नई दिल्ली: हरियाणा में शुक्रवार को राज्यसभा की दो सीट के लिए हुए चुनाव में भारी उलटफेर देखने को मिले। पहले हुए मतगणना में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस को एक-एक सीटें मिलीं। चुनाव आयोग ने काउंटिंग के बाद भाजपा उम्मीदवार कृष्ण लाल पंवार और कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन को विजयी घोषित किया। लेकिन बाद में भाजपा ने कांग्रेस के एक विधायक पर नियम विरुद्ध वोट करने का आरोप लगाकर चुनाव आयोग से दोबारा मतगणना की मांग की। दूसरी बार हुई मतगणना में कांग्रेस के अजय माकन 66 वोट वैल्यू से हार गए और भाजपा-जजपी समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा को विजय घोषित कर दिया गया।

66 वोट वैल्यू से हार गए अजय माकन

भाजपा को मिले 3600 वोटों के मूल्य से पंवार ने एक सीट अपने नाम की। वहीं, निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा 2966 वोट वैल्यू के साथ दूसरी सीट जीत ली। दरअसल, कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई ने निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा के लिए क्रॉस वोट कर दिया. इसके साथ ही कांग्रेस के एक वोट को नियम के खिलाफ वोट करने की वजह से अमान्य घोषित कर दिया गया। लिहाजा, कांग्रेस के वोटों का मूल्य 2900 आंका गया। इसके साथ ही कांग्रेस के अजय माकन 66 वोट वैल्यू से हार गए।

हरियाणा की दो राज्यसभा सीटों के लिए शुक्रवार मतगणना निर्धारित समय के 7.5 घंटे बाद आधी रात से ही शुरू हुई और देर रात करीब ढाई बजे नतीजे घोषित हुए. इससे पहले हरियाणा राज्यसभा चुनावों में कांग्रेस के दो विधायक किरण चौधरी (Congress MLA Kiran Choudhary) और बीबी बत्रा (Congress MLA BB Batra) पर नियमों के विरुद्ध अपना मार्क्ड बैलेट पत्र (डाले गए वोट) को अपने अधिकृत एजेंट के बजाए दूसरे एजेंट को दिखाए जाने का आरोप लगा।

वोटिंग प्रक्रिया के दौरान चुनाव कराने की जिम्मेदारी संभाल रहे रिटर्निंग ऑफिसर आरके नांदल ने इसे नियम विरुद्ध मानने से इनकार करते हुए उनके मत को कांग्रेस के खाते में जोड़ दिया. इस प्रकार कांग्रेस के अजय माकमन को विजयी घोषित कर दिया गया. कांग्रेस के पक्ष में नतीजे आते ही भाजपा ने रिटर्निंग ऑफिसर आरके नांदल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। भाजपा, जजपा के अलावा निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा ने भी रिटर्निंग ऑफिसर आरके नांदल पर पक्षपातपूर्ण तरीके से काम करने का आरोप लगाया। इसके बाद कार्तिकेय ने अपने वकील अमित साहनी के जरिए चुनाव आयोग के समक्ष अपनी शिकायत दाखिल की।

वहीं, इस मामले में भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां अपनी-अपनी मांगों को लेकर चुनाव आयोग पहुंची. इस विवाद की वजह से हरियाणा राज्यसभा चुनाव की काउंटिंग घंटों रुकी रही।

हालांकि, देर रात फिर से रि-काउंटिंग शुरू हुई। इस दौरान करीब रात के ढाई बजे नतीजे घोषित किए गए। इस बार के नतीजे कांग्रेस के खिलाफ गए। नियम विरुद्ध वोट करने की वजह से कांग्रेस के एक वोट को रद्द कर दिया गया। जिसकी वजह से भाजपा और जजपा समर्थित कार्तिकेय शर्मा जीत गए।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275