कांग्रेस चिंतन शिविर में प्रस्ताव बनाने के लिए बनाई गई छह कमेटियों के संयोजकों की बैठक पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर जारी है।

कांग्रेस के दिल्ली मुख्यालय में आयोजित होने वाली कार्यसमिति सीडब्ल्यूसी से ठीक पहले दस जनपथ पर कमेटी के संयोजकों की यह बैठक बुलाई गई है।

बैठक में अंबिका सोनी, सलमान खुर्शीद, के.सी. वेणुगोपाल, मल्लिकार्जुन खड़गे, भूपेंद्र सिंह हुड्डा, मुकुल वासनिक, जयराम रमेश, रणदीप सुरजेवाला शामिल हैं।

इसके साथ ही शाम 4:30 बजे प्रस्तावित सीडब्ल्यूसी बैठक से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी 10 जनपथ पहुंचकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे।

बैठक में मुख्यतौर पर चिंतन शिविर की रणनीति पर चर्चा की जायेगी।

दरअसल चिंतन शिवर से पहले कांग्रेस अध्यक्ष ने कृषि, राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक सशक्तिकरण, संगठनात्मक, युवा सशक्तिकरण के मुद्दे पर चर्चा के लिए कमेटियों का गठन किया है। इन कमेटियों के संयोजक सोमवार को अपनी अपनी रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष के सामने पेश करेंगे। इन कमेटियों को शिविर में राजनीतिक प्रस्ताव पर विशेष रिपोर्ट तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई है।

कांग्रेस 9 साल बाद राजस्थान के उदयपुर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर का आयोजन करने जा रही है, जो 13, 14 और 15 मई को होगा। हार के बाद समीक्षा के साथ ही शिविर में कांग्रेस गुजरात, हिमाचल प्रदेश के साथ ही अगले वर्ष होने वाले कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश जैसे राज्यों के विधानसभा चुनावों को लेकर रणनीति बनाएगी।

हालंकि चिंतन शिविर की तैयारी को लेकर पहले भी कई बैठकें हो चुकी हैं।

इससे पहले पिछले सप्ताह भी कांग्रेस वार रूम में चिंतन शिविर की तैयारियों पर कई दौर की चर्चा हो चुकी है। वहीं हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा की अध्यक्षता में भी बैठक बुलाई गई थी।

जिसमें कृषि संबंधी विषय पर चर्चा की गई थी।गौरतलब है कि पार्टी ने पांच राज्यों में चुनाव में हार के बाद आकलन करने और भविष्य के रोड मैप को तैयार करने के लिए ‘चिंतन शिविर’ अयोजित करने का निर्णय लिया है।

इस शिविर की तैयारियों को लेकर ही सोमवार को सिलसिलेवार बैठकें बुलाई गई हैं।

Share.

Leave A Reply