पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर मुस्लिम समुदाय में भारी रोष है। जुमे की नमाज के बाद देशभर के कई शहरों में भारी संख्या में लोग जमा होकर नूपुर शर्मा और नवीन कुमार जिंदल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

इस क्रम में दिल्ली, कोलकाता, और हावड़ा के साथ ही उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, लखनऊ और प्रयागराज में भी प्रदर्शन जारी है।

यूपी के प्रयागराज में हिंसा, कुछ जिलों में विरोध प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और सहारनपुर में पैगंबर पर भाजपा के पूर्व प्रवक्ताओं (नवीन कुमार जिंदल और नूपुर शर्मा) की पैगंबर मुहम्मद पर अभद्र टिप्पणी करने के विरोध को लेकर शुक्रवार को नमाज के बाद हिंसा और नारेबाजी की घटनाएं सामने आईं।

प्रयागराज के अटाला में नमाज के बाद परेशानी तब शुरू हुई जब प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी शुरू कर दी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को अलग-अलग दिशाओं में जाने से रोकने की कोशिश की। हालांकि, कुछ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया जिसकी जवाबी कार्रवाई में आंसू गैस के गोले छोड़े गए।

सहारनपुर में प्रदर्शनकारियों ने भाजपा के पूर्व प्रवक्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी की। इसी तरह के ²श्य मुरादाबाद और लखनऊ से सामने आए।

लखनऊ में, टाइल वाली मस्जिद में हजारों प्रदर्शनकारियों को पुलिस बल द्वारा बैरिकेड्स पार करने से रोका गया। अतिरिक्त महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि स्थिति में शांति सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त बल तैनात किए गए हैं। उन्होंने कहा कि स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है और अधिकारी सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रखे हुए हैं।राज्य के अन्य शहरों के कुछ इलाकों में नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में मुसलमानों ने अपनी दुकानों के शटर गिरा दिए। कुछ जगहों पर मुस्लिमों ने अपनी मांगों को लेकर जिला अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा।

जामा मस्जिद में नूपुर शर्मा के बयान का विरोध

राष्ट्रीय राजधानी की जामा मस्जिद में भाजपा से निष्कासित नेताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बाद दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है और सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “लोग महज 15-20 मिनट के लिए बड़ी संख्या में जमा हो गए थे, जिसके बाद भीड़ तितर-बितर हो गई। स्थिति अब नियंत्रण में है।”

अल्पसंख्यक समुदाय के लोग जुमे की नमाज के तुरंत बाद यहां जामा मस्जिद के बाहर सीढ़ियों पर जमा हो गए थे और वे भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन कुमार जिंदल के खिलाफ तख्तियां लिए हुए थे। आंदोलनकारी निलंबित भाजपा नेताओं की तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

पुलिस ने कहा- ‘स्थिति नियंत्रण में है

जामा मस्जिद में भाजपा से निष्कासित नेताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बाद दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है और सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “लोग महज 15-20 मिनट के लिए बड़ी संख्या में जमा हो गए थे, जिसके बाद भीड़ तितर-बितर हो गई। स्थिति अब नियंत्रण में है।”

अल्पसंख्यक समुदाय के लोग जुमे की नमाज के तुरंत बाद यहां जामा मस्जिद के बाहर सीढ़ियों पर जमा हो गए थे और वे भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन कुमार जिंदल के खिलाफ तख्तियां लिए हुए थे। आंदोलनकारी निलंबित भाजपा नेताओं की तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

अधिकारी ने कहा, “दिल्ली पुलिस की पूर्व अनुमति के बिना विरोध प्रदर्शन किया गया था, इसलिए कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी।”

शाही इमाम बोले, हमने नहीं दी प्रदर्शन की इजाजत

दिल्ली की जामा मस्जिद में जुमे की नमाज के बाद हुए भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन अब खत्म हो गया है। मस्जिद में शुरूआत में कुछ लोग इकट्ठा हुए और प्रदर्शन करने लगे, वहीं अब इलाके में हालात सामान्य है।

इस मसले पर दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने नयूज एजेंसी को बताया कि, बीती रात से मेरे पास सोशल मीडिया के माध्यम से खबरें आ रहीं थीं, प्रदर्शन और भारत बंद को लेकर। जामा मस्जिद के भी बाजार बंद करने की बात मुझसे कही, लेकिन हमारी तरफ से मना कर दिया गया, अचानक जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन की आवाज शुरू हो गई, प्रदर्शन करने वाले कौन लोग, कहां से आए इसकी जानकारी नहीं। दिल्ली पुलिस को इनकी पहचान करनी चाहिए, किसी राजनितिक पार्टी से भी अगर ये लोग संबंध रखते हैं तो दिल्ली पुलिस कार्रवाई करे।

रांची में बवाल, पथराव करने वाले प्रदर्शनकारियों पर पुलिस का लाठीचार्ज, हवाई फायरिंग

भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा के बयान पर उठा बवाल शुक्रवार को रांची पहुंच गया। जुमे की नमाज के बाद मेन रोड में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने नारेबाजी के बाद अचानक पथराव शुरू किया। उन्हें रोकने के लिए पुलिस ने कई राउंड हवाई फायरिंग की है। उग्र प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज भी किया गया। पथराव और लाठीचार्ज में एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी और प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं। शाम चार बजे समाचार लिखे जाने तक हजारों प्रदर्शनकारी मेन रोड में जमे हुए हैं। हालात को नियंत्रित करने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स और बड़ी तादाद में पुलिसकर्मी बुलाये गये हैं।

हंगामे की वजह से मेन रोड में लगभग तीन किलोमीटर के दायरे में सभी दुकानें बंद हो गयी हैं। शहर के डोरंडा इलाके में भी जबर्दस्त प्रदर्शन हुआ है। शुक्रवार को शहर में मुस्लिम समाज के लोगों ने नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दुकानें बंद रखीं। शहर का डेली मार्केट सुबह से ही पूरी तरह बंद है। दो बजे नमाज के बाद हजारों लोग नारे लगाते हुए अचानक मेन रोड पर उतर आये। भीड़ जब भगदड़ की शक्ल में मेन रोड एकरा मस्जिद से आगे बढ़ने लगी तो पुलिस बल ने उन्हें रोकने की कोशिश की। इसपर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। सड़क किनारे खड़ी कई बाइक और गाड़ियां तोड़ दी गयीं। इसपर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इसके बाद भी हालात काबू में नहीं आये तो कई राउंड फायरिंग की गयी है। इस घटना की खबर फैलते ही शहर के कई इलाकों में दुकानें बंद हो गयी हैं। रांची के एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा और सिटी एसपी अंशुमन सहित कई वरीय पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं।

कोलकाता में पुलिसकर्मी ने की गोलीबारी, महिला की मौत

कोलकाता के पार्क सर्कस इलाके में शुक्रवार दोपहर बांग्लादेश उप-उच्चायोग के सामने एक पुलिसकर्मी ने कथित रूप से गोलीबारी की, जिससे एक महिला की मौत हो गई। इसके बाद पुलिसकर्मी ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी ने अपनी राइफल से गोलीबारी की और दोपहिया वाहन के पीछे बैठी महिला को गोली लग गई, जिसके बाद वह वाहन से गिर गई। अधिकारियों ने बताया कि गोलीबारी के चलते इलाके में अफरा-तफरी मच गई।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि महिला की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि पुलिसकर्मी ने कुछ देर गोलीबारी करने के बाद अपने सिर पर गोली मार ली। घटना का प्रत्यक्षदर्शी होने का दावा करने वाले बबलू शेख ने कहा, ”पूरी घटना करीब पांच मिनट तक चली।” घटना के कुछ मिनट बाद भारी संख्या में पुलिसकर्मी वहां पहुंचे और शवों को ले गए।

पुलिस ने कहा कि मामले की जांच जारी है।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275