मथुरा हिंसा : मारा गया मास्टरमाइंड रामवृक्ष, डीजीपी ने की पुष्टि | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

मथुरा हिंसा : मारा गया मास्टरमाइंड रामवृक्ष, डीजीपी ने की पुष्टि

Published

on

मथुरा में अतिक्रमण हटाने के दौरान भड़की हिंसा का मास्टरमाइंड रामवृक्ष यादव मारा गया है।

इस बात की पुष्टि खुद उत्तर प्रदेश के डीजीपी जावीद अहमद ने की है। डीजीपी जावीद अहमद ने कहा है कि शिनाख्त के लिए सभी लाशों का डीएनए टेस्ट भी करवाया गया। उसके बाद मृतकों के शवों की शिनाख्त पुलिस ने तस्वीरों के आधार पर की. इसी दौरान पता चला कि हिंसा के दौरान मारे गए लोगों में रामवृक्ष यादव भी शामिल था। एसएसपी मथुरा ने खुद इस बात की जानकारी डीजीपी को दी। गोलीबारी में शहीद एसओ संतोष यादव के अंतिम संस्कार के लिए उनके परिजन मान गए।

इसके बाद शनिवार सुबह शहीद संतोष पंचतत्व में विलीन हो गए। मंत्री पारसनाथ यादव और दूसरे अधिकारियों ने उन्हें तेरहवीं से पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के वहां आने का भरोसा दिलाया है। पहले यादव के परिजन सीएम के आने के बाद ही अंतिम संस्कार की बात कर रहे थे। मंत्री के साथ जौनपुर के प्रशासनिक अधिकारी और सपा के स्थानीय नेता भी मौजूद रहे। इस बीच शुक्रवार देर रात सांसद हेमा मालिनी मथुरा पहुंची। उन्होंने इस हिंसा के लिए राज्य सरकार पर सवाल उठाए।

उन्होंने कहा कि मुझे लोगों की चिंता है, तभी मैं यहां आई हूं। मैं समय-समय पर आती रहती हूं पर राज्य सरकार कहां है? कानून-व्यवस्था कहां है? उन्होंने कहा कि मैं यहां शहीद पुलिस अधिकारियों के परिजनों से मिलूंगी। अस्पताल में घायल पुलिसवालों से मिलूंगी. डीएम से भी मिलूंगी। हेमा मलिनी ने पूछा कि यहां राज्य सरकार क्यों नही आई? मुझसे सवाल पूछने वाले पहले मेरे सवालों का जवाब दें। उन्होंने पूछा कि सरकार और पुलिस के आसपास इतने हथियार जमा हो गए कैसे? उन्होंने कहा कि मुझे तो दो महीने पहले इस कब्जे का पता चला। मैंने अधिकारियों से बात भी की थी।

इस घटना की सीबीआई जांच होनी ही चाहिए। मैं घटनास्थल पर जाऊंगी और धरना-प्रदर्शन में हिस्सा लूंगी। इस बीच सरकारी जमीन पर से अतिक्रमण को पूरी तरह हटा दिया है. यूपी के डीजीपी जावीद अहमद ने कहा कि ‘जवाहर बाग में पुलिस पर हथियारों और लाठियों से हमला हुआ। इसके बावजूद पुलिस ने उपद्रवियों को कड़ी चुनौती दी।’ उन्होंने कहा, फिलहाल जवाहर बाग पूरी तरह खाली करा लिया गया है। उपद्रवियों ने विस्फोटक और गोला-बारूद का इस्तेमाल किया।

झोपड़ियों में गैस सिलेंडर और विस्फोटक छुपा कर रखे गए थे। मथुरा में सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने गई पुलिस टीम पर फायरिंग में SP सिटी मुकुल द्विवेदी और एक SO संतोष कुमार यादव समेत 24 लोगों को मार दिया गया। साथ ही कई पुलिसकर्मी घायल भी हो गए हैं। हिंसा के बाद घटनास्थल से 315 बोर के 45 हथियार और दो 12 बोर के हथियार बरामद किए गए। कार्रवाई के दौरान पुलिस ने 47 पिस्टल और पांच राइफल भी बरामद की।

wefornews bureau

राष्ट्रीय

कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक

Published

on

PM MODI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों और स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक कर रहे हैं। बैठक में वह इन राज्यों में कोविड-19 से निपटने की रणनीति और प्रबंधन की जानकारी ले रहे हैं। बैठक में महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली और पंजाब शामिल हैं। 

बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘देश में 700 से ज्यादा जिले हैं लेकिन सात राज्यों के केवल 60 जिले चिंता का विषय हैं। मैं मुख्यमंत्रियों को सुझाव देता हूं कि सात दिन का एक कार्यक्रम बनाएं और प्रतिदिन एक घंटा दें। वर्चुअल तरीके से हर दिन एक जिले के एक से दो ब्लॉक के लोगों से सीधे बात करें। हमें सबसे बेहतर तरीके सीखने की जरूरत है।’ 

प्रधानमंत्री ने कहा, हमें प्रभावी टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, सर्विलांस और स्पष्ट संदेश पहुंचाने पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। भारत ने मुश्किल समय में भी दुनिया भर में जीवनरक्षक दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित की है। हमें यह देखने के लिए एक साथ काम करना होगा कि दवाएं एक राज्य से दूसरे राज्य तक आसानी से पहुंच रही हैं।

Continue Reading

राष्ट्रीय

किसानों के प्रदर्शन को लेकर राजधानी में चौकसी बढ़ी

Published

on

दिल्ली सहित इसके सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा खुद जगह-जगह निगरानी रखी जा रही है। नई दिल्ली क्षेत्र में धारा 144 पहले ही लगाई जा चुकी है।

नई दिल्ली के डीसीपी ईश सिंघल ने कहा, हमने जगह-जगह इंतजाम कर रखे हैं और उन लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 सहित अन्य संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर रहे हैं, जो आदेशों का उल्लंघन करते हुए पाए जा रहे हैं।

इससे पहले भी यहां की पुलिस ने दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के पहले दिए हुए एक आदेश का हवाला देते हुए कह चुकी है कि 30 सितंबर तक राष्ट्रीय राजधानी में कोई प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा।

रविवार को राज्यसभा में कृषि संबंधी दो विधेयकों को विपक्ष की आपत्ति के बावजूद मंजूरी दिए जाने के बाद कई विपक्षी दलों व कृषि संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

Continue Reading

राष्ट्रीय

दिल्ली पुलिस की चार्जशीट : CAA-NRC विरोध के लिए भाड़े पर लाए गए थे लोग

Published

on

Delhi Violence
File Photo

दिल्ली हिंसा में 53 लोगों की मौत। 500 से ज्यादा घायल। 1700 एफआईआर। करोड़ो की संपत्ति खाक और कभी ना भरने वाले जख्म दिए गए है। इस डरावनी, भयावह तस्वीर में रंग भरा सिर्फ चंद मुट्ठीभर लोगों ने।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली दंगों के मामले में यूएपीए के तहत फिलहाल 15 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। पुलिस की जांच में पूरी साजिश साफ नजर आती है कि कैसे सरकार को घेरने के लिए लोगों के कत्लेआम और संपत्ति को जलाने की साजिश रची गई।

दिल्ली पुलिस पहले ही साफ कर चुकी थी कि दंगो के लिए एक महीने पहले से प्लानिंग की जा रही थी। दिल्ली पुलिस को सबूत मिले हैं कि जनवरी से साजिशकर्ता अपने उन गुर्गों को पैसा पहुंचा रहे थे, जिनके ऊपर दंगा करने की जिम्मेदारी थी।

इसके लिए करीब डेढ़ करोड़ की रकम खातों में पहुंचाई गई। ताकि मौत बांटने का जखीरा तैयार किया जा सके. बाहर से गुंडों को लाया जा सके।

पुलिस ने 17 हजार पन्नो की चार्जशीट में व्हाट्सएप चैट के स्क्रीन शॉट्स भी लगाए हैं। जिसमें साफ नजर आ रहा है कि कैसे पूरी प्लानिंग हुई है। यहां तक कि व्हाट्सएप ग्रुप में कुछ लोग ऐसे भी थे, जो इस साजिश का विरोध कर रहे थे।

लेकिन उनको अनसुना करके साजिश को अमली जामा पहनाया गया। व्हाट्सएप का एक ग्रुप जेसीसी के नाम से है, जिसका मतलब था जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी। दिल्ली सहित देश भर में पहले से ही सीएए और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन चल रहे थे। इन प्रदर्शनों में जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी का सक्रिय रोल था।

इन प्रोटेस्ट में क्या कुछ हो? क्या रणनीति रहे? इसके लिए एक और व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया था, जिसका नाम रखा गया DPSG यानी दिल्ली प्रोटेस्ट सपोर्ट ग्रुप। इसके सक्रिय सदस्यों में सफूरा जरगर, उमर खालिद और पुलिस की चार्जशीट में शामिल वो 20 लोग थे।

जो लगातार हर इलाके में अपनी सक्रियता बढ़ाने में लगे थे। इसी बीच वो तारीख भी नजदीक आ गई, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा शुरू होने वाली थी। तभी 22 फरवरी को आरोपी सफूरा जरगर ने एक संदेश ग्रुप में दिया कि जब तक दंगे नहीं होंगे सरकार हमारी बात नहीं सुनेगी।

पुलिस के मुताबिक सफूरा ने ग्रुप पर डाला कि जगह-जगह सड़के जाम कर दो। मुख्य रास्ते ब्लॉक कर दो। देखते ही देखते जो प्रदर्शन पिछले 100 दिनों से दिल्ली के जामिया और शाहीन बाग में चल रहा था, वो पहले जाफराबाद, चांद बाग, तुर्कमान गेट, खुरेजी सीलमपुर में सड़कों पर आ गया।

यहां तक कि बड़ी संख्या में पिछले काफी समय से शांत बैठी महिलाएं अचानक से हमलावर हो उठी। इन ग्रुप पर ये मैसेज भी भेजे गए कि महिलाओं को मिर्च पाउडर दिया गया है, जिससे वो पुलिस पर हमला कर सकें। और ऐसा हुआ भी।

22 फरवरी को ही जेसीसी ग्रुप पर सहज़ार रजा खान ने लिखा कि जामिया में ताकत है कि इसको सारे देश मे फैला सके। बस जामिया की एक लड़की हर जगह होनी चाहिए। इसके बाद सफूरा ने लिखा कि सहज़ार बस करो सारा प्लान इसी ग्रुप पर लिख दोगे क्या।

ऐसा नहीं है कि ये साजिश चल रही थी और पुलिस समेत अन्य जांच एजेंसिया आंख मूंद कर बैठी थी. पुलिस को सब ख़बर थी. यहां तक कि पुलिस को ये जानकारी भी थी कि किस तरह से बसों में भरकर लोगों को शाहीन बाग या अन्य धरना स्थलों पर भेजा जा रहा है. उसके बावजूद कोई एक्शन क्यों नहीं लिया गया. क्या पुलिस ने वही गलती दोहराई जो उसने शाहीन बाग को 6 महीने से ज्यादा समय तक बंधक कर देने वालों के खिलाफ की थी. 

दिल्ली में 22 फरवरी को एक व्हाट्सएप ग्रुप में डाला गया “जब तक दंगा नहीं होगा, हमारी कोई नहीं सुनेगा.” जिसके बाद 23 फरवरी से दिल्ली में दंगे की शुरुआत हो गई।

दिल्ली दंगों को लेकर स्पेशल सेल की चार्जशीट से खुलासा हुआ कि CAA विरोध प्रदर्शन के लिए कई लोगों को रोज़ के हिसाब से पैसों का भुगतान किया गया। मतलब ये कि दिहाड़ी मज़दूरी करने वालों को पैसे देकर प्रोटेस्ट के लिए बुलाया गया। 

दिल्ली दंगो को लेकर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कड़कड़डूमा अदालत में चार्जशीट दाख़िल की है। इस मामले में एक आरोपी सफूरा जरगर की चैट चार्जशीट का हिस्सा है। इस मैसेज को 22 फरवरी को सफूरा ने जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी के व्हाट्सएप ग्रुप में डाला था।

उसने मैसेज डाला था कि “जफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास चक्का जाम कर दिया गया है और लोगों को वहां पर चक्का जाम को सपोर्ट के लिए इकठ्ठा करना है।

यह भी तय किया गया था कि फरवरी 23 को चांद बाग से इकठ्ठा होकर बाकी साइट्स पर जाकर चक्का जाम करना है। क्योंकि चक्का जाम होगा। तभी दंगा होगा। क्योंकि जब तक दंगा नहीं होगा, तब तक हमारी बात कोई नहीं सुनेगा।

WeForNews

 

Continue Reading
Advertisement
Rohit Sharma
खेल9 hours ago

आईपीएल-13 : रोहित शर्मा की आंधी, KKR पर Mumbai की रिकॉर्ड जीत

rahul-gandhi
राजनीति13 hours ago

राहुल का तंज- मप्र में कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ किया, भाजपा ने झूठे वाद किए

PM MODI
राष्ट्रीय13 hours ago

कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बैठक

Tomato
व्यापार13 hours ago

महंगे हुए आलू-टमाटर की दिल्ली सरकार ने की समीक्षा

राष्ट्रीय13 hours ago

किसानों के प्रदर्शन को लेकर राजधानी में चौकसी बढ़ी

shashi tharoor
राजनीति14 hours ago

दिनकर को मालूम था इक दिन ऐसे नेता आएंगे, अन्नदाता का हक छीनेंगे : शशि थरूर

शहर14 hours ago

नोएडा: दवा बनाने वाली कंपनी में लगी भीषण आग

Delhi Violence
राष्ट्रीय14 hours ago

दिल्ली पुलिस की चार्जशीट : CAA-NRC विरोध के लिए भाड़े पर लाए गए थे लोग

राष्ट्रीय14 hours ago

कृषि विधेयक पर गरमाई राजनीति, 25 सितंबर को भारत बंद का एलान

राजनीति14 hours ago

गुलाम नबी ने की राष्ट्रपति से मुलाकात, कृषि विधेयकों को वापस करने का किया अनुरोध

Mayawati
राजनीति2 weeks ago

मायावती शासन की अनियमितताओं पर शुरू होगी कार्रवाई

राजनीति3 days ago

किसान बिल पर हंगामे के चलते राज्यसभा के 8 सांसद निलंबित

Rhea-
मनोरंजन2 weeks ago

सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती को भेजा गया मुंबई जेल

former president pranab-mukjerjee
राष्ट्रीय3 weeks ago

भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति का 84 साल की उम्र में निधन

राष्ट्रीय4 weeks ago

सुशांत केस : रिया के भाई से सीबीआई की पूछताछ जारी

Blood Pressure machine
लाइफस्टाइल4 weeks ago

हाई-ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन में वायु प्रदूषण का योगदान : शोध

Sonia Gandhi and Rahul
ब्लॉग3 weeks ago

कांग्रेस की बीमारियां उन्हें क्यों सता रहीं जिन्होंने इसे वोट दिया ही नहीं?

Rhea Chakraborty
मनोरंजन3 weeks ago

सुशांत मामला : रिया से आज फिर पूछताछ करेगी सीबीआई

खेल4 weeks ago

राष्ट्रीय खेल दिवस: खेल रत्न, अर्जुन अवॉर्ड, द्रोणाचार्य-ध्यानचंद पुरस्कार की पूरी लिस्ट

Supreme Court
राष्ट्रीय2 weeks ago

लोन मोरेटोरियम केस: SC ने कहा- आखिरी सुनवाई से पहले जवाब दाखिल करे सरकार

8 suspended Rajya Sabha MPs
राजनीति2 days ago

रात में भी संसद परिसर में डटे सस्पेंड किए गए विपक्षी सांसद, गाते रहे गाना

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय4 days ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन1 month ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Modi Independence Speech
राष्ट्रीय1 month ago

Protected: 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का भाषण, कहा अगले साल मनाएंगे महापर्व

राष्ट्रीय2 months ago

उत्तराखंड में ITBP कैम्‍प के पास भूस्‍खलन, देखें वीडियो

Kapil Sibal
राजनीति3 months ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय5 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर5 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य5 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति5 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

Most Popular