नीति आयोग ने यूपी का 9000 करोड़ रुपये छीना : अखिलेश यादव | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राजनीति

नीति आयोग ने यूपी का 9000 करोड़ रुपये छीना : अखिलेश यादव

Published

on

यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी ने यूपी की जनता के साथ धोखा किया है। लखनऊ के इंदिरा प्रतिष्ठान में आयोजित एक कार्यक्रम में अखिलेश ने कहा, “राजनीति तो लास्ट ऑप्शन होता है। मैंने किसी स्टूडेंट से आज तक नहीं सुना कि वह नेता बनना चाहता है।”

मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा, “यूपी की जनता ने बीजेपी को सबसे ज्यादा सांसद दिए हैं, लेकिन नीति आयोग ने यूपी का 9000 करोड़ रुपये काटा है। संगम में पहुंचकर लोग बहुत कुछ भूल जाते हैं। यूपी का पैसा छीना गया है, बीजेपी उसका हिसाब दे।”

अखिलेश ने कहा, “सूरज बनना है तो जलना सीखो, छात्र नेता नहीं आईएएस बनना चाहते हैं।”

उन्होंने बताया, “यूपी के बाद अब बिहार, राजस्थान में लैपटॉप बंट रहा है। प्रदेश में हर तरफ विकास हो रहा है। बहराइच से श्रावस्ती की सड़क हमने बनाई है। आगरा और लखनऊ एक्सप्रेस-वे बना रहे हैं।”

मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा कि देश में सबसे ज्यादा युवाओं की संख्या यूपी में है, आने वाली पीढ़ियों के लिए फंड बनाना जरूरी है, सब संपन्नता के रास्ते पर जाना चाहते हैं। नौजवान रोजगार और नौकरी चाहते हैं, समाजवादियों का रास्ता खुशहाली की ओर जाता है।

अखिलेश ने कहा कि मेहनत करने वालों को कोई ताकत नहीं रोक सकती, अब्दुल कलाम जैसे साधारण लोग बड़ी ऊंचाई पर पहुंचे और राष्ट्रपति बने।

उन्होंने कहा, “केवल पढ़ाई हो और अनुभव के साथ दूसरे हुनर न हों तो भी बेकार है। यूपी बोर्ड दुनिया का सबसे बड़ा बोर्ड है। करीब सवा करोड़ बच्चों ने यूपी बोर्ड पास किया है। सरकार के सामने बहुत बड़ी चुनौती है। हमें गर्व है कि सबसे युवा देश भारत है।”

अखिलेश ने कहा कि कलाम साहब के साथ और भी लोग हैं जिन्होंने गांव में रहकर नाम कमाया। अगर किसी ने लिंकन के बारे में पढ़ा होगा तो जानता होगा कि हर मोड़ पर असफलता देखने के बाद वह ताकतवर देश के राष्ट्रपति बन गए।

wefornews bureau

keywords: Policy Commission, snatched Rs 9,000 crore in UP, Akhilesh Yadav,नीति आयोग,अखिलेश यादव

राजनीति

कृषि बिल पर सोनिया गांधी ने सोमवार को बुलाई बैठक

Published

on

किसानों के मुद्दे को लेकर कांग्रेस सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार को एक बैठक बुलाई है। इस बैठक के दौरान सोनिया गांधी सभी कार्यकर्ताओं के सामने न्यू फॉर्म बिल को लेकर चर्चा करेंगी।

सभी महासचिवों, प्रदेश यूनिट इंचार्ज और कमेटी के सदस्यों को इस बैठक में शामिल होने के लिए कहा गया है। कांग्रेस जल्द ही न्यू फॉर्म बिल के खिलाफ आंदोलन शुरू करने वाली है। माना जा रहा है कि इस बैठक में उसी रणनीति पर चर्चा की जाएगी।

जाहिर है किसानों से जुड़े दो विधेयकों के खिलाफ संसद से लेकर सड़क तक कड़ा विरोध देखने को मिल रहा है। इसके बावजूद गुरुवार को दोनों बिल लोकसभा में पारित हो गए हैं. अब यह बिल रविवार को राज्यसभा में रखा जाएगा। सरकार को उम्मीद है कि वह इस कृषि बिल को राज्यसभा से भी पास करा लेगी.

वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साध रही है। कांग्रेस ने केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि किसान की आमदनी दोगुनी करने का जुमला छोड़कर अपनी बातों में फंसाया था; आज उस शासक ने किसानों के लिए काले अध्यादेश पारित करवाये हैं। किसानों के खिलाफ साजिश रचकर कृषि क्षेत्र को चंद पूंजीपति मित्रों को सौंपा जा रहा है।

WeForNews

Continue Reading

राजनीति

बिहार में एआईएमआईएम व समाजवादी जनता दल (डी) मिलकर लड़ेंगे चुनाव

Published

on

asaduddin owaisi

सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआईएमआईएम) और पूर्व सांसद देवेंद्र यादव की पार्टी समाजवादी जनता दल (डेमोक्रेटिक) मिलकर एक गठबंधन के तहत चुनाव लड़ेंगे। नए गठबंधन का नाम संयुक्त जनतांत्रिक सेक्यूलर गठबंधन (यूडीएसए) रखा गया है।

पटना में शनिवार को सांसद ओवैसी और देवेंद्र प्रसाद यादव ने एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में इसकी घोषणा करते हुए कहा कि बिहार को भ्रष्टचार मुक्त, अपराध मुक्त, बाढ़ और सुखाड़ मुक्त बनाने के लिए यह गठबंधन बना है।

देवेंद्र यादव ने कहा कि बिहार में विपक्ष अपना कर्तव्य नहीं निभा रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार में पिछले 30 वर्षो में 3 करोड़ से ज्यादा लोगों का पलायन हुआ। सारे उद्योग धंधे बंद हो गए, आखिर इसके लिए कौन जिम्मेदार है।

इधर, ओवैसी ने बिहार में किसी भी महागठबंधन के असतित्व को नकारते हुए कहा कि पिछले चुनाव में महागठबंधन के नाम पर लोगों के वोट तो ले लिए गए। उन्होंने कहा कि महागठबंधन बनाकर जनता को धोखा दिया गया।

पिछले चुनाव में महागठबंधन में नीतीश कुमार थे, अब वे भाजपा के साथ हैं। एक प्रश्न के उत्तर में ओवैसी ने कहा कि जो लोग हमें वोटकटवा कहते हैं, वे 2019 के चुनाव में अपने हश्र को याद कर लें। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र है कि किसी के वोट पर किसी का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम वोटरों पर किसी का अधिकार नहीं है। कोई मुस्लिम वोटरों पर किस हैसियत से दावा करता है यह पता नहीं चलता।

ओवैसी से सीटों के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि आने वाले समय में इसकी घोषणा कर दी जाएगी। मिल बैठकर सब कुछ तय कर लिया जाएगा।

Continue Reading

राजनीति

सरकार अपने अमीर खरबपति दोस्तों को कृषि क्षेत्र में घुसाने के लिए आतुर : प्रियंका

Published

on

Priyanka-Gandhi
File Photo

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि किसानों के लिए ये कठिन समय है। सरकार को एमएसपी व किसानों की फसल खरीद के सिस्टम में इस समय उनकी मदद करनी चाहिए थी लेकिन हुआ उसके ठीक उल्टा।

बीजेपी सरकार अपने अमीर खरबपति दोस्तों को कृषि क्षेत्र में घुसाने के लिए ज्यादा आतुर दिख रही है। वो किसानों की बात तक नहीं सुनना चाहती।

वहीं, कल कांग्रेस ने कहा, ‘’इस सरकार से किसानों का विश्वास उठ चुका है और वह देश के किसान और मजदूरों को बरगला रही है। पार्टी ने यह भी कहा कि इस कुरुक्षेत्र में सरकार ‘कौरव’ है और किसान-मजदूर ‘पांडव’ हैं और कांग्रेस, पांडवों के साथ खड़ी है।

बता दें प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को देश के किसानों को आश्वस्त किया कि लोकसभा से पारित कृषि सुधार संबंधी विधेयक उनके लिए रक्षा कवच का काम करेंगे और नए प्रावधान लागू होने के कारण वे अपनी फसल को देश के किसी भी बाजार में अपनी मनचाही कीमत पर बेच सकेंगे।

WeForNews


Continue Reading

Most Popular