प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 अप्रैल(रविवार) को जम्मू-कश्मीर के दौरे पर जा रहे हैं। राज्य के अपने दौरे के दौरान प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में शामिल होकर जम्मू से देश भर के सभी पंचायती राज प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे।

इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर के विकास को लेकर लगातार प्रतिबद्धिता जाहिर करने वाले प्रधानमंत्री जम्मू-कश्मीर में 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास भी करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 अप्रैल, 2022 को लगभग 11:30 बजे राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में भाग लेने के लिए जम्मू और कश्मीर का दौरा करेंगे और वहां से देश भर की सभी ग्राम सभाओं को संबोधित करेंगे। वह सांबा जिले की पल्ली पंचायत का दौरा कर , वहां 500 किलोवाट के सौर ऊर्जा संयंत्र का उद्घाटन करेंगे।

इसके साथ ही पल्ली की पंचायत कार्बन न्यूट्रल बनने वाली देश की पहली पंचायत हो जाएगी।

जम्मू कश्मीर की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी 3100 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनी बनिहाल काजीगुंड रोड टनल का उद्घाटन करेंगे। 8.45 किमी यह लंबी सुरंग बनिहाल और काजीगुंड के बीच सड़क की दूरी को 16 किमी कम कर देगी और यात्रा के समय को लगभग डेढ़ घंटे कम कर देगी।

यह सुरंग जम्मू और कश्मीर के बीच हर मौसम में संपर्क स्थापित करने और दोनों क्षेत्रों को करीब लाने में मदद करेगी।

इसके साथ ही पीएम मोदी 7,500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बन रहे तीन रोड पैकेजों, दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखेंगे। जम्मू कश्मीर को बिजली के मामले में आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी रतले और क्वार जलविद्युत परियोजना की आधारशिला भी रविवार को रखेंगे।

किश्तवाड़ जिले में चिनाब नदी पर लगभग 5300 करोड़ रुपये की लागत से 850 मेगावाट की रतले जलविद्युत परियोजना का निर्माण किया जाएगा। वहीं किश्तवाड़ जिले में ही चिनाब नदी पर 4500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से 540 मेगावाट की क्वार जलविद्युत परियोजना भी बनाई जाएगी।

इन दोनों परियोजनाओं से राज्य की बिजली जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी।जम्मू कश्मीर की धरती से ही प्रधानमंत्री आजादी के अमृत महोत्सव के तहत देश के प्रत्येक जिले में 75 तालाबों के निर्माण,विकास या कायाकल्प के उद्देश्य को लेकर अमृत सरोवर योजना का शुभारंभ भी करेंगे।

जम्मू-कश्मीर में जन औषधि केंद्रों के नेटवर्क का और विस्तार करने और सस्ती कीमतों पर अच्छी गुणवत्ता वाली जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए, 100 कार्यात्मक केंद्रों प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा। ये केंद्र, इस केंद्र शासित प्रदेश के सुदूर कोनों में स्थित हैं।

प्रधानमंत्री योजना के तहत लाभार्थियों को स्वामित्व कार्ड सौंपेंगे। वह पंचायतों को पुरस्कार राशि भी हस्तांतरित करेंगे, जो राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर विभिन्न श्रेणियों में उनकी उपलब्धियों के लिए दिए गए पुरस्कारों के विजेता हैं। प्रधानमंत्री इनटैक फोटो गैलरी का भी दौरा करेंगे, जिसमें क्षेत्र की ग्रामीण विरासत को दर्शाया गया है।

अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर के संबंध में संवैधानिक सुधारों ( 370 हटाने और राज्य के पुनर्गठन के बाद) की शुरुआत के बाद से ही मोदी सरकार लगातार युद्धस्तर पर राज्य के विकास और राज्य की जनता के कल्याण के लिए कार्य करने का दावा कर रही है।

इस यात्रा के दौरान भी प्रधानमंत्री मोदी, जिन परियोजनाओं का उद्घाटन कर रहे हैं और जिनकी आधारशिला रख रहे हैं, वे बुनियादी सुविधाओं के प्रावधान को सुविधाजनक बनाने, गतिशीलता में आसानी और क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के विकास को सुनिश्चित करने में एक लंबा सफर तय करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जम्मू कश्मीर के इस दौरे को , इस केंद्रशासित प्रदेश के लिए राजनीतिक लिहाज से भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

दरअसल, जम्मू कश्मीर से 370 को हटाने और राज्य का पुर्नगठन कर इसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित करते समय ही सरकार की तरफ से यह वादा किया गया था कि उचित समय पर जम्मू कश्मीर में चुनाव करवाए जाएंगे और सही समय आने पर इसे राज्य का दर्जा वापस दे दिया जाएगा।

बताया जा रहा है कि इस साल के अंत तक जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव करवाए जा सकते हैं।

Share.

Leave A Reply