मोदी ने तेलंगाना को स्थापना दिवस पर बधाई दी | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

मोदी ने तेलंगाना को स्थापना दिवस पर बधाई दी

Published

on

पीएम मोदी
मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को तेलंगाना को स्थापना दिवस की दूसरी वर्षगांठ पर बधाई दी। मोदी ने ट्वीट कर कहा, “तेलंगाना के स्थापना दिवस पर, मेरी शुभकामनाएं राज्य के लोगों के साथ हैं। मुझे उम्मीद है कि आगामी वर्षो में राज्य विकास की नई ऊंचाइयों को छूएगा।”

तेलंगाना दो जून, 2014 को आंध्र प्रदेश से विभाजित होकर अस्तित्व में आया था।

मोदी ने ट्वीट में कहा, “मैं आंध्र प्रदेश के भाइयों और बहनों को बधाई देता हूं। मेरी शुभकाना है कि राज्य तेज गति से विकास के मार्ग पर अग्रसर होता रहे।”

संसद में आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम पारित होने के बाद तेलंगाना दो जून, 2014 को देश का 29वां राज्य बना था।

wefornews bureau

मनोरंजन

दीपिका, सारा और श्रद्धा को क्लीनचिट नहीं, एनसीबी के रडार पर कई सितारे

Published

on

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में ड्रग एंगल की जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने अभिनेत्रियों दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर को क्लीनचिट नहीं दी है।

जांच एजेंसी इन तीनों अभिनेत्रियों के बयानों का मिलान कर उनकी समीक्षा कर रही है। साथ ही बॉलीवुड के कई अन्य सितारे भी एजेंसी के रडार पर हैं लेकिन किसी को भी समन जारी करने से पहले एनसीबी ठोस आधार तैयार करने में जुटी है।

एनसीबी सूत्रों के अनुसार, दीपिका, सारा और श्रद्धा ने ड्रग मामले में पूछताछ में मिलते जुलते बयान दिए हैं। इससे लगता है कि तीनों तैयारी करके पहुंची थीं। तीनों के बयान में कोई विशेष विरोधाभास नहीं होने के कारण एनसीबी अभी तक किसी नतीजे पर पहुंच नहीं पाई है। साथ ही एनसीबी ने बुधवार को साफ किया कि उसने अभी किसी को भी क्लीनचिट नहीं दी है। फिलहाल, अब तक ड्रग मामले में जिनसे भी पूछताछ की गई है, उनके बयानों की कड़ियों को जोड़कर समीक्षा की जा रही है। एनसीबी ने व्हाट्सएप चैट के आधार पर पिछले हफ्ते दीपिका, सारा और श्रद्धा समेत दीपिका की मैनेजर करिश्मा से घंटों पूछताछ की थी।

बॉलीवुड ड्रग सिंडिकेट मामले में कुछ तार मुंबई के बाहर से भी जुड़े हुए हैं। इसलिए एनसीबी ने ऐसे लोगों के फोन सर्विलांस पर रखे हैं। हालांकि मुंबई एनसीबी की टीम ने इससे संबंधित जानकारी एनसीबी चीफ राकेश अस्थाना को दे दी है। अब उन्हें तय करना है कि किसे कौन सा काम सौंपना है। वैसे यह भी जानकारी सामने आ रही है कि जहां ड्रग कनेक्शन से जुड़े लोगों के बारे में सूचना मिली है, वहां की एनसीबी टीम को सक्रिय कर दिया गया है।

बॉलीवुड ड्रग सिंडिकेट की जांच शुरुआत से अब तक एनसीबी के 20 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें अधिकारी, कर्मचारी और कार चालक शामिल हैं। कोरोना संक्रमित पाए गए अधिकारी और कर्मचारी या तो होम क्वारंटीन हैं या फिर आइसोलेशन में हैं। इसलिए मामले की छानबीन के लिए अहमदाबाद, इंदौर, बंगलूरू और चेन्नई से एनसीबी के 20 अधिकारियों की नई टीम बुलाई गई है।

wefornews

Continue Reading

राष्ट्रीय

बारां मामले की हाथरस गैंगरेप से तुलना जनता को गुमराह करने की कोशिश : गहलोत

Published

on

उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई गैंगरेप की वारदात के बाद लगातार कई तरह के सवाल खड़े कर दिए है। इस घटना से इतर राजस्थान में भी कुछ रेप की वारदातें सामने आई हैं।

राजस्थान के बारां में दो लड़कियों के साथ रेप किया गया, जिसपर काफी बवाल मचा गया है। अब राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दोनों घटनाओं की तुलना करने पर बयान जारी किया है।उन्होंने कहा कि बारां का मामला पूरी तरह से अलग है, लेकिन राज्य सरकार जांच कर रही है।

बारां की घटना को लेकर अशोक गहलोत ने ट्वीट कर लिखा कि हाथरस में हुई घटना बेहद निंदनीय है, उसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है लेकिन दुर्भाग्य से राजस्थान के बारां में हुई घटना को हाथरस की घटना से तुलना की जा रही है।

जबकि बारां में बालिकाओं ने स्वयं मजिस्ट्रेट के समक्ष दिए 164 के बयानों में अपने साथ ज्यादती नहीं होने एवं स्वयं की मर्जी से लड़कों के साथ घूमने जाने की बात कही। 

अशोक गहलोत ने बताया कि बालिकाओं का मेडिकल भी करवाया गया एवं अनुसंधान में सामने आया कि लड़के भी नाबालिग हैं, जांच आगे भी जारी रहेगी।

जबकि बारां में बालिकाओं ने स्वयं मजिस्ट्रेट के समक्ष दिए 164 के बयानों में अपने साथ ज्यादती नहीं होने एवं स्वयं की मर्जी से लड़कों के साथ घूमने जाने की बात कही। बालिकाओं का मेडिकल भी करवाया गया एवं अनुसन्धान में सामने आया कि लड़के भी नाबालिग हैं, जांच आगे भी जारी रहेगी।

राजस्थान के सीएम ने कहा कि घटना होना एक बात है और कार्रवाई होना दूसरी, घटना हुई तो कार्रवाई भी तत्काल हुई। इस केस को मीडिया का एक वर्ग और विपक्ष हाथरस जैसी वीभत्स घटना से कम्पेयर करके प्रदेश और देश की जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं।

WeForNews

Continue Reading

राष्ट्रीय

देश में कोरोना के 86821 नए केस, 1181 की मौत

Published

on

coronavirus

देश नें कोरोना का कहर जारी है। हर दिन देश में 80 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जाती ताजा आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 86,821 नए केस सामने आए हैं और 1,181 लोगों की जान चली गई है।

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 63 लाख के पार पहुंच गई है। कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 63,12,585 हो गई है। इसमें 9,40,705 मामले सक्रिय हैं। वहीं, 52,73,202 लोगों को इलाज के बाद अब तक डिस्चार्ज किया जा चुका है। देश में कोरोना की चपेट में आकर अब तक 98,678 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

देश के अलग-अलग राज्यों से कोरोना के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वह बेहद चिंताजनक हैं। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 13,84,446 केस सामने आ चुके हैं। कोरोना प्रभावित राज्यों में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है। राज्य में कोरोना के 2,59,033 मामले सक्रिय हैं। अब तक 10,88,322 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है और 36,662 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना प्रभावित राज्यों में आंध्र प्रदेश दूसरे नंबर पर है। आंध्र प्रदेश में कोरोना के अब तक 6,93,484 मामले सामने आ चुके हैं। राज्य में 58,445 सक्रिय केस हैं और 6,29,211 लोगों को अस्पताल से इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है। अब तक 5,828 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना प्रभावित राज्यों में कर्नाटक तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। कर्नाटक में अब तक कोरोना के 6,01,767 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1,07,616 केस सक्रिय हैं और 4,85,268 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। राज्य में कोरोना से अब तक 8,864 लोगों की जान जा चुकी है।

वहीं, तमिलनाडु कोरोना प्रभावित राज्यों में चौथे ने नंबर पर है। राज्य में अब तक कोरोना के 5,97,602 केस सामने आ चुके हैं। इनमें 46,263 मामले सक्रिय हैं और 5,41,819 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। राज्य में अब तक कोरोना से 9,520 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

उत्तर प्रदेश कोरोना प्रभावित राज्यों में पाचंवें नंबर पर है। यूपी में कोरोना के अब तक 3,99,082 मामले सामने आए हैं। प्रदेश में कोरोना के 50,883 सक्रिय मामले हैं। अब तक 3,42,415 लोगों को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है। कोरोना की चपेट में आकर अब तक 5,784 लोगों की मौत हो चुकी है।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular