छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल होने के बाद एक और अच्छी खबर आई है। राज्य सरकार ने कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में पांच प्रतिशत की बढ़ोत्तरी कर दी है।

छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) ने शासकीय कर्मचारियों को बड़ी सौगात दी है. दरअसल अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस (International Labour Day) पर कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 5 प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा कर दी है. अब राज्य के कर्मचारियों को 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता की जगह 22 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलेगा. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी साझा की है.

छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 5 प्रतिशत बढ़ा
दरअसल अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए है. दिन की शुरुआत के साथ कैबिनेट बैठक में पुरानी पेंशन योजना को कैबिनेट में हरी झंडी मिल गई. इसके बाद रात होते-होते मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर राज्य के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 5 प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा कर दी . ये इसी महीने से लागू हो जाएगा. इसी के साथ राज्य के 2 लाख से अधिक कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर दी जानकारी
राज्य के कर्मचारियों की महंगाई भत्ता बढ़ाने की घोषणा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्विटर पर की है. उन्होंने लिखा है कि, “कर्मचारियों के हित में आज हमने एक बड़ा फैसला लिया है.शासकीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में पांच प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की घोषणा करता हूं. यह दर आज 1 मई से ही लागू होगी.” अपको बता दें कि इससे पहले भी एक बार और महंगाई भत्ता बढ़ाया जा चुका है. अब फिर 5 प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाने पर कर्मचारियों को बड़ी राहत मिली है.

केंद्रीय कर्मचारियों के बराबर डीए की मांग
बता दें कि लंबे समय से राज्य के कर्मचारी महंगाई भत्ता में वृद्धि की मांग कर रहे थे. कर्मचारियों का कहना है कि केंद्रीय कर्मचारियों के बराबर डीए दिया जाए. कर्मचारियों की मांग पर अबतक 10 प्रतिशत तक डीए बढ़ाया जा चुका है. 2021 में 5 प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाया गया था. और अब 2022 में फिर 5 प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाया गया है. वर्तमान में राज्य के कर्मचारियों को 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिल रहा था अब यह बढ़कर 22 प्रतिशत हो गया है.

Share.

Leave A Reply