प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 सितंबर, 2021 को वाशिंगटन डीसी में अमेरिका द्वारा आयोजित किए जा रहे शिखर सम्मेलन में शमिल होंगे। ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन, जापानी प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन भी इस साल 12 मार्च को अपने पहले वर्चुअल शिखर सम्मेलन के बाद से हुई प्रगति की समीक्षा करने और साझा हित के क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा करने के लिए शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे।

 

चर्चा महत्वपूर्ण और उभरती प्रौद्योगिकियों, कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे, साइबर सुरक्षा, समुद्री सुरक्षा, मानवीय सहायता, जलवायु परिवर्तन, खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक क्षेत्र, कोविड -19 महामारी का मुकाबला करने और जलवायु परिवर्तन पर केंद्रित होगी।

 

चार क्वाड सदस्य राष्ट्र हमेशा भारत-प्रशांत क्षेत्र में चीनी सैन्य मुखरता के बीच नियम-आधारित व्यवस्था के लिए मुखर रहे हैं, जबकि बीजिंग इस समूह को इस क्षेत्र में अपने प्रभाव के लिए हानिकारक मानता है।

 

रिपोटरें के अनुसार, नेता तालिबान के देश के अधिग्रहण के बाद अफगानिस्तान संकट पर भी चर्चा करेंगे। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम के आकलन के अनुसार, युद्धग्रस्त देश में गरीबी का स्तर 72 प्रतिशत से बढ़कर 97 प्रतिशत हो जाएगा।

 

भारत के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “वे कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे, साइबर और समुद्री सुरक्षा और आपदा राहत, जलवायु परिवर्तन और शिक्षा जैसे समकालीन वैश्विक मुद्दों पर भी विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।”

 

25 सितंबर को पीएम मोदी न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के 76वें सत्र के उच्च स्तरीय खंड की आम बहस को संबोधित करेंगे।

 

इस वर्ष की सामान्य बहस का विषय है ‘कोविड-19 से उबरने की आशा के माध्यम से लचीलेपन का निर्माण, स्थायी रूप से पुनर्निर्माण, ग्रह की जरूरतों का जवाब देना, लोगों के अधिकारों का सम्मान करना और संयुक्त राष्ट्र को पुनर्जीवित करना’ शामिल है।

 

–आईएएनएस

 

Share.

Comments are closed.


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275