खेलपैरालम्पिक (टेटे) : भाविना ने जीता रजत, भारत को दिलाया पहला पदक

IANSAugust 29, 202111511 min

भारतीय महिला पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल को यहां चल रहे टोक्यो पैरालम्पिक खेलों में महिला एकल वर्ग के क्लास 4 इवेंट के फाइनल में चीन की झोउ यिंग के हाथों 0-3 से हार का सामना कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। इसके साथ ही भारत को टोक्यो में अपना पहला पदक मिला।

 

यिंग ने शुरूआत से ही मुकाबले में अपनी पकड़ बनाई रखी। भाविना को पहले गेम में यिंग ने 11-7 से हराया जबकि दूसरे गेम में उन्हें विश्व की नंबर-1 खिलाड़ी के हाथों 11-5 से हार का सामना करना पड़ा। यिंग ने तीसरे गेम को भी आसानी से 11-6 से अपने नाम कर स्वर्ण पदक हासिल किया।

 

विश्व की 12वें नंबर की खिलाड़ी भाविना का टोक्यो पैरालम्पिक में सफर शानदार रहा और उन्होंने फाइनल तक का सफर तय करने के लिए 2016 रियो पैरालम्पिक की स्वर्ण और रजत पदक विजेता को मात दी।

 

पहली बार पैरालम्पिक में शामिल हुईं भाविना के रजत पदक जीतने से भारत ने टोक्यो पैरालम्पिक में अपना पहला पदक हासिल किया। भाविना ने शुक्रवार को सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ ही देश के लिए पदक पक्का कर लिया था। उनकी कोशिश स्वर्ण जीतने की थी, हालांकि ऐसा हो नहीं सका। लेकिन भाविना ने रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। वह पहली भारतीय महिला पैरा टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं जिन्होंने पैरालम्पिक में इस इवेंट में कोई पदक जीता है।

 

इसके साथ ही भाविना दीपा मलिक के बाद दूसरी महिला एथलीट हैं जिन्होंने पैरालम्पिक में पदक जीता है।

 

भारत ने अबतक पैरालम्पिक में तीन स्पोटर्स में 12 पदक जीते हैं जिनमें एथलेटिक्स (तीन स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य), पावरलिफ्टिंग (एक कांस्य) और तैराकी (एक स्वर्ण) शामिल है। लेकिन टोक्यो पैरालम्पिक में यह भारत का पहल पदक है।

 

भाविना ने 2017 में बीजिंग में हुए अंतर्राष्ट्रीय टेबल टेनिस महासंघ एशियाई पैरा टेटे चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था।

 

— आईएएनएस

Related Posts