हरारे एकदिवसीय : जिम्बाब्वे ने टॉस जीता, बल्लेबाजी का फैसला | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

खेल

हरारे एकदिवसीय : जिम्बाब्वे ने टॉस जीता, बल्लेबाजी का फैसला

Published

on

जिम्बाब्वे के कप्तान ग्रीम क्रेमर ने भारत के खिलाफ तीन एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला के तीसरे मैच में बुधवार को टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है।

भारत की टीम ने अपने तीसरे एकदिवसीय मुकाबले में एक बदलाव किया है। टीम में करुण नायर के स्थान पर फैज याकूब फजल को शामिल किया गया है।

जिम्बाब्वे ने अपनी टीम में पांच बदलाव किए हैं। टीम में पांच खिलाड़ियों मेल्कोम वालेर, टिमयसेन मारुमा, तवांडा मुपारिवा, नेविले माडजिवा और डोनाल्ड टिरिपानो को शामिल किया गया है।

इससे पहले भारत ने सोमवार को हुए दूसरे मैच में जिम्बाब्वे को आठ विकेट से हराया था।

2005 में आखिरी बार जिम्बाब्वे के दौरे पर आए भारतीय टीम के कप्तान धौनी लंबे समय के बाद यहां खेल रहे हैं।

wefornews bureau 

key words: COMPITION, IND VS ZIM, INDIA TEAM, M S DHONI ZIMBABWE TOUR, ODI SERIES, PLAYERS, खेल

खेल

वेस्ट हैम युनाइटेड के कोच और दो खिलाड़ी कोविड-19 पॉजिटिव

Published

on

लंदन, 23 सितंबर (आईएएनएस)। इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) के क्लब वेस्ट हैम युनाइटेड के मुख्य कोच डेविड मोयेस और दो खिलाड़ी इस्सा डिओप तथा जोश कुलैन कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं।

क्लब ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी।

क्लब ने एक बयान में कहा, वेस्ट हैम युनाइटेड इस बात की पुष्टि करता है कि डेविड मोयेस, इसा डिओप और जोश कुलेन का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है।

टीम कारावाओ कप के लिए लंदन स्टेडियम में थी तब क्लब की मेडिकल टीम को इस बात की जानकारी दी गई।

क्लब ने बयान में कहा है, इन तीनों में किसी तरह के लक्षण नहीं हैं। हम अब इंग्लैंड और इंग्लिश फ्रीमियर लीग की स्वास्थ गाइडलाइंस और प्रोटोकॉल्स का पालन करेंगे।

Continue Reading

खेल

आईपीएल-13 : रॉयल्स की विजयी शुरुआत, चेन्नई को 16 रनों से पटका

Published

on

शारजाह, 23 सितंबर (आईएएनएस/ग्लोफैंस)। पहले मैच में बेहतरीन शुरुआत करने वाली चेन्नई सुपर किंग्स मंगलवार को आईपीएल के 13वें सीजन के अपने दूसरे मैच में राजस्थान रॉयल्स के हाथों हार गई।

राजस्थान का यह इस सीजन का पहला मैच था जिसे उसने 16 रनों से जीता। राजस्थान के बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों चले, लेकिन तीन बार की विजेता सीएसके के लिए इस मैच में कुछ भी अच्छा नहीं रहा। राजस्थान ने 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 216 रन बनाए। सीएसके 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 200 रन ही बना सकी।

राजस्थान के मजबूत स्कोर की बुनियाद संजू सैमसन (74 रन, 32 गेंदें, नौ छक्के, एक चौका), स्टीव स्मिथ (69 रन, 47 गेंदें, चार चौके, चार छक्के) ने रखी, जिसे जोफ्रा आर्चर ने आठ गेंदों पर चार छक्कों की मदद से 27 रन बनाकर पूरा किया। आर्चर ने आखिरी ओवर में चार छक्के मारे और राजस्थान ने कुल 30 रन इस ओवर में लिए जिसके कारण वह चेन्नई के सामने 217 रनों का लक्ष्य रख सकी।

विशाल लक्ष्य के सामने सीएसके को जिस तरह की शुरुआत की जरूरत थी वो उसे मिली। पहले मैच में फ्लॉप रहने वाली शेन वाटसन और मुरली विजय की सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 56 रन जोड़े।

पावर प्ले के बाद आए लेग स्पिनर राहुल तेवतिया की गेंद पर वाटसन (33 रन, 21 गेंद, एक चौका, चार छक्के चूक गए और बोल्ड हो गए। इसी के साथ इस साझेदारी का अंत हुआ और सीएसके के पटरी पर से उतरने की शुरुआत। वाटसन के बाद विजय (21 रन, 21 गेंद) को श्रेयस गोपाल ने सैम कुरैन के हाथों कैच कराया।

इन दोनों के जाने के बाद चेन्नई का स्कोर 58 रनों पर दो विकेट हो गया और चेन्नई दबाव में आ गई।

राजस्थान को पहली सफलता दिलाने वाले तेवतिया को सैम कुरैन ने अपने हाथ लिया और दो छक्के सहित छह गेंदों पर 17 रन बनाए। इसी ओवर में एक और बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में कुरैन स्टम्पिंग हो गए।

यही हाल अंबाती रायडू की जगह आए ऋतुराज गायकवाड़ का हुआ। वह पहली ही गेंद पर बड़े शॉट के लिए गए और सैमसन ने स्टम्प करने में कोई गलती नहीं की। अब सीएसके का स्कोर नौ ओवरों में 77 रनों पे चार विकेट था। यहां से जीत काफी मुश्किल लग रही थी।

केदार जाधव (22), फाफ डु प्लेसिस (72 रन, 37 गेंद, सात छक्के, 1 चौका), महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 29) ने कोशिश की लेकिन टीम जीत नहीं सकी।

सीएसके के पक्ष में कुछ रहा तो वो था टॉस जिसे जीतकर उसने राजस्थान को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। अंडर-19 विश्व कप में बल्ले से धमाल माचने वाले यशस्वी जयसवाल आईपीएल पदार्पण में कुछ खास नहीं कर सके। दीपक चहर की गेंद को मारने के प्रयास में गेंद उनके बल्ले का ऊपरी किनारा लेकर हवा में खड़ी हुई और चहर ने ही कैच पकड़ इस युवा बल्लेबाज को पवेलियन भेजा। आउट होने से पहले जयासवाल ने चहर पर चौका भी लगाया था और इसी चौके के दम पर वह छह रन बना सके।

इसके बाद आए सैमसन ने आते ही अपना आक्रामक अंदाज दिखाया और तेजी से रन बनाए। उन्होंने 19 गेंदों पर अपने 50 रन पूरे किए। यह सैमसन का सबसे तेज अर्धशतक है। स्ट्रेटिजक टाइम आउट तक राजस्थान ने आठ ओवरों में एक विकेट खोकर 96 रन बना लिए थे।

टाइम आउट से लौटने के बाद स्मिथ ने भी बड़े शॉट लगाने शुरू कर दिए। दोनों बल्लेबाजों ने चेन्नई के गेंदबाजों पर जमकर रन बटोरे।

लुंगी नगिदी हालांकि इस साझेदारी को तोड़ने में कामयाब रहे। सैमसन ने नगिदी की गेंद पर बड़ा शॉट खेलना चाहा लेकिन चहर ने उनका कैच पकड़ लिया। राजस्थान के लिए पहला मैच खेल रहे डेविड मिलर खाता नहीं खोल पाए। कोलकाता नाइट राइडर्स से राजस्थान में रॉबिन उथप्पा भी सिर्फ पांच रन बना सके। तेवतिया और रियान पराग भी कुछ खास नहीं कर सके।

19वें ओवर में स्मिथ के आउट होने से राजस्थान के बड़े स्कोर की उम्मीदें धूमिल होती दिखी, लेकिन आर्चर ने उम्मीदों को पूरा किया उन्होंने चार गेंदों पर चार छक्के मारे और मध्य के ओवरों मे जो कमी आई थी उसकी भरपाई कर दी।

चेन्नई के लिए सैम कुरैन ने तीन सफलताएं हासिल कीं। चहर, नगिदी और पीयूष चावला के हाथ एक-एक विकेट आया।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

अर्जुन अवार्डी पैरा तैराक ने निलंबन के खिलाफ खटखटाया दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा

Published

on

delhi high court

पैरा तैराक अर्जुन अवार्डी प्रशांत करमाकर ने अपने ऊपर लगे तीन साल के निलंबन को हटाने के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाया खटखटाया है।

यह याचिका उनके वकील अमित कुमार शर्मा और सत्यम सिंह राजपूत ने दायर की है और भारतीय पैरालम्पिक समिति (पीसीआई) की अनुशासन समिति द्वारा लगाए दिए गए निलंबन को हटाने की मांग की है। याचिका में अदालत से करमाकर को पीसीआई के तैराकी टूर्नामेंट्स में हिस्सा लेने की अनुमति भी मांगी गई है। इस मामले पर सुनवाई 23 सितंबर को हो सकती है।

याचिका में कहा गया है, यह साफ है कि अनुशासत्मक कार्यवाही अनुच्छेद 14 और 21 के तहत सही और तर्कसंगत होनी चाहिए। यह बात भी साफ है कि न्याय अनुच्छेद 14 का अहम हिस्सा है।

याचिकाकर्ता विन्रमता पूर्वक माननीय उच्च न्यायालय का इस मामले में हस्तक्षेप चाहते हैं क्योंकि उन्हें मनमाने तरीके से पीसीआई द्वारा निलंबित किया गया। याचिकाकर्ता देश के मशहूर खिलाड़ी हैं जिन्होंने कई बार देश को गौरवांवित किया है। याचिका में कहा गया है कि मनमाने और गैरकानूनी तरीके से निलंबन करना मौलिक अधिकारों का हनन है।

Continue Reading

Most Popular