दुबई में एक लग्जरी होटल में लगी भीषण आग, एक की मौत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Published

on

विश्व के सबसे ऊंचे टावर बुर्ज खलीफा के पास दुबई में एक लग्जरी होटल में भीषण आग लग गई जिसमें कम से कम 16 लोग घायल हुए जबकि इस घटना में 1 की मौत हो गई. इस टावर के पास लोग नए साल का समारोह देखने के लिए जमा हुए थे.

दुबई शासन के मीडिया कार्यालय ने ट्वीट किया कि एड्रेस डॉउनटाउन होटल में आग लग गई है. अधिकारी घटना से तेजी से और सुरक्षित रूप से निपटने के लिए मौके पर पहुंचे. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक 63 मंजिला इमारत की कई मंजिलों में आग फैल गई.

दुबई पुलिस प्रमुख ने बताया कि होटल में मौजूद सभी लोगों को आग लगने की जगह से निकाल लिया गया. आग इतनी ज्यादा थी कि कई घंटों बाद भी इसे बुझाया नहीं जा सका.

जनरल खमीस एम अलमजेमा ने बताया, ‘सभी लोगों को निकाल लिया गया है.’ उन्होंने बताया कि आग बुझाए जाने तक हमारे पास इसके लगने के कारण की जानकारी नहीं है. मीडिया कार्यालय की रिपोर्ट के मुताबिक कम से 14 लोग मामूली रूप से झुलसे हैं. एक की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुआ है.

सरकार ने ट्वीट किया कि आग 20 वीं मंजिल पर लगी और इसने इमारत के सिर्फ बाहरी हिस्से को प्रभावित किया.

wefornews Bureau

अंतरराष्ट्रीय

फ्रांस और ब्रिटेन में तेजी से बढ़ रहे मामले

Published

on

Coronavirus

फ्रांस में संक्रमण की दूसरी लहर एक सप्ताह से लगातार 13 हजार से ज्यादा नए मामले सामने ला रही है। शनिवार को भी 14 हजार नए मामले सामने आए। हालांकि, सरकार सख्त लॉकडाउन लगाना चाहती है लेकिन लोग इसके विरोध में उतर आए हैं।

यही हाल ब्रिटेन के भी हैं, जहां रोजाना करीब चार से पांच हजार केस सामने आ रहे हैं लेकिन लोग लॉकडाउन के खिलाफ हैं। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन संसद में भी विरोध झेल रहे हैं। सांसदों का कहना है कि जॉनसन ने संसद को भरोसे में लिए बिना प्रतिबंधों का आदेश जारी किया। इसकी वजह से लोगों में सरकार के खिलाफ नाराजगी बढ़ रही है।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

अमेरिका: टिकटॉक को एप स्टोर पर बैन करने के राष्ट्रपति ट्रंप के आदेश पर कोर्ट की रोक

Published

on

TikTok

अमेरिका के वाशिंगटन में देर रात एक संघीय न्यायालय के न्यायाधीश ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चीनी एप टिकटॉक को एप स्टोर पर बैन करने के आदेश पर रोक लगा दी। यह जानकारी समाचार एजेंसी एएनआई ने अमेरिकी मीडिया के हवाले से दी है।

बता दें कि ट्रंप प्रशासन ने चीनी एप टिकटॉक को डाउनलोड करने से रोकने के लिए आदेश दिया था। इसमें ट्रंप प्रशासन ने कहा था कि रविवार के बाद एप्पल और गूगल प्ले स्टोर से टिकटॉक को डाउनलोड नहीं किया जा सकेगा। 

वाशिंगटन में रविवार की देर रात एक अमेरिकी न्यायाधीश ने ट्रंप प्रशासन के उस आदेश पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी है जिसके मुताबिक एपल इंक के एपल स्टोर और अल्फाबेट इंक के गूगल प्लेस्टोर पर चीनी स्वामित्व वाले छोटे वीडियो शेयरिंग एप TikTok (टिकटॉक) को रविवार रात 11:59 बजे के बाद डाउनलोड करने पर पाबंदी लगाई गई थी। 

अमेरिकी जिला न्यायाधीश कार्ल निकोल्स ने एक संक्षिप्त आदेश में कहा कि वह टिकटॉक एप स्टोर प्रतिबंध को प्रभावी होने से रोकने के लिए एक प्रारंभिक निषेधाज्ञा जारी कर रहे हैं। बता दें कि निकोल्स राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा नामित किए गए थे और वे पिछले साल अदालत में शामिल हुए थे। 

हालांकि निकोलस ने फिलहाल “इस समय” 12 नवंबर को प्रभावी होने के लिए निर्धारित वाणिज्य विभाग के अन्य प्रतिबंधों पर रोक लगाने से मना कर दिया, जो टिकटॉक के मुताबिक अमेरिका में एप को अनुपयोगी बना सकता है। 

टिकटॉक के वकील जॉन ई. हॉल ने रविवार की सुबह 90 मिनट तक चली सुनवाई के दौरान तर्क दिया था कि यह प्रतिबंध “अभूतपूर्व” और “तर्कहीन” है।

हॉल ने सुनवाई के दौरान पूछा, “आज रात इस एप स्टोर पर प्रतिबंध लगाने का क्या मतलब है जब इस तरह की बातचीत चल रही है जो इसे अनावश्यक बना सकती है?” उन्होंने कहा, “यह सिर्फ दंडात्मक है। यह कंपनी को बर्बाद करने का एक कुंद तरीका है।… अभी इसकी तुरंत कोई जरूरत नहीं है।”

अमेरिकी अधिकारियों ने राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं को व्यक्त किया है कि इस एप का इस्तेमाल करने वाले 100 मिलियन (एक अरब) अमेरिकियों के इकट्ठा किए गए व्यक्तिगत डेटा को चीन की कम्युनिस्ट पार्टी सरकार हासिल कर सकती है। 

बाइटडांस ने 20 सितंबर को कहा कि इसने वॉलमार्ट इंक और ओरेकल कॉर्प के लिए एक नई कंपनी, टिकटॉक ग्लोबल में निवेश के लिए एक प्रारंभिक सौदा किया, जो कि अमेरिकी परिचालन की देखरेख करेगा। समझौते की शर्तों पर और वाशिंगटन और बीजिंग की चिंताओं को हल करने के लिए बातचीत जारी है।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के मामले 3.3 करोड़ के करीब

Published

on

Coronavirus

वैश्विक स्तर पर कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 3.3 करोड़ के करीब पहुंच गई है, जबकि इससे होने वाली मौतों की संख्या बढ़कर 996,000 से अधिक हो गई हैं। यह जानकारी जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने सोमवार को दी।

विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में बताया कि सोमवार की सुबह तक, कुल मामलों की संख्या 32,977,556 हो गई, वहीं मौतों की संख्या 996,674 हो चुकी थी।

सीएसएसई के अनुसार, अमेरिका संक्रमण के 7,113,666 मामलों और 204,750 मौतों के साथ कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित देश है।

वहीं भारत मामलों की ²ष्टि में 5,992,532 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है, जबकि देश की मौत का आंकड़ा 94,503 तक पहुंच गया है।

सीएसएसई के आंकड़ों के अनुसार, अधिक मामलों वाले अन्य शीर्ष 15 देश ब्राजील (4,717,991), रूस (1,146,273) कोलम्बिया (813,056), पेरू (800,142), मैक्सिको (730,317) स्पेन (716,481), अर्जेंटीना (711,325), दक्षिण अफ्रीका (670,766), फ्रांस (552,473), चिली (457,901), ईरान (446,448), ब्रिटेन (437,516), बांग्लादेश (359,148), इराक (349,450) और सऊदी अरब (333,193) हैं।

वर्तमान में संक्रमण से हुई मौतों के मामले में ब्राजील 141,741 आंकड़ों के साथ दूसरे स्थान पर है।

वहीं 10,000 से अधिक मौत वाले देशों में मैक्सिको (76,430), ब्रिटेन (42,077), इटली (35,835), पेरू (32,142), फ्रांस (31,675), स्पेन (31,232), ईरान (25,589), कोलम्बिया (25,488),रूस (20,239), दक्षिण अफ्रीका (16,398), अर्जेंटीना (15,749), चिली (12,641), इक्वाडोर (11,279) और इंडोनेशिया (10,386) है।

आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular