेंट पहले से ही हैं। उबेरगिजमो डॉट कॉम में छपी रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी इस साल के अंत में किताब की तरह मोड़े जा सकने वाले स्मार्टफोन लेकर आ रही है।

इस पेटेंट के विवरण के अनुसार मुड़नेवाले स्मार्टफोन में एक नई तरह का कब्जा लगा होगा जिससे बेहद बड़े डिस्प्ले स्क्रीन को हैंडसेट बंद करने के दौरान मोड़ कर आधा किया जा सकेगा।

मुड़ने वाले स्मार्टफोन की सबसे बड़ी विशेषता होलोग्राम इकाई होगी जिसकी मदद से विभिन्न कोणों से प्रकाश को मोड़कर हवा में थ्री डाइमेंशनल वीडियो प्रसारित किया जा सकेगा। वहीं, दूसरी तरफ ऐसे स्मार्टफोन में एक प्रोजेक्टर भी लगाया जा सकेगा, जो डिवाइस के बाहर या अंदर होगा।

हालांकि उपयोगकर्ता किस प्रकार इन फीचर्स का इस्तेमाल करेंगे, इसकी कोई जानकारी नहीं है। अभी तक इस तकनीक पर चलने वाली किसी ऐप के बारे में भी पता नहीं चला है।

wefornews bureau

टेक

केंद्र सरकार ने 43 मोबाइल एप पर लगाई रोक

Published

on

alibaba
File Photo

भारत सरकार ने मंगलवार को राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए 43 मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया। सरकार ने यह कदम सूचना प्रौद्योगिकी कानून की धारा 69ए के तहत उठाया है।

सरकार ने इस संबंध में कहा है कि इन एप्स के खिलाफ यह कार्रवाई भारत की संप्रभुता, अखंडता, रक्षा, सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए पूर्वाग्रही गतिविधियों में संलग्न रहने की जानकारी के आधार पर की गई है। 

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इस संबंध में एक बयान में कहा है कि मंगलवार को प्रतिबंधित किए गए एप्स में अलीएक्सप्रेस, वीवर्कचाइना, कैमकार्ड और स्नैक वीडियो जैसे एप्स शामिल हैं।
इससे पहले भारत सरकार तीन बार एप्स पर प्रतिबंध लगा चुकी है।

सरकार ने 29 जुलाई को चीन के 48 एप्स प्रतिबंधित किए थे। इनमें लोकप्रिय एप्लीकेशन टिकटॉक भी शामिल था। इसके बाद 28 जुलाई को सरकार ने फिर कार्रवाई करते हुए 59 एप्स पर रोक लगा दी थी। वहीं, दो सितंबर को एक बार फिर ऐसा ही कदम उठाते हुए केंद्र सरकार ने पबजी समेत 118 चीनी एप्स प्रतिबंधित कर दिए थे।

यह एप हुई बैन

AliSuppliers Mobile App
Alibaba Workbench
AliExpress – Smarter Shopping, Better Living
Alipay Cashier
Lalamove India – Delivery App
Drive with Lalamove India
Snack Video
CamCard – Business Card Reader
CamCard – BCR (Western)
Soul- Follow the soul to find you
Chinese Social – Free Online Dating Video App & Chat
Date in Asia – Dating & Chat For Asian Singles
WeDate-Dating App
Free dating app-Singol, start your date!
Adore App

TrulyChinese – Chinese Dating App
TrulyAsian – Asian Dating App
ChinaLove: dating app for Chinese singles
DateMyAge: Chat, Meet, Date Mature Singles Online
AsianDate: find Asian singles
FlirtWish: chat with singles
Guys Only Dating: Gay Chat
Tubit: Live Streams
WeWorkChina
First Love Live- super hot live beauties live online
Rela – Lesbian Social Network
Cashier Wallet
MangoTV
MGTV-HunanTV official TV APP
WeTV – TV version
WeTV – Cdrama, Kdrama&More
WeTV Lite
Lucky Live-Live Video Streaming App
Taobao Live
DingTalk
Identity V
Isoland 2: Ashes of Time
BoxStar (Early Access)
Heroes Evolved
Happy Fish
Jellipop Match-Decorate your dream island!
Munchkin Match: magic home building
Conquista Online II

WeForNews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ट्विटर के बाद फेसबुक भी जो बाइडेन को ट्रांसफर करेगा राष्ट्रपति का अकाउंट

Published

on

Joe Biden

ट्विटर के बाद फेसबुक ने अब पुष्टि की है कि वह अपने प्लेटफॉर्म पर आधिकारिक पीओटीयूएस (प्रेसीडेंट ऑफ द यूनाइटेड स्टेट) अकाउंट को चयनित राष्ट्रपति जो बाइडेन को ट्रांसफर कर देगा। प्लेटफॉर्म 20 जनवरी को बाइडेन द्वारा पदभार संभालने के बाद अकाउंट ट्रांसफर करेगा।

ट्विटर ने शुक्रवार को कहा कि जिस दिन वह शपथ लेंगे उस दिन बाइडेन को पीओटीयूएस अकाउंट ट्रांसफर कर दिया जाएगा। फेसबुक ने भी शनिवार को ऐसा करने की घोषणा की है।

द वर्ज की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने अपने बयान में कहा, साल 2017 में हमने ओबामा प्रशासन और आने वाले ट्रंप प्रशासन दोनों के साथ काम किया और यह सुनिश्चित किया कि 20 जनवरी को उनके फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट को ट्रांसफर किया जाए और हम इस बार भी ऐसा ही करने की उम्मीद करते हैं।

ट्विटर के अनुसार, उनके अकाउंट्स पर सभी मौजूदा ट्वीट्स संग्रहीत किए जाएंगे और ट्विटर अकाउंट को बाइडेन को शून्य ट्वीट्स के साथ ट्रांसफर कर देगा।

बाइडेन के शपथ ग्रहण के बाद ट्रंप अपने व्यक्तिगत अकाउंट का इस्तेमाल जारी रख सकेंगे।

अगले साल 20 जनवरी से ट्रंप ट्विटर पर विशेषाधिकार खो देंगे और उनके ट्वीट को किसी अन्य उपयोगकर्ता के रूप में माना जाएगा। हालांकि फेसबुक ने विशेषाधिकार को लेकर कुछ नहीं कहा है।

आईएएनएस

Continue Reading

टेक

मैप में लद्दाख को चीन में दिखाने की गलती के लिए ट्विटर ने लिखित में मांगी माफी

Published

on

Twitter.

सोशल मीडिया दिग्गज ट्विटर ने चीन में लद्दाख को गलत तरीके से दिखाने के लिए महत्वपूर्ण संसदीय पैनल से लिखित में माफी मांगी है। पैनल की अध्यक्ष मीनाक्षी लेखी ने इसकी जानकारी दी। लेखी ने कहा कि ट्विटर ने गलती सुधारने के लिए 30 नवंबर तक का वक्त मांगा है। 

भारत के नक्शे को गलत तरीके से दिखाने के लिए ट्विटर इंक के मुख्य गोपनीयता अधिकारी डेमियन करेन ने एक हलफनामा देकर माफी मांगी है। बता दें कि पिछले महीने डेटा प्रोटेक्शन बिल पर संसद की संयुक्त समिति ने लद्दाख को चीन का हिस्सा दिखाने के लिए ट्विटर की कड़ी आलोचना की थी।

समिति ने कहा था कि इस तरह की हरकत देशद्रोह की श्रेणी में आता है और इसके बाद ट्विटर से माफीनामा की मांग की मांग की गई थी। समिति ने भूल को जल्द से जल्द सुधारने की भी चेतावनी दी थी। 

ब लेखी की अध्यक्षता में बनी पैनल के सामने ट्विटर इंडिया के प्रतिनिधियों ने माफी मांगी, लेकिन पैनल के सदस्यों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह एक आपराधिक कृत्य है जिससे देश की संप्रभुता को ठेस पहुंचती है।

पैनल के सदस्यों ने कहा कि माफीनामा के लिए एक हलफनामा ट्विटर इंक द्वारा प्रस्तुत किया जाना चाहिए ना कि इसके ‘मार्केटिंग आर्म’ ट्विटर इंडिया द्वारा।

इस मांग के बाद ही ट्विटर इंक के मुख्य गोपनीयता अधिकारी डेमियन करेन ने एक हलफनामा देकर माफी मांग ली है और गलती को सुधारने के लिए 30 नवंबर तक का वक्त मांगा है।

इससे पहले भी ट्विटर द्वारा लेह को लद्दाख की बजाय जम्मू-कश्मीर का हिस्सा दिखाए जाने के बाद मंत्रालय ने नोटिस जारी किया था। साथ ही सोशल मीडिया यूजर द्वारा भी कड़ी आलोचना की गई थी।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular