कांग्रेस ने बुधवार को ईंधन की कीमतों में ‘निर्बाध’ बढ़ोतरी को लेकर केंद्र की खिंचाई की और इसे मोदी सरकार द्वारा ‘जबरन वसूली’ करार दिया।

पार्टी महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने ट्विटर पर कहा, “दैनिक हमला, रोज जबरन वसूली, दैनिक शोषण, मोदी सरकार द्वारा आम आदमी के बजट पर लगातार जारी है।

उन्होंने कहा कि 8वीं वार आज हैशटैग पेट्रोलडीजलहाइक 5.60/लीटर की वृद्धी हुई है। क्या इस ‘लूट’ की कोई समाप्ति तिथि है? क्या पीएम लोगों के प्रति जवाबदेह नहीं हैं? क्या कोई जवाब है?आज सुबह नौ दिनों में आठवीं बार पेट्रोल और डीजल के घरेलू खुदरा बिक्री मूल्य में वृद्धि की गई।

पिछले मंगलवार तक, ईंधन की कीमतें नवंबर 2021 से स्थिर थीं, जब केंद्र ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमश: 5 रुपये और 10 रुपये प्रति लीटर की कमी की थी।

तेल विपणन कंपनियां विभिन्न कारकों जैसे कि रुपया से अमेरिकी डॉलर विनिमय दर, कच्चे तेल की लागत और अन्य के बीच ईंधन की मांग के आधार पर परिवहन ईंधन लागत में संशोधन करती हैं।

नतीजतन, अंतिम कीमत में उत्पाद शुल्क, मूल्य वर्धित कर और डीलर का कमीशन शामिल है।व्यापक रूप से यह अपेक्षा की गई थी कि कच्चे तेल की उच्च लागत के कारण ओएमसी मौजूदा कीमतों में संशोधन करेगी।

हाल ही में, रूस के खिलाफ प्रतिबंधों के कारण तंग आपूर्ति की आशंकाओं के कारण कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव रहा है।कच्चे तेल की कीमत सीमा भारत के लिए चिंता का विषय है क्योंकि यह अंतत: पेट्रोल और डीजल की बिक्री कीमतों में 10-15 रुपये बढ़ाती है।

फिलहाल भारत अपनी जरूरत का करीब 85 फीसदी कच्चे तेल का आयात करता है।

–आईएएनएस

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212