सऊदी अरब के खिलाफ युद्ध शुरू होगा- सालेह | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Published

on

यमन के पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह ने रविवार को कहा कि सऊदी अरब के खिलाफ जल्द ही युद्ध शुरू करने का ऐलान किया जाएगा.

यमन के राषट्रपति ने अपने समर्थकों से तब तक संघर्ष जारी रखने के लिए कहा जब तक कि सऊदी अरब के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना हवाई व जमीनी हमले न बंद कर दे.

सालेह ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र द्वारा स्विट्जरलैंड में प्रायोजित शांति वार्ता में अपनी जनरल पीपुल्स पार्टी और हौती शिया समूह के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में यह बात कही. उन्होंने कहा कि सऊदी अरब को लंबी अवधि तक चलने वाले युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए, जो जल्द ही शुरू होगा.

उन्होंने जनवरी के मध्य में शुरू होने वाली संयुक्त राष्ट्र प्रायोजित अगली शांति वार्ता की ओर संकेत करते हुए कहा, “युद्ध रुकने पर ही हम सऊदी अरब से सीधी वार्ता करेंगे और यह वार्ता भी सीधे सऊदी अरब से होगी, न कि उनके ‘किराये के टट्टओं से.”

उन्होंने कहा कि “युद्ध शुरू नहीं हुआ है. यदि सऊदी अरब और उनके पिछलग्गु (यमन सरकार) संयुक्त राष्ट्र या रूस के तत्वावधान में आयोजित शांति प्रक्रिया का समर्थन नहीं करते हैं तो यह जल्द ही शुरू होगा.”

wefornews Bureau

अंतरराष्ट्रीय

जाधव मामले में पाक ने नहीं किया आईसीजे के निर्णय का सम्मान : भारत

Published

on

kulbhushan jadhav

भारत ने कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान पर आईसीजे के निर्णय को लागू करने का कर्तव्य को नहीं निभाने का आरोप लगाया है। भारत ने कहा कि पाकिस्तान ने अभी तक सभी दस्तावेज और जाधव तक पूर्ण राजनयिक पहुंच उपलब्ध नहीं कराई है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बृहस्पतिवार को कहा कि पाकिस्तान ने स्वतंत्र व पारदर्शी ट्रायल के लिए एक भारतीय वकील या ब्रिटिश क्वीन के काउंसिल को नियुक्त करने के आग्रह पर अभी तक उचित प्रतिक्रिया नहीं दी है।

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) के निर्णय के तहत पाकिस्तान को एक निर्विवाद, अबाधित और बिना शर्त की राजनयिक पहुंच देनी चाहिए।

साथ ही जाधव के साथ भारतीय अधिकारियों की मुलाकात भयमुक्त वातावरण में कराई जानी चाहिए। भारत ने यह भी कहा है कि जाधव और उच्चायोग के अधिकारियों के बीच बातचीत को पूरी तरह गोपनीय होना चाहिए और इसमें किसी भी पाकिस्तानी अधिकारी की उपस्थिति या रिकार्डिंग का इंतजाम नहीं किया जाना चाहिए।

Weforews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के मामले 3 करोड़ के पार

Published

on

Coronavirus
File Photo

वैश्विक स्तर पर कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 3 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है, जबकि इससे होने वाली मौतों की संख्या बढ़कर 944,000 से अधिक हो गई हैं। यह जानकारी जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने शुक्रवार को दी।

विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने नए अपडेट में खुलासा किया कि शुक्रवार की सुबह तक, कुल मामलों की संख्या 30,065,728 हो गई और मृत्यु दर बढ़कर 944,604 हो गई।

सीएसएसई के अनुसार, दुनिया में सबसे अधिक संक्रमण के मामलों 6,674,070 और इससे हुई 197,615 मौतों के साथ अमेरिका सबसे खराब स्थिति वाला देश है।

वहीं भारत 5,118,253 मामलों के साथ वर्तमान में दूसरे स्थान पर है, जबकि देश में संक्रमण से कुल मृत्यु 83,198 हुई है।

सीएसएसई के अनुसार, तीसरे स्थान पर ब्राजील (4,455,386) है और उसके बाद रूस (1,081,152), पेरू (744,400), कोलम्बिया (736,377), मैक्सिको (684,113), दक्षिण अफ्रीका (655,572), स्पेन (625,651), अर्जेंटीना (601,713), फ्रांस (454,266), चिली (441,150), ईरान (413,149), ब्रिटेन (384,083), बांग्लादेश (344,264),

सऊदी अरब (328,144), इराक (307,385), पाकिस्तान (303,634), तुर्की (298,039), इटली (293,025), फिलीपींस (276,289), जर्मनी (269,048), इंडोनेशिया (232,628), इजरायल (175,256), यूक्रेन (170,373), कनाडा (142,879),

बोलिविया (128,872), कतर (122,693), इक्वाडोर (122,257), रोमानिया (108,690), कजाकिस्तान (107,056), डोमिनिकन गणराज्य (106,136), पनामा (104,138) और मिस्र (101,641) हैं।

वहीं 10,000 से अधिक मौतों वाले अन्य देश ब्राजील (134,935), मैक्सिको (72,179), ब्रिटेन (41,794), इटली (35,658), फ्रांस (31,103), पेरू (31,051), स्पेन (30,405), ईरान (23,808), कोलंबिया (23,478), रूस (18,996), दक्षिण अफ्रीका (15,772), अर्जेंटीना (12,460), चिली (12,142) और इक्वाडोर (10,996) हैं।

आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ब्रिक्स देशों के एनएसए की अहम बैठक शुरू

Published

on

Ajit Doval
File Photo

ब्रिक्स देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच आज वर्चुअल बैठक होगी। इस बैठक में भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी हिस्सा लेंगे।

इससे पहले मंगलवार को रूस में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्यों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक हुई थी।

भारत और चीन के बीच सीमा पर भारी तनाव के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनके चीनी समकक्षीय यांज जिएची ब्राजील-रूस-भारत-दक्षिण अफ्रीका की वर्चुअल बैठक में हिस्सा लेंगे।

ब्रिक्स देशों के बीच एनएसए की 10 बैठक रूस की अध्यक्षता में किए जा रहे कार्यक्रमों का एक हिस्सा है। रूस वर्तमान में ब्रिक्स की अध्यक्षता कर रहा है।

रूस की तरफ से आयोजित बहुपक्षीय बैठकों में भारत और चीन के शीर्ष नेताओं के बीच यह इस महीने की चौथी बैठक होगी। इससे पहले, ब्रिक्स के विदेश मंत्रियों की वर्चुअल मीटिंग और उसके बाद मॉस्को में शंघाई सहयोग संगठन के दौरान रक्षा मंत्रियों और रक्षा मंत्रियों के बीच बैठक हुई है। 

WeForNews

Continue Reading

Most Popular