मनोरंजनसोना महापात्रा के समर्थन में आए जावेद अख्तर, सूफी फाउंडेशन को दिया करारा जवाब

Rukhsar AhmadMay 1, 2018461 min

अमीर खुसरो के सूफी गीत पर म्यूजिक वीडियो बनाने को लेकर सिंगर सोना महापात्रा को मिल रही धमकियों के बीच अब गीतकार जावेद अख्तर ने बड़ी बात कही है। सोना को फिल्म इंडस्ट्री में किसी से सपोर्ट नहीं मिल रहा है।

सिर्फ जावेद अख्तर सिंगर के समर्थन में आए हैं। जावेद अख्तर ने लिखा- मैं उन प्रतिक्रियावादी संगठनों की निंदा करता हूं जो अमीर खुसरो के गीत पर बने सोना के वीडियो का विरोध कर रहे हैं। इन मुल्लाओं को पता होना चाहिए कि अमीर खुसरो हर भारतीय से जुड़े हुए हैं। ये आपकी जागीर नहीं हैं।

दरअसल, हाल ही में सोना महापात्रा का एल्बम ‘तोरी सूरत’ लॉन्च हुआ था। यह ट्रैक उनके नए प्रोजेक्ट ‘लाल परी मस्तानी’ का हिस्सा है। इस ट्रैक में सोना ने अमीर खुसरो का गीत गाया है और वीडियो बनाया है। महापात्रा ने खुसरो का वह सूफी गीत गाया है, जिसे खुसरो ने निजामुद्दीन औलिया के लिए लिखा था।

इसी वीडियो के लॉन्च होने के बाद महापात्रा को मदरिया सूफी फाउंडेशन नाम के एक मुस्लिम संगठन की ओर से धमकी दी गई है। सोना को ई-मेल के जरिए नोटिस भेजकर म्यूजिक वीडियो वापस लेने को कहा गया था। महापात्रा ने खुद ट्विटर के जरिए धमकी मिलने का खुलासा किया था।

उन्होंने ट्वीट कर बताया कि उन्हें धमकी भरा नोटिस मिला है। इस ट्वीट में महापात्रा ने मुंबई पुलिस को टैग करते हुए कहा था, ‘मुझे मदरिया सूफी फाउंडेशन नाम के एक संगठन द्वारा धमकी भरा नोटिस मिला है। मुझे मेरा म्यूजिक वीडियो ‘तोरी सूरत’ हर जगह से हटाने को कहा गया है।

उनका कहना है कि यह वीडियो अश्लील है और इससे धार्मिक तनाव बढ़ सकता है। मुझे बताइए कि इसके लिए मैं किससे शिकायत करूं।’ एक अन्य ट्वीट कर सिंगर ने कहा, ‘संगठन ने मुझे नियमित अपराधी भी कहा। साथ ही यह भी कहा कि उन्हें मेरा पांच साल पुराना एक अन्य वीडियो मिला है, जिसमें मैं कोक स्टूडियो के लिए ‘पिया से नैना’ गीत गा रही हूं और इस्लाम का अपमान कर रही हूं, क्योंकि मैंने उस दौरान ढके हुए कपड़े नहीं पहने हैं और वेस्टर्न म्यूजिक में गा रही हूं।’

Wefornews Bureau

Related Posts