खेलऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का बाहर रहना कितना सही?

शार्दुल ठाकुर जिन्होंने इस साल जनवरी में ब्रिसबेन में भारत की ऐतिहासिक जीत में भूमिका अदा की थी उन्हें भी इस मुकाबले में जगह दी गई।
IANSAugust 4, 20214701 min
नॉटिंघम, 4 अगस्त | भारतीय टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ यहां ट्रेंट ब्रिज में जारी पहले टेस्ट मैच में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को बाहर रखा, जिसने सभी को अचंभित कर दिया।

इस फैसले ने पूर्व कप्तान माइकल वॉन और नासिर हुसैन सहित इंग्लिश पंडितों को निराश किया है।

इस बीच, तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने रोरी बर्न्‍स को पहले ही ओवर में आउट कर मेजबान टीम को अचरज में डाल दिया।

अश्विन पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में स्पिनर के रूप में पहली पसंद थे। इंग्लैंड में तीन साल पहले उन्होंने मेजबान टीम को काफी परेशान किया था, विशेषकर बाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए काफी दिक्कतें खड़ी की थी।

उन्होंने हाल ही में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में मददगार वातावरण नहीं होने के बावजूद न्यूजीलैंड को खासा परेशान किया था। सरे के खिलाफ काउंटी चैंपियनशिप में तथा डरहम में अभ्यास मैच में उनकी फॉर्म शानदार थी। अश्विन का बाहर रहना अजीब रहा।

भारत ने स्पिनर के तौर पर रवींद्र जडेजा को लिया जो एक बेहतर बल्लेबाज भी हैं लेकिन आज के समय में वह आक्रमक गेंदबाज के बजाए बल्लेबाज के तौर पर ज्यादा काम आ रहे हैं। उनकी फील्डिंग भी अश्विन से बेहतर है और इसमें कोई दो राय नहीं है।

शार्दुल ठाकुर जिन्होंने इस साल जनवरी में ब्रिसबेन में भारत की ऐतिहासिक जीत में भूमिका अदा की थी उन्हें भी इस मुकाबले में जगह दी गई।

ब्रिटेन के नमी भरे मौसम में पिच पर काफी मोयस्चर रहता है लेकिन साफ मौसम से पिच में काफी स्विंग और तेजी साथ में नहीं हो सकती है।

भारत और इंग्लैंड के बीच 183 वर्ष पुराने ट्रेंट ब्रिज क्रिकेट ग्राउंड में पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला खेला जा रहा है।

पहले दिन भले ही यहां मौसम साफ रहा लेकिन मौसम का अनुमान अन्य दिनों के लिए मिलाजुला है और बारिश की भी संभावना जताई गई है। ऐसे में तेजी मिल सकती है।

अश्विन के अलावा इशांत शर्मा का बाहर रहना भी आश्चर्य करने वाला रहा। इससे मोहम्मद सिराज के लिए दरवाजे खुले। लेकिन इस तथ्य को भी नहीं नकारा जा सकता कि इशांत ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जो प्रदर्शन किया था उससे वह टीम में जगह बनाने के लायक थे।

ऐसी भी अफवाह फैली थी कि इशांत चोटिल हो गए हैं लेकिन उन्होंने इस बात का खंडन उस वक्त कर दिया जब वह लंच ब्रेक में मैदान पर अभ्यास के लिए उतरे।

चयनकर्ताओं ने एक बार फिर ऋषभ पंत पर भरोसा जताया है जो पिछले महीने कोरोना की चपेट में अए थे और डरहम में अभ्यास मैच में शामिल नहीं हुए थे।

रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग बल्लेबाज के तौर पर लोकेश राहुल को जगह मिली है। इंग्लैंड ने स्पिन विशेषज्ञ को नजरअंदाज किया है।

तीन साल पहले अश्विन ने दो पारियों में सिर्फ एक विकेट लिया था जबकि आदिल राशिद ने चार विकेट झटके थे।

(सीनियर क्रिकेट लेखक आशीष रे एक ब्रॉडकास्टर हैं और क्रिकेट वर्ल्ड कप : द इंडियन चैलेंज के लेखक हैं।)

Related Posts