'गुमशुदा' …गिरिराज ! | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Published

on

गिरिराज

बीजेपी के नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के संसदीय क्षेत्र नवादा के बरबीघा इलाके में उनके ‘लापता’ होने का पोस्टर लगाया गया है. हालांकि गुमशुदगी का पोस्टर किसने लगाया है इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.

Capture-min

गुमशुदगी का ये पोस्टर बरबीघा विधानसभा के कई क्षेत्रों में चिपकाए गए हैं. पोस्टर में उनके चित्र के साथ-साथ उनके काम-काज पर भी तंज किया गया है. पोस्टर में लिखा है कि कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद बरबीघा क्षेत्र से लापता हैं.”

गुमशुदगी का यह पोस्टर बरबीघा के बस स्टैंड, मिशन चौक के अलावा कई और जगहों पर चिपकाए गए हैं. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि ऐसे पोस्टरों को हटा दिया गया है. हालांकि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

Wefornews Bureau

राजनीति

अहमद पटेल के निधन पर कमल नाथ व दिग्विजय ने जताया शोक

अहमद पटेल की क्षमताओं को याद करते हुए सिंह ने कहा कोई भी कितना ही गुस्सा हो जाए, उनमें यह क्षमता थी वे उसे संतुष्ट कर ही भेजते थे। मीडिया से दूर, पर कांग्रेस के हर फैसले में शामिल।

Published

on

By

Ahmed Patel

भोपाल, 25 नवंबर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के निधन पर मध्यप्रदेश के कांग्रेसजनों में शोक की लहर है। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ और दिग्विजय सिंह तथा पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव ने अहमद पटेल के निधन को कांग्रेस के लिए बड़ी क्षति बताया है।

कांग्रेस नेता अहमद पटेल पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे और उनका गुरुग्राम के अस्पताल में इलाज चल रहा था। उन्होंने बुधवार तड़के अंतिम सांस ली। पटेल के निधन पर कमल नाथ ने कहा, मेरे बेहद करीबी मित्र, वर्षों के साथी, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के दुखद निधन का समाचार स्तब्ध करने वाला है। उनका निधन मेरे लिये बेहद व्यक्तिगत क्षति है। उनका असमय चले जाना कांग्रेस परिवार के लिये ऐसी क्षति है जो सदैव अपूर्णीय है। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं।

दिग्विजय सिंह ने कहा, अहमद पटेल नहीं रहे। एक अभिन्न मित्र विश्वसनीय साथी चला गया। हम दोनों साल 77 से साथ रहे। वे लोकसभा में पहुंचे, मैं विधान सभा में। हम सभी कांग्रेसियों के लिए वे हर राजनैतिक मर्ज की दवा थे। मृदुभाषी, व्यवहार कुशल और सदैव मुस्कुराते रहना उनकी पहचान थी।

अहमद पटेल की क्षमताओं को याद करते हुए सिंह ने कहा कोई भी कितना ही गुस्सा हो जाए, उनमें यह क्षमता थी वे उसे संतुष्ट कर ही भेजते थे। मीडिया से दूर, पर कांग्रेस के हर फैसले में शामिल। कड़वी बात भी बेहद मीठे शब्दों में कहना उनसे कोई सीख सकता था। कांग्रेस पार्टी उनका योगदान कभी नहीं भुला सकती। अहमद भाई अमर रहें।

पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव ने अहमद पटेल के निधन पर कहा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, राज्यसभा सांसद एवं कांग्रेस अध्यक्षा के राजनीतिक सलाहकार श्री अहमद पटेल जी के निधन की खबर दु:खद है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को चिरशांति प्रदान करें एवं उनके परिजनों को इस गहन आघात को सहन करने की शक्ति प्रदान करे।

–आईएएनएस

Continue Reading

राजनीति

अहमद पटेल के निधन पर सोनिया ने कहा, मैंने एक कॉमरेड, सहकर्मी और दोस्त खो दिया

Published

on

Sonia Gandhi Congress Prez

नई दिल्ली, 25 नवंबर : सोनिया गांधी ने बुधवार को अहमद पटेल के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने कांग्रेस के एक समर्पित सहकर्मी को खो दिया है।

उन्होंने कहा, श्री अहमद पटेल के साथ मैंने एक ऐसे सहकर्मी को खो दिया, जिनका पूरा जीवन कांग्रेस पार्टी को समर्पित था।

उन्होंने आगे कहा, उनकी ईमानदारी और समर्पण, अपने कर्तव्य के प्रति उनकी प्रतिबद्धता, उनकी हमेशा मदद करने की तत्परता, उनकी उदारता, ऐसे दुर्लभ गुण थे जो उन्हें दूसरों से अलग करते थे।

उन्होंने आगे कहा, मैंने एक कॉमरेड, एक वफादार सहकर्मी और एक दोस्त खो दिया है, जिनकी जगह कोई नहीं ले सकता। मैं उनके निधन पर शोक जताती हूं और उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करती हूं, उनके प्रति मैं सहानुभूति और समर्थन की भावना रखती हूं।

कई कांग्रेसी नेताओं ने अहमद पटेल की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया। मिलिंद देओरा ने कहा, अहमद पटेल जी के निधन को स्वीकार कर पाना बहुत कठिन है। वह एक संकटमोचन राजनेता थे और निश्चित रूप से उन्हें सभी याद करेंगे। अहमद भाई मेरे दिवंगत पिता के करीबी दोस्त थे और मेरे मार्गदर्शक भी थे।

बी.के. हरिप्रसाद ने ट्वीट में कहा, श्री अहमद पटेल जी के निधन के बारे में जानकर बहुत दुख हुआ। कांग्रेस ने अपने सबसे महान बेटों में से एक को खो दिया। उनकी मृत्यु पर मैं निशब्द हूं। उनकी आत्मा को शांति मिले। इस भयानक क्षति से उबरने के लिए उनके परिवार को शक्ति मिले।

–आईएएनएस

Continue Reading

राजनीति

विजय कुमार सिन्हा बिहार विधानसभा के नए अध्यक्ष चुने गए

मत विभाजन की प्रक्रिया के बाद प्रोटेम स्पीकर ने विजय कुमार सिन्हा के पक्ष में 126 मत तथा विपक्ष में 114 मत की बात की घोषणा करते हुए उन्हें निर्वाचित घोषित कर दिया।

Published

on

By

Vijay Kumar Sinha

पटना, 25 नवंबर । बिहार में सत्तारूढ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक विजय कुमार सिन्हा को बिहार विधानसभा का अध्यक्ष चुन लिया गया है।

राजग के प्रत्याशी सिन्हा के पक्ष में 126 मत आए जबकि उनके विपक्ष में 114 मत आए।

महागठबंधन ने सीवान के विधायक अवध बिहारी चौधरी को अध्यक्ष पद का प्रत्याशी बनाया था।

बिहार विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने कार्यवाही प्रारंभ होने के बाद अध्यक्ष पद को लेकर पहले ध्वनिमत से चुनाव कराने की बात कही, तब विपक्ष के सदस्यों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उपस्थिति को लेकर विपक्षी सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस क्रम में वे वेल में आ गए। इस हंगामे के बीच प्रोटेम स्पीकर बार-बार सदस्यों को अपने सीट पर जाने का आग्रह करते रहे।

विपक्ष का कहना था कि मुख्यमंत्री इस सदन के सदस्य नहीं हैं, इस कारण मतदान के दौरान नहीं रह सकते हैं। हालांकि प्रोटेम स्पीकर इसे नियम के मुताबिक बताते हुए कहा कि ये मुख्यमंत्री हैं, सदन में उपस्थित रह सकते हैं, लेकिन मतदान में शामिल नहीं होंगे।

इसके बाद भी जब विपक्ष का हंगामा शांत नहीं हुआ तब प्रोटेम स्पीकर ने पांच मिनट के लिए विधानसभा स्थगित कर दी। इसके बाद सदन की कार्यवाही प्रारंभ होने के बाद मतदान की प्रक्रिया प्रारंभ हुई। मत विभाजन की प्रक्रिया के बाद प्रोटेम स्पीकर ने विजय कुमार सिन्हा के पक्ष में 126 मत तथा विपक्ष में 114 मत की बात की घोषणा करते हुए उन्हें निर्वाचित घोषित कर दिया।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular