मंडी. संचार क्रांति के मसीहा और हिमाचल प्रदेश की राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले पूर्व केंद्रीय संचार राज्य मंत्री पंडित सुखराम का देहांत हो गया है. उन्होंने बीती रात करीब डेढ़ बजे दिल्ली स्थित एम्स में अंतिम सांस ली. बताया जा रहा है कि मंगलवार की रात को उन्हें फिर से दिल का दौरा पड़ा, जिस कारण उनका देहांत हो गया. इससे पहले 9 मई की रात को भी उन्हें दिल का दौरा पड़ने के कारण लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था.

बीती रात को फिर से दिल का दौरा पड़ने के कारण उनका देहांत हो गया. उनके पोते आश्रय शर्मा ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने दादा के देहांत की जानकारी दी है. उन्होंने लिखा है अलविदा दादा जी, अब नहीं बजेगी टेलीफोन की घंटी.

परिवार से मिली जानकारी के अनुसार आज पंडित सुखराम की पार्थिव देह को दिल्ली से मंडी लाया जाएगा. बताया जा रहा है कि सलापड़, सुंदरनगर, नाचन और बल्ह सहित मंडी सदर में बड़ी संख्या में लोग पंडित सुखराम को श्रद्धांजलि देने के लिए सड़कों पर उमड़ेंगे. कल सुबह 11 बजे पंडित सुखराम की पार्थिव देह को अंतिम दर्शनों के लिए मंडी शहर के ऐतिहासिक सेरी मंच पर रखा जाएगा, जिसके बाद हनुमानघाट स्थित शमशानघाट पर उनका पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा. पंडित सुखराम के अंतिम संस्कार में बड़ी संख्या में नेताओं के पहुंचने का अनुमान है.

बता दें कि हिमाचल के साथ-साथ देश की राजनीति में पंडित सुखराम एक चर्चित चेहरा रहे हैं. चंद रोज पहले स्वास्थ्य बिगड़ने और ब्रेन स्टोक के बाद पंडित सुखराम को मंडी अस्पताल में दाखिल किया गया था. इसके बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने उन्हें दिल्ली एम्स में शिफ्ट करने के लिए अपना हेलीकॉप्टर उपलब्ध करवाया था. सदर के विधायक अनिल शर्मा ने बताया था कि उनके पिता को बीती रात कार्डियक अरेस्ट हुआ है. इसके बाद वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिए गए थे.

Share.

Leave A Reply