नान्शा द्वीप पर चीन की परीक्षण उड़ान वैध- विद्वान | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Published

on

चीन सरकार ने बुधवार को नान्शा द्वीपों के योंगशू जियाओ पर एक नागरिक विमान का सफल संचालन किया.

इसका उद्देश्य बड़े यात्री विमानों के लिए हवाईअड्डे की सुरक्षा सुनिश्चित करना और नए वैकल्पिक हवाईक्षेत्रों के लिए विकल्प प्रदान कराना और समुद्र पार उड़ान मार्गो को सस्ता और लचीला बनाना है.

कई देशों के विद्वानों और मीडियाकर्मियों का मानना है कि चीन की संप्रभुता के भीतर की होने वाली गतिविधियों में किसी अन्य देश को हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है.

चीन के इस कदम से इसकी अंतर्राष्ट्रीय जिम्मेदारियों और प्रतिबद्धताओं में मदद मिलेगी और क्षेत्र के विकास एवं शांति के लिए यह लाभप्रद रहेगा. इंडोनेशिया के राजनीतिक विश्लेषक ली झूहुई का कहना है कि दक्षिण चीन सागर का उपयोग व्यावसायिक नौपरिवहन में होता है.

ली ने कहा कि चीन द्वारा द्वीपों पर और दक्षिण चीन सागर के टापुओं पर हवाईक्षेत्रों, बंदरगाहों और दूरसंचार ढांचे के निर्माण से आसपास से गुजरने वाले व्यापारी जहाजों को सुविधा होगी और इस क्षेत्र में देशों के मानवीय कार्यकलापों में भी लाभ होगा.

थाईलैंड के थामासेट विश्वविद्यालय के प्रोफेसर यांग बाओयुन का कहना है कि दक्षिण चीन सगार के द्वीप प्राचीन समय से चीन के अधिकार क्षेत्र में रहे हैं और इन द्वीपों पर चीन की निर्माण गतिविधियां कानूनी हैं.

भारतीय रणनीतिक विश्लेषक रमेश चोपड़ा का कहना है कि योंगशू जियाओ के नए हवाईअड्डे पर चीन की परीक्षण उड़ान चीन की संप्रभुता के दायरे में है और इससे दक्षिण चीन सागर में नौपरिवहन में कोई बाधा नहीं आएगी.

wefornews Bureau

अंतरराष्ट्रीय

इराक ने विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर लगाया प्रतिबंध

Published

on

Airline-

बगदाद, 21 सितम्बर । इराकी प्रशासन ने पड़ोसी देशों में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच देश में विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, स्वास्थ्य मंत्री हसन अल-तमीमी ने रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, स्वास्थ्य और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उच्च समिति ने राजनयिक मिशनों को छोड़कर, आगामी दिनों में किसी भी विदेशी को इराक में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि यह निर्णय पड़ोसी देशों में कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लिया गया है।

प्रमुख शिया अनुष्ठान अरबईन की तैयारियों के बारे में अल-तमीमी ने कहा कि मंत्रालय ने सभी इराकी प्रांतों में स्वास्थ्य संस्थानों के साथ समन्वय में एक एकीकृत योजना तैयार की है।

उन्होंने कहा, हमें उम्मीद है कि अरबईन के बाद कोरोनोवायरस संक्रमण की संख्या में कोई वृद्धि नहीं होगी।

इराकी स्वास्थ्य मंत्रालय ने 3,438 नए कोविड-19 मामलों की सूचना दी, जिससे देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 319,035 हो गई।

मंत्रालय ने संक्रामक बीमारी से 64 नई मौतों की पुष्टि भी की, जिससे इस बीमारी से मरने वाले कुल लोगों की संख्या बढ़कर 8,555 हो गई, जबकि 4,052 अधिक मरीज ठीक हुए, इसके साथ ही अब तक कुल 253,591 लोग ठीक हो चुके हैं।

इराक में फरवरी से महामारी को रोकने के लिए कई उपाय किए गए हैं जब देश में पहला कोरोनोवायरस का पहला मामला सामने आया था।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

फिलीपींस में 6.1 तीव्रता का भूकंप

Published

on

Earthquake-Strong-1

दक्षिणी फिलीपींस में सुरीगाओ डेल सुर प्रांत में सोमवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए।  जापान के नाजे से 169 किमी दूर 6.1 तीव्रता का भूकंप आया। वहीं दक्षिणी फिलीपींस में 5.8 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया।

इन घटनाओं में 51 लोग घायल हो गए और 26 इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं। तड़के आए इस भूकंप से घबराकर लोग अपने घरों को छोड़कर भाग गए।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

दुनिया में वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के मामले 3.1 करोड़ के करीब

Published

on

coronavirus

जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार दुनिया में अब कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 3.1 करोड़ के करीब पहुंच गई है। वहीं मौतों की संख्या लगभग 9.6 लाख हो गई है।

विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) द्वारा जारी किए गए नए अपडेट के मुताबिक, सोमवार की सुबह तक कुल मामलों की संख्या 3,09,18,269 और मृत्यु की संख्या 9,59,332 हो चुकी थी।

सीएएसई के अनुसार, दुनिया में कोरोना से सबसे बुरी तरह प्रभावित देश अमेरिका में 67,99,044 मामले और 1,99,474 मौतें दर्ज हो चुकी हैं।

मामलों की संख्या में 54,00,619 मामलों के साथ भारत दूसरे स्थान पर है। इसके बाद तीसरे नंबर पर सबसे अधिक प्रभावित देश ब्राजील में 45,44,629 मामले सामने आ चुके हैं।

मृत्यु संख्या को लेकर बात करें तो 1,36,895 के साथ ब्राजील दूसरे और 86,752 मौतों के साथ भारत तीसरे नंबर पर है।

सीएसएसई के अनुसार, इन तीन देशों के बाद सबसे अधिक संक्रमण वाले शीर्ष 15 देशों में रूस (10,98,958), पेरू (7,62,865), कोलम्बिया (758,398), मैक्सिको (6,97,663), दक्षिण अफ्रीका (661,211), स्पेन (640,040), अर्जेंटीना (631,365), फ्रांस (467,614), चिली (446,274), ईरान (422,140), ब्रिटेन (396,744), बांग्लादेश (3,48,918), सऊदी अरब (3,29,754) और इराक (3,19,035) हैं।

वहीं ऐसे देश जहां 10 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं, उनमें मेक्सिको (73,493), ब्रिटेन (41,866), इटली (35,668), पेरू (31,369), फ्रांस (31,257), स्पेन (30,495), ईरान (24,301), कोलम्बिया (23,665), रूस (19,349), दक्षिण अफ्रीका (15,953), अर्जेंटीना (13,053), चिली (12,286) और इक्वाडोर (11,090) हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular