राजनीतिकपिल सिब्बल के घर के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

सिब्बल बोले कि, आज मैं भारी मन से यहां हूं, हमें लोग छोड़कर जा रहे हैं, सुष्मिता छोड़ कर चली गईं, गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री जा चुके हैं, जितिन प्रसाद गये, सिंधिया जी जा चुके हैं, ललितेश त्रिपाठी जा चुके हैं। सवाल उठता है क्यों जा रहे हैं?
Amit MishraSeptember 30, 20213491 min

नई दिल्ली 30 सितंबर, | कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बुधवार शाम पार्टी के ही वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल के दिल्ली स्थित आवास 1-जोरबाग के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारियों के अनुसार, सिब्बल को अपने बुधवार को प्रेसवार्ता में कहे बयान पर पुर्विचार चाहिए और उन्हें इसे वापस लेना चाहिये।

वहीं इस मसले पर कांग्रेस महासचिव और राजस्थान प्रभारी अजय माकन ने कहा, कांग्रेस ने सिब्बल को उनको पहचान दी है। संगठनात्मक पृष्ठभूमि का नहीं होने के बावजूद कपिल सिब्बल केंद्र में मंत्री बने। सोनिया गांधी जी ने यह सुनिश्चित किया था कि संगठनात्मक पृष्ठभूमि ना होने के बावजूद कपिल सिब्बल केंद्रीय मंत्रिमंडल में मंत्री बने। पार्टी में सभी की बात सुनी जा रही है। सिब्बल और अन्य लोगों को बताना चाहता हूं कि उन्हें उस संगठन को नीचा नहीं दिखाना चाहिए जिसने उन्हें एक पहचान दी है।

वहीं यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास ने भी ट्वीट कर के कपिल सिब्बल पर निशाना साधा। श्रीनिवास ने अपने ट्वीट में कहा, सुनिए ‘जी-हुजूर’. पार्टी की ‘अध्यक्ष’ और ‘नेतृत्व’ वही हैं, जिन्होंने आपको हमेशा संसद पहुंचाया, पार्टी के अच्छे वक्त में आपको ‘मंत्री’ बनाया, विपक्ष में रहे, तो आपको राज्यसभा पहुंचाया अच्छे-बुरे वक्त में सदैव जिम्मेदारियों से नवाजा. और जब ‘वक्त’ संघर्ष का आया, तो..

सिब्बल ने कहा, हम सबकुछ हो सकते हैं लेकिन जीहुजूर-23 के नेता नहीं हैं, जो केवल पार्टी के हित की ही बात करते हैं।

मेरी पार्टी लीडरशिप जिस तरह के हालात से गुजर रही है मेरा दिल टूटता है। हम वो लोग हैं जिन्हें एक होकर इस केंद्र की मोदी सरकार से लड़ना है। अभी हमारे लोग हमें छोड़कर जा रहे हैं।

सिब्बल बोले कि, आज मैं भारी मन से यहां हूं, हमें लोग छोड़कर जा रहे हैं, सुष्मिता छोड़ कर चली गईं, गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री जा चुके हैं, जितिन प्रसाद गये, सिंधिया जी जा चुके हैं, ललितेश त्रिपाठी जा चुके हैं। सवाल उठता है क्यों जा रहे हैं?

सिब्बल ने कहा, मेरी ऐसी कोई हैसियत नहीं है कि मैं किसी को सुझाव दूं। मुझसे पूछा गया तो मैंने सवाल उठाया है कि वो क्यों जा रहे हैं, उनकी निंदा भी कर सकते हैं कि वो क्यों पार्टी छोड़कर जा रहे हैं। आज की स्थिति में हमें ये तय करना होगा। पार्टी को जल्द सीडब्ल्यूसी को बुलाना चाहिए। ताकि वहां लोग पार्टी प्लेफॉर्म पर अपनी बात रख पाएंगे। हमें एक ओपन डायलॉग की जरूरत है।

Related Posts