राष्ट्रीयदिल्ली में कोरोना केस 22 हजार के पार, पर लॉकडाउन का नहीं विचार : अरविंद

IANSJanuary 9, 20222221 min

दिल्ली में कोरोना संक्रमण फैलने की दर लगातार तेजी से बढ़ रही है। बीते 24 घंटे के दौरान दिल्ली में 22 हजार से अधिक नए कोरोना मामले सामने आए हैं। बावजूद इसके दिल्ली में पूर्ण लॉकडाउन लगाने की योजना नहीं है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली में अभी पूरी तरह से लॉकडाउन का उनका कोई इरादा नहीं है। सोमवार को दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक है, जिसमें कोरोना के मौजूदा हालात और नए नियमों पर चर्चा की जाएगी।

 

रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि नए प्रतिबंध दिल्लीवासियों के रोजगार पर असर डालेंगे, इसलिए हम पूर्ण तालाबंदी नहीं करने जा रहे हैं। लेकिन लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें ताकि कोरोना की मौजूदा स्थिति को नियंत्रित किया जा सके।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि “रविवार शाम को दिल्ली में जो हेल्थ बुलिटिन आएगा उसमें दिल्ली में लगभग 22000 कोरोना केस हो गए है। यह चिंता का विषय तो है लेकिन यह घबराने की बात नहीं है। मैं यह सारा डाटा एनालाइज करके बोल रहा हूं ।”

 

दिल्ली में 22,000 केसे आए हैं तो भी अस्पतालों में केवल 1500 बेड ही भरे हैं यानी इस बार मृत्यु की दर भी कम है और अस्पताल में बेड भी कम भरे हुए हैं। मुख्यमंत्री का कहना है कि “इसके बावजूद हमें कोरोना नियमों का पालन करना है। पैनिक करने की जरूरत नहीं है लेकिन नियमों का पालन आवश्यक है। मास्क पहनना सबसे जरूरी है। ”

 

कई लोग प्रश्न पूछ रहे हैं कि क्या दिल्ली में लॉकडाउन लगेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि ” इसका जवाब यह है कि हम दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते। यदि आप मास्क पहन कर घर से बाहर निकले तो स्थिति कंट्रोल में रहेगी। सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है।”

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि “हम लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते हमारी कोई मंशा नहीं है लॉकडाउन लगाने की। हम चाहते हैं कि जल्दी से जल्दी यह कोरोना की नई लहर खत्म हो। हमारी कोशिश है कि हम कम से कम रिस्ट्रिक्शन लगाएं ताकि लोगों का रोजगार चलता रहे।”

 

सोमवार को दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की दोबारा मीटिंग है इस मीटिंग में तय किया जाएगा कि क्या और करने की जरूरत है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली सरकार केंद्र सरकार से भी लगातार संपर्क में हैं दिल्ली के उपराज्यपाल और दिल्ली के सभी अधिकारी मिलकर कोरोना की स्थिति को नियंत्रित किए हुए हैं।

 

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल स्वयं भी कोरोना पॉजिटिव हो गए थे, हालांकि अब उनका स्वास्थ्य पूरी तरह से ठीक है। मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्हें कोरोना हो गया था जिसके बाद वह 8 दिन होम आइसोलेशन में रहे। सीएम को 2 दिन बुखार रहा उसके बाद वह ठीक थे लेकिन कोरोना प्रोटोकॉल के हिसाब से होम आइसोलेशन में रहे।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब मैं वापस दिल्ली वासियों की सेवा में हाजिर हूं। दिल्ली में कोरोना की रफ्तार बहुत तेजी से बढ़ रही है उसके लिए मैं चिंतित हूं । होम आइसोलेशन से भी मैं फोन के ऊपर लगातार अपने वरिष्ठ अधिकारियों से एवं स्वास्थ्य मंत्री से संपर्क में था।

 

केजरीवाल ने कहा कि पहले भी हम पिछले वर्ष अप्रैल वाली कोरोना की खतरनाक लहर से पार पा चुके हैं। इस बार भी हम इस लहर से पार पा लेंगे चिंता करने की बात नहीं है बस नियमों का पालन करना जरूरी है। वैक्सीन लगाना जरूरी है जिन लोगों ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगाई है वह जरूर व्यक्ति लगवा लें।

 

Related Posts