पाकिस्तान ने किया रॉ एजेंट को गिरफ्तार करने का दावा | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

पाकिस्तान ने किया रॉ एजेंट को गिरफ्तार करने का दावा

Published

on

पश्चिमी पाकिस्तान के बलूचिस्तान में सरक्षा बलों ने दावा किया है कि उन्होंने एक भारतीय जासूस को गिरफ्तार किया गया है।

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि गिरफ्तार शख्स भारतीय नौसेना का अधिकारी था, जिसे भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ ने बलूचिस्तान में तैनात किया था। गिरफ्तार किए गए भारतीय जासूस स्थानीय अलगाववादी लड़ाकों की मदद कर रहे थे।

हालांकि भारत ने अभी तक इस गिरफ्तारी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

बलूचिस्तान के गृह मंत्री मीर सरफराज बुगती ने यह भी दावा किया है कि गिरफ्तार ‘जासूस’ बलूचिस्तान में आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा था। न्यूज एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक, गिरफ्तार शख्स की पहचान भूषण यादव के रूप में की गई है।

एक पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारी ने ‘डॉन’ को बताया, ‘रॉ अधि‍कारी को पूछताछ के लिए इस्लामाबाद ले जाया गया है।’ अधि‍कारी ने बताया कि गिरफ्तार भारतीय नागरिक पर बलूचिस्तान में आतंकवाद के विभिन्न कार्यों और अन्य विध्वंसक गतिविधियों में शामिल होने का संदेह किया गया है। यही नहीं, यह भी आरोप लगाए गए हैं कि भूषण कराची में आतंकवादी हमलों और गतिविधि‍यों में शामिल रहा है।

एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में मीर सरफराज बुगती ने कहा, ‘रॉ के अधिकारी की गिरफ्तारी से यह बात साबित हो गया है कि बलूचिस्तान में हालात बाहरी हस्तक्षेप, खासतौर पर रॉ के कारण खराब हैं। मैं पहले दिन से कह रहा हूँ कि बलूचिस्तान में रॉ काम कर रही है। सब लोग मुझसे सबूत मांगते थे। अब इससे बढ़कर और क्या सबूत होगा कि उनका एक अधिकारी बलूचिस्तान में बैठ कर काम कर रहा है।’

wefornews bureau 

Balochistan, Home Minister, Mir Sarfaraz Bugti, claim, RAW officer, arrest, pakistan,पाकिस्तान ,रॉ एजेंट ,गिरफ्तार

अंतरराष्ट्रीय

अफगानिस्तान में कार धमाके में 26 सुरक्षाबलों की मौत

Published

on

By

IED blast

अफगानिस्तान में एक कार धमाके में 26 अफगान सुरक्षाबलों की मौत हो गई है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी है। 

Wefornews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ईरान के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की हत्या

छह विश्व शक्तियों के साथ 2015 के एक समझौते ने इसके उत्पादन पर सीमाएं लगा दी थीं, लेकिन जब से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2018 में इस सौदे को छोड़ दिया, ईरान जानबूझकर यूरेनियम संवर्धन पर जोर देता रहा है।

Published

on

By

Majid Shahriari

तेहरान, 28 नवंबर (आईएएनएस)। ईरान के शीर्ष परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादेह की राजधानी तेहरान के पास हत्या कर दी गई है। देश के रक्षा मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की है।

बीबीसी के मुताबिक, दमावंद काउंटी के अबसार्ड में एक हमले के बाद फखरीजादेह की अस्पताल में मौत हो गई।

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ मोहम्मद जवाद जरीफ ने फखरीजादेह की हत्या की निंदा करते हुए इसे स्टेट प्रायोजित आतंक की घटना बताया।

पश्चिमी खुफिया एजेंसियों का मानना है कि गुप्त ईरानी परमाणु हथियार कार्यक्रम के पीछे फखरीजादेह एक था।

एक पश्चिमी राजनयिक ने 2014 में मीडिया को बताया था, अगर ईरान ने कभी हथियार (संवर्धन) को चुना, तो फखरीजादेह को ईरानी परमाणु बम के पिता के रूप में जाना जाएगा।

ईरान जोर देकर अपने परमाणु कार्यक्रम को शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए बताता आया है।

लेकिन देश के उत्पादन में समृद्ध यूरेनियम की बढ़ती मात्रा के बारे में ताजा चिंता के बीच हत्या की खबर आई है। सिविल परमाणु ऊर्जा उत्पादन और सैन्य परमाणु हथियार दोनों के लिए समृद्ध यूरेनियम एक महत्वपूर्ण घटक है।

छह विश्व शक्तियों के साथ 2015 के एक समझौते ने इसके उत्पादन पर सीमाएं लगा दी थीं, लेकिन जब से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2018 में इस सौदे को छोड़ दिया, ईरान जानबूझकर यूरेनियम संवर्धन पर जोर देता रहा है।

जनवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति पद संभालने के बाद, जो बाइडन ने ईरान के साथ फिर से जुड़ने का वादा किया है।

2010 और 2012 के बीच, चार ईरानी परमाणु वैज्ञानिकों की हत्या कर दी गई और ईरान ने हत्याओं में इजरायल पर मिलीभगत का आरोप लगाया।

मई 2018 में ईरान के परमाणु कार्यक्रम के बारे में इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की प्रस्तुति में फखरीजादेह का नाम विशेष रूप से उल्लेख किया गया था।

हत्या की खबर पर इजरायल की ओर से कोई टिप्पणी नहीं की गई है। मीडिया के अनुसार पेंटागन ने भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है।

शुक्रवार को एक बयान में, ईरान के रक्षा मंत्रालय ने कहा, हथियारबंद आतंकवादियों ने रक्षा मंत्रालय के शोध और नवाचार संगठन के प्रमुख मोहसिन फखरीजादेह को ले जा रही कार को निशाना बनाया।

मंत्रालय के मुताबिक आतंकवादियों और फखरीजादेह के अंगरक्षकों के बीच हुई झड़प में वो बुरी तरह घायल हो गए और उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया लेकिन दुर्भाग्य से उन्हें मेडिकल टीम द्वारा नहीं बचाया जा सका।

ईरान की समाचार एजेंसी फारस के मुताबिक, चश्मदीदों ने पहले धमाके और फिर मशीनगन से फायरिंग की आवाज सुनी थी।

एजेंसी के अनुसार चश्मदीदों ने तीन-चार चरमपंथियों के भी मारे जाने की बात कही है।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

अर्जेंटीना में माराडोना के निधन पर 3 दिन का राष्र्ट्रीय शोक

ब्रायड के अनुसार, माराडोना का निधन बुधवार को स्थानीय समयानुसार लगभग 12.00 बजे राजधानी के उत्तरी बाहरी इलाके सैन एंड्रेस के पास उनके घर पर हुआ।

Published

on

diego maradona

ब्यूनस आयर्स, 26 नवंबर । अर्जेंटीना की सरकार ने फुटबॉल के महान खिलाड़ी डिएगो माराडोना के निधन पर तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से ये जानकारी दी गई है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, माराडोना के निधन के दिन से तीन दिन का राष्ट्रीय शोक होगा।

माराडोना का निधन बुधवार को राजधानी ब्यूनस आयर्स के उत्तरी बाहरी इलाके में टाइग्रे जिले में उनके घर पर हार्ट अटैक से हुआ।

अर्जेंटीना के सैन इसिद्रो शहर के प्रोसेक्यूटर जनरल जॉन ब्रायड ने कहा कि उनका निधन प्राकृतिक कारणों से हुआ है।

ब्रायड के अनुसार, माराडोना का निधन बुधवार को स्थानीय समयानुसार लगभग 12.00 बजे राजधानी के उत्तरी बाहरी इलाके सैन एंड्रेस के पास उनके घर पर हुआ।

30 अक्टूबर को, माराडोना ने अपना 60 वां जन्मदिन मनाया था।

Continue Reading

Most Popular