सऊदी अरब के खिलाफ युद्ध शुरू होगा- सालेह | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Published

on

यमन के पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह ने रविवार को कहा कि सऊदी अरब के खिलाफ जल्द ही युद्ध शुरू करने का ऐलान किया जाएगा.

यमन के राषट्रपति ने अपने समर्थकों से तब तक संघर्ष जारी रखने के लिए कहा जब तक कि सऊदी अरब के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना हवाई व जमीनी हमले न बंद कर दे.

सालेह ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र द्वारा स्विट्जरलैंड में प्रायोजित शांति वार्ता में अपनी जनरल पीपुल्स पार्टी और हौती शिया समूह के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में यह बात कही. उन्होंने कहा कि सऊदी अरब को लंबी अवधि तक चलने वाले युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए, जो जल्द ही शुरू होगा.

उन्होंने जनवरी के मध्य में शुरू होने वाली संयुक्त राष्ट्र प्रायोजित अगली शांति वार्ता की ओर संकेत करते हुए कहा, “युद्ध रुकने पर ही हम सऊदी अरब से सीधी वार्ता करेंगे और यह वार्ता भी सीधे सऊदी अरब से होगी, न कि उनके ‘किराये के टट्टओं से.”

उन्होंने कहा कि “युद्ध शुरू नहीं हुआ है. यदि सऊदी अरब और उनके पिछलग्गु (यमन सरकार) संयुक्त राष्ट्र या रूस के तत्वावधान में आयोजित शांति प्रक्रिया का समर्थन नहीं करते हैं तो यह जल्द ही शुरू होगा.”

wefornews Bureau

अंतरराष्ट्रीय

ब्रिटेन ने सितंबर 2021 से हुआवेई 5जी टेलीकॉम पर लगाया प्रतिबंध

इस साल जुलाई में यूके सरकार ने अगले साल से 5जी के लिए नए हुआवेई किट की खरीद पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी और कहा था कि 2027 के अंत तक इसके उपकरण 5जी नेटवर्क से पूरी तरह से हटा दिए जाएंगे।

Published

on

By

Huawei 5G telecom

लंदन, 30 नवंबर । ब्रिटेन सरकार ने सोमवार को घोषणा की है कि चीनी टेक्नॉलॉजी दिग्गज हुआवेई सितंबर 2021 से देश में अपने 5जी उपकरण स्थापित नहीं कर पाएगी।

डिजिटल, संस्कृति, मीडिया और खेल विभाग ने कहा कि अपने पहले के फैसले के अनुसार, यूके कैरियर्स अब सितंबर 2021 से हुआवेई उपकरण देश में स्थापित नहीं कर पाएंगे।

सीएनईटी की रिपोर्ट के अनुसार, यूके सरकार ने एक रोडमैप तैयार किया है जिसके तहत 2027 तक देश के 5जी नेटवर्क से हुआवेई समेत सभी उच्च जोखिम वाले विक्रेताओं द्वारा बनाए गए सभी दूरसंचार उपकरणों को हटा दिए जाएंगे।

इस साल जुलाई में यूके सरकार ने अगले साल से 5जी के लिए नए हुआवेई किट की खरीद पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी और कहा था कि 2027 के अंत तक इसके उपकरण 5जी नेटवर्क से पूरी तरह से हटा दिए जाएंगे।

टेलिकॉम ऑपरेटर्स के पास 5जी इंफ्रास्ट्रक्च र से 2 बिलियन पाउंड की अनुमानित कीमत पर इसकी मौजूदा तकनीक को हटाने के लिए 7 साल का समय है। टेलीकम्युनिकेशन वेंडर के खिलाफ यह प्रतिबंध लगाने का निर्णय अमेरिकी प्रतिबंधों के प्रभाव पर नेशनल साइबर सिक्योरिटी सेंटर (एनसीएससी) की सलाह के बाद लिया गया है। अमेरिकी फेडरल कम्युनिकेशंस कमीशन (एफससी) ने चीनी दूरसंचार कंपनियों, हुआवेई और जेडटीई को अमेरिका के संचार नेटवर्क के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा जोखिम के तौर पर बताया है।

हुआवेई ने इस निर्णय को ब्रिटेन में मोबाइल फोन उपयोगकर्ता के लिए बुरी खबर कहा है। अमेरिकी प्रतिबंधों के मद्देनजर अपने व्यवसाय को बनाए रखने में संघर्ष कर रही हुआवेई ने अपनी हॉनर स्मार्टफोन बिजनेस की चीन की कुछ संपत्तियों को इसी महीने बेचने की घोषणा की है, जिनकी कीमत लगभग 15 बिलियन डॉलर हो सकती है।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

अफगानिस्तान में कार धमाके में 26 सुरक्षाबलों की मौत

Published

on

By

IED blast

अफगानिस्तान में एक कार धमाके में 26 अफगान सुरक्षाबलों की मौत हो गई है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी है। 

Wefornews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ईरान के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की हत्या

छह विश्व शक्तियों के साथ 2015 के एक समझौते ने इसके उत्पादन पर सीमाएं लगा दी थीं, लेकिन जब से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2018 में इस सौदे को छोड़ दिया, ईरान जानबूझकर यूरेनियम संवर्धन पर जोर देता रहा है।

Published

on

By

Majid Shahriari

तेहरान, 28 नवंबर (आईएएनएस)। ईरान के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की राजधानी तेहरान के पास हत्या कर दी गई है। देश के रक्षा मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की है।

बीबीसी के मुताबिक, दमावंद काउंटी के अबसार्ड में एक हमले के बाद फखरीजादेह की अस्पताल में मौत हो गई।

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ मोहम्मद जवाद जरीफ ने फखरीजादेह की हत्या की निंदा करते हुए इसे स्टेट प्रायोजित आतंक की घटना बताया।

पश्चिमी खुफिया एजेंसियों का मानना है कि गुप्त ईरानी परमाणु हथियार कार्यक्रम के पीछे फखरीजादेह एक था।

एक पश्चिमी राजनयिक ने 2014 में मीडिया को बताया था, अगर ईरान ने कभी हथियार (संवर्धन) को चुना, तो फखरीजादेह को ईरानी परमाणु बम के पिता के रूप में जाना जाएगा।

ईरान जोर देकर अपने परमाणु कार्यक्रम को शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए बताता आया है।

लेकिन देश के उत्पादन में समृद्ध यूरेनियम की बढ़ती मात्रा के बारे में ताजा चिंता के बीच हत्या की खबर आई है। सिविल परमाणु ऊर्जा उत्पादन और सैन्य परमाणु हथियार दोनों के लिए समृद्ध यूरेनियम एक महत्वपूर्ण घटक है।

छह विश्व शक्तियों के साथ 2015 के एक समझौते ने इसके उत्पादन पर सीमाएं लगा दी थीं, लेकिन जब से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2018 में इस सौदे को छोड़ दिया, ईरान जानबूझकर यूरेनियम संवर्धन पर जोर देता रहा है।

जनवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति पद संभालने के बाद, जो बाइडन ने ईरान के साथ फिर से जुड़ने का वादा किया है।

2010 और 2012 के बीच, चार ईरानी परमाणु वैज्ञानिकों की हत्या कर दी गई और ईरान ने हत्याओं में इजरायल पर मिलीभगत का आरोप लगाया।

मई 2018 में ईरान के परमाणु कार्यक्रम के बारे में इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की प्रस्तुति में फखरीजादेह का नाम विशेष रूप से उल्लेख किया गया था।

हत्या की खबर पर इजरायल की ओर से कोई टिप्पणी नहीं की गई है। मीडिया के अनुसार पेंटागन ने भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है।

शुक्रवार को एक बयान में, ईरान के रक्षा मंत्रालय ने कहा, हथियारबंद आतंकवादियों ने रक्षा मंत्रालय के शोध और नवाचार संगठन के प्रमुख मोहसिन फखरीजादेह को ले जा रही कार को निशाना बनाया।

मंत्रालय के मुताबिक आतंकवादियों और फखरीजादेह के अंगरक्षकों के बीच हुई झड़प में वो बुरी तरह घायल हो गए और उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया लेकिन दुर्भाग्य से उन्हें मेडिकल टीम द्वारा नहीं बचाया जा सका।

ईरान की समाचार एजेंसी फारस के मुताबिक, चश्मदीदों ने पहले धमाके और फिर मशीनगन से फायरिंग की आवाज सुनी थी।

एजेंसी के अनुसार चश्मदीदों ने तीन-चार चरमपंथियों के भी मारे जाने की बात कही है।

Continue Reading

Most Popular