कांग्रेस पार्टी को कमजोर समझने की भूल न करे मोदी सरकार: सोनिया गांधी | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राजनीति

कांग्रेस पार्टी को कमजोर समझने की भूल न करे मोदी सरकार: सोनिया गांधी

Published

on

sonia-gandhi
सोनिया-राहुल का हल्ला बोल

बीजेपी के हमलों का जवाब देने के लिए कांग्रेस जंतर-मंतर से संसद मार्ग तक आज लोकतंत्र बचाओ रैली कर रही है।

rahul-wefornewshindi-min (1)

लोकतंत्र की रैली के दौरान गिरफ्तार किए गए राहुल, सोनिया, मनमोहन, एके एंटनी, गुलाम नवी आजाद समेत सभी नेताओं को पुलिस ने छोड़ा। जिन्हें

लोकतंत्र की इस रैली के दौरान हिरासत में लिया गया था।

सोनिया गांधी

इस रैली के दौरान सोनिया गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने लोकतंत्र की हत्या की है। हमें बदनाम करने और डराने की ये जितनी भी कोशिश कर लें लेकिन हम डरने वालों में से नहीं हैं। जिंदगी ने मुझे संघर्ष करना सिखाया है । हम लोकतंत्र को नष्ट नहीं होने देंगे। हम वो लोग हैं जो मानवता की बुनियाद की रक्षा के लिए अपना खून तक बहाया है, जब जब जरूर पड़ेगी हम पीछे नहीं हटेंगे। कांग्रेस ने समाज के हर वर्ग को अधिकार संपन्न बनया है, कोई भी कांग्रेस को कमजोर समझने की भूल न करें।

मनमोहन सिंह

कांग्रेस देश की आत्म में है। मनमोहन सिंह ने इकबाल का शेर पढ़ते हुए…यूनना ओ मिस्र ओ रुमा सब मिट गए जहां से अब तक मगर है बाकी नाम ओ निशां हमारा कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी सदियों रहा है दुश्मन दौर-ए-ज़माँ हमारा।

राहुल गांधी

देश में सूखा पड़ा हुआ है। देश में प्रतिदिन 50 किसान खुदकुशी कर रहे हैं, लेकिन पीएम मोदी कुछ नहीं कर रहे हैं।

राहुल का कहना है कि मोदी जी ने कहा था कि हम युवाओं को रोजगार देंगे, लेकिन मेक इंडिया के भव्य शो के बाद भी लोगों को रोजगार नहीं मिला। 2015 में सिर्फ एक 1.30 लाख लोगों को रोजगार मिला। उन्होंने आरोप लगाया कि अरुणाचल और उत्तराखंड में हमारी सरकार गिरा दी गई।

राहुल ने कहा कि यह लोकतंत्र का देश है। हम लोकतंत्र के लिए लड़ेंगे। गरीबों के लिए लड़ेंगे। इस देश में केवल दो ही लोगों की चलती है, पीएम मोदी और मोहन भागवत की।

इस रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी, और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह समेत सभी बड़े नेता मौजूद हैं। अगस्ता डील समेत उत्तराखंड, अरुणाचल जैसे मुद्दे पर प्रदर्शन हो रहा है। केंद्र की भाजपा नीत गठबंधन सरकार और विपक्ष के बीच अगस्ता वेस्टलैंड मामले समेत कई अलग मामलों को लेकर हो रहे जबरदस्त टकराव के बीच जंतर-मंतर पर यह रैली आयोजित की गई है ।

Rahul-wefornewshindi-min

ये रैली सुबह साढ़े नौ बजे जंतर-मंतर पर शुरु हुई। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि सुरक्षाकर्मी द्वारा इस मार्च को पार्लियामेंट स्ट्रीट पर ही रोक दिया जाएगा। यही नहीं, संसद सत्र जारी रहने के कारण संसद भवन के नजदीकी इलाकों में धारा 144 लागू है।

कांग्रेस पार्टी शासित उत्तराखंड और अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने और हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने की कोशिशों की पृष्ठभूमि में हो रही इस रैली को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी संबोधित करेंगे।

congress_650x400_41462507955

बीजेपी सांसद भी आज संसद में गांधी जी की मूर्ति के नीचे प्रदर्शन करेंगे। बीजेपी का प्रदर्शन अगस्ता घोटाले में कांग्रेस नेताओं के नाम आने के ख़िलाफ है। बीजेपी के इस प्रदर्शन को कांग्रेस के मार्च का जवाब भी माना जा रहा है। इसके साथ ही उम्मीद है कि लोकसभा में आज अगस्ता वेस्टलैंड मामले पर होने वाली बहस में राहुल गांधी भी शामिल होंगे। पार्टी प्रवक्ता जयराम रमेश ने आज ही पीएम मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में फंसाने के लिए यह साजिश रची है।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने जिस तरह कल ट्वीट करके अपने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के इस मामले में राज्यसभा में दिए उत्तर की सराहना की वह न सिर्फ उनकी मानसिकता को दिखाता है बल्कि उनकी रणनीति का भी खुलासा करता है।

रमेश ने रक्षामंत्री पर आरोप लगाते हुए कहां है कि उन्होंने रक्षामंत्री पद की मर्यादा का ध्यान नहीं रखा और एक ‘राजनीतिक बयान’ दिया। रमेश ने कहा कि रैली का आयोजन सरकार द्वारा जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, हैदराबाद और इलाहाबाद विश्वविद्यालय समेत केंद्रीय विश्वविद्यालयों के खिलाफ बोले गए हमले के विरोध में भी किया गया है।

पार्टी नेता रणदीप सुरजेवाला ने पिछले सप्ताह कहा था कि पार्टी संसद का घेराव करेगी लेकिन रमेश ने सिर्फ इतना कहा कि रैली के बाद पार्टी संसद तक मार्च निकालेगी।

wefornews bureau 

राजनीति

दशहरे पर सोनिया गांधी का संदेश, शासक के जीवन में अहंकार और असत्य का कोई स्थान नहीं

Published

on

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को विजयदशमी के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि नौ दिवसीय पूजा उत्सव अन्याय और अहंकार पर विजय का प्रतीक है।

केंद्र सरकार पर हमला करते हुए, उन्होंने कहा, विजयादशमी का सबसे बड़ा संदेश ये है कि जनता सर्वोपरि है और शासक के जीवन में अहंकार, झूठ और वादों को तोड़ने के लिए कोई जगह नहीं है।

उन्होने आशा जताई की कि यह दशहरा न केवल सभी के जीवन में सुख, शांति और समृद्धि लाएगा, बल्कि लोगों के बीच सद्भाव और सांस्कृतिक मूल्यों को भी मजबूत करेगा।

उन्होंने त्योहारों के दौरान लोगों को कोरोनोवायरस से बचने और सभी कोविड-19 दिशानिदेशरें का पालन करने की भी अपील की। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी दशहरा पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं।

WeForNews

Continue Reading

राजनीति

मप्र को कलंकित करने में जुटी भाजपा : कमल नाथ

Published

on

Kamal Nath

मध्यप्रदेश में कांग्रेस के एक और विधायक ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद भाजपा का दामन थाम लिया है। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा प्रदेश को कलंकित और बदनाम करने में लगी है।

आईएएनएस

Continue Reading

राजनीति

नीतीश के जनसभा में युवकों ने लगाए मुर्दाबाद के नारे, सीएम बोले- जिसकी जिंदाबाद कर रहे, उसे सुनने जाओ

Published

on

nitish kumar

बिहार के मुजफ्फरपुर में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे नीतीश कुमार को युवकों का विरोध झेलना पड़ना है।

जनसभा के बीच बैठे इन युवकों ने नीतीश कुमार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस दौरान सुरक्षाकर्मी चौंकन्ने हो गए और इन लड़कों को रैली से बाहर निकालने लगे। इस पर भड़के सीएम नीतीश ने मंच से कहा कि जिसकी जिंदाबाद कर रहे हो, उसे सुनने जाओ।

राजद के समर्थन में नारेबाजी करने वालों को निशाने पर लेते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि जिनके लिए ऐसा कर रहे हो, उनके बारे में सभी को पता है। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद जनता से तालियां बजवाते हुए कहा, ‘देख लो, समझ में आ जाएगा, जिसके लिए कर रहे हो, ये लोग (जनता) पूरा जवाब दे देंगे और जिनके इशारे पर कर रहे हो उनका बुरा हाल कर देंगे।’

Continue Reading

Most Popular