कुपवाड़ा : मुठभेड़ में एक जवान शहीद एक आंतकवादी ढ़ेर | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

कुपवाड़ा : मुठभेड़ में एक जवान शहीद एक आंतकवादी ढ़ेर

Published

on

जम्मू एवं कश्मीर
कश्मीर मुठभेड़

कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में एलओसी के पास मुठभेड़ में बुधवार को एक जवान शहीद हो गया है, साथ ही एक आंतकी को भी मार गिराया है।

इस मुठभेड़ चार जवान भी घायल हो गए हैं। सुरक्षा अधिकारियों ने बताया, “एलओसी पर माचिल सेक्टर में हथियारबंद आतंकवादियों के एक समूह ने मंगलवार को राष्ट्रीय राइफ्लस (आरआर) की 56 बटालियन की सैन्य टुकड़ियों का मार्ग अवरुद्ध किया।

उन्होंने बताया, “मुठभेड़ में आरआर के चार जवान घायल हो गए। इन्हें श्रीनगर के सैन्य अस्पताल ले जाया गया है।”

wefornews bureau 

key words: gun fighting,terrorist,loc, injured, kashmir,terrorist dead,

राष्ट्रीय

कफील खान और योगी की लड़ाई पहुंची संयुक्त राष्ट्र

Published

on

लखनऊ, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। गोरखपुर के डॉ. कफील खान ने योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ अपनी लड़ाई को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचा दिया है।

Continue Reading

राष्ट्रीय

पीजी मेडिकल के विद्यार्थियों को तीन माह करनी ही होगी मरीजों की सेवा

Published

on

doctors

देश के ज्यादातर हिस्सों में डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए अब एमबीबीएस करने के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन (पीजी) करने वाले सभी छात्रों को पढ़ाई के साथ जिला अस्पताल में तीन माह तक सेवा देना अनिवार्य होगा।

इसके बाद ही उन्हें अंतिम वर्ष की परीक्षा में बैठने के योग्य माना जाएगा। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के बोर्ड ऑफ गर्वनेंस ने यह फैसला लेते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा था, जिसे मंजूरी मिल गई है।

नए आदेशों के अनुसार, शैक्षणिक वर्ष 2020-21 से ही इन नए नियमों को लागू कर दिया गया है। एमडी या एमएस करने वाले सभी स्नातकोत्तर विद्यार्थी तीन महीने के लिए जिला अस्पताल या किसी जिला स्वास्थ्य केंद्र में सेवाएं देंगे। यह रोटेशन तीसरे, चौथे और पांचवें सेमेस्टर में शामिल किया गया है। इसे जिला रेजीडेंसी कार्यक्रम (डीआरपी) नाम दिया गया है।

साथ ही प्रशिक्षण हासिल कर रहे स्नातकोत्तर चिकित्सा छात्र को ‘जिला रेजीडेंट’ के नाम से जाना जाएगा। जिला अस्पतालों में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए यह बदलाव किया गया है। भारतीय चिकित्सा परिषद अधिनियम 1956 के तहत सभी मेडिकल कॉलेजों के लिए अनिवार्य होगा।

नए बदलाव के तहत जिला अस्पताल में तैनात होने के बाद मेडिकल छात्र को प्रशिक्षण के लिए वरिष्ठ डॉक्टर की निगरानी में रखा जाएगा। छात्र को ओपीडी, आपातकालीन, आईपीडी के अलावा रात में भी ड्यूटी देनी होगी।

इस रोटेशन के बारे में संबंधित जिला अस्पताल को भी पहले से मेडिकल छात्रों की सूची उपलब्ध हो जाएगी ताकि उन्हें यह पता रहे कि कौन कौन छात्र नए रोटेशन के तहत उनके यहां सेवाएं देने वाले हैं।

Continue Reading

राष्ट्रीय

सीमा विवाद: भारत-चीन के बीच कमांडर स्तर की छठी बैठक आज

Published

on

china--min

भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद को लेकर सोमवार को लद्दाख के चुशुल में कमांडर स्तर की बैठक छठी होगी। समाचार एजेंसी को इस बात की जानकारी सूत्रों के हवाले से मिली है। 

सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में विदेश मंत्रायल के प्रतिनिधि शामिल हो सकते हैं। इस बैठक में पहली बार विदेश मंत्रायल के प्रतिनिधि शामिल होंगे

दरअसल, बीते कुछ हफ्तों से चीन के हिस्से में आने वाला मॉल्डो गैरिसन में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की गतिविधियां काफी बढ़ गई हैं। जब से सीमा पर चीन का आक्रोश बढ़ा है, तब से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत और सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे हालात पर नजर रखे हुए हैं।
शनिवार को भारतीय सेना की एक उच्च स्तरीय बैठक हुई थी। इस बैठक में एनएसए अजीत डोभाल और सीडीएस जनरल बिपिन रावत समेत आला अधिकारी शामिल हुए थे।  इस बैठक में ये तय किया गया था कि भारत की तरफ से चीन के सामने कौन-कौन से मुद्दे उठाए जाएंगे।

वहीं, सीमा पर जारी तनाव के बीच गुरुवार को सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे श्रीनगर और जम्मू कश्मीर के दौरे पर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने राज्य की सुरक्षा स्थिति और सुरक्षा बलों के ऑपरेशनल तैयारियों का जायजा लिया।

Weforews

Continue Reading

Most Popular