सरकारी कर्मचारियों को जल्द मिलेगा 7वें वेतन आयोग का लाभ, समिति की अंतिम बैठक | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

व्यापार

सरकारी कर्मचारियों को जल्द मिलेगा 7वें वेतन आयोग का लाभ, समिति की अंतिम बैठक

Published

on

सरकारी कर्मचारियों

सातवें वेतन आयोग का लाभ जुलाई से मिलना शुरू हो सकता है। इसको लागू करने की प्रक्रिया केंद्र सरकार ने शुरू किया है।

केबिनेट सचिव प्रदीप कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में अधिकार प्राप्त समिति ने मंगलवार को आयोग की अनुशंसा पर बैठक की। जल्द ही समिति की दो और बैठकें होंगी और फिर इसे केबिनेट की मंजूरी को भेजा जाएगा।

सातवां वेतन आयोग लागू होने के बाद कर्मियों के वेतन में 23.55 प्रतिशत और पेंशनभोगियों को 24 प्रतिशत की बढ़ोतरी का फायदा होगा। सातवां वेतन आयोग लागू होने के बाद कर्मियों का मासिक न्यूनतम बेसिक वेतन 18 हजार से बढ़कर 23500 रुपए और अधिकतम 2.50 लाख रुपए से बढ़कर 3.25 लाख हो जाएगा। सातवां वेतन आयोग एक जनवरी 2016 से लागू माना जाएगा।

ये अहम सिफारिशें हैं

47 लाख केंद्रीय कर्मियों का वेतन 23.55 प्रतिशत बढ़ाया जाए। 52 लाख पेंशनधारकों को 24 प्रतिशत की बढ़ोतरी का फायदा मिले। सभी कर्मियों के लिए वन रैंक-वन पेंशन। दायरे में 10 साल पहले सेवानिवृत्त हुए कर्मी भी। ग्रेच्युटी की सीमा 10 से बढ़ाकर 20 लाख की जाए। महंगाई भत्ता 50फीसदी तक बढ़े।

wefornews bureau

keywords: Government employees, soon benefit from the 7th Pay Commission,Committee last meeting,सरकारी कर्मचारियों,7वें वेतन,लाभ,अंतिम बैठक

व्यापार

सेंसेक्स 835 अंक उछला, 11000 के ऊपर बंद हुआ निफ्टी

Published

on

sensex-min

घरेलू शेयर बाजार में शुक्रवार को जोरदार लिवाली आने से लगातार छह सत्रों की गिरावट पर ब्रेक लगा। सेंसेक्स 835 अंकों की जबरदस्त तेजी के साथ 37,389 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी करीब 245 अंक चढ़कर 11,050.25 पर बंद हुआ। दोनों प्रमुख सूचकांकों में दो फीसदी से ज्यादा की बढ़त दर्ज की गई।

बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद घरेलू शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी आई। आईटी, टेलीकॉम और ऑटो सेक्टरों के शेयरों में जोरदार लिवाली रही।

सेंसेक्स पिछले सत्र से 835.06 अंकों यानी 2.28 फीसदी की तेजी के साथ 37,388.66 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी बीते सत्र से 244.70 अंकों यानी 2.26 फीसदी की तेजी के साथ 11,050.25 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 438.29 अंकों की तेजी के साथ 36,991.89 पर खुला और 37,471.17 तक उछला, जबकि दिनभर के कारोबार के दौरान सेंसेक्स का निचला स्तर 36,730.52 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी बीते सत्र से 104.85 अंकों की तेजी के साथ 10,910.40 पर खुला और 11,072.60 तक उछला, जबकि दिनभर कारोबार के दौरान निफ्टी का निचला स्तर 10,854.85 रहा।

बीएसई मिडकैप सूचकांक पिछले सत्र से 403.47 अंक यानी 2.90 फीसदी की तेजी के साथ 14,336.68 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप सूचकांक 327.30 अंकों यानी 2.31 फीसदी की तेजी के साथ 14,495.58 पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के सभी 30 शेयरों में तेजी रही जबकि सबसे ज्यादा तेजी वाले पांच शेयरों बजाज फिनसर्व (6.64 फीसदी), एचसीएल टेक (5.01 फीसदी), भारती एयरटेल (4.98 फीसदी), इंडसइंड बैंक (4.97 फीसदी) और एलएंडटी (4.58 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के सभी 19 सेक्टरों में तेजी दर्ज की गई। बीएसई के सबसे ज्यादा तेजी वाले पांच सेक्टरों में टेलीकॉम (5.73 फीसदी), टेक (4.02 फीसदी), आईटी (3.63 फीसदी), ऑटो (3.40 फीसदी) और पूंजीगत वस्तुएं (3.10 फीसदी) शामिल हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

सेंसेक्स 1100 अंकों से ज्यादा लुढ़का, 3 फीसदी टूटा निफ्टी

Published

on

Sensex-

खराब वैश्विक संकेतों और डेरीवेटिव सीरीज के अनुबंधों की समाप्ति के चलते गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार में कोहराम का आलम रहा।

सेंसेक्स 1,115 अंक लुढ़कर 36,554 पर ठहरा जबकि निफ्टी 326 अंक टूटकर कर 10,806 पर बंद हुआ। दोनों प्रमुख सूचकांकों में करीब तीन फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

सेंसेक्स पिछले सत्र से 1,114.82 अंकों यानी 2.96 फीसदी की गिरावट के साथ 36,553.60 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी बीते सत्र से 326.30 अंकों यानी 2.93 फीसदी की गिरावट के साथ 10,805.55 पर बंद हुआ।

निराशाजनक वैश्विक संकेतों से घरेलू शेयर बाजार में आरंभिक कारोबार के दौरान बिकवाली का भारी दबाव बना हुआ था।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 386.24 अंकों की गिरावट के साथ 37,282.18 पर खुला और 36,495.98 तक लुढ़का जबकि दिनभर के कारोबार के दौरान सेंसेक्स का ऊपरी स्तर 37,304.26 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी बीते सत्र से 120.85 अंकों की गिरावट के साथ 11,011 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 10,790.20 तक लुढ़का जबकि कारोबार के दौरान निफ्टी का ऊपरी स्तर 11,015.30 रहा।

आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

महंगे हुए आलू-टमाटर की दिल्ली सरकार ने की समीक्षा

Published

on

Tomato

दिल्ली सरकार ने बुधवार को दिल्ली में प्याज, टमाटर, आलू और अन्य आवश्यक वस्तुओं की खुदरा कीमतों से सम्बंधित मुद्दों की समीक्षा की। गौरतलब है कि दिल्ली में टमाटर और आलू पहले के मुकाबले काफी मंहगे हुए हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली में टमाटर और आलू पहले के मुकाबले काफी मंहगे हुए हैं। बैठक में दिल्ली के खाद्य और आपूर्ति मंत्री, इमरान हुसैन, कृषि उपज विपणन समिति और दिल्ली कृषि विपणन बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

बैठक के दौरान, मंत्री ने आवश्यक वस्तुओं की खुदरा कीमतों के उतार-चढ़ाव की समीक्षा की। बैठक में उपस्थित अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में प्याज की खुदरा कीमतें पिछले वर्ष की तुलना में कम हैं।

उन्होंने यह भी बताया कि पिछले साल की तुलना में इस वर्ष प्याज की मांग में कमी रही है तथा प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध के कारण प्याज की कीमतें निकट भविष्य में स्थिर होंगी, साथ ही अक्टूबर के अंत तक दिल्ली में पर्याप्त मात्रा में ताजा प्याज की आवक भी आरंभ हो जाएगी।

अधिकारियों ने बताया कि जहां तक टमाटर का संबंध है, टमाटर जल्दी खराब होता है, कीमतें मौसम के कारकों पर निर्भर हैं, क्योंकि उत्पादक राज्यों में भी बेमौसम और भारी बारिश से मांग-आपूर्ति की स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।

इससे खुदरा कीमतें प्रभावित होती हैं। बैठक में संबंधित एजेंसियों का मानना था कि दिल्ली में जल्द ही टमाटर के भाव गिर सकते हैं। आलू के संबंध में मंत्री को संबंधित अधिकारियों ने सूचित किया कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष कम उत्पादन के कारण उनके खुदरा मूल्य में वृद्धि हुई है। इमरान हुसैन ने संबंधित एजेंसियों को किसी भी प्रकार की जमाखोरी, होडिर्ंग गतिविधियों तथा कालाबाजारी के खिलाफ स़ख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular