दिल्ली- अधिकारियों के सस्‍पेंशन को गृह मंत्रालय ने ठहराया गलत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Published

on

दिल्ली और केंद्र सरकार के बीच एक बार फिर ठन गई है. दिल्ली सरकार ने जैसे ही दो विशेष सचिव स्‍तरीय अधिकारियों को सस्पेंड किया तो गृह मंत्रालय ने इसे गलत ठहराया. केंद्र अब इस मामले में दिल्‍ली सरकार को अपना रुख बताएगा.

इससे पहले अधिकारियों के सस्‍पेंशन और दानिक्स अधिकारियों के सामूहिक छुट्टी पर जाने के मामले में दिल्ली सरकार ने सख्त रूख अपनाते हुए कहा है कि वो इन अफसरों के बगैर काम कर सकती है. गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने निलंबित अफसरों पर उपराज्यपाल के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया है.

सत्येंद्र जैन ने कहा है कि भ्रष्ट अधिकारी नहीं चाहिए और लोगों के काम को आसान करने के लिए वो सभी सेवाओं को ऑन लाइन कर देंगे. दरअसल, ये पूरा विवाद गृह विभाग में विशेष सचिव यशपाल गर्ग और सुभाष चंद्रा के निलंबन से जुड़ा है.

दोनों अधिकारियों को कैबिनेट का फैसला न मानने पर सस्पेंड किया गया है. इसी कार्रवाई के खिलाफ दिल्ली अंडमान निकोबार आइलैंड सिविल सर्विसेज यानी दानिक्स के अफसर आज एक दिन की सामूहिक छुट्टी पर हैं.

दानिक्स एसोसिएशन ने एक प्रस्ताव पास कर इस सस्पेंशन को गैरकानूनी बताया है. एसोसिएशन ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को सत्येंद्र जैन की शिकायत में एक चिट्ठी लिखी है और इस निलंबन को खत्म करने की मांग की है.

दरअसल, चिट्ठी में गृह विभाग में विशेष सचिव यशपाल गर्ग और सुभाष चंद्रा के निलंबन को गलत बताया गया है और उसे रद्द करने की मांग की गई है. दानिक्स एसोसिएशन का कहना है कि सत्येंद्र जैन ने दोनों अधिकारियों पर एक कैबिनेट नोट पर साइन करने के लिए दबाव बनाया, जो नियमों के खिलाफ है.

wefornews Bureau

राष्ट्रीय

मेधा पाटकर और किसानों को राजस्थान सीमा पर रोका गया, यातायात बाधित

कामरेड जसविंदर के नेतृत्व में एक समूह सुबह 10 बजे के आसपास आगरा की सीमा पर पहुंच गया, लेकिन उसे आगरा में प्रवेश करने की अनुमति नहीं मिली।

Published

on

By

Medha Patkar

आगरा, 26 नवंबर । मेधा पाटकर के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने की कोशिश करते सैकड़ों किसानों को राजस्थान की सीमा से सटे आगरा जिले के सैयां गांव के पास से रोक दिया गया।

राजस्थान और मध्यप्रदेश के आंदोलनकारी किसान कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल होने के लिए दिल्ली की ओर बढ़ रहे थे।

आगरा और राजस्थान के धौलपुर से पुलिस और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी प्रदर्शनकारियों के साथ चर्चा कर रहे हैं, ताकि यातायात सुचारु हो सके। दोनों ओर से वाहनों की लंबी कतार ने आवागमन को बाधित कर दिया है।

आंदोलनकारी धरने पर बैठ गए हैं और मेधा पाटकर 12 घंटे के अनशन पर हैं।

कामरेड जसविंदर के नेतृत्व में एक समूह सुबह 10 बजे के आसपास आगरा की सीमा पर पहुंच गया, लेकिन उसे आगरा में प्रवेश करने की अनुमति नहीं मिली।

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने एक घंटे तक वाहनों की आवाजाही की अनुमति दी।

मेधा पाटकर की अगुवाई वाला समूह बुधवार रात आगरा सीमा पर पहुंच गया था, मगर उन्हें तमाम कोशिशों के बाद भी आगरा में प्रवेश करने से रोक दिया गया।

किसान नेताओं ने कहा कि वे उत्तर प्रदेश सरकार के नहीं, बल्कि केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, इसलिए उन्हें बेवजह रोका जा रहा है।

मीडियाकर्मियों से बात करते हुए मेधा पाटकर ने कहा कि केंद्र सरकार का कानून किसान विरोधी और संवैधानिक अधिकार विरोधी हैं और इन्हें वापस लिया जाना चाहिए।

Continue Reading

राष्ट्रीय

Rahul Gandhi ने कहा तरुण गोगोई मेरे गुरु थे, मुझे बेटे की तरह मानते थे

वयोवृद्ध कांग्रेस नेता और तीन बार (2001-2016) असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का लंबी बीमारी के बाद सोमवार शाम को गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (जीएमसीएच) में निधन हो गया था। वह 86 वर्ष के थे।

Published

on

rahul gandhi

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई उनके गुरु की तरह थे, उन्हें अपने बेटे गौरव गोगोई की तरह मानते थे।

वयोवृद्ध कांग्रेस नेता और तीन बार (2001-2016) असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का लंबी बीमारी के बाद सोमवार शाम को गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (जीएमसीएच) में निधन हो गया था। वह 86 वर्ष के थे।

राहुल ने कहा कि, तरुण गोगोई एक राष्ट्रीय नेता थे। उन्होंने असम के लोगों को एक साथ लिया, राज्य में शांति स्थापित की और असम का चेहरा बदल दिया।

उन्होंने मीडिया को बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री को असम की जटिलता का ज्ञान था।

राहुल ने कहा कि, गोगोई पार्टी (कांग्रेस) के स्तंभ थे और यह हमारे लिए बहुत दुखद दिन है। उनका निधन मेरे लिए एक महान व्यक्तिगत क्षति है। जब मैंने उनसे बात की, तो मुझे लगा कि मैं हमेशा असम के साथ बात कर रहा हूं।

एक विशेष उड़ान पर गुवाहाटी पहुंचने के बाद, गांधी सीधे कलाक्षेत्र गए और गोगोई को श्रद्धांजलि अर्पित की।

राहुल गांधी ने कहा, जब मैं पहली बार असम आया था, तब मैं युवा था और मुझे लगता था कि मैं सब कुछ जानता हूं। तब मैं गोगोई जी के साथ बैठा, जिन्होंने मुझे विनम्रता दी। वह एक ऐसे गुरु थे जो अपने छात्रों को राजनीति की कला सिखाते थे।

कांग्रेस नेता ने कहा, जब भी मैं असम आया, मैं उसके साथ घंटों बैठा रहा। गोगोई जी ने कभी भी एक मिनट के लिए अपने बारे में बात नहीं की। वह केवल असम और वहां के लोगों के बारे में बात करते थे। उनके पास राज्य के लिए बेहतरीन विचार थे।

असम के पूर्व मुख्यमंत्री ने कोविड -19 की वजह से 2 नवंबर से चल रहे उपचार के बाद सोमवार को जीएमसीएच में अंतिम सांस ली।

वह मृत्यु के समय जोरहाट जिले के टीताबर विधानसभा क्षेत्र से मौजूदा विधायक थे।

Continue Reading

राष्ट्रीय

Jammu and Kashmir: HMT एरिया में आतंकी हमला, आर्मी के दो जवान घायल

खबरों के अनुसार इस हमलें में आर्मी के दो जवान जख्मी हुए हैं। इन्हें आर्मी हॉस्पिटल शिफ्ट किया गया है। आतंकियों को पकड़ने के लिए इलाके में घेराबंदी कर दी गई है।

Published

on

Jammu and Kashmir Shopian Indian Army

श्रीनगर से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां एरिया में आतंकी हमला (Terrorist Attack) हुआ है। खबरों के अनुसार इस हमलें में आर्मी के दो जवान जख्मी हुए हैं। इन्हें आर्मी हॉस्पिटल शिफ्ट किया गया है। आतंकियों को पकड़ने के लिए इलाके में घेराबंदी कर दी गई है।

Continue Reading

Most Popular