'प्रधानमंत्री के रूप में एक और गांधी मौजूद हैं' | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राजनीति

‘प्रधानमंत्री के रूप में एक और गांधी मौजूद हैं’

Published

on

Mahesh Sharma

भारतीय जनता पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना महात्मा गांधी से की है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, महेश शर्मा ने कहा है, “हमारा सौभाग्य है कि एक प्रेरणा की तरह आज हमारे बीच प्रधानमंत्री के रूप में एक और गांधी मौजूद हैं.”

संस्कृति मंत्री महेश शर्मा, गांधी के नमक सत्याग्रह पर वाईपी आनंद की किताब ‘इमपोजिशन ऑफ़ सॉल्ट एंड महात्मा गांधी सॉल्ट सत्याग्रह’ के विमोचन के दौरान बोल रहे थे.

महेश शर्मा ने अपने ट्वीट पर लिखा है, “सामाजिक और राजनीतिक नाइंसाफी से लड़ने के लिए असहयोग आंदोलन को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल करने की महात्मा गांधी की विचारधारा से दुनिया आज भी सीख रही है.”

गांधी और मोदी
इमेज कॉपीरइटPIB

गांधी से मोदी की तुलना का मामला पहली बार सामने नहीं आया है.

इससे पहले बीते जनवरी में खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के कैलेंडर पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर छपी.

इसे लेकर काफ़ी विवाद पैदा हुआ और सोशल मीडिया पर लोगों ने इसे मोदी की, गांधी की जगह लेने की कोशिश कहा था.

गांधी के नाम का इस्तेमाल प्रधानमंत्री मोदी भी कई बार कर चुके हैं. हाल ही में उन्होंने वर्धा में भाषण देते हुए कथित गौ रक्षकों द्वारा किए जा रहे उत्पीड़न पर कहा था कि उन्हें गांधी और बिनोबा भावे से सीखना चाहिए.

नरेंद्र मोदीइमेज कॉपीरइट REUTERS

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, “गोभक्ति के नाम पर हो रही हत्याएं स्वीकार्य नहीं है. ये ऐसी चीज़ नहीं है जिससे महात्मा गांधी सहमत होते.”

राजनीति

असहमति को जानबूझ कर राष्ट्रविरोधी और आतंकवाद का रूप दिया गया: सोनिया

Published

on

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर राजनीतिक विरोधियों और सिविल सोसायटी के सदस्यों को निशाना बनाने को लेकर हमला किया है। साथ ही उन्होंने आगाह किया कि दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र चौराहे पर आ गया है, क्योंकि असंतोष को आतंकवाद या ब्रांडेड राष्ट्र-विरोधी गतिविधि के रूप में देखा जाने लगा है।

एक अखबार में प्रकाशित और बाद में कांग्रेस पार्टी द्वारा जारी किए गए एक लेख में उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय अर्थव्यवस्था गहरे संकट में है।

सोनिया गांधी ने कहा, लेकिन सबसे खराब बात यह है कि लोकतांत्रिक व्यवस्था के सभी स्तंभ निशाने पर हैं। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार को दमन और धमकी के माध्यम से व्यवस्थित रूप से खत्म कर दिया गया है। असहमति को जानबूझकर आतंकवाद या राष्ट्र-विरोधी गतिविधि के रूप में ब्रांडेड किया जा रहा है।

विपक्षी नेता ने कहा कि भारतीय सरकार ने हर जगह राष्ट्रीय सुरक्षा के खतरे का बहाना बनाकर लोगों का ध्यान वास्तविक समस्याओं से हटा दिया है।

उन्होंने आगे कहा, बेशक इन खतरों में से कुछ वास्तविक हैं और उनसे निपटा जाना चाहिए, लेकिन मोदी सरकार और सत्तारूढ़ भाजपा जब भी देखती है कि कोई राजनीतिक विरोध हो रहा है, तो वह उसे भयावह साजिश कहने लगती है।

सोनिया ने कहा कि मीडिया और ऑनलाइन ट्रोल फैक्ट्री के माध्यम से सिस्टम असंतुष्ट लोगों के पीछे जांच एजेंसियों को लगा देती है। उन्होंने लिखा, कड़ी मेहनत से हासिल किए गए भारत के लोकतंत्र को खोखला किया जा रहा है।

कांग्रेस नेता ने यह कहते हुए मोदी सरकार पर हमला किया कि राज्य के प्रत्येक अंग जो संभवत: राजनीतिक विरोध को निशाना बनाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है, जैसे पुलिस, प्रवर्तन निदेशालय, केंद्रीय जांच ब्यूरो, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), और यहां तक कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को पहले से ही दबा दिया गया है।

उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वे अपने राजनीतिक विरोधियों को भारत देश के दुश्मन के रूप में प्रदर्शित करते हैं। उन्होंने कहा, इस सेल्फ-सविर्ंग कदम ने भाजपा और उसकी राजनीति से सार्वजनिक रूप से असहमत किसी भी व्यक्ति और प्रदर्शनकारी के खिलाफ हमारे दंड संहिता में सबसे कठोर कानून के कटघरे में लाकर खड़ा कर दिया।

यह साल 2016 में भारत के सबसे अग्रणी विश्वविद्यालयों में से एक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में युवा छात्र नेताओं के खिलाफ राजद्रोह के आरोपों के साथ शुरू हुआ। उन्होंने इस क्रम को कई मामलों के साथ प्रसिद्ध कार्यकतार्ओं, विद्वानों और बुद्धिजीवियों की गिरफ्तारी के साथ जारी रखा है।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को सीएए विरोधी आंदोलन को संगठित हिंसा बताया था, जिसके बाद सोनिया गांधी ने सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का बचाव किया।

उन्होंने कहा, भाजपा विरोधी प्रदर्शनों को भारत विरोधी षड्यंत्रों के रूप में पेश करने का सबसे निंदनीय प्रयास को मोदी सरकार द्वारा सीएए और प्रस्तावित नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (सीएए-एनआरसी) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में देखा गया। मुख्य रूप से महिलाओं के नेतृत्व वाले सीएए-एनआरसी विरोध प्रदर्शन ने दिखाया कि कैसे एक वास्तविक सामाजिक आंदोलन सांप्रदायिक और भेदभावपूर्ण राजनीति का जवाब शांति, समावेशी और एकजुटता के मजबूत संदेश के साथ दे सकता है।

सोनिया गांधी ने कहा कि दिल्ली के शाहीन बाग और देश भर के अन्य अनगिनत स्थलों पर हुए विरोध प्रदर्शनों में यह देखा गया कि महिलाओं के लिए प्रमुख मंच को सुरक्षित करते हुए कैसे पुरुष सत्ता को सहायक भूमिका निभाने के लिए राजी किया जा सकता है।

उन्होंने कहा, यह प्रदर्शन, संविधान और प्रस्तावना, राष्ट्रीय ध्वज और हमारे स्वतंत्रता संग्राम सहित राष्ट्रीय प्रतीकों के अपने गौरवपूर्ण उपयोग के लिए भी उल्लेखनीय था।

उन्होंने आगे कहा, इस आंदोलन को राजनीतिक स्पेक्ट्रम में सिविल सोसायटी के कार्यकतार्ओं और संगठनों का व्यापक समर्थन मिला और उन्होंने भी विभाजनकारी सीएए-एनआरसी का विरोध किया। लेकिन मोदी सरकार ने इस आंदोलन को स्वीकार करने से इनकार कर दिया।

विपक्षी दल की नेता ने आगे कहा, इसके बजाय उन्होंने इसे कमजोर करना चुना और इसे दिल्ली के चुनाव में विभाजनकारी मुद्दा बना दिया। एक गांधीवादी सत्याग्रह के लिए वित्त राज्य मंत्री और गृह मंत्री सहित भाजपा के नेताओं ने हमले के लिए अपमानजनक बयानबाजी और हिंसक बयान का इस्तेमाल किया। दिल्ली भाजपा के अन्य नेताओं ने सार्वजनिक रूप से प्रदर्शनकारियों पर हमला करने की धमकी दी। सत्तारूढ़ पार्टी ने ऐसी परिस्थितियों का निर्माण किया, जिससे पूर्वोत्तर दिल्ली में हिंसा भड़की। फरवरी में होने वाले ये दंगे कभी नहीं होते अगर सरकार ने उन्हें रोकने की कोशिश की होती।

मोदी सरकार पर अपना हमला जारी रखते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि कई महीनों तक केंद्र ने अपने प्रतिशोध को आगे बढ़ाते हुए यह दावा किया कि विरोध प्रदर्शन भारत के खिलाफ एक साजिश थी। उन्होंने कहा, परिणाम स्वरूप मामले में करीब 700 प्राथमिकी दर्ज की गई, सैकड़ों से पूछताछ की गई और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत दर्जनों को हिरासत में लेकर पक्षपाती जांच की गई।

उन्होंने आगे कहा, भाजपा के असंतुष्ट और सिविल सोसायटी के कार्यकतार्ओं के साथ मतभेद हो सकते हैं। यहां तक कि उन्हीं कार्यकतार्ओं ने अक्सर कांग्रेस सरकारों के खिलाफ भी विरोध किया है। लेकिन उन्हें सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने वाले राष्ट्र-विरोधी षड्यंत्रकारियों के रूप में पेश करना लोकतंत्र के लिए बेहद खतरनाक है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह चौंकाने वाली बात है कि प्रख्यात अर्थशास्त्रियों, शिक्षाविदों, सामाजिक प्रचारकों और यहां तक कि बहुत वरिष्ठ राजनीतिक नेताओं, जिनमें एक पूर्व केंद्रीय मंत्री शामिल हैं, उन्हें दिल्ली पुलिस जांच में तथाकथित खुलासे को लेकर निशाना बनाया गया। उन्होंने कहा, यह इस बात को दर्शाता है कि भाजपा परिणामों की परवाह किए बिना, अपनी सत्तावादी रणनीति को आगे बढ़ाने के लिए ²ढ़ निश्चित है।

उन्होंने हाथरस कांड का भी उल्लेख किया और कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की दलित लड़की के साथ दुष्कर्म, गैरकानूनी दाह संस्कार और न्याय मांग रहे पीड़ित परिवार के विरोध को लेकर असहिष्णु और अलोकतांत्रिक मानसिकता किसी से छिपी नहीं रही। उन्होंने आगे कहा, यूपीए सरकार ने निर्भया मामले को कैसे संभाला उसे देखते हुए उप्र सरकार की प्रतिक्रिया एकदम उलट थी।

उन्होंने कहा, हमारे संविधान और स्वतंत्रता आंदोलन द्वारा कल्पित यह राष्ट्र तभी पनपेगा जब लोकतंत्र और इसकी भावना का पालन किया जाएगा।

आईएएनएस

Continue Reading

राजनीति

बिहार में राहुल गांधी की 28 अक्टूबर को दो जनसभाएं

Published

on

Rahul Gandhi

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी 28 अक्टूबर को बिहार में दो जनसभाओं को संबोधित करेंगे। वाल्मीकि नगर (पश्चिम चंपारण) और कुशेश्वरस्थान (समस्तीपुर) में राहुल गांधी चुनावी प्रचार के लिए उतरेंगे। दूसरे चरण के तहत वाल्मीकि नगर में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के साथ उनकी संयुक्त रैली होगी।

इससे पहले राहुल गांधी और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी नेता) तेजस्वी यादव ने 23 अक्टूबर को नवादा में चुनावी रैली को संबोधित किया था।

राहुल गांधी ने चीन की ओर से किए गए अतिक्रमण और प्रवासी मजदूरों का मसला उठाया तो तेजस्वी यादव ने लोगों को रोजगार देने का वादा किया। राहुल की यह पहली चुनावी रैली थी. इसके बाद उन्होंने भागलपुर पर जनसभा की थी।

नवादा रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि जब बिहार के युवा सैनिक शहीद हुए, उस दिन हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री ने क्या कहा और क्या किया, सवाल ये है।

लद्दाख मैं गया हूं, लद्दाख में हिंदुस्तान की सीमा पर बिहार के युवा अपना खून-पसीना देकर जमीन की रक्षा करते हैं। चीन ने हमारे 20 जवानों को शहीद किया और हमारी जमीन पर कब्जा किया, लेकिन प्रधानमंत्री ने झूठ बोलकर हिंदुस्तान की सेना का अपमान किया।

WeForNews

Continue Reading

राजनीति

अर्थव्यवस्था के साथ-साथ लोकतंत्र को भी खोखला कर रही है मोदी सरकार : कांग्रेस

Published

on

कांग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था के साथ-साथ लोकतंत्र को भी खोखला कर रही है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पिछले 6 सालों का पूरा विवरण लिखा है।

गौरव वल्लभ ने कहा कि उन्होंने ये बताने की कोशिश की है कि केंद्र सरकार की नीतियों का जो विरोध करता है, वो आतंकवाद को बढ़ावा देता है, देशद्रोह करता है, जबकि लोकतंत्र का मूलभाव ये नहीं है? लोकतंत्र का मतलब लोग हैं, लोग का मतलब वो नहीं जो सरकार के पक्ष में वोट दिया हो, उनके भी अधिकार उतने ही हैं जिसने सरकार के पक्ष में वोट नहीं दिया।

गौरव वल्लभ ने कहा कि सरकार की किसी नीतियों के खिलाफ आवाज उठाना आतंकवाद नहीं है, बल्कि सरकार को चेताना असली लोकतंत्र है।

भाजपा लोकतंत्र की बात करती है, लेकिन जब कोई उसकी नीतियों के खिलाफ आवाज उठाता है तो ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स लगा दी जाती है। देश के कई बुद्धिजीवों के खिलाफ सरकार ने ऐसा किया है, जिनकी लेखनी और विचार के दुनिया में लोग कायल है. ये लोकतंत्र का भाव नहीं है।

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
Income Tax
राष्ट्रीय6 mins ago

दिल्ली-एनसीआर, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब और गोवा में आयकर विभाग के छापे

राष्ट्रीय6 mins ago

हाथरस कांड: कई याचिकाओं पर फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

Coronavirus
राष्ट्रीय44 mins ago

भारत में कोरोना के 36,469 नए मामले

अंतरराष्ट्रीय45 mins ago

पाकिस्तान के पेशावर में धमाका, 7 लोगों की मौत, 70 से ज्यादा घायल

Allahabad High Court
राष्ट्रीय1 hour ago

यूपी में निर्दोष लोगों के खिलाफ हो रहा है गोहत्या कानून का दुरुपयोग: इलाहाबाद हाईकोर्ट

राष्ट्रीय1 hour ago

टू प्लस टू वार्ता: भारत-अमेरिका के मंत्रियों के बीच बैठक आज

Manoj Mukund Naravane-min
राष्ट्रीय2 hours ago

सैन्य कमांडरों की बैठक में आज LAC पर हो सकती है चर्चा

CRIME-SCENE
शहर2 hours ago

यूपी के मेरठ में दिल दहला देने वाली वारदात, बोरी में 15 टुकड़ों में खून से सनी मिली महिला की लाश

राजनीति16 hours ago

असहमति को जानबूझ कर राष्ट्रविरोधी और आतंकवाद का रूप दिया गया: सोनिया

Rahul Gandhi
राजनीति17 hours ago

बिहार में राहुल गांधी की 28 अक्टूबर को दो जनसभाएं

मनोरंजन3 weeks ago

मुंबई की अदालत ने रिया और शोविक की न्यायिक रिमांड को 20 अक्टूबर तक बढ़ाया

narendra modi Black
ओपिनियन3 weeks ago

बढ़ती बेरोज़गारी, गर्त में जाती अर्थव्यवस्था के बीच सरकारों का निजीकरण पर जोर

Election
चुनाव4 weeks ago

यक़ीनन, अबकी बार बिहार पर है संविधान बचाने का दारोमदार

Narendra Damodar Das Modi
ओपिनियन4 weeks ago

‘टाइम’ में अमरत्व वाली मनमाफ़िक छवि अर्जित करने से श्रेष्ठ और कुछ नहीं!

Hathras and Babri Demolition
ब्लॉग3 weeks ago

हाथरस के निर्भया कांड को बाबरी मस्जिद के चश्मे से भी देखिए

Rape Sexual Violence
ज़रा हटके3 weeks ago

राजनीति को अपराधियों से बचाये बग़ैर नहीं बचेंगी बेटियां

Nitish Modi
चुनाव2 weeks ago

नीतीश को निपटाने के लिए बीजेपी ने अपनी दो टीमें मैदान में उतारीं

Coronavirus
लाइफस्टाइल2 weeks ago

स्वास्थ्य मंत्रालय का नया प्रोटोकॉल, इमेरजेंसी में कर सकते हैं इन दवाओं का इस्तेमाल

खेल4 weeks ago

आईपीएल-13 : सुपर ओवर के रोमांच में कोहली की बेंगलोर ने मारी बाजी

disney
लाइफस्टाइल4 weeks ago

डिज्नी का बड़ा फैसला, थीम पार्क के 28 हजार कर्मचारियों की होगी छंटनी

8 suspended Rajya Sabha MPs
राजनीति1 month ago

रात में भी संसद परिसर में डटे सस्पेंड किए गए विपक्षी सांसद, गाते रहे गाना

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय1 month ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन2 months ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Modi Independence Speech
राष्ट्रीय2 months ago

Protected: 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का भाषण, कहा अगले साल मनाएंगे महापर्व

राष्ट्रीय3 months ago

उत्तराखंड में ITBP कैम्‍प के पास भूस्‍खलन, देखें वीडियो

Kapil Sibal
राजनीति5 months ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय6 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर6 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य6 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति7 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

Most Popular