राजनीतिकमलनाथ और मुकुल वासनिक ने की कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात

IANSNovember 22, 20212781 min

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। इसके साथ ही मध्य प्रदेश में भी ‘एक व्यक्ति एक पद’ की चर्चा होने लगी है।

 

गौरतलब है कि राजस्थान में ‘एक व्यक्ति एक पद’ की राह पर चलते हुए गहलोत मंत्रिमंडल में रविवार को विस्तार हुआ, जिससे पहले संगठन में अन्य पदों पर रहते हुए गहलोत सरकार के तीन मंत्रियों से इस्तीफा लिया गया था। वहीं सोमवार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और मध्य प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक, जब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे। तो एक व्यक्ति एक पद को लेकर एक बार फिर से चर्चा शुरू हो गई।

 

हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात के बाद कमलनाथ ने 10 जनपद से बाहर आकर कहा की पार्टी शीर्ष नेतृत्व, जो तय करेगा। वह उस पर अमल करेंगे। उन्होंने कहा कि यह चर्चा लंबे समय से जारी है राजस्थान में इसी तर्ज पर बदलाव किए गए हैं। अगर कांग्रेस अध्यक्ष मध्य प्रदेश में इसकी स्वीकृति देती है तो पार्टी के नेता इस पर अमल करेंगे। कमलनाथ ने साफ कहा कि फिलहाल वह प्रदेश में राजनीति करना चाहते हैं केंद्रीय राजनीति में नहीं आना चाहते हैं।

 

गौरतलब है कि कमलनाथ मध्य प्रदेश में नेता विपक्ष भी है और विधायक दल के नेता भी हैं ऐसे में कमलनाथ से एक पद लिया जा सकता है। वही शीतकालीन सत्र से कुछ दिन पहले ही कमलनाथ की यह मुलाकात इसलिए अहम मानी रही है, क्योंकि जी-23 ग्रुप के सांसदों से कमलनाथ का संवाद पार्टी नेतृत्व की ओर से जारी है। इस बीच अन्य विपक्षी दलों को एकजुट करने की भूमिका भी कांग्रेस पार्टी की ओर से कमलनाथ निभा रहे हैं।

 

गौरतलब है कि पांच राज्यों के चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को पांच चुनावी राज्यों में अहम जिम्मेदारी दे सकती है इसी के मद्देनजर कमलनाथ की कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात अहम मानी जा रही है।

 

उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी अपने चार दिवसीय दौरे पर दिल्ली में हैं उम्मीद लगाई जा रही है कि ममता बनर्जी इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ से भी मुलाकात कर सकती हैं शीतकालीन सत्र को लेकर कांग्रेस और टीएमसी के बीच किस तरीके के रिश्ते रहेंगे। इसको लेकर चर्चा हो सकती है।

 

दरअसल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से कमलनाथ को अन्य विपक्षी दलों को एकजुट करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

 

Related Posts