शर्मनाक : बीजेपी विधायक ने 'सूअर' से कर डाली दलितों की तुलना, मचा हंगामा | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

शर्मनाक : बीजेपी विधायक ने ‘सूअर’ से कर डाली दलितों की तुलना, मचा हंगामा

Published

on

महाराष्ट्र के बीजेपी विधायक ने दलितों को लेकर एक ऐसा बयान दे दिया है जिससे ना केवल विवाद खड़ा हो गया है बल्कि इसके चलते वो विपक्षी दलों के निशाने पर भी आ गए हैं।

महाराष्ट्र के डोंबिवली से बीजेपी विधायक रविंद्र चव्हाण ने हाल ही में एक कार्यक्रम में जनसमूह को संबोधित करते हुए दलितों की तुलना सूअर से कर दी है। इससे ना केवल दलित संगठनों ने बल्कि विपक्षी दलों ने भी बीजेपी विधायक से माफी मांगने की मांग की है। आपको बता दें कि डोंबिवली के बीजेपी विधायक रविंद्र चव्हाण का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसमें वह ‘‘दलितों के उत्थान’’ की बात करते हुए उनकी सूअरों से तुलना करते दिख रहे हैं।

यह मामला पिछले शुक्रवार का है जब विधायक रविंद्र चव्हाण मुंबई के कल्याण में एक कार्यक्रम में जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान चव्हाण ने अब्राहम लिंकन का उदाहरण देते हुए एक कहानी सुनाई जिसमें लिंकन एक नाले से ‘सूअर के एक बच्चे’ को निकालते हैं और उसे साफ करते हैं। विधायक रविंद्र चव्हाण ने आगे कहा कि, ‘इसी तरह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस भी दलितों के उत्थान के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।’

इसके साथ ही चव्हाण ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस दलितों के उत्थान के लिए 16 से 18 घंटे तक काम कर रहे हैं। इस वक्त जब उनके सामने कई तरह की चुनौतियां है, चाहे वह किसानों का मामला हो या दबे-कुचले दलितों का, वे इन दलितों को सूअर के बच्चे की तरह समझते हैं और वे उनको बचाने का काम कर रहें हैं। आपको बता दें कि इस विवादास्पद बयान के बाद से बीजेपी विधायक रविंद्र चव्हाण के की तीखी आलोचना हो रही है।

दलित संगठनों ने चव्हाण से माफी मांगने को कहा है। विपक्षी एनसीपी ने तो विरोध में एक सूअर का ‘नामकरण समारोह’ आयोजित किया, जिसमें उसे रविंद्र चव्हाण का नाम दिया गया। तो वहीं रविंद्र चव्हाण ने दावा किया कि, ‘‘मेरे भाषण का जो वीडियो रिकॉर्डिंग फैलाया जा रहा है वह एडिट किया हुआ है और असली नहीं है। मेरे बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है।’’ रविंद्र चव्हाण के इस बयान पर एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि बीजेपी विधायक को इस ‘‘घटिया तुलना’’ के लिए माफी मांगनी चाहिए

wefornews bureau

राष्ट्रीय

जेईई एडवांस एग्जाम में बड़े बटन वाले कपड़े पहनकर आने पर रोक

Published

on

देश के सभी आईआईटी में बीटेक में प्रवेश के लिए जेईई एडवांस 2020, 27 सितंबर को शहर के पांच केंद्रों पर होगी।

आईआईटी की कुल 11289 सीटों के लिए हो रही प्रवेश परीक्षा में देश भर में लगभग 1.60 लाख अभ्यर्थी शामिल होंगे। जेईई एडवांस सुबह नौ बजे से शुरू होगी। परीक्षा केंद्र पर रिपोर्ट करने के लिए छात्रों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर सूचना भेजी जाएगी।

परीक्षार्थियों की भीड़ प्रवेश के समय न बढ़े, इसके लिए हर परीक्षार्थी को अलग-अलग समय पर रिपोर्टिंग का समय दिया जा रहा है। परीक्षा केंद्र पर सात बजे प्रात: रिपोर्टिंग शुरू हो जाएगी। अबकी बार जेईई एडवांस 2020 का आयोजन आईआईटी दिल्ली की ओर से किया जा रहा है।

परीक्षार्थियों के लिए सलाह…

परीक्षा के समय वह बड़े बटन वाले कपड़े न पहनें।
परीक्षार्थी चेन, अंगूठी, ब्रेसलेट, ईयररिंग, पेंडेंट, हेयर पिन, हेयर बैंड और ताबीज पहनकर परीक्षा केंद्र पर न जाएं। नियम का पालन नहीं करने पर उन्हें प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।
परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में स्मार्ट-डिजिटल घड़ी, मोबाइल फोन, ब्ल्ूट्रूथ डिवाइस, ईयरफोन, माइक्रोफोन, पेजर, हेल्थ बैंड सहित किसी प्रकार के इलेक्ट्रानिक गैजेट्स ले जाने की अनुमति नहीं होगी।
रफ कार्य के लिए राइटिंग पैड परीक्षा के समय दिया जाएगा।
परीक्षार्थियों को अपना मॉस्क पहनकर आना होगा।
परीक्षार्थी को अपने साथ सेनेटाइजर लेकर आना होगा।

Continue Reading

राष्ट्रीय

देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 58 लाख के पार

Published

on

coronavirus

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 86,052 नए केस सामने आए हैं और 1,141 लोगों की जान चली गई है।

देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 58 लाख के पार पहुंच गया है। कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 58,18,571 होग गई है। इसमें 9,70,116 सक्रिय मामले हैं। वहीं, 47,56,165 लोगों के अब तक डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं, कोरोना की चपेट में आकर देश में अब तक 92,290 लोगों की जान जा चुकी है।

देश के अलग-अलग राज्यों से कोरोना के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वह बेहद चिंताजनक हैं। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 12,82,963 केस सामने आ चुके हैं। कोरोना प्रभावित राज्यों में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है। राज्य में कोरोना के 2,74,993 मामले सक्रिय हैं। अब तक 2,74,993 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है और 34,345 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना प्रभावित राज्यों में आंध्र प्रदेश दूसरे नंबर पर है। आंध्र प्रदेश में कोरोना के अब तक 6,54,385 मामले सामने आ चुके हैं। राज्य में 69,353 सक्रिय केस हैं और 5,79,474 लोगों को अस्पताल से इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है। अब तक 5,558 लोगों की मौत हो चुकी है।

देश के अलग-अलग राज्यों से कोरोना के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वह बेहद चिंताजनक हैं। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 12,82,963 केस सामने आ चुके हैं। कोरोना प्रभावित राज्यों में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है। राज्य में कोरोना के 2,74,993 मामले सक्रिय हैं। अब तक 2,74,993 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है और 34,345 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना प्रभावित राज्यों में आंध्र प्रदेश दूसरे नंबर पर है। आंध्र प्रदेश में कोरोना के अब तक 6,54,385 मामले सामने आ चुके हैं। राज्य में 69,353 सक्रिय केस हैं और 5,79,474 लोगों को अस्पताल से इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है। अब तक 5,558 लोगों की मौत हो चुकी है।

वहीं, तमिलनाडु कोरोना प्रभावित राज्यों में तीसर ने नंबर पर है। राज्य में अब तक कोरोना के 5,63,691 केस सामने आ चुके हैं। इनमें 46,405 मामले सक्रिय हैं और 5,08,210 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। राज्य में अब तक कोरोना से 9,076 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

कोरोना प्रभावित राज्यों में कर्नाटक चौथे नंबर पर पहुंच गया है। कर्नाटक में अब तक कोरोना के 5,48,557 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 95,549 केस सक्रिय हैं और 4,44,658 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। राज्य में कोरोना से अब तक 8,331 लोगों की जान जा चुकी है।

WeForNews


Continue Reading

राष्ट्रीय

कृषि विधेयक: किसानों का देशभर में आंदोलन, पटना BJP दफ्तर के बाहर झड़प

Published

on

Farmers Agitation (Photo- PTI)

नई दिल्ली: मोदी सरकार द्वारा खेती-किसानी को लाभकारी बनाने के मकसद से लाए गए तीन अहम विधेयकों को लेकर पूरे देश में राजनीति गरमा गई है। विधेयक का विरोध संसद के बाद अब सड़कों पर जोर पकड़ने लगा है।

कृषि बिलों के खिलाफ किसान संगठनों ने आज भारत बंद बुलाया है। प्रदर्शन में पंजाब और हरियाणा के किसान शामिल होने जा रहे हैं । इसके अलावा देश के 31 किसान संगठनों ने इस बंद का समर्थन किया है। भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) भी भारत बंद का समर्थन कर रहा है। किसान मजदूर संघर्ष समिति ने 24 से 26 सितंबर तक रेल रोको आंदोलन का ऐलान किया है। इसके कारण कई ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है। किसान कई जगह रेल लाइनों पर बैठ गए हैं।

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) समेत विभिन्न किसान संगठनों ने 25 सिंतबर को देशभर में चक्का जाम का आह्वान किया है।

किसान संगठनों द्वारा आहूत भारत बंद को विपक्ष में शामिल विभिन्न राजनीतिक दलों का साथ मिल रहा है।

भाकियू के प्रवक्ता और उत्तर प्रदेश के किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि कृषि विधेयकों के विरोध में पूरे देश में 25 सितंबर को चक्का जाम रहेगा, जिसमें पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, कर्नाटक समेत तकरीबन पूरे देश के किसान संगठन अपनी विचारधाराओं से ऊपर उठकर एकजुट होंगे।

किसान संगठनों ने केंद्र सरकार से इन विधेयकों को किसान विरोधी और कॉरपोरेट को फायदा पहुंचाने वाले विधेयक करार देते हुए, इन्हें वापस लेने और फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी देने के लिए कानूनी प्रावधान करने की मांग की है। उनका कहना है कि सरकार ने विधेयकों पर किसानों की सहमति नहीं ली।

भाकियू की ओर से बुधवार को पंजाब के मोगा में किसानों के साथ एक बैठक कर आगामी बंद की रूपरेखा तैयार की गई। पंजाब में भाकियू के प्रदेश अध्यक्ष और संगठन के ऑल इंडिया कोर्डिनेशन कमेटी के सीनियर कोर्डिनेटर अजमेर सिंह लखोवाल ने आईएएनएस को बताया 25 सितंबर को पूरे देश में चक्का जाम रहेगा और पंजाब में इसे तमाम दलों का समर्थन मिल रहा है।

कृषि से जुड़े विधेयकों के विरोध में संसद में आवाज मुखर करने वाला शिरोमणि अकाली दल (शिअद) समेत कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस व अन्य विपक्षी दलों के नेताओं ने सरकार के इस कदम को किसान विरोधी बताया है। विधेयक के विरोध में शिअद सांसद हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्री परिषद से इस्तीफा दे दिया।

हालांकि, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने तीनों विधेयकों को किसान हितैषी बताया है। उनका कहना है कि इससे किसानों को मौजूदा व्यवस्था के साथ एक और विकल्प मिलेगा।

बीते रविवार को हरियाणा में किसानों और व्यापारियों ने प्रदेशभर में सड़कों पर जाम लगाकर विरोध प्रदर्शन किया।

उत्तर प्रदेश में भारतीय किसान संगठन के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र यादव ने बताया कि 25 सितंबर के भारत बंद में उनका संगठन भी शामिल है।

यादव ने कहा कि यह किसानों का मसला है, इसलिए किसी भी दल से जुड़े किसान संगठनों हों उनको इसमें शामिल होना चाहिए।

यादव ने कहा कि सरकार जब इस कानून को किसान हितैषी कहती है, तो इस पर किसानों की राय लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कॉरपोरेट घरानों और पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए कोरोना काल में सरकार ने कृषि से संबंधित अध्यादेश लाए।

कृषि से जुड़े तीन अहम विधेयकों, कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सुविधा) विधेयक 2020, कृषक (सशक्तीकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक-2020 को भी संसद की मंजूरी मिल चुकी है।

ये तीनों विधेयक कोरोना काल में पांच जून को घोषित तीन अध्यादेशों की जगह लेंगे। पहले विधेयक में किसानों को कृषि उपज विपणन समिति द्वारा संचालित मंडी के बाहर देश में कहीं भी अपनी उजप बेचने की आजादी दी गइर्, जिस पर कोई शुल्क नहीं लगेगा।

लेकिन किसान संगठनों का कहना है कि इससे मंडियां समाप्त हो जाएंगी, जिसके बाद किसान औने-पौने भाव अपने उत्पाद बेचने को मजबूर होंगे। वहीं, कृषक (सशक्तीकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 पर किसान संगठनों का कहना है कि इससे वे कॉरपोरेट के बंधुआ मजदूर बन जाएंगे।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
राजनीति5 mins ago

दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर किसानों का समर्थन करने पहुंचे कांग्रेसी, भारी पुलिस बल तैनात

राष्ट्रीय12 mins ago

जेईई एडवांस एग्जाम में बड़े बटन वाले कपड़े पहनकर आने पर रोक

coronavirus
राष्ट्रीय28 mins ago

देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 58 लाख के पार

राष्ट्रीय30 mins ago

कृषि विधेयक: किसानों का देशभर में आंदोलन, पटना BJP दफ्तर के बाहर झड़प

राष्ट्रीय43 mins ago

मोदी बोले- किसान, श्रमिक, मध्यम वर्ग के हित में सरकार ने लिए ऐतिहासिक फैसले

sensex-min
व्यापार49 mins ago

सेंसेक्स 400 अंक उछला, निफ्टी में 100 अंकों की बढ़त

मनोरंजन1 hour ago

NCB दफ्तर पहुंचीं दीपिका की मैनेजर करिश्मा प्रकाश

मनोरंजन1 hour ago

अक्षरधाम आतंकी हमले पर फिल्म बनेगी

gun
राष्ट्रीय1 hour ago

उप्र: मुरादाबाद में कांस्टेबल ने की खुदकुशी

राष्ट्रीय1 hour ago

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

Mayawati
राजनीति2 weeks ago

मायावती शासन की अनियमितताओं पर शुरू होगी कार्रवाई

राजनीति4 days ago

किसान बिल पर हंगामे के चलते राज्यसभा के 8 सांसद निलंबित

Rhea-
मनोरंजन2 weeks ago

सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती को भेजा गया मुंबई जेल

former president pranab-mukjerjee
राष्ट्रीय4 weeks ago

भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति का 84 साल की उम्र में निधन

राष्ट्रीय4 weeks ago

सुशांत केस : रिया के भाई से सीबीआई की पूछताछ जारी

Blood Pressure machine
लाइफस्टाइल4 weeks ago

हाई-ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन में वायु प्रदूषण का योगदान : शोध

Sonia Gandhi and Rahul
ब्लॉग3 weeks ago

कांग्रेस की बीमारियां उन्हें क्यों सता रहीं जिन्होंने इसे वोट दिया ही नहीं?

Rhea Chakraborty
मनोरंजन4 weeks ago

सुशांत मामला : रिया से आज फिर पूछताछ करेगी सीबीआई

खेल4 weeks ago

राष्ट्रीय खेल दिवस: खेल रत्न, अर्जुन अवॉर्ड, द्रोणाचार्य-ध्यानचंद पुरस्कार की पूरी लिस्ट

Supreme Court
राष्ट्रीय2 weeks ago

लोन मोरेटोरियम केस: SC ने कहा- आखिरी सुनवाई से पहले जवाब दाखिल करे सरकार

8 suspended Rajya Sabha MPs
राजनीति3 days ago

रात में भी संसद परिसर में डटे सस्पेंड किए गए विपक्षी सांसद, गाते रहे गाना

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय6 days ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन1 month ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Modi Independence Speech
राष्ट्रीय1 month ago

Protected: 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का भाषण, कहा अगले साल मनाएंगे महापर्व

राष्ट्रीय2 months ago

उत्तराखंड में ITBP कैम्‍प के पास भूस्‍खलन, देखें वीडियो

Kapil Sibal
राजनीति3 months ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय5 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर5 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य5 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति5 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

Most Popular