बेजोड़ अभिनय की पहचान नरगिस दत्त का सुहाना सफर… | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

मनोरंजन

बेजोड़ अभिनय की पहचान नरगिस दत्त का सुहाना सफर…

Published

on

नरगिस दत्त
नरगिस दत्त

अभिनय जगत में अपने बेबाक अंदाज के लिए पहचानी जाने वाली मशहूर अदाकारा नरगिस की 3 मई को पुण्य तिथि है।

nargis-wefornewshindi

तकरीबन चार दशक तक नरगिस ने अपने बेजोड़ अभिनय से दर्शकों को अपना मुरीद बनाए रखा था लेकिन सच तो यह है कि वो बचपन में अभिनय की दुनिया में कदम रखना ही नहीं चाहती थी। वो तो डॉक्टर बनना चाहती थीं, लेकिन उनकी मां की चाहत थीं कि वह अभिनेत्री बनें।

nargis-wefornewshindi

कोलकाता में एक जून 1929 को जन्मी नरगिस का असली नाम कनीज फातिमा राशिद था। फिल्मी माहौल उन्हें घर से मिला था। लेकिन बावजूद इसके बचपन में नरगिस की अभिनय में कोई दिलचस्पी नहीं थी। बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट नरगिस ने साल 1935 में ‘तलाश-ए-हक’ में एक्टिंग की। इसके बाद वह पर्दे पर साल 1943 में महबूब खान की फिल्म ‘तकदीर’में बतौर नायिका नजर आईं।

NargisDilip_Kumar_Andaz-wefornewshindi

साल 1945 मे महबूब खान के प्रोडक्शन में बनी फिल्म ‘हुमाँयूं’मे नरगिस को काम करने का मौका मिला। साल 1949 नरगिस के सिने करियर में अहम पड़ाव साबित हुआ। इस साल उनकी ‘बरसात’ और ‘अंदाज’ जैसी सफल फिल्में पर्दे पर आई।

नरगिस दत्त

साल 1950 से 1954 तक का वक्त नरगिस के करियर के लिए अच्छा नहीं रहा। इस दौरान ‘बेवफा’, ‘आशियाना’, ‘अंबर’, ‘अनहोनी’, ‘शिकस्त’ ,’पापी’ और ‘अंगारे’ जैसी कई फिल्में बॉक्स आफिस पर फ्लॉप साबित हुई। लेकिन साल 1955 मे उनकी राजकपूर के साथ ‘श्री 420’ फिल्म आई इस फिल्म ने नरगिस के करियर को एक नई उड़ान दी और नरगिस एक बार फिर से शोहरत की बुंलदियो पर जा पहुंची।

raj kapoor-wefornewshindi-min

अपने करियर में नरगिस को राज कपूर के साथ काफी पसंद किया गया। राज कपूर और नरगिस ने सबसे पहले साल 1948 फिल्म‘आग’में एक साथ काम किया था। इसके बाद नरगिस ने राजकपूर के साथ बरसात, अंदाज, आवारा ,अनहोनी, आशियान,पापी, श्री 420, जागते रहो जैसी कई फिल्मों में भी काम किया। कहा जाता है कि नरगिस राजकपूर को प्यार करने लगी थी, लेकन कभी बयां नहीं किया।

motherindia-wefornewshindi

इसके बाद फिल्म ‘मदर इंडिया’ की शूटिंग के दौरान सुनील दत्त ने नरगिस को आग से बचाया था। इस घटना के बाद नरगिस ने अपनी उम्र और हैसियत की परवाह किए बिना सुनील दत्त से शादी कर ली।

nargis7-wefornewshindi-min

सुनील दत्त से शादी के बाद नरगिस फिल्मों में कम ही नजर आईं। करीब दस साल के बाद नरगिस 1967 में फिल्म ‘रात और दिन’ में दोबारा नजर आईं। इस फिल्म के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पहला मौका था जब किसी अभिनेत्री को राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया था।

nargis

इतना ही नहीं नरगिस को पदमश्री पुरस्कार भी दिया गया। अपने बेजोड़ अभिनय से दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने वाली नरगिस ने 3 मई 1981 को अपनी जिंदगी को अलविदा कह दिया और इस दुनिया से बहुत दूर चली गई।

wefornews bureau 

मनोरंजन

ट्वीट कर बुरी फंसी कंगना, मुंबई में आपराधिक शिकायत दर्ज

Published

on

अपने बयानों की वजह से विवादों में रहने वाली कंगना रानौत अब फंसती नजर आ रही हैं। अक्सर अपने ट्वीट के कारण चर्चा में रहने वाली कंगना के लिए वही ट्वीट ही मुसीबत बनती नजर आ रही है।

मुंबई पुलिस को लेकर कंगना ने जो ट्वीट किए थे उस पर अब कंगना के खिलाफ आपराधिक शिकायत दर्ज कराई गई है। ऐसे में मामले में 10 नवंबर को सुनवाई होगी। कुछ दिन पहले कंगना ने कई ऐसे ट्वीट्स किए जो सुर्खियों में रही थी।

उनके ट्वीट पर कई सारे लोगों ने आपत्ति भी जताई थी। कंगना ने अपने ट्वीट्स में मुंबई शहर और पुलिस के बारे में काफी आपत्तिजनक बातें कही थीं। इसके बाद कंगना के खिलाफ मुंबई के अंधेरी कोर्ट में एक आपराधिक शिकायत दर्ज की गई है।

मामला धारा 124 ए (देशद्रोह), 153-ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा, सद्भाव के रख रखाव के लिए पूर्वाग्रह के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने) और 295-ए (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्य, जिसका उद्देश्य भारतीय दंड संहिता के) अपने धर्म का अपमान करके धार्मिक भावनाओं को ठेस को लेकर किया गया है।

कंगना ने अपने ट्वीट में मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी पीओके से कर डाली थी। इससे मुंबई के कई लोग कंगना पर भड़कते दिखे थे। कंगना के खिलाफ कई ट्वीट्स सामने आए थे। कंगना यहीं नहीं रुकी थीं उन्होंने मुंबई पुलिस और बीएमसी के कर्मचारियों को बाबर की सेना तक कह डाला था।

गौरतलब है कि एक और मामले में कंगान और उनकी बहन को मुंबई पुलिस ने समन जारी किया है। उस मामले में कंगना और रंगोली को 26 और 27 अक्टूबर को एक जांच अधिकारी के सामने पेश होना है। पुलिस के मुताबिक, कंगना रानौत के खिलाफ मुंबई के एक स्थानीय अदालत के आदेश पर बांद्रा पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है।

WeForNews

Continue Reading

मनोरंजन

सुशांत मामले में अर्जुन रामपाल की गर्लफ्रेंड का भाई हुआ अरेस्ट

Published

on

सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स मामले की जांच भले ही धीमी हो गई हो मगर इस मामले में एनसीबी द्वारा गिरफ्तारी अभी भी जारी है। हाल ही में इस मामले में 22वीं गिरफ्तारी की गई थी। जय मधोक नामक शख्स को एनसीबी ने गिरफ्तार किया था। अब ताजा रिपोर्ट्स की मानें तो मामले में 23वीं गिरफ्तारी भी हो गई है। अफ्रीकी मूल के निवासी अगिसिलाओस डेमेट्रिएड्स को ड्रग्स मामले में एनसीबी ने गिरफ्तार किया है।

सुशांत केस में ड्रग एंगल आने के बाद से इस केस में काफी बदलाव देखने को मिला. बॉलीवुड के कई स्टार्स पर एनसीबी ने शिकंजा कसा। अब तक 22 लोगों को एनसीबी ने गिरफ्तार किया था अब ये 23वीं बड़ी गिरफ्तारी भी हो गई है। अफ्रीका मूल के इस निवासी का गिरफ्तार होना इस मामले में क्या राज खोलेगा ये तो आने वाले वक्त में ही पता चलेगा. ड्रग्स के लेन-देन के मामले में शख्स को गिरफ्तार किया गया है।

अगिसिलाओस डेमेट्रिएड्स की बात करें तो उनके पास थे हशीष और एल्प्राजोलम की टेबलेट्स बरामत की गई है। बता दें कि अगिसिलाओस डेमेट्रिएड्स दरअसल एक्टर अर्जुन रामपाल की लिव इन पार्टनर गैब्रिएला डेमेट्रिएड्स के भाई हैं।

Continue Reading

मनोरंजन

‘बधाई हो’ को हुए 2 साल, आयुष्मान ने बताई फिल्म की खासियत

Published

on

Badhaai Ho

आयुष्मान खुराना स्टारर कॉमेडी फिल्म बधाई हो को रिलीज हुए दो साल पूरे हो गए हैं। अभिनेता का कहना है कि वह अपने सिनेमा के माध्यम से भारत में वर्जित विषयों पर बातचीत को सामान्य बनाने की कोशिश कर रहे हैं। यह फिल्म एक ऐसी ही फिल्म है।

अमित शर्मा निर्देशित इस फिल्म की प्रमुख कहानी नीना गुप्ता और गजराज राव द्वारा अभिनीत एक वयस्क जोड़े के इर्द-गिर्द घूमती है, जिन्हें एक्सीडेंटल गर्भावस्था का सामना करना पड़ता है। फिल्म में आयुष्मान ने उनके बेटे का किरदार निभाया है, जबकि सान्या मल्होत्रा ने अभिनेता की प्रेमिका की भूमिका निभाई है।

आयुष्मान ने कहा, मैं अपने सिनेमा के माध्यम से भारत में वर्जित विषयों पर बातचीत को सामान्य बनाने की कोशिश कर रहा हूं। मेरी पहली फिल्म विक्की डोनर से ही आप देखेंगे कि मैंने बदलाव की आवश्यकता के बारे में समाज के साथ क्रिएटिव तरीके से बातचीत करने की कोशिश की है।

उन्होंने आगे कहा, मैंने ²ढ़ता से महसूस किया है कि सिनेमा के माध्यम से हम समाज को महत्वपूर्ण विषयों के प्रति अपने नजरिए को व्यापक करने के लिए कह सकते हैं, ऐसे विषयों के बारे में जिन पर बात ही नहीं की जाती है।

आयुष्मान खुश हैं कि भारत में उनकी फिल्मों को स्वीकार किया गया है। उन्होंने कहा, हमारे देश के लोग शमीर्ले हैं, और इसमें सुंदरता है, लेकिन मैं इस बात से भी खुश हूं कि मेरे देश के लोगों ने सिनेमा की मेरी शैली को बहुत सराहा है।

आयुष्मान ने कहा कि बधाई हो इस बात को उजागर करने का एक प्रयास है कि माता-पिता के बीच शारीरिक प्रेम को अस्वीकार नहीं किया जाना चाहिए।

आयुष्मान ने आगे कहा, उनका प्यार इस बात का सबसे बड़ा सबूत है कि हमारा समाज गहरे मुद्दों को सामान्य करना चाहता है और एक कलाकार के रूप में मेरे लिए यह सबसे बड़ी मान्यता है। बधाई हो के साथ मैंने अपने माता-पिता की यौन इच्छा को सामान्य करने की कोशिश की, और इसमें कुछ भी गलत नहीं है। उन्होंने कहा कि बॉलीवुड के लिए इस तरह की कहानी दुर्लभ थी, लेकिन यह आवश्यक था।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular