चारा घोटाले में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को जमानत के लिए अभी और इंतजार करना होगा।

झारखंड हाईकोर्ट के जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में शुक्रवार को उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई हुई।

सीबीआई ने इस मामले में काउंटर एफिडेविट फाइल करने के लिए वक्त मांगा, जिसे स्वीकार करते हुए अदालत ने याचिका पर अगली सुनवाई की तारीख 22 अप्रैल मुकर्रर की है।

अदालत में लालू प्रसाद यादव की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने बहस की। उन्होंने कहा कि लालू यादव सजा की आधी अवधि से 11 महीने ज्यादा वक्त जेल में रह चुके हैं। इसी बिंदु पर सीबीआई ने काउंटर एफिडेविट दाखिल करने की इजाजत मांगी।

बता दें कि रांची स्थित सीबीआई कोर्ट बीते 21 फरवरी को रांची के डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ की अवैध निकासी के मामले में लालू प्रसाद को दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई थी।

सीबीआई अदालत के आदेश के खिलाफ लालू प्रसाद यादव ने झारखंड उच्च न्यायालय में 24 फरवरी को अपील दाखिल की थी। हाईकोर्ट की जिस बेंच में लालू यादव का मामला सूचीबद्ध था, वह बेंच 1 अप्रैल को नहीं बैठी थी।

इसके बाद सुनवाई के 8 अप्रैल की तारीख तय हुई थी।फिलहाल लालू प्रसाद यादव न्यायिक हिरासत में हैं। बीमारियों के चलते नई दिल्ली स्थित एम्स में उनका इलाज चल रहा है।

–आईएएनएस

Share.

Leave A Reply