फ्लोरिडा फाइरिंग: एक्स वाइफ और दोस्त ने किया बड़ा खुलासा, खुद भी GAY था मतीन | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

फ्लोरिडा फाइरिंग: एक्स वाइफ और दोस्त ने किया बड़ा खुलासा, खुद भी GAY था मतीन

Published

on

फ्लोरिडा फाइरिंग

अमेरिका के गे नाइट क्लब में फायरिंग करने वाला उमर मतीन भी गे था।

इस बात का खुलासा उसकी एक्स-वाइफ और एक दोस्त ने किया है। ये भी पता चला है कि मतीन पहले भी कई बार इस क्लब में आ चुका है। अब तक माना जा रहा था कि होमोसेक्शुअल्स से नफरत के चलते उमर ने इस घटना को अंजाम दिया। आपको बता दें कि नाइट क्लब में अंधाधुंध फायरिंग करते हुए मतीन ने 53 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था।

11_41_500409646mateen-terrorist-ll

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, मतीन गे क्लब के एक प्रेमी जोड़े को देखकर भड़क गया। वो जोड़ा एक दूसरे को किस कर रहा था और मतीन को ये बर्दाश्त नहीं हुआ और उसने फायरिंग शुरू कर दी।

floridashoting

इतना ही नहीं मतीन के रिश्‍तेदारों ने बताया कि पहले मतीन एक सिक्‍योरिटी ऑफिसर की नौकरी करता था और धर्म को लेकर इतनी संकीर्ण मानसिकता नहीं रखता था। उसके रिश्तेदारों ने बताया कि उसे हमेशा से ही समलैंगिकता से चिढ़ थी। वो अक्सर अपनी पूर्व पत्‍नी को मारता-पीटता था।

वहीं मतीन के पिता मीर सिद्दीकी का कहना है कि समलैंगिकों के प्रति अफनी नफरत के चलते ही उसने इतने लोगों की जान ली। लेकिन इससे उसके मुस्लिम धर्म का कोई लेना देना नहीं है। अमेरिकी मीडिया से बातचीत में मतीन के पिता ने बताया कि हाल ही में उमर मायामी में एक गे कपल को किस करते देख गुस्‍सा हो गया था।

florida-photo-wefornewshindi

वहीं दूसरी बातचीत के दौरन मतीन की पूर्व पत्‍नी ने बताया कि वह उसे बहुत बेरहमी से मारा करता था। वह दिमागी रूप से ठीक नहीं था। वह मुझे मारता था। वह बस घर लौटता और मुझे पीटना शुरू कर देता। 2011 में उसकी पत्नी ने अपनी जान बचाने के लिए उसे छोड़ दिया था।

wefornews bureau 

Key words: AMERICA FLORIDA FIRING, FLORIDA SHOOTOUT, GAY NIGHTCLUB, OMAR MATEEN, ORLANDO SHOOTER OMAR MATEEN, PULSE NIGHTCLUB, अतंरराष्ट्रीय, gay

अंतरराष्ट्रीय

चीन की अमेरिका को धमकी, एप पर बैन का जल्द देंगे जवाब

Published

on

Houston Howdy Modi Donald Trump

चीन ने कहा कि वह वीचैट और टिकटॉक एप के डाउनलोडिंग को रोकने के अमेरिका के कदम का घोर विरोध करेगा। बीजिंग ने वाशिंगटन को चेतावनी दी कि वह चीनी कंपनियों के हितों की रक्षा के लिए उसके खिलाफ जवाबी उपाय भी करेगा। 

अमेरिका ने शुक्रवार को लोकप्रिय चीनी सोशल मीडिया एप टिकटॉक और वीचैट को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए रविवार से प्रतिबंधित करने के आदेश जारी किए। वाशिंगटन ने कहा कि ये एप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए खतरा हैं। गौरतलब है कि कुछ सप्ताह पहले भारत ने भी इन एप्स को प्रतिबंधित कर दिया था। 

पिछले महीने, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 15 सितंबर तक टिकटॉक और वीचैट पर प्रतिबंध लगाने के लिए एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए। इस आदेश में कहा गया कि इस दौरान तक इन कंपनियों को अपना स्वामित्व अमेरिकी कंपनियों कौ सौंपना होगा, तब ही ये देश में परिचालन कर पाएंगी। 

चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने शनिवार को टिकटॉक और वीचैट पर प्रतिबंध लगाने के लिए ट्रंप प्रशासन द्वारा जारी आदेशों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह इन एप्स के डाउनलोड को ब्लॉक करने के अमेरिका के कदम का घोर विरोध करता है। चीनी मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, किसी भी सबूत के अभाव में अमेरिका ने बार-बार गैर-कानूनी कारणों का हवाला देते हुए दोनों कंपनियों को दबाने के लिए राज्य की शक्ति का इस्तेमाल किया है।

इसमें कहा गया कि अमेरिका ने कंपनियों की सामान्य व्यावसायिक गतिविधियों को गंभीर रूप से बाधित कर दिया है। साथ ही निवेश के माहौल में अंतरराष्ट्रीय निवेशकों के विश्वास को कम कर दिया और सामान्य वैश्विक आर्थिक और व्यापार को नुकसान पहुंचाया है। मंत्रालय ने कहा कि वाशिंगटन को अपनी कार्रवाइयों को तुरंत रोकना चाहिए और अंतरराष्ट्रीय नियमों और व्यवस्था की रक्षा करनी चाहिए। 

मंत्रालय ने कहा, अगर अमेरिका अपने आदेश को वापिस नहीं लेता है, तो चीन कंपनियों के वैध अधिकारों और हितों की रक्षा करने के लिए आवश्यक उपाय करेगा। हालांकि मंत्रालय ने किसी भी जवाबी कार्रवाई को निर्दिष्ट नहीं किया। 

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

कुलभूषण को नहीं मिलेगा बाहर का वकील, पाक ने ठुकराई मांग

Published

on

kulbhushan jadhav

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नेवी के रिटायर्ड अफसर कुलभूषण जाधव के मामले में निष्पक्ष सुनवाई के लिए भारत ने क्वींस काउंसल या बाहर के वकील की मांग की थी।

पाकिस्तान ने भारत की इस मांग को खारिज कर दिया है। पाकिस्तान ने भारत की मांग को अवास्तविक बताते हुए खारिज किया।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाहिद हाफिज चौधरी ने कहा कि भारत लगातार बाहरी वकील की मांग कर रहा है। यह अवास्तविक है। उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान ने भारत से साफ कर दिया है कि अंतरराष्ट्रीय चलन के मुताबिक हमारी अदालतों में उन वकीलों को ही पेश होने और पैरवी करने की अनुमति है, जिनके पास यहां प्रैक्टिस का लाइसेंस है।

बता दें कि पाकिस्तान की ओर से यह बयान भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के बयान के बाद आया है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने 17 सितंबर को पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले का क्रियान्वयन नहीं करने का आरोप लगाया था।

उन्होंने जाधव को बगैर किसी शर्त के राजनयिक पहुंच उपलब्ध कराने, निष्पक्ष और स्वतंत्र सुनवाई के लिए एक भारतीय वकील या क्वींस काउंसल नियुक्त करने की मांग की थी।

WeForNews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ऐतिहासिक होगी संयुक्त राष्ट्र की आम सभा, पीएम मोदी लेंगे दो बैठकों में हिस्सा

Published

on

Photo-ANI

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि एवं राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने संयुक्त राष्ट्र के 75वें सत्र के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस बार का सत्र कई मायनों में ऐतिहासिक होने वाला है। उन्होंने बताया कि सोमवार से शुरू होने वाले इस डिजिटल सत्र के दो बहस में प्रधानमंत्री मोदी भी शिरकत करेंगे।

तिरुमूर्ति ने कहा कि पहली बहस एक सामान्य बहस है जहां पीएम मोदी राष्ट्रीय व्यक्तव्य रखेंगे, वहीं सोमवार को संयुक्त राष्ट्र के 75वें सत्र की शुरुआत को लेकर दूसरी बहस एवं महत्वपूर्ण बैठकें होंगी। उन्होंने कहा कि इस दौरान प्रधानमंत्री का संबोधन निश्चित रूप से हमारी भागीदारी का मुख्य आकर्षण होगा।
 

तिरुमूर्ति ने आगे कहा कि विदेश मंत्री एस जयशंकर भी संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की तर्ज पर होने वाली कुछ मंत्रिस्तरीय बैठकों में भाग लेंगे और महत्वपूर्ण मुद्दों  पर चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि हम  एक अलग तरह की परिस्थिति में इस सत्र में भाग लेने जा रहे हैं जो कि बेहद दिलचस्प होने वाला है। वहीं कोरोना संकट और यह महत्वपूर्ण बैठक दोनों हम लोगों को कुछ अलग करने को प्रेरित करेगा।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular