राजनीतिराष्ट्रीयचुनाव आयोग में तुरंत बड़े सुधार किए जाना बहुत जरूरी : ममता बनर्जी

WeForNews DeskMay 8, 20218106 min

पश्चिम बंगाल में आज नई विधानसभा का पहला सत्र बुलाया गया है। विधानसभा में बोलते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार, भाजपा और चुनाव आयोग पर कई तरह के सवाल उठाए हैं।

ममता बनर्जी ने बंगाल चुनाव में इलेक्शन कमीशन के रोल को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि इस संस्था को बचाना है तो इसमें तुरंत ही बड़े सुधार किए जाएं, ऐसा नहीं होता है तो लोगों को विश्वास चुनाव आयोग से उठ जाएगा।

विधानसभा में ममता बनर्जी ने कहा, चुनाव में युवा पीढ़ी ने हमें वोट दिया है। यह हमारे लिए एक नई सुबह है। टीएमसी को जबरदस्त तरीके से बहुमत देकर लोगों ने सत्ता में वापस चुना है। यह ऐतिहासिक है। इसकी वजह बंगाल की जनता और महिलाएं थीं। बनर्जी ने कहा, बंगाल एक मजबूत रीढ़ का सूबा है और यह कभी नहीं झुकता है। यहां केंद्र और भाजपा ने साजिश की, सभी केंद्रीय मंत्री यहां उतरे। मुझे नहीं पता कि उन्होंने विमानों और होटलों पर कितने करोड़ रुपये खर्च किए। यहां पानी की तरह बीजेपी ने पैसा बहाया।

टीएमसी प्रमुख ने कहा कि बंगाल के साथ इतना भेदभाव भाजपा क्यों कर रही है ये समझ से परे है। शपथग्रहण के 24 घंटे के भीतर उन्होंने एक केंद्रीय टीम यहां भेज दी, कहा कि यहां हिंसा हो रही है। दरअसल भाजपा नतीजों को नहीं पचा पा रही है, जनता के जनादेश को मानने के लिए वो तैयार नहीं हैं। मैंने कभी हिंसा का कभी समर्थन नहीं किया है, हमने सभी कदम उठाए हैं। भाजपा के लोग फर्जी खबरें और फर्जी वीडियो हिंसा को लेकर फैला रहे हैं।

कोरोना वैक्सीन पर बात करते हुए ममता बनरजी ने कहा कि केंद्र के लिए सभी को फ्री वैक्सीन देना कोई बहुत बड़ा काम नहीं है। केंद्र सरकार के लिए 30,000 करोड़ रुपये कुछ भी नहीं है। पूरे देश में एक वैक्सीन कार्यक्रम होना चाहिए लेकिन वो इस महामारी को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं।